सोमवार, 30 दिसंबर 2019

सूरजपुर पुलिस ने स्टूडेंट पुलिस कैडेट के छात्रों को दी गई प्रशिक्षण व जानकारियां..........

*कैडेट ने यातायात जागरूकता रैली निकाली।*

*यातायात संकेतो का डेमो के माध्यम से दी गई जानकारी*

*कैडेट के परिजन भी कार्यक्रम में रहे मौजूद।*

सूरजपुर। पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा* के मार्गदर्शन में स्टूडेंट पुलिस कैडेट हेतु 5 विद्यालयों के छात्र-छात्राओं का गठन किया गया है। इन स्कूलों में जवाहर नवोदय विद्यालय बसदेई भी सम्मिलित है। हाल ही में *पुलिस अधीक्षक श्री कुकरेजा* ने एसपीसी के कुशल संचालन की जिम्मेदारी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर को सौंपते हुए इसके बेहतर क्रियान्वयन के निर्देश दिए थे।
              इसी परिपेक्ष्य में रविवार 29 दिसम्बर को *जवाहर नवोदय विद्यालय बसदेई* के चयनित *स्टूडेंट पुलिस कैडेट* के छात्र-छात्राओं को एसपीसी का उद्धेश्य, पुलिस की भूमिका और उनके कार्यो, अपराध की रोकथाम और नियंत्रण की जानकारी विद्यालय प्रांगण में दिया गया। कार्यक्रम के पहले एएसपी हरीश राठौर ने एसपीसी के सभी कैडेट से परिचय प्राप्त किया। इस आयोजन में स्टूडेंट पुलिस कैडेट से जुड़े छात्र-छात्राओं के परिजन भी उपस्थित रहे।
             इस अवसर पर *अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर* ने कहा कि स्टूडेंट पुलिस कैडेट के छात्र-छात्राएं सहानुभूति, अनुशासन एवं अखंडता बनाए रखने सदैव तत्पर रहे। उन्होंने बताया कि विद्यार्थियों में व्यक्तित्व विकास, मूल अधिकार व नैतिक कर्तव्यों के पालन की भावना जागृत करने के लिए शासन ने स्टूडेंट पुलिस कैडेट योजना शुरू की है। एसपीसी का उद्देश्य छात्रों में कानून पालन करने की आदत विकसित करना व सामाजिक व्यवस्था के प्रति जवाबदेह बनाने और पुलिसिंग व्यवस्था से परिचित कराना है। पुलिस आमजन की सुरक्षा, कानून व्यवस्था, अपराधों की रोकथाम और नियंत्रण किस प्रकार से करती है उसके बारे में बताया साथ ही एसपीसी के बच्चों को अपराध नियंत्रण एवं शांति व्यवस्था बनाए रखने में पुलिस की मदद् करने हेतु कहा। उन्होंने कहा कि सामुदायिक पुलिसिंग कार्यक्रम तब तक सफल नहीं हो सकता जब तक कि नागरिक अपनी जिम्मेदारियों के प्रति जागरूक ना हो। एसपीसी का उद्देश्य छात्रों को जिम्मेदार व उत्तरदायी नागरिकों के रूप में विकसित कर नवोदित नागरिकों को विभिन्न क्षेत्रों में जिम्मेदारियां उठाने व सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित कराना है। उन्होंने छात्राओं को अनुशासन में रहकर लक्ष्य की प्राप्ति करने, महिलाओं एवं बच्चों की सुरक्षा, विभिन्न कार्यवाहियों सहित अन्य अनुभवों की जानकारी तथा सामाजिक मूल्य, आपदा प्रबंधन, टीम भावना प्रबंधन की जानकारी दी। स्टूडेंट पुलिस कैडेट के परिजन जो इस कार्यक्रम में उपस्थित थे उन्हें उनके बच्चों को एसपीसी से जुड़ने तथा उनके कार्यो की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि छात्रों की टीम बनाकर उन्हें ट्रैफिक व्यवस्था, कलेक्ट्रेट एवं पुलिस अधीक्षक कार्यालय, जिला न्यायालय आदि का भ्रमण कराया जाएगा।
              *थाना प्रभारी सूरजपुर धर्मानंद शुक्ला* ने कहा कि नागरिकों की अपेक्षा में पुलिस बल कम है। स्टूडेंट पुलिस कैडेट के छात्र-छात्राएं अपने गांव घर के आसपास होने वाले दुर्घटना, अपराधों की सूचना हम तक पहुंचाए ताकि उचित कार्यवाही की जा सके। अपराधों की रोकथाम और नियंत्रण, धोखाधड़ी के शिकार ग्रामीणजन न हो इस दिशा में किए जा रहे कार्यो के बारे में बताया।
              *एसआई रश्मि सिंह* ने महिला एवं बालिकाओं के विरूद्व हो रहे अपराधों के बारे में जानकारी एवं बचाव के तरीके से अवगत कराया। उन्होंने पोस्को एक्ट, घरेलू हिंसा, मानव तस्करी, बाल विवाह, एटीएम फ्राड, आनलाईन ठगी व विभिन्न माध्यमों से हो रहे ठगी की जानकारी से कैडेट को अवगत कराया। बच्चों को अपराध से बचाव हेतु नो-गो-रन के बारे में विस्तृत जानकारी दी। यातायात के प्रधान आरक्षक रामजतन सिंह ने यातायात संकेतो का डेमो के माध्यम से जानकारी दी। मंच का संचालन छात्रा सौम्या केशरी सुमन एवं आभार प्रदर्शन शिक्षक सुनीता गुप्ता के द्वारा किया गया। इस अवसर पर विद्यालय के प्राचार्य डी.के.साहू ने भी छात्र-छात्राओं को सम्बोधित किया।

*कैडेट ने यातायात जागरूकता रैली निकाली।*

कार्यक्रम के उपरान्त स्टूडेंट पुलिस कैडेट के छात्र-छात्राओं के द्वारा नवोदय विद्यालय से बसदेई चौक तक यातायात जागरूकता रैली निकाली। कैडेट ने स्लोगन लिखी तख्तियों व बैनरों के माध्यम से लोगों को वाहन चलाते समय यातायात नियमों का पालन करने व हेलमेट तथा सीट बेल्ट का प्रयोग अवश्य करने की अपील की।

*कैडेट के परिजन भी कार्यक्रम में रहे मौजूद।*

कार्यक्रम में स्टूडेंट पुलिस कैडेट के परिजन भी सम्मिलित हुए जिन्हें उनके बच्चों को एसपीसी से जोड़ने का उद्धेश्य एवं उनके कार्यो के बारे में जानकारी दी गई जिस पर उनके अभिभावकों ने इस कदम की सराहना की।

               इस दौरान प्राचार्य डी.के.साहू, एसपीसी प्रभारी राजेन्द्र गुप्ता, शिक्षक एल कुरूम, डी.आर.चन्द्रा, ए.के.बरा, संतराम, जे.के.रथ, अनिता नागलोट, जुगनू वारसी, रमेश कुमार, राजेश कुमार सिंह, एस.के.सुमन, आर.के.कुशवाहा एसपीसी छात्र के परिजन, प्रधान आरक्षक मनोज पोर्ते, हंसराम कनेडिया सहित स्टूडेंट पुलिस कैडेट एवं विद्यालय के छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।

शनिवार, 28 दिसंबर 2019

मसंकी में हुए अंधे कत्ल का ओड़गी पुलिस ने किया खुलासा, 01 आरोपी गिरफ्तार........


बुआ सास का हत्यारा निकला दामाद

सूरजपुर: गत् 26 दिसम्बर 2019 को ग्राम मसंकी निवासी भगवान दास सोनी ने थाना ओड़गी में सूचना दिया कि इसकी 65 वर्षीय बहन मानमती सोनी पति स्व. शिवराम सोनी के घर का ताला बंद है जो प्रतिदिन सुबह बाहर निकल जाती है। सूचना पाकर थाना प्रभारी ओड़गी पुलिस स्टाफ के साथ तत्काल मौके पर पहुंचे और पंचनामा कार्यवाही के बाद ताला को तोड़वाया। घर के अंदर प्रवेश करने पर बिस्तर में मानमती की लाश कंबल में ढका हुआ मिलने पर पुलिस ने मर्ग कायम कर शव पंचनामा की कार्यवाही किया। पंचनामा कार्यवाही के दौरान मृतिका के शरीर पर किसी प्रकार के चोट का निशान नहीं पाया गया। इसके उपरान्त शव को पीएम हेतु सीएचसी ओड़गी भेजा गया जो डाॅक्टर के द्वारा शार्ट पीएम रिपोर्ट में मृतिका की मृत्यु हत्यात्मक प्रकृति का होना बताया गया। जिस पर ओड़गी पुलिस ने अज्ञात व्यक्ति के विरूद्व अपराध क्रमांक 89/19 धारा 302, 201 भादवि का पंजीबद्व विवेचना में लिया।
             मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने मामले से जुड़े सभी बिन्दुओें की बारीकी से जांच कर जल्द खुलासा करते हुए आरोपी को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए।
              मामले की जांच एसडीओपी प्रतापपुर राकेश पाटनवार के नेतृत्व में ओड़गी पुलिस के द्वारा किया गया। जांच के दौरान पुलिस को मुखबीर से सूचना मिली कि गत् 25 दिसम्बर की रात्रि में मृतिका का दामाद विजय सोनी मृतिका के घर आया था। जिस आधार पर पुलिस ने बरतुंगा-चिरमिरी निवासी विजय सोनी को तलब कर हिकमत अमली से पूछताछ करने पर उसने बताया कि 25 दिसम्बर 2019 को अपने मोटर सायकल ग्लैमर से ग्राम मसंकी बुआ सास मानमती के घर रात्रि करीब 8.30 बजे आया था इसके बाद वहां से शराब पीने चला गया और शराब पीकर वापस बुआ सास के घर रूका, बुआ सास मानमती के द्वारा शराब पीने की बात को लेकर गाली देकर डण्डा से मारने लगी जिस पर इसने डण्डा छिनकर मानमती को तखत पर पटककर हाथ से गला दबाकर हत्या कर दिया और हाथ पैर सीधा कर कंबल से ढक कर बाहर से ताला बंद कर चाभी को छुपा दिया और अपने घर बरतुंगा चला गया। पुलिस ने आरोपी के निशानदेही पर ताला की चाभी को बरामद कर आरोपी विजय सोनी पिता सरयू प्रसाद सोनी उम्र 38 वर्ष निवासी बरतुंगा, थाना चिरमिरी, जिला कोरिया को विधिवत् गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय में पेश किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।
              इस कार्यवाही में एसडीओपी प्रतापपुर राकेश पाटनवार, थाना प्रभारी ओड़गी आर.एस.पैंकरा, एसआई नवल किशोर दुबे, प्रधान आरक्षक रामजीत भगत, आरक्षक सूर्यप्रताप सिंह, गहेन्द्र कुरैटी, अशोक कुमार व महिला आरक्षक अल्पना तिर्की सक्रिय रहे।

सोमवार, 23 दिसंबर 2019

पुलिस अधीक्षक सूरजपुर ने नगरीय निकाय चुनाव की मतगणना की तैयारी को लेकर ली बैठक........


सूरजपुर। आगामी 24 दिसम्बर 2019 को नगरीय निकाय चुनाव की मतगणना होनी है जिसे लेकर पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने रविवार को पुलिस अधीक्षक कार्यालय के सभाकक्ष में प्रशासन व पुलिस अधिकारियों की बैठक ली।

बैठक में पुलिस अधीक्षक ने नगरीय निकाय चुनाव की मतगणना को लेकर वहां की सुरक्षा एवं मतगणना की प्रक्रिया के दौरान बरते जाने वाले सावधानियों के बारे में जानकारियां दी। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मतगणना कक्ष के भीतर प्रवेश करने वालों को कड़ी सुरक्षा जांच के बाद अधिकृत गणना पर्यवेक्षण और गणना सहायक के रूप में नियुक्त किए गए व्यक्ति, जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा प्राधिकृत व्यक्ति, निर्वाचन के संबंध में ड्यूटी पर लगाए गए लोक सेवक को प्रवेश दिया जाएगा। अभ्यर्थी, निर्वाचन अभिकर्ता या मतगणना अभिकर्ता इनमें से किन्हीं एक को ही मतगणना स्थल पर प्रवेश दिया जाएगा। मतगणना स्थल में मोबाईल फोन, पेन, कागज, कैलकुलेट, खाद्य व पेय पदार्थ, गुटखा, पान प्रतिबंधित है। मतगणना स्थल के अंदर पेन, कागज रिटर्निंग आफिसर के द्वारा उपलब्ध कराया जाएगा।

मतगणना के दौरान सूरजपुर, विश्रामपुर, भटगांव, जरही व प्रतापपुर में मतगणना स्थल पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम को लेकर पुलिस के राजपत्रित अधिकारियों सहित भारी संख्या में पुलिस बल तैनात रहेंगे। पुलिस अधीक्षक ने दूरसंचार प्रभारी को पुलिस अधिकारियों को वायरलेस हैंडसेट उपलब्ध कराने के निर्देश दिए है। उन्होंने स्ट्रांग रूम की सुरक्षा को लेकर पेट्रोलिंग पार्टी, थाना प्रभारियों को लगातार स्ट्रांग रूम की सुरक्षा प्रबंध का जायजा लेने के निर्देश दिए है। पुलिस अधीक्षक ने मतगणना भवन में प्रकाश की पर्याप्त व्यवस्था हेतु अतिरिक्त बल्व लगाने एवं विद्युत प्रवाह अचानक बंद होने की स्थिति में गणना कार्य में व्यवधान न हो इस दृष्टि से एक आपात-उपयोगी डीजल जनरेटर की व्यवस्था करने के निर्देश दिए।

इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर, अपर कलेक्टर के.पी.साय, एस.एन.मोटवानी, एसडीएम भैयाथान प्रकाश सिंह राजपूत, एसडीएम प्रतापपुर सी.एस.पैंकरा, एएसपी मुख्यालय पी.एस.महिलाने, सीएसपी जे.पी.भारतेन्दु, एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी, एसडीओपी प्रतापपुर राकेश पाटनवार, डीएसपी अजाक बालसाय केरकेट्टा, सेनानी होमगार्ड विपिन लकड़ा, तहसीलदार नंदजी पाण्डेय, उप जिला निर्वाचन अधिकारी वहीदुर्रहमान, निर्वाचन पर्यवेक्षक प्रदीप सोनी, नायब तहसीलदार ओ.पी.सिंह, रीतूराज सिंह, मास्टर ट्रेनर पी.सी.सोनी, शंभु निषाद, रक्षित निरीक्षक भूपेन्द्र कुर्रे, थाना प्रभारी धर्मानंद शुक्ला, कपिलदेव पाण्डेय, किशोर केंवट, के.पी.चैहान, यातायात प्रभारी आर.सी.राय सहित पुलिस के अन्य अधिकारीगण मौजूद रहे।

रविवार, 22 दिसंबर 2019

पुलिस अधीक्षक सूरजपुर ने डाकमत पत्र के जरिए किया अपने मताधिकार का प्रयोग..........

चुनाव ड्यूटी में कर्तव्यस्थ पुलिस कमियों ने भी डाकमत पत्र के जरिए किया मतदान....

सूरजपुर। सूरजपुर जिले के विभिन्न नगरीय निकाय के जिन पुलिस अधिकारी-कर्मचारी मतदाता थे उन्होंने पोस्टल बैलेट पेपर के माध्यम से अपने मताधिकार का प्रयोग किया। पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने इस लोकतंत्र के महापर्व में डाकमत पत्र के माध्यम से अपने मताधिकार का प्रयोग किया। जिले के नगरीय निकाय क्षेत्र सूरजपुर, विश्रामपुर, भटगांव, जरही एवं प्रतापपुर क्षेत्र के 61 पुलिस कर्मियों ने भी डाकमत पत्र के जरिए अपने मताधिकार का प्रयोग किया है। पुलिस के इन अधिकारी- कर्मचारियों ने अपने ड्यूटी के निर्वहन के साथ-साथ एक जागरूक मतदाता का परिचय दिया और नगरीय निकाय चुनाव में डाकमत पत्र के जरिए अपने मताधिकार का प्रयोग किया।
पुलिस अधीक्षक ने रूचि लेकर जिन कर्मचारियों की ड्यूटी नगरीय निकाय चुनाव में मतदान केन्द्र अथवा चुनाव के दौरान सुरक्षा व्यवस्था हेतु लगी थी उन्हें डाकमत पत्र के माध्यम से मतदान करने हेतु प्रोत्साहित किया था।

गुरुवार, 19 दिसंबर 2019

कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक सूरजपुर के नेतृत्व में पुलिस के जवानों ने किया फ्लैग मार्च.............

*नगरीय निकाय चुनाव को लेकर पुलिस के जवानों ने शांतिपूर्ण व भयमुक्त मतदान को लेकर सूरजपुर नगर में निकाला फ्लैग मार्च।*

*सूरजपुर, विश्रामपुर, भटगांव, जरही एवं प्रतापपुर में पुलिस ने निकाली फ्लैग मार्च।*

*फ्लैग मार्च में कार्यपालिक दण्डाधिकारी भी रहे मौजूद।*

सूरजपुर। आगामी 21 दिसम्बर को नगरीय निकाय के चुनाव होने है। सूरजपुर नगर में नगरीय चुनाव को लेकर पुलिस के अधिकारी व जवानों ने निष्पक्ष एवं निर्भिक होकर मतदान करने तथा मतदाताओं में सुरक्षा एवं आत्मविश्वास का भाव बनाए रखने, शांतिपूर्ण व भयमुक्त मतदान को लेकर *फ्लैग मार्च* पूरे शहर में निकाला। फ्लैग मार्च के लिए पुलिस के अधिकारी-कर्मचारी कोतवाली सूरजपुर में एकत्र हुए थे जिन्हें *कलेक्टर सूरजपुर श्री दीपक सोनी* एवं *पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा* ने आवश्यक दिशा-निर्देश दिया। *कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक* के नेतृत्व में पुलिस के अधिकारी व जवानों ने फ्लैग मार्च निकाला गया।
फ्लैग मार्च कोतवाली सूरजपुर से शुरू हुआ जो मेन रोड़, सुभाष चौक, अग्रसेन चौक से भैयाथान रोड़, पंचदेव मंदिर, मस्जिदपारा, मनेन्द्रगढ़ रोड़, राममंदिर चौक, नया बाजारपारा, बड़कापारा, महुआपारा चौक, केतका रोड़ होते हुए अग्रसेन चौक पहुंचा और नवापारा मार्ग से होते हुए फ्लैग मार्च कोतवाली में पहुंची। जवानों ने नगरवासियों को निष्पक्ष व भयमुक्त होकर अधिकाधिक मतदान करने को प्रेरित किया गया। नगरवासियों ने उत्सुकता से फ्लैग मार्च को देखा। जिले में कई स्थानों पर पुलिस की नाकेबंदी प्वाईन्ट पहले की लगाई जा चुकी है।
इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर, सीएसपी जे.पी.भारतेन्दु, तहसीलदार नंदजी पाण्डेय, थाना प्रभारी सूरजपुर धर्मानंद शुक्ला, रक्षित निरीक्षक भूपेन्द्र कुर्रे सहित कई थाना-चौकी, जिला पुलिस कार्यालय व पुलिस लाईन के 300 से अधिक पुलिस के अधिकारी व जवान फ्लैग मार्च में सम्मिलित रहे।

*विश्रामपुर व प्रतापपुर पुलिस ने निकली फ्लैग मार्च।*

डीएसपी अजाक बालसाय केरकेट्टा, एसडीएम सूरजपुर शिव बनर्जी की अगुवाई में थाना प्रभारी विश्रामपुर कपिलदेव पाण्डेय सहित पुलिस के करीब 200 से अधिक पुलिस अधिकारी व जवानों ने पूरे नगर में फ्लैग मार्च निकाला और जब यह फ्लैग मार्च बस स्टैण्ड पहुंची उसी दौरान सूरजपुर कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक ने इसका जायजा लिया। प्रतापपुर पुलिस का फ्लैग मार्च अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मुख्यालय पी.एस.महिलाने, एसडीओपी प्रतापपुर राकेश पाटनवार व एसडीएम प्रतापपुर पी.एस.पैंकरा के नेतृत्व में निकाली गई जिसमें थाना प्रभारी के.पी.चौहान सहित थाना-चौकी के करीब 150 से अधिक पुलिस के जवान सम्मिलित रहे।

*भटगांव व जरही में भी निकली पुलिस फ्लैग मार्च।*

एसडीओपी ओड़गी मंजूलता बाज व एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी, एसडीएम भैयाथान प्रकाश राजपूत की अगुवाई में थाना प्रभारी भटगांव किशोर केंवट सहित विभिन्न थाना-चौकी के करीब 175 पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों ने भटगांव एवं जरही में नगरीय निकाय चुनाव को लेकर पुलिस के अधिकारी व जवानों ने फ्लैग मार्च निकाली।

पुलिस अधीक्षक सूरजपुर ने स्ट्रांग भटगांव व जरही का किया औचक निरीक्षण......

स्ट्रांग रूम की सुरक्षा में किसी किस्म की कोताही न बरतने सीएएफ के जवानों को दिए निर्देश...

सूरजपुर। नगरीय निकाय चुनाव हेतु बनाए गए स्ट्रांग रूम से चुनाव सामग्री का वितरण एवं चुनाव समाप्ति बाद वापस चुनाव सामग्री जमा किया जाना है। बुधवार 18 दिसम्बर की देर रात्रि भटगांव के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय व जरही के मैत्री भवन में बनाए गए स्ट्रांग रूम का पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने औचक निरीक्षण किया। इस दौरान पुलिस अधीक्षक ने स्ट्रांग रूम की सुरक्षा में लगे सीएएफ के जवानों को आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए कहा कि सुरक्षा में किसी किस्म की कोताही न बरते, मुस्तैदी से ड्यूटी करें। उन्होंने जवानों को कहा कि थाना से कनेक्टिविटी हेतु वायरलेस हैंडसेट दी गई है प्रत्येक घंटे थाना को खैरियत से अवगत कराए। उन्होंने जवानों से सेट पर थाना को प्वाईट भी दिलवाई। स्ट्रांग रूम की सुरक्षा में तैनात जवानों को कहा कि अनाधिकृत व्यक्ति को कतई प्रवेश न करने दें। किसी प्रकार की समस्या पर तत्काल थाना प्रभारी को अवगत हेतु कहा। थाना प्रभारी भटगांव किशोर केंवट को स्ट्रांग रूम के जवानों से सतत सम्पर्क में रहने के निर्देश दिए। पुलिस अधीक्षक ने भटगांव व जरही के कई मतदान केन्द्रों का भी जायजा लिया।

इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर, एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी, एसडीओपी ओड़गी मंजूलता बाज, तहसीलदार नंदजी पाण्डेय, थाना प्रभारी भटगांव किशोर केंवट, निरीक्षक केशव नारायण आदित्य, भूपेन्द्र कुर्रे, एसआई आराधना बनोदे, एएसआई संजय सिंह उपस्थित रहे।

बुधवार, 18 दिसंबर 2019

कोतवाली सूरजपुर से फरार हुए अपचारी बालक को पुलिस ने पकड़ा...........

सूरजपुर। कोतवाली सूरजपुर में पंजीबद्व अपराध क्रमांक 466/19 धारा 363, 366 भादवि के मामले में दिनांक 16/12/19 को कोतवाली पुलिस को मुखबीर से सूचना मिली की मामले के अपहृता को अपचारी बालक ने बहला-फुसलाकर भगाकर ले गया है। सूचना पर कोतवाली पुलिस ने अपचारी बालक के कब्जे से अपहृता को दस्तयाब कर अपचारी बालक को पुलिस अभिरक्षा में लिया। मामले में पुलिस ने विवेचना के दौरान पीड़िता को बहला फुसलाकर भगाकर ले जाना एवं जबरन अनाचार करने पर प्रकरण में धारा 376 भादवि, पाक्सो एक्ट की धारा 6 एवं एसटीएससी एक्ट की धारा जोड़ी गई। 17 दिसम्बर की सुबह मामले के अपचारी बालक पुलिस अभिरक्षा से फरार हो गया। कोतवाली पुलिस ने पुलिस अभिरक्षा से फरार होने पर अपचारी बालक के विरूद्व धारा 224 भादवि के तहत् मामला पंजीबद्व किया।
अपचारी बालक के पुलिस अभिरक्षा से फरार होने की सूचना पर पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने फरार अपचारी बालक की पतासाजी कर उसे पकड़ने हेतु थाना प्रभारी सूरजपुर धर्मानंद शुक्ला व थाना प्रभारी विश्रामपुर कपिलदेव पाण्डेय व उनकी पुलिस टीम को निर्देशित किया।
पुलिस की संयुक्त टीम ने सूझबूझ का परिचय देते हुए मुखबीर की सूचना पर फरार अपचारी बालक को उसके गृहग्राम से पकड़ा और पुलिस अभिरक्षा में लिया। फरार होने के बाद से अपचारी बालक अपने गांव में लुक-छिप कर रह रहा था। कोतवाली पुलिस ने दोनों मामलों में अपचारी बालक के विरूद्व वैधानिक कार्यवाही कर रही है।
इस कार्यवाही में थाना प्रभारी सूरजपुर धर्मानंद शुक्ला, थाना प्रभारी विश्रामपुर कपिलदेव पाण्डेय, एएसआई सोहन सिंह, प्रधान आरक्षक सुरेन्द्र सिंह, आरक्षक सुरेश साहू, रावेन्द्र पाल, रामकुमार नायक, राजू तिवारी, कुन्दन सिंह का सराहनीय योगदान रहा।

रामानुजनगर पुलिस ने 24 घंटे में सुलझाई अन्धे कत्ल की गुत्थी, 4 आरोपी गिरफ्तार...........

पुरानी रंजीश को लेकर दिए वारदात को अंजाम

सूरजपुर। गत् 17 दिसम्बर 2019 को सूचक कुमेत बाई पति तुलसी उम्र 45 वर्ष जाति अगरिया ग्राम केतका माझापारा थाना सूरजपुर की कैम्प राजापुर पण्डरीपानी जंगल में देहाती मर्ग इन्टीमेशन चाक करायी कि दिनांक 14 दिसम्बर 2019 के रात्री करीब 8.00 बजे इसका दामाद साधारण अगरिया इसके पति तुलसी अगरिया पिता स्व. कलम साय अगरिया को घर से घुमने के नाम पर केतका बाजार की ओर लेकर निकला था जो रात्री करीब 10.00 बजे इसका दामाद साधारण अगरिया इसके घर आकर बताया की इसके पति तुलसी अगरिया को दो अज्ञात व्यक्ति मोटर सायकल में बैठाकर आमगांव की ओर ले गये है उसी दिन से इसका पति घर वापस नही आया जिसका यह आसपास पता तलाश करती रही।
17 दिसम्बर 2019 के सुबह 11.00 बजे गांव का योगेन्द्र ने कुमेत बाई को बताया की राजापुर पण्डरी पानी जंगल में एक व्यक्ति का अधजला लाश मिला है सूचना पाकर यह राजापुर जंगल जाकर देखी तो गांव के सरपंच पति बाबुलाल सिंह व कोटवार शिवधारी तथा अन्य लोग मिले जो इसे लाश के पास ले गये। तब यह लाश व उसे कुछ दूरी पर अपने पति के लुंगी को देखकर पहचान गई कि लाश इसके पति का ही है, इसके पति के छाति और चेहरा में पैरा से कोई अज्ञात व्यक्ति आग लगा दिया है कि रिपोर्ट पर देहाति मर्ग एवं देहाति नालसी चाक कर जांच पंचनामा कार्यवाही मंे लिया गया। जांच पंचनामा कार्यवाही के दौरान पाया गया की मृतक तुलसी अगरिया के गर्दन पर धारदार हथियार से दो बार प्रहार कर गला को काट दिया गया तथा मृतक के सिर के पीछे धारदार हथियार से चोट पहुंचाकर हत्या किया गया तथा मृतक की पहचान न हो सके इस नियत से मृतक के कमर के ऊपर सिर तक के भाग को पैरा डालकर जलाया गया।
मामले की सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा, एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी घटना स्थल राजापुर पण्डी पानी जंगल पहुंचे। पुलिस अधीक्षक, एफएसएल अधिकारी एस.के.सिंह ने घटना स्थल का सूक्ष्मता से निरीक्षण किया। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक श्री कुकरेजा ने रामानुजनगर पुलिस को मामले का जल्द खुलासा करने के निर्देश दिया।
एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी के नेतृत्व में संदेही साधारण अगरिया को हिरासत में लेकर हिकमत अमली से पूछताछ किया गया जो घटना के बारे में बताया की यह अपने ससुर मृतक तुलसी अगरिया के घर ग्राम केतका में रहता था जो आरोपी साधारण अगरिया का ससुर से विवाद हो जाने के कारण मृतक तुलसी अगरिया अपने घर से आरोपी को निकाल दिया था जिससे आरोपी साधारण अगरिया अपने पत्नी के साथ किराये के मकान में ग्राम केतका में रहता था। घर से निकाले जाने के बात पर से ही पिछले 6-7 माह पूर्व आरोपी का मृतक से विवाद हुआ था जो आरोपी साधारण अगरिया अपने जीजा शंम्भु अगरिया के साथ मिलकर मृतक को मारपीट किये थे जो मृतक सूरजपुर अस्पताल से ईलाज कराकर वापस आया और करीब 2 माह बाद आरोपी साधारण को गाली गलौज कर मारपीट किया था इसी बात से आरोपी साधारण अगरिया तथा उसका भाई सहादन अगरिया, जीजा शंम्भु अगरिया मृतक से रंजीश रखने लगे तथा तीनों आरोपी मृतक को जान से मारने की योजना बनाये और
घटना दिनांक 14.12.19 को आरोपी साधारण अगरिया मृतक को अपने किराये के मकान में बुलाकर लाया जहां आरोपी साधारण अगरिया व उसका भाई सहादन अगरिया व मृतक मिलकर शराब पिये तथा आरोपी लकडी का चैकट लेने राजापुर पण्डरी पानी जंगल जाना है कहकर सायकल में बैठाकर राजापुर ले गये, जहां शंम्भु अगरिया मिला जो बनाये गये योजना के मुताबिक साधारण अगरिया, सहादन अगरिया व शंम्भु अगरिया लकडी का चैकट लेने के बहाने मृतक को जंगल ले गये जहां तीनों व्यक्ति मिलकर मृतक तुलसी अगरिया को टांगी, डण्डा व पत्थर से मारकर हत्या कर दिये तथा मृतक को पैरा से जला दिये और सभी अपने अपने घर चले गये। उक्त घटना में आरोपी साधारण अगरिया की मां सुखमेन बाई भी शामील थी। मामले में पुलिस ने टांगी एवं डण्डा बरामद कर अपराध क्रमांक 208/19 धारा 302, 201, 120बी, 34 भादवि के तहत् मामला पंजीबद्व कर आरोपी ग्राम राजापुर, थाना रामानुजनगर निवासी 30 वर्षीय साधारण अगरिया पिता स्व. पवनसाय, 19 वर्षीय सहादन अगरिया पिता पिता स्व. पवनसाय अगरिया, 48 वर्षीय सुखमेन बाई पति स्व. पवन साय अगरिया एवं ग्राम केतका माझापारा निवासी 30 वर्षीय शंभू अगरिया पिता स्व. रामसुन्दर को विधिवत् गिरफ्तार किया है।
इस कार्यवाही में थाना प्रभारी रामानुजनगर गोपाल ध्रुव, एएसआई रंजीत सोनवानी, प्रधान आरक्षक रविन्द्र भारती, आरक्षक अमलेश्वर सिंह, रामसकल, मोहम्मद अकरम, दीपक यादव, मितेश मिश्रा व राजेन्द्र कंवर सक्रिय रहे।

मंगलवार, 17 दिसंबर 2019

पुलिस अधीक्षक ने महिलाओं की सुरक्षा के हरसंभव कदम उठाने दिए निर्देश..........

आटो-रिक्शा चालकों की बैठक ली थाना प्रभारी विश्रामपुर ने

सभी आटो-रिक्शा में चालक का नाम व मोबाईल नंबर लेख कराने दिए सख्त निर्देश

महिलाओं को सुरक्षित सफर व सुरक्षित स्थान पर पहुंचाने आटो-रिक्शा चालकों को दिया निर्देश

सूरजपुर। महिलाओं की सुरक्षा एवं उनसे संबंधित अपराधों पर संवेदनशीलता बरतते हुए त्वरित कार्यवाही किए जाने, आवागमन के दौरान महिलाएं अपने तय स्थान पर सुरक्षित पहुंचे, पीड़ित महिलाओं की शिकायतों को गंभीरतापूर्वक निराकरण करने, महिलाओं की सुरक्षा को लेकर अलग-अलग तरह के जागरूकता कार्यक्रम तथा इनकी सुरक्षा के कदम उठाने के निर्देश पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने जिले के थाना-चौकी प्रभारियों को दिया है। ज्ञात हो कि 11 दिसम्बर 2019 को प्रदेश के पुलिस महानिदेशक श्री डी.एम.अवस्थी ने सभी पुलिस अधीक्षकों, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षकों, सेनानियों एवं एसडीओपी की विडियों कान्फ्रेंस में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर कई निर्देश दिए थे।
इसी क्रम में गत् दिवस विश्रामपुर पुलिस द्वारा आटो रिक्शा चालकों की बैठक का आयोजन थाना परिसर में किया। बैठक में थाना प्रभारी विश्रामपुर कपिलदेव पाण्डेय ने महिला सुरक्षा के विषय पर आटो रिक्शा चालकों को जागरूक किया तथा पुलिस को सहयोग करने की अपील की है। थाना प्रभारी ने कहा कि महिला सुरक्षा एक संवेदनशील विषय है। इसलिए पुलिस के साथ-साथ आप सभी का सहयोग जरूरी है। थाना प्रभारी ने कहा कि महिलाएं आने-जाने के लिए अधिकतर टैक्सी साधनों का उपयोग करती है। आटो रिक्शा चालक दिन-रात शहर के सड़कों पर घूमते है वे पुलिस की आंख व कान बनकर अपराध की रोकथाम व अपराधियों को पकड़वाने में विशेष भूमिका अदा कर सकते है। खासकर रात्रि के समय आटो में सवार होने वाली महिलाओं को सुरक्षित सफर कराने व सुरक्षित स्थान तक पहुंचाने में उनकी हर संभव सहायता करने हेतु कहा। उन्होंने कहा कि महिलाओं के साथ किसी भी स्थान पर दुव्यवहार हो तो उसकी जानकारी तुरंत पुलिस को दें। बुजुर्ग और महिलाओं के लिए सीट का इंतजाम करें ताकि उनको सहज महसूस हो।
थाना प्रभारी कपिलदेव पाण्डेय ने आटो रिक्शा चालकों को कहा कि बस अथवा आटो स्टैण्ड पर आने-जाने वाली महिलाओं को अपने-अपने वाहनों में सवारी के रूप में बैठाने के लिए घेर कर खड़े न हो, इस प्रकार की सूचना प्राप्त होने पर संबंधित के विरूद्व सख्त कार्यवाही की जाएगी। आटो-टैक्सी चालकों का कड़े शब्दों में कहा कि सभी अपने-अपने वाहनों में अपना नाम एवं मोबाईल नंबर अनिवार्य रूप से लिखवाए।
इस दौरान एएसआई विमलेश सिंह, उमेश सिंह, सोहन सिंह, राम सिंह, प्रधान आरक्षक आनंद सिंह, इन्द्रजीत सिंह, सहित काफी संख्या में आटो रिक्शा चालकगण मौजूद रहे।

माननीय जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने छेड़छाड़ के आरोपी को दी कठोर कारावास व अर्थदण्ड की सजा......

सूरजपुर। गत् वर्ष दिनांक 16/10/2018 को थाना सूरजपुर क्षेत्र की एक महिला अपने घर से पंचायत भवन सोसायटी में चावल लेने जाने के दौरान आरोपी नागेश्वर विश्वकर्मा ने महिला का हाथ बाह पकड़कर बेईज्जत करने के नियत से छेड़छाड़ करने लगा विरोध करने पर गाली गलौज कर सिर में मार कर चोट पहुंचाया एवं अनुसूचित जाति का जातने हुए जातिगत गाली-गलौज कर छेडछाड़ करते हुए मारपीट कर चोट पहुंचाया। जिसकी रिपोर्ट पीड़िता के द्वारा थाना अजाक सूरजपुर में किए जाने पर धारा 354, 294, 323 भादवि 3(1)(डब्ल्यू)(आई) एसटीएससी एक्ट के तहत् अपराध पंजीबद्व किया गया। प्रकरण की विवेचना डीएसपी अजाक बी.एस.केरकेट्टा के द्वारा किया गया एवं प्रकरण में साक्ष्य संकलित कर आरोप पत्र माननीय न्यायालय सूरजपुर में पेश किया।
इस मामले की सुनवाई विद्धान न्यायाधीश श्री हेमन्त सराफ माननीय जिला एवं सत्र न्यायाधीश सूरजपुर के यहां हुई। माननीय न्यायालय ने मामले की सुनवाई पूरी करते हुये पीड़िता, गवाहों के कथन, डाॅक्टर की रिपोर्ट एवं साक्ष्य के आधार पर आरोपी नागेश्वर विश्वकर्मा को धारा 354 भादवि में 01 वर्ष कठोर कारावास व 2 सौ रूपये का अर्थदण्ड, धारा 294 भादवि में 01 माह कठोर कारावास 100 रूपये अर्थदण्ड, धारा 323 भादवि में 06 माह कठोर कारावास 200 रूपये अर्थदण्ड एवं धारा 3(1-डब्ल्यू-आई) एसटीएससी एक्ट में 01 वर्ष कठोर कारावास व 200 रूपये अर्थदण्ड से दंडित किया है।

पुलिस अधीक्षक ने स्टूडेंट पुलिस कैडेट के छात्रों को जागरूकता देने बनाई टीम..........


स्टूडेंट पुलिस कैडेट के छात्रों को दी गई प्रशिक्षण व जानकारियां

घटना, दुर्घटना व अपराध की सूचना पुलिस तक पहुंचाने किया अपील

पुलिस अधिकारियों ने एसपीसी के छात्रों के जिज्ञासा का किया गया समाधान

छात्रों ने कहा स्टूडेंट पुलिस कैडेट से जुड़ने पर हमें गर्व है

कार्यक्रम में कैडेट के परिजन रहे उपस्थित

पुलिस के कार्यो में सहयोग करेंगे स्टूडेंट पुलिस कैडेट

सूरजपुर। भारत सरकार, गृह मंत्रालय की स्टूडेंट पुलिस कैडेट कार्यक्रम स्कूल आधारित युवाओं के विकास के लिए तैयार की गई है। स्टूडेंट पुलिस कैडेट को इनडोर व आउटडोर प्रशिक्षण देकर इन्हें संवेदनशील व जिम्मेदार बनाने ताकि वे अपराध नियंत्रण व शांति व्यवस्था बनाए रखने में पुलिस की मदद कर सके। योजना का कुशल क्रियान्वयन पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा के मार्गदर्शन में हो रहा है।
पुलिस अधीक्षक ने एसपीसी से जुड़े छात्रों को पुलिस के कार्यो की जानकारी, यातायात नियमों से अवगत कराकर उसकी जानकारी दूसरों तक पहुंचाने, स्मार्ट पुलिसिंग के तहत् आम जनता से मधुर संबंध स्थापित करने, इनडोर व आउटडोर प्रशिक्षण देने सहित अन्य जानकारियां से अवगत कराने हेतु कई पुलिस अधिकारियों को इसकी जिम्मेदारी सौंपी है। इसी परिपेक्ष्य में शनिवार 14 दिसम्बर को शासकीय बालक उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सूरजपुर के चयनित स्टूडेंट पुलिस कैडेट के छात्रों को जागरूकता सह प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन विद्यालय भवन में किया गया। इस आयोजन में स्टूडेंट पुलिस कैडेट के परिजन भी उपस्थित रहे।
यातायात प्रभारी आर.सी.राय ने एसपीसी के बच्चों को संबोधित करते हुए कहा कि सुुव्यवस्थित एवं दुर्घटनारहित यातायात के लिए आवश्यक है कि वाहन के उपयोग करने वाले एवं सड़क पर चलने वाले प्रत्येक नागरिक को यातायात के नियमों की पूर्ण जानकारी हो, छात्राओं को अनुशासन में रहकर लक्ष्य की दिशा में बढ़ने, महिलाओं एवं बच्चों की सुरक्षा तथा विभिन्न कार्यवाहियों सहित अन्य अनुभवों की जानकारी दी। स्कूल आने-जाने के दौरान सड़क पर विशेष सावधानी बरतने को कहा ताकि किसी प्रकार की दुर्घटना न हो।
इस दौरान एसआई अजहरूद्दीन ने एसपीसी के छात्रों को पुलिस की भूमिका और उनके कार्यो, अपराधों की रोकथाम और नियंत्रण, धोखाधड़ी के शिकार ग्रामीणजन न हो इस दिशा में किए जा रहे पुलिस के प्रयासों से अवगत कराया। चयनित कैडेट को स्टूडेंट पुलिस कैडेट के कार्याे एवं पुलिस क्यों आवश्यक है इसकी विस्तार पूर्वक जानकारी दी। उन्होंने जे.जे.एक्ट, पास्को एक्ट, एटीएम फ्राड, आनलाईन ठगी व विभिन्न माध्यमों से हो रहे ठगी की जानकारी से कैडेट को अवगत कराया और उससे बचाव के उपाए बताए।
चौकी प्रभारी बसदेई सुनील सिंह ने कहा कि पुलिस वह एजेंसी है जो कानून के शासन को लागू करती है और सार्वजनिक व्यवस्था बनाए रखती है। पुलिस का सबसे महत्वपूर्ण कार्य अपराध को रोकना, अपराध का पता लगाना और उसकी जांच करना है। नागरिकों के अधिकार, उनकी स्वतंत्रता, व्यक्तिगत् गरिमा को बनाए रखना तथा सार्वजनिक व्यवस्था यातायात का सुचारू संचालन भी पुलिस का एक महत्वपूर्ण कर्तव्य है। चौकी प्रभारी ने एसपीसी के बच्चों को कहा कि एक स्थान पर चलाए गए जागरूकता कार्यक्रम की सार्थकता तभी सिद्ध होगी जब यह जानकारी कैडेट अपने परिजनों, सहपाठियों, पड़ोस के लोगों तक पहुंचाए। यातायात के प्रधान आरक्षक चमरू राम पैंकरा ने यातायात संकेतो का डेमो के माध्यम से जानकारी दी।

घटना, दुर्घटना व अपराध की सूचना पुलिस तक पहुंचाने किया अपील।

जागरूकता कार्यक्रम में पुलिस अधिकारियों ने स्टूडेंट पुलिस कैडेट के छात्रों को पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, पुलिस कंट्रोल रूम एवं अपना मोबाईल नंबर की नोट कराया और कहा कि किसी विषम परिस्थिति, अपराध, घटना अथवा दुर्घटना की सूचना हमें दें पुलिस आपकी सुरक्षा हेतु तत्पर है। इस अवसर पर यातायात प्रभारी आर.सी.राय ने सड़क दुर्घटना में घायल व्यक्ति को प्राथमिक उपचार किस प्रकार दी जाती है उसका डेमो के माध्यम से अवगत कराया साथ ही घायल व्यक्ति की मदद करने हेतु प्रोत्साहित किया।

पुलिस अधिकारियों ने एसपीसी के छात्रों के जिज्ञासा का किया गया समाधान।

जागरूकता सह प्रशिक्षण कार्यक्रम में स्टूडेंट पुलिस कैडेट के कई छात्रों ने अपनी जिज्ञासाओं से पुलिस अधिकारियों को अवगत कराया जिसमें प्रमुख रूप से एसपीसी कैडेट कमलसाय ने कहा कि नशा को रोकने हेतु पुलिस क्या प्रयास कर रही है जिस पर चौकी प्रभारी बसदेई सुनील सिंह ने कहा कि पुलिस अधीक्षक सूरजपुर के मार्गदर्शन में वहृद जन जागरूकता अभियान जिले के थाना-चैकी क्षेत्र में चलाया जा रहा है, लोगों को नशा के दुष्परिणाम से अवगत कराया जा रहा है साथ नशे के कारोबार में लिप्त लोगों के विरूद्व पुलिस लगातार सख्त कार्यवाही कर रही है। चैकी प्रभारी ने छात्रों को कहा कि अपनी जिज्ञासा को दबाकर न रखे उसे बताए ताकि उसका समाधान किया जा सके।

छात्रों ने कहा स्टूडेंट पुलिस कैडेट से जुड़ने पर हमें गर्व है।

कार्यक्रम में एसपीसी के छात्रों ने कहा कि स्टूडेंट पुलिस कैडेट से जुड़कर हमें गर्व महसूस हो रहा है, अध्ययन के साथ ही हम कैडेट बनकर अनुशासन में रहकर शिक्षा के साथ ही समाज के हित में कार्य करने का अवसर मिला। एसपीसी से जुड़ने पर परिजनों भी प्रसन्नता है।

कार्यक्रम में कैडेट के परिजन रहे उपस्थित।

कार्यक्रम में स्टूडेंट पुलिस कैडेट के परिजन भी सम्मिलित हुए जिन्हें उनके बच्चों को एसपीसी से जोड़ने का उद्धेश्य एवं उनके कार्यो के बारे में जानकारी दी गई जिस पर उनके अभिभावकों ने इस कदम की सराहना की।

पुलिस के कार्यो में सहयोग करेंगे स्टूडेंट पुलिस कैडेट।

एसपीसी के छात्र यातायात व्यवस्था के तहत् यातायात नियमों के प्रति लोगों को जागरूक करने के साथ ही पुलिस के साथ कदम से कदम मिलाकर पुलिस के कार्यो में सहयोग प्रदान कर रहे है।

इस दौरान प्राचार्य लेफ सिंह, आर.डी.सिंह, एस.एन.नसीम, प्रवीण तिवारी, ओ.पी.राजवाड़े, एनसीसी प्रभारी सुनील दत्त तिवारी, प्रियंका मिश्रा, मुकेश सिंह, डी.एन.चौबे, गुलाबचंद साहू, कमलेश पाण्डेय, आंचला राजवाड़े, एसपीसी प्रभारी योगेश पाण्डेय, छात्रावास अधीक्षक श्री सिसोदिया, हीरामणी पाण्डेय, एसपीसी छात्र के परिजन, एनसीसी एवं स्टूडेंट पुलिस कैडेट के छात्र उपस्थित रहे।

शुक्रवार, 13 दिसंबर 2019

धोखाधड़ी के मामले में फरार आरोपी सहायक बैंक मैनेजर को रामानुजनगर पुलिस द्वारा भुवनेश्वर उड़ीसा से किया गया गिरफ्तार..........

मामला सेन्ट्रल बैंक रामानुजनगर का है....

सूरजपुर: प्रार्थी डाॅ0 दिनेश कुमार विश्वकर्मा पिता श्री नारायण प्रसाद विश्वकर्मा निवासी रामानुजनगर के द्वारा दिनांक 19.10.19 को लिखित रिपोर्ट दिया की इसके होम लोन 20 लाख रूपये स्वीकृत रकम में से 5 लाख रूपये दिनांक 27.05.19 को राजेश शंकर दास के खाता में डेबिट कर उसी दिन मिथलेश कुमार पिता गौतम कुशवाहा ग्राम बरहोल के लोन को जमा किया गया है रिपोर्ट पर अपराध क्रमांक 157/19 धारा 420,409,467,468,471,120,(बी) भादवि पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है।

दूसरे मामले में ग्राम द्वारिकापुर निवासी परमेश्वर यादव द्वारा लिखित आवेदन पत्र प्रस्तुत कर रिपोर्ट दर्ज कराया कि ग्राम पंचायतों में बिल्डींग मटैरियल सप्लाई करने का का करता है जो जनपद कार्यालय रामानुजनगर प्रेमनगर सूरजपुर भैयाथान प्रतापपुर के मनरेगा के पोल, जाली, जी आई वायर व अन्य सामग्री निर्माण कर निर्माण कार्य में सप्लाई किया है जिसकी राशि सेन्ट्रल बैंक शाखा रामानुजनर के खाते में आता है जिसमें से विभिन्न तिथियों में कुल 90 लाख 32 हजार 880 रूपये को गलत तरीके से आहरण कर गबन किया गया है कि रिपोर्ट पर अपराध क्रमांक 199/19 धारा 420,409,467,468,471,120 बी भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

अपराध पंजीबद्व होने के बाद से ही फरार आरोपियों की पतासाजी कर जल्द से जल्द गिरफ्तार करने के निर्देश पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने दिए थे साथ ही आरोपियों की पतासाजी कर गिरफ्तारी हेतु पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों की टीम गठित की थी।
दोनों मामलों में फरार आरोपी सुरेन्द्र सुरई मराण्डी जो अपराध पंजीबद्व होने के बाद से ही फरार चल रहा था जो पुलिस टीम को नई तकनीक की मदद एवं विश्वसस्त मुखबीर से जानकारी मिली कि आरोपी भुवनेश्वर उड़ीसा में है जो पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में पुलिस टीम को भुवनेश्वर उड़ीसा रवाना किया।

पुलिस टीम ने दिगर राज्य उड़ीसा जाकर सूझबूझ का परिचय देते हुये दोनों मामलों में फरार आरोपी सहायक बैंक मैनेजर सुरेन्द सुरई मराण्डी पिता बुधन मराण्डी उम्र 35 वर्ष पता जलेश्वर (बालेश्वर) भुवनेश्वर उड़ीसा को अभिरक्षा में लिया और दिनांक 13.12.19 को रामानुजनगर में लाने पर विधिवत् गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय में पेश किया है जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।

पुलिस टीम ने इसके पूर्वक फरार आरोपी सचिन गोविन्द राव गायकवाड की गिरफ्तारी हेतु टीम महाराष्ट्र गई थी वह आरोपी सचिन गोविन्द राव गायकवाड को आकोला महाराष्ट्र से पुलिस अभिरक्षा में लेकर दिनांक 22.11.19 को रामानुजनगर लाने पर गिरफ्तार कर न्यायालय पेश किया है जहां से आरोपी को जेल भेज दिया गया है। इससे पूर्व सेन्ट्रल बैंक शाखा रामानुजनगर हुए गबन हुए मामले में प्रार्थी राधेश्याम सिंह आ0 स्व0 उमाशंकर उम्र 45 वर्ष सा0 थाना रामानुजनगर के द्वारा थाना में उपस्थित होकर दिनांक 19.10.19 को रिपोर्ट दर्ज कराया कि प्रार्थी के द्वारा मुद्रा लोन प्राप्त करने हेतु सेन्ट्रल बैंक प्रबंधक आलोक गुप्ता को फार्म भरकर दिया गया था व लोन स्वीकृति के सम्बंध में पूछने पर आलोक गुप्ता द्वारा प्रार्थी को टाल मटोल कर लोन स्वीकृत नहीं हुई है कहते रहा और बाला बाला दिनांक 01.03.19 को प्रार्थी का मुद्रा लोन स्वीकृत करते उसी दिन लोन की रकम अली अहमद, करन सिंह, अकबर, मनोज कुमार पात्रे एवं दिनंाक 02.03.19 को धन सिंह के खाते में हस्तान्तरण करते रूपया गबन करने के आधार पर अपराध क्रमांक 156/19 धारा 420,409,467,468,471,120,(बी) भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

उपरोक्त तीनों अपराध पंजीबद्व होने के बाद पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा द्वारा जिला स्तर पर पुलिस टीम गठित का प्रकरण के आरोपीगण की तत्काल गिरफ्तारी करने हेतु निर्देशित किया गया तथा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर एवं एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी के मार्गदर्शन पर रामानुजनगर पुलिस एवं गठित टीम के द्वारा बैंक कैशियर आरोपी अभिषेक मण्डल पिता जयबन्धु मण्डल उम्र 24 वर्ष सा0 मदनपुर थाना जयनगर को दिनांक 19.10.19 को गिरफतार कर न्यायालय पेश किया जहां से जेल भेज दिया गया तथा प्रकरण के तत्कालीन शाखा प्रबंधक आलोक कुमार गुप्ता तथा कैशियर देवेश कुमार लाल खेर तथा सचिन गोविन्द राव गायकवाड, सुरेन्द्र सुराई मराण्डी के फरार रहने पर मुख्य आरोपी आलोक कुमार गुप्ता पिता स्व. अजय कुमार गुप्ता सा0 जक्कनपुर थाना गर्दनीबाग थाना पटना को झारखण्ड भेजा गया था जो टीम ने आरोपी आलोक गुप्ता को दबिश देकर दिनांक 02.11.19 को गिरफ्तार कर न्यायालय पेश किया गया था जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।

आरोपी आलोक गुप्ता को पुलिस गिरफ्त से बचाने एवं उसे भगाने में सहयोग करने वाले सहयोगी आरोपी मो0 रफीक उर्फ बौना एवं आलोक शुक्ला उर्फ सोनू को धारा 212 भादवि का अपराध घटित करना पाये जाने से उसे पूर्व में गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पर भेजा गया। प्रार्थी राधेश्याम सिंह के खाते से पैसा गलत तरीके से प्राप्त करने वाले खाता धारक अकबर अली आ0 मो0 यासिन उम्र 42 वर्ष सा0 त्रिपुरेश्वरपुर एवं करण सिंह आ0 रामगोपाल सिंह उम्र 34 वर्ष सा0 गोविन्दपुर हाल मुकाम देवनगर को दिनांक 06.11.19 को एवं मनोज कुमार पात्रे पिता छन्दुलाल पात्रे उम्र 42 वर्ष निवासी भुवनेश्वरपुर को दिनांक 07.11.19 को गिरफ्तार कर न्यायालय पेश किया गया जहां से आरोपीगण को जेल भेज दिया गया।

इस कार्यवाही में थाना प्रभारी रामानुजनगर गोपाल ध्रुव, एसआई बीडी यादव, अजहरूद्दीन, एएसआई माधव सिंह, बृजेश यादव, प्रधान आरक्षक लखेश साहू, राजेश पैंकरा, आरक्षक बेचु सोलंकी, देवान सिंह, फिरोज खान, वेदप्रकाश राजवाड़े, संतोष ठाकुर एवं संजय राजपूत सक्रिय रहे।

बुधवार, 11 दिसंबर 2019

छत्तीसगढ़ के पुलिस महानिदेशक ने विडियों कान्फ्रेसिंग में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर दिए कई निर्देश.......

महिलाओं के विरूद्व होने वाले अपराधों की जल्द विवेचना पूर्ण करने दिए निर्देश

सूरजपुर। छत्तीसगढ़ के पुलिस महानिदेशक श्री डी.एम.अवस्थी ने बुधवार 11 दिसम्बर 2019 को प्रदेश के समस्त पुलिस अधीक्षकों, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षकों, सेनानियों एवं एसडीओपी की विडियों कान्फ्रेसिंग ली। इस दौरान पुलिस महानिदेशक छत्तीसगढ़ के अलावा विशेष पुलिस महानिदेशक श्री आर.के.विज, एडीजीपी श्री अशोक जुनेजा, श्री हिमांशु गुप्ता, आईजी रायपुर श्री आनंद छाबड़ा एवं डीआईजी श्री ओ.पी. पाल भी उपस्थित रहे। 
विडियों कान्फ्रेसिंग में पुलिस महानिदेशक छत्तीसगढ़ ने महिलाओं की सुरक्षा एवं महिलाओं से संबंधित अपराधों पर संवेदनशीलता बरतते हुए त्वरित कार्यवाही किए जाने के निर्देश दिए। पुलिस महानिदेशक श्री अवस्थी ने महिलाओं की शिकायत अथवा अपराध पर पुलिस को क्विक रिस्पांस के तहत् मौके पर पहुंचकर उचित कार्यवाही करने को कहा है। थानों में सुव्यवस्थित महिला डेस्क में महिला अधिकारी को मौजूद रहने एवं थाना में आने वाली पीड़ित महिलाओं की शिकायतों को गंभीरतापूर्वक सुनकर त्वरित कार्यवाही करने एवं थाना-चौकी प्रभारियों को यदि कोई महिला आपातकालीन स्थिति में फोन करती है तो उन्हें तत्काल सहायता पहुंचाई जाए। उन्होंने महिला संबंधी अपराधों में पूरी गंभीरतापूर्वक कार्य करने के निर्देश दिए है। 
पुलिस महानिदेशक के विडियों कान्फ्रेसिंग के दौरान पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर, एएसपी मुख्यालय पी.एस.महिलाने, सीएसपी जे.पी.भारतेन्दु, एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी, एसडीओपी ओड़गी मंजूलता बाज, एसडीओपी प्रतापपुर राकेश पाटनवार एवं डीएसपी अजाक बालसाय केरकेट्टा मौजूद रहे।

सोमवार, 9 दिसंबर 2019

सूरजपुर पुलिस की चल रही पहाड़गांव फायरिंग रेंज में वार्षिक चांदमारी.........


सूरजपुर। जिला पुलिस सूरजपुर द्धारा रविवार को वार्षिक चांदमारी का आयोजन पहाड़गांव फायरिंग रेंज में किया। फायरिंग रेंज में चांदमारी हेतु पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा, जिले के पुलिस राजपत्रित अधिकारियों सहित कई थाना-चैकी प्रभारी व पुलिस कर्मचारियों ने टारगेट पर निशाना लगाया। पुलिस के द्वारा हर साल इस चांदमारी का आयोजन किया जाता है। जयनगर थाना क्षेत्र के ग्राम पहाड़गांव में फायरिंग रेंज स्थित है जहां 8 दिसम्बर से 17 दिसम्बर 2019 तक की यह चांदमारी चलेगी। पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री कुकरेजा की उपस्थिति में चांदमारी का अभ्यास प्रारंभ हुई जिसमें पुलिस अधीक्षक ने भी निशाना साधा।
इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर, एएसपी मुख्यालय पी.एस.महिलाने, सीएसपी जे.पी.भारतेन्दु, एसडीओपी प्रकाश सोनी, मंजूलता बाज, राकेश पाटनवार, डीएसपी अजाक बालसाय केरकेट्टा, रक्षित निरीक्षक भूपेन्द्र कुर्रे, थाना प्रभारी धर्मानंद शुक्ला, दीपक पासवान, कपिलदेव पाण्डेय, किशोर केंवट, के.पी.चौहान, रामसाय पैंकरा, एन.के.त्रिपाठी, जमाल फिरदौसी, ओ.पी.कुजूर, गोपाल धुर्वे, चौकी प्रभारी सुभाष कुजूर, सुनील सिंह, सरफराज फिरदौसी, जी.आर.चौहान, संजय गोस्वामी, सहित विभिन्न थाना-चौकी व रक्षित केन्द्र के पुलिस अधिकारी-कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

पुलिस अधीक्षक ने अम्बिकापुर-बनारस मार्ग के दुर्घटनाजन्य स्थानों का लिया जायजा..........

संकेतक बोर्ड, रेडियम, रम्बल स्टीप लगाने दिए निर्देश......

सूरजपुर। जिले के राष्ट्रीय एवं राजकीय राजमार्ग के दुर्घटनाजन्य स्थानों पर हादसेे रोकने हेतु ऐसे स्थानों पर सुरक्षा के इंतेजाम सुनिश्चित कराने के उद्देश्य से गत् दिवस पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने राजकीय राजमार्ग अम्बिकापुर-बनारस रोड़ के सोनगरा, जरही, कपसरा एवं घाटपेंडारी के दुर्घटनाजन्य स्थानों का जायजा लिया।
गत् दिवस पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा, जिला परिवहन अधिकारी अतुल असैय्या, यातायात प्रभारी आर.सी.राय एवं पीडब्ल्यूडी एसडीओ हर्षित साहू सहित संयुक्त टीम ने अम्बिकापुर-बनारस रोड़ का दौरा किया। इस दौरान टीम ने राजकीय राजमार्ग में चिन्हांकित उन ब्लैक स्पाॅट पर पहुंची, जहां पिछले 2 वर्षो में अधिक सड़क हादसे हुए। टीम ने अधिकांश जगहों पर पाया कि यहां साइन बोर्ड, लाइटिंग या स्पीड ब्रेकर नहीं होने की समस्याएं है।
पुलिस अधीक्षक ने इन दुर्घटनाजन्य स्थानों, घुमावदार मोड़ पर रेडियम एवं संकेतक बोर्ड लगाने के साथ ही रम्बल स्टीप लगाने के निर्देश दिए ताकि सड़क दुर्घटनाएं पर रोक लगाई जा सके। उन्होंने जिले के थाना-चौकी प्रभारियों को कहा है कि जिन स्थानों पर अधिक सड़क दुर्घटनाएं होती है उन स्थानों पर हादसों को रोकने के लिए सुरक्षात्मक उपाए कराए जाए।


सूरजपुर पुलिस ने सुलझाई एनएच 43 कमलपुर के पास हुए अंधे कत्ल की गुत्थी.............

अवैध संबंध रही वारदात की वजह....

हत्या को एक्सीडेंट का स्परूप देने आरोपियों ने रची थी साजिश...

सूरजपुर। 3 दिसम्बर 2019 को ग्राम कमलपुर के सरपंच कौशल सिंह ने थाना सूरजपुर में उपस्थित होकर सूचना दिया कि 03 दिसम्बर की सुबह 7 बजे इसे जानकारी मिली कि सामतबहरी एनएच 43 सुरेन्द्र सिंह के खेत किनारे एक टेम्पो में किसी व्यक्ति का एक्सीडेंट होकर गिरा मरा पड़ा है सूचना पर इसने सामतबहरी पहुंचकर देखा कि सुरेन्द्र के खेत किनारे एक काला रंग का बिना नंबर का टेम्पो खेत में उल्टा हुआ है उसके स्टेरिंग सीट में अज्ञात व्यक्ति उम्र करीब 35 वर्ष का दबा मरा पड़ा है जिसके माथे में चोट का निशान दिख रहा है और खून बहा है एवं टेम्पो का शीशा टूटा हुआ है सूचना पर कोतवाली पुलिस तत्काल मौके पर रवाना हुई।

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा, एएसपी हरीश राठौर, सीएसपी जे.पी.भारतेन्दु, एफएसएल वरिष्ठ वैज्ञानिक अधिकारी कुलदीप कुजूर, फिंगर प्रिन्ट विशेषज्ञ डीएसपी लिनोश किस्पोट्टा एवं ट्रेकर डाग स्क्वार्ड की टीम मौके पर पहुंचकर घटना स्थल का बारीकी से निरीक्षण किया। पुलिस के द्वारा शव पंचनामा कार्यवाही के दौरान मृतक के जेब से ड्राईविंग लायसेंस एवं घटना स्थल से एक विजिटिंग कार्ड मिला। ड्राईविंग लायसेंस की फोटो से मृतक की पहचान हुई कि वह सुभाषनगर चरचा, जिला कोरिया निवासी 31 वर्षीय तनवीर अहमद अंसारी पिता दाउद अंसारी है। मृतक के शव पंचनामा की कार्यवाही के बाद शव को पीएम हेतु जिला चिकित्सालय भेजते हुये मर्ग कायम कर जांच में लिया।

घटना स्थल निरीक्षण, जांच पंचनामा कार्यवाही एवं डाॅक्टर के द्वारा दिए गए शार्ट पीएम रिपोर्ट में मृतक की मृत्यु हत्यात्मक होना लेख किए जाने पर कोतवाली पुलिस ने अज्ञात व्यक्ति के विरूद्व अपराध क्रमांक 469/19 धारा 302, 201 भादवि के तहत् मामला पंजीबद्व करते हुए विवेचना की गई। 

घटना स्थल पर पाए गए परिस्थितिजन्य साक्ष्य एवं मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने कोतवाली प्रभारी धर्मानंद शुक्ला को मामले से जुड़े सभी बिन्दुओं पर बारीकी से जांच कर जल्द मामले का खुलासा करते हुए आरोपी को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए।

कोतवाली पुलिस मौके से पाए गए विजिटिंग कार्ड के आधार पर जिला कोरिया के चरचा पहुंची और सूफिया एण्ड हायात के संचालक महफूज आलम से घटना के संबंध में पूछताछ किये जाने पर यह तथ्य आया कि इसका रिश्ते का भांजा अमानत खान गढ़वा झारखण्ड से पकड़े का एक लगेज लेकर बस से सूरजपुर के लिए निकला है जो रात 10 बजे सूरजपुर बस स्टैण्ड पहुंचेगा उसी सामान को लेने के लिए मृतक तनवीर अहमद दिनांक 02/12/19 के शाम 6.00 बजे इससे 5 सौ रूपये लेकर सूरजपुर के लिए निकला था। मृतक तनवीर के पत्नी द्वारा महफूज आलत पर लगातार दबाव बनाती थी कि उसके पति तनवीर से छुटकारा दिलाए और उसे अपने साथ रखे। महफूज एवं मृतक की पत्नी अफसाना बानो अपने संबंधों को बनाए रखने के लिए मृतक को रास्ते से हटाने की योजना 1 माह पूर्व से बना रखे थे। बनाए गए योजना के अनुसार 2 दिसम्बर के रात्रि करीब 10-11 बजे के मध्य एनएच 43 ग्राम कमलपुर जो जिला सूरजपुर व कोरिया का बार्डर है वहां मृतक तनवीर को रोककर महफूज आलम एवं उसका मुहबोला भांजा अमानत खान के द्वारा अपने साथ लाए हुए हथौठे से तनवीर को चेहरे एवं सीने पर प्राणघातक हमला किए जिससे तनवीर की मौके पर ही मृत्यु हो गई। इसके बाद दोनों ने टेम्पो के ड्राईवर सीट पर शव को डालकर हत्या की वारदात को एक्सीडेंट का स्वरूप देने के लिए सड़क के किनारे पलटा दिए। महफूज आलम के द्वारा टेम्पो के इंडीकेटर शीशा को पत्थर से मारकर फोड़ दिया गया।

पुलिस ने आरोपी महफूज आलम के निशानदेही पर एक लोहे का हथौड़ा, मृतक के पत्नी का मोबाईल जप्त किया साथ ही वारदात के वक्त दोनों आरोपियों के द्वारा पहने हुए पकड़े जिसमें खून के निशान लगे थे उसे जप्त किया है। जांच में इस बात की भी पुष्टि हुई कि आरोपी महफूज के द्वारा वारदात में प्रयुक्त हथौड़ा को बैकुण्ठपुर से खरीदा था।

मामले के दोनों आरोपियों ने घटना स्थल पर हत्या को एक्सीडेंट का स्वरूप देने के लिए एनएच 43 पर मृतक के टेम्पो के ड्राईवर सीट में उसे डालकर सामने की ओर से आ रही वाहनों के सामने धकेला किन्तु सामने से आ रही वाहने साईड लेकर निकल जाती थी।

पुलिस ने प्रकरण में आरोपी महफूज आलम पिता मुस्तकीम अंसारी उम्र 36 वर्ष निवासी सुभाषनगर, थाना चरचा, जिला कोरिया, अमानत खान पिता मोहम्मद आजाद खान उम्र 28 वर्ष सा0 उचरी, थाना गढ़वा, जिला गढ़वा झारखण्ड एवं अफसाना बानो पति स्व. तनवीर अहमद अंसारी उम्र 26 वर्ष निवासी निवासी सुभाषनगर, थाना चरचा, जिला कोरिया के विरूद्व अपराध सबूत पाए जाने पर विधिवत् गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय में पेश किया।

इस कार्यवाही में थाना प्रभारी सूरजपुर धर्मानंद शुक्ला, एसआई हिम्मत सिंह शेखावत, अजहर उद्दीन, एएसआई गजपति मिर्रे, प्रधान आरक्षक धनेष्वर कुशवाहा, राहुल गुप्ता, सुरेन्द्र सिंह, रामनिवास तिवारी, आरक्षक चन्द्रप्रकाष साहू, बिहारी पाण्डेय, साईबर सेल के आरक्षक युवराज यादव एवं रौशन सिंह सक्रिय रहे।

बुधवार, 4 दिसंबर 2019

पुलिस अधीक्षक को कुम्हार समाज ने भेंट की मिट्टी से बने आकर्षक डिनर सेट................

सूरजपुर। कुम्हार समाज ने *पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा* को मिट्टी से बने आकर्षक *टी एवं डिनर सेट* भेंट किया। मंगलवार को कुम्हार समाज के अध्यक्ष कुलवंत राम प्रजापति, आनंद प्रजापति, गोपाल प्रजापति, सुखदेव प्रजापति की अगुवाई में जिला पुलिस कार्यालय सूरजपुर पहुंचकर *पुलिस अधीक्षक श्री कुकरेजा* को मिट्टी से बने आकर्षक टी एवं डिनर सेट भेंट किया। मिट्टी से बने उन्दा किस्म के डिनर सेट को देखकर *पुलिस अधीक्षक ने कुम्हार समाज के इस कार्य की प्रशंसा की* और उनके आगामी कार्य योजना के बारे में जानकारी ली।
ज्ञात हो कि सूरजपुर जिले के जयनगर थाना क्षेत्र अन्तर्गत ग्राम तेलईकछार में माटी कला बोर्ड के द्वारा ताप भट्ठी निर्माण फैक्ट्री संचालित है यही से कुम्हार समाज के लोगों के द्वारा आकर्षक मिट्टी के बर्तन बना रहे है।
इस दौरान पत्रकार उपेन्द्र दुबे, चंचलेश श्रीवास्तव, ओंकार पाण्डेय, राजेश सोनी, अजय लाल व कुम्हार समाज के संजूराम प्रजापति, आनंद राम, बलवंत राम, महाबीर प्रजापति, भूखसाय, सुखेदव राम, रूपचंद, चेत नारायण, शेखचंद, अवध प्रजापति, सरजूराम, दरिना राम, गोपाल प्रजापति उपस्थित रहे।

शिक्षकों के साथ सामुहिक रूप से मारपीट के मामले में चांदनी पुलिस ने 7 आरोपियों को किया गिरफ्तार..........


सूरजपुर। गत् 2 दिसम्बर 2019 को ग्राम नवाटोला स्थित शासकीय हाईस्कूल के प्राचार्य अमृतलाल कंवर ने थाना चांदनी में रिपोर्ट दर्ज कराया कि सोमवार 2 दिसम्बर को रोज की भांती स्कूल समय में विद्यालय पहुंचा तो उसी समय गांव के श्याम कार्तिक यादव व अन्य लोगों के द्वारा शाला भवन में ताला बंद कर दिया गया था जिस पर इसने ताला को तोड़कर बच्चों को कक्षा में प्रवेश कराकर प्रार्थना सभा कराने के दौरान गावं के श्यामकार्तिक यादव, राधेश्याम यादव, रूपनारायण यादव, रामबरन यादव, राममिलन यादव, जवाहिर यादव एवं रामाशंकर यादव ने शाला में घुसकर बच्चों को जहर देकर मारने एवं ताला को तोड़ने की बात कहकर शासकीय कार्य में बांधा पहुंचाते हुए गाली-गलौज कर भृत्य सौरभ यादव को मारने लगे, बीच-बचाव करने पर सौरभ को छोड़कर इसे एवं सहायक शिक्षक मानिकचंद को मारपीट कर जमीन में गिरा दिए। मामले की रिपोर्ट पर थाना चांदनी में आरोपियों के विरूद्व धारा 147, 186, 353, 294, 506, 323 भादवि के तहत् मामला पंजीबद्व करते हुये थाना प्रभारी चांदनी उमाशंकर सिंह ने मामले की जानकारी से पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा को अवगत कराया जिस पर उन्होंने फौरन आरोपियों की पतासाजी कर उन्हें गिरफ्तार करने के निर्देश दिए।
थाना प्रभारी चांदनी उमाशंकर सिंह पुलिस टीम के साथ ग्राम नवाटोला पहुंचे और आरोपीगण ग्राम नवाटोला निवासी 30 वर्षीय श्यामकार्तिक यादव पिता स्व. प्रहलाद, 33 वर्षीय राधेश्याम यादव पिता प्रहलाद, 28 वर्षीय रूपनारायण यादव पिता नान्हू, 35 वर्षीय रामबरन यादव पिता स्व. कमला, 50 वर्षीय राममिलन यादव पिता स्व. प्रहलाद, 31 वर्षीय जवाहिर यादव पिता रामकुमार एवं 27 वर्षीय रामाशंकर यादव पिता रामलखन को उनके गांव से घेराबंदी कर पकड़ा और विधिवत् गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय में पेश किया। पूछताछ पर आरोपियों ने बताया कि श्याम कार्तिक का पुत्र जो प्राथमिक शाला नवाटोला में पढ़ता है जिसके स्कूल बैग में संदेहास्पद स्थिति में बिस्कीट और सेब रखा हुआ मिला था जो बच्चे को नुकसान पहुंचाने की नियत से रखने की बात को लेकर आरोपियों ने शिक्षकों को अपना निशाना बनाया और उनके साथ मारपीट की गई।

शिक्षकों के साथ हुए मारपीट की घटना के बाद शिक्षकों एवं शिक्षक संघ में आक्रोश बढ़ने लगा साथ ही स्कूल के छात्र-छात्राओं ने भी इस मामले को लेकर धरना प्रदर्शन करने की तैयारी में थे। शिक्षकों के साथ सामुहिक रूप से मारपीट किए जाने के मामले को गंभीरता से लेते हुए चांदनी पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए घटना के तत्काल बाद दलबल के साथ मौके पर पहुंचे और घटना में शामील आरोपियों को उनके गावं से घेराबंदी कर पकड़ा।

इस कार्यवाही में थाना प्रभारी चांदनी उमाशंकर सिंह, एसआई शिप्रसाद सिंह, एएसआई विदवा राम यादव, आरक्षक सुनील सिंह, शैलेन्द्र सिंह व संत साहू सक्रिय रहे।

मंगलवार, 3 दिसंबर 2019

पुलिस अधीक्षक ने महिलाओं एवं बच्चों की सुरक्षा को लेकर दिए सख्त निर्देश............

स्कूल लगने एवं छुट्टी होने के दौरान पुलिस की होगी पैनी नजर

रात्रि के वक्त बस, ट्रेन व अन्य परिवहन साधनों की जा रही आकस्मिक चेकिंग

सूरजपुर। महिलाओं एवं बच्चों के खिलाफ अपराधों पर रोक लगाने, रात्रि के वक्त बस, ट्रेन व अन्य परिवहन साधनों का आकस्मिक चेकिंग करने, पुलिस कर्मियों को ड्यूटी आते एवं लौटते समय संदिग्धों पर नजर रखने के साथ ही किसी प्रकार की शिकायत अथवा सूचना पर फौरन कार्यवाही करने और ऐसे मामलों में संवेदनशीलता के साथ निपटने के निर्देश पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने जिले के सभी थाना-चौकी प्रभारियों को दिए है।
इसी परिपेक्ष्य में सोमवार 2 दिसम्बर को चौकी प्रभारी तारा राजेश तिवारी व उनकी पुलिस टीम ने शिवनगर स्थित दिव्य दीप हाईस्कूल एवं तारा के हायर सेकेण्डरी स्कूल के लगने एवं छुट्टी होने के दौरान स्कूली बच्चों के आने-जाने का ब्यौरा लिया और बच्चों को किसी अनजान व्यक्ति के बहकावे में न आने की समझाईश दी। तारा पुलिस महिलाओं एवं बच्चों के आने-जाने वाले ऐसे स्थान जो सुनसान होते है उन्हें चिन्हांकित कर ऐसे स्थानों पर पेट्रोलिंग कर रही है। रात्रि के वक्त बस स्टापेज पर बस व अन्य सवारी वाहनों की आकस्मिक चेकिंग करते हुए जिले की पुलिस ड्यूटी आने एवं वापस लौटते समय संदिग्धों पर पैनी नजर बनाए हुए है।