मंगलवार, 25 जून 2019

24 घण्टे के भीतर हत्या का आरोपी गिरफ्तार, चौकी खड़गवां पुलिस की कार्यवाही...

सूरजपुर। गत् 23 जून को प्रार्थी सूरज पैंकरा पिता स्व. प्रधान पैंकरा उम्र 25 वर्ष साकिन मायापुर-2 (माझापारा) चौकी खड़गवां, थाना प्रतापपुर चौकी में आकर मौखिक रिपोर्ट दर्ज कराया कि इसका रिश्ते का दादा जवाहिर पैंकरा पिता बागर पैंकरा उम्र 50 वर्ष के द्वारा पुराने जमीन हिस्सा बटवारा को लेकर प्रार्थी के छोटा भाई फुट राम उम्र 22 वर्ष को मैहर के घर के सामने टांगी से सिर में मारकर गंभीर चोट पहुंचाकर हत्या कर भाग गया है। रिपोर्ट पर मर्ग क्र. 45/19 कायमी पश्चात् अपराध क्रमांक 92/19 धारा 302 भादवि का कायम कर जांच विवेचना में लिया गया। पूरे मामले से पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल व को अवगत कराए जाने पर उन्होंने मामले की गंभीरता को देखते हुए तत्काल आरोपी की गिरफ्तारी एवं गंभीरतापूर्वक विवेचना करने के निर्देश दिए।
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर व एसडीओपी प्रतापपुर राकेश पाटनवार के मार्गदर्शन में थाना प्रतापपुर एवं चौकी खड़गवां की संयुक्त पुलिस टीम के द्वारा प्रकरण में लगातार जांच विवेचना किया गया जो पाया गया कि दिनांक 23 जून को दिन में मृतक फुट राम के चाचा समरत पैंकरा, मैहर पैंकरा का हिस्सा बटवारा कर रहे थे जिसमें मृतक स्वयं एवं उसके दादा धनूराम पैंकरा, छोटे दादा जवाहिर पैंकरा, चाचा समरत पैंकरा व मैहर पैंकरा एवं गावं के 8-10 लोग दिन में 11-12 बजे इसके गांव मायापुर-2 एवं बोझा का जमीन बटवारा कर रहे थे मृतक के छोटे दादा जवाहिर पैंकरा गांव वाला जमीन के पास मृतक के दादा धनूराम को पूर्व में किया गया जमीन बटवारा को नहीं मान रहा था एवं बोल रहा था कि मुझे कम जमीन बटवारा दिए हो आज तुम्हारा या किसी और का मर्ड करूंगा कहकर धमकी चमकी करने लगा तब वहां उपस्थित लोग उसे समझाकर घर भेज दिए। फिर सभी लोग अपने-अपने घर चले गए। शाम को मृतक फूटराम अपने चाचा मैहर के घर पड़ोस में चला गया कि रात्रि करीब 9 बजे मृतक फूटराम अपने चाचा मैहर पैंकरा के साथ उसके घर के सामने सीसी रोड़ में बाहर निकला जिसे पहले से घात लगाए उसका रिश्ते का दादा जवाहिर पैंकरा टांगी से सिर, दाहिना कनपट्टी, आंख के पास मारकर जमीन में गिरा दिया एवं आरोपी जवाहिर पैंकरा घटना में प्रयुक्त टांगी को लेकर भाग गया। कुछ देर बाद इसका भाई फूट राम की मौत हो गई। दौरान जांच विवेचना चक्षुदर्शी गवाहों, परिजनों, पंचानों का कथन घटना स्थल निरीक्षण, शव पंचनामा कार्यवाही, पी.एम. रिपोर्ट पर आरोपी जवाहिर पैंकरा पिता बागर पैंकरा उम्र 50 वर्ष ग्राम मायापुर-2 माझापारा, चौकी खड़गवां के विरूद्व अपराध घटित करना सबूत पाया गया।
चॅूकि घटना के बाद से आरोपी फरार हो गया था, प्रकरण गांव के मध्य जघन्य हत्या का था, वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन एवं निर्देशन में लगातार सरगर्मी से पता तलाश कर गांव के बाहर जंगल में छीपे आरोपी जवाहिर पैंकरा को घेराबंदी कर घटना के 24 घण्टे के अंदर गिरफ्तार किया गया एवं घटना में प्रयुक्त टांगी को जप्त कर आरोपी को न्यायालय में पेश किया गया जहां से उसे न्यायिक रिमाण्ड पर भेज दिया गया।
इस कार्यवाही में थाना प्रभारी प्रतापपुर के.पी.चैहान, चौकी प्रभारी खड़गवां, सरफराज फिरदौसी, प्रधान आरक्षक मोहर सिंह, अनुराग यादव, विशाल गुप्ता, आरक्षक शैलेष सिंह, दिनेश ठाकुर, कृष्णकांत पाण्डेय, श्याम सिंह, दीपक एक्का, प्रमोद गुप्ता, भीखराम भगत, बुधनाथ खलखो एवं रविशंकर किण्डो सक्रिय रहे।

रविवार, 23 जून 2019

अंतर्राज्जीय एटीएम ठग गिरोह का हुआ पर्दाफाश, 01 आरोपी गिरफ्तार...

सूरजपुर। 27 मई को ग्राम ठाकुरपुर थाना जयनगर निवासी ललिता किण्डो के ए.टी.एम. कार्ड को बदलकर किसी अज्ञात व्यक्ति ने 1 लाख 44 हजार 5 सौ रूपये निकाल लिया था तथा 27 मई को ही एसबीआई ए.टी.एम. सूरजपुर से भैयाथान निवासी ओमप्रकाश द्विवेदी के ए.टी.एम. कार्ड को किसी अज्ञात व्यक्ति ने बदलकर 3 लाख 8 हजार रूपये धोखाधड़ी कर आहरित कर लिया था। ललिता किण्डो की रिपोर्ट पर थाना जयनगर में अपराध क्रमांक 128/19 धारा 420 भादवि एवं ओमप्रकाश द्विवेदी की रिपोर्ट पर थाना सूरजपुर में अपराध क्रमांक 197/19 धारा 420 भादवि के तहत् मामला पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल ने दोनों थानों की पुलिस टीम को संयुक्त रूप से पतासाजी कर आरोपी को पकड़ने के निर्देश दिए। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर एवं एसडीओपी सूरजपुर मनोज ध्रुव के मार्गदर्शन में थाना सूरजपुर व जयनगर की संयुक्त पुलिस टीम के द्वारा दोनों प्रार्थी के एटीएम कार्ड से आहरित रकम के बारे में बैंक एकाउन्ट का स्टेटमेंट निकलवाया और सीसीटीव्ही फुटेज प्राप्त किया। सूरजपुर एवं जयनगर दोनों स्थानों पर हुए घटना एक ही व्यक्ति के द्वारा घटित किया जाना सीसीटीव्ही फुटेज से पाया गया एवं बैंक से प्राप्त स्टेटमेंट से जानकारी हासिल हुई कि दोनों प्रार्थियों के एटीएम कार्ड से आरोपी के द्वारा अम्बिकापुर स्थित ज्वेलरी दुकान से क्रमशः 64 हजार 5 सौ रूपये का सोने का चेन, अंगूठी, कोरबा के ज्वेलरी दुकान से 73 हजार रूपये का सोने का चेन, चांपा के ज्वेलरी दुकान से 65 हजार रूपये के सोने का चेन व लाकेट की खरीददारी करते हुए दोनों प्रार्थी की एटीएम कार्ड स्वीप कर रकम का भुगतान किया। तीनों ज्वेलरी दुकान एवं एटीएम के सीसीटीव्ही फुटेज में एक ही व्यक्ति का फोटो कैद हुआ जिसके आधार पर सूरजपुर पुलिस के द्वारा अंतर्राज्जीय पुलिस ग्रुप में उस फोटो को शेयर किया, मुजफ्फरनगर उत्तरप्रदेश से उस फोटो के बारे में जानकारी दी गई कि ऐसा एक व्यक्ति है जिसका चेहरा भेजे गए फोटो से मेल खाता है। इस बात की सूचना तत्काल पुलिस टीम के द्वारा पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल को दी गई जिस पर उन्होंने मुजफ्फरनगर पुलिस टीम को भेजा। प्राप्त जानकारी के आधार पर पुलिस टीम के द्वारा मुजफ्फरनगर, हनुमान चौक कोतवाली थाना के पीछे रहने वाला 28 वर्षीय विकास कश्यप पिता नान्हू सिंह को कड़ी मशक्कत के बाद घेराबंदी कर हिरासत में लिया गया और पुलिस टीम ने इस बात की तस्दीक किया कि एटीएम से पैसा निकालने एवं ज्वेलरी दुकान से खरीदी करने वाला व्यक्ति का फुटेज है या नहीं, विकास कश्यप ही वह व्यक्ति निकला जिसने एटीएम और ज्वेलरी दुकान से खरीदी किया था। पुलिस टीम के द्वारा आरोपी विकास कश्यप से पूछताछ करने पर बताया कि वह अपने तीन अन्य साथियों के साथ मिलकर एटीएम कार्ड बदलकर धोखाधड़ी की वारदात को अंजाम देता था। पकड़े गये आरोपी हनुमान चौक कोतवाली थाना के पीछे मुजफ्फरनगर निवासी विकास कश्यप पिता नान्हू सिंह उम्र 28 वर्ष के विरूद्ध अपराध सबूत पाए जाने पर विधिवत् गिरफ्तार किया गया।

अन्य थाना क्षेत्रों में की गई वारदात 

पकड़े गए आरोपी ने अपने साथियों के साथ जांजगीर-चाम्पा में 28 मई को 1 लाख रूपये की ठगी एटीएम कार्ड बदलकर किया था। बैंक से प्राप्त स्टेटमेंट से पता चलता है कि एक खाते से दूसरे खाते में रकम ट्रान्सफर करके इनके द्वारा रकम आहरण किया जाता रहा है। इनके पास पंजाब, मध्यप्रदेश व अन्य प्रदेशों के भी एटीएम कार्ड मौजूद है जिनकी जानकारी खंगाली जा रही है।

वारदात का तरीका 

आरोपी से पूछताछ करने पर उसने बताया गया कि पहले मास्टर माईन्ड आरोपी एटीएम में प्रवेश कर एटीएम के सिस्टम को छेड़छाड करता है जिससे आधे घण्टे तक बैकिंग सर्विस बाधित हो जाता है केवल बैलेेंस दिखता है जब कोई व्यक्ति एटीएम में पैसा आहरण करने के लिए घुसता है तो पहले से ही इनके 1-2 सदस्य एटीएम में मौजूद रहते थे। चॅूकि एटीएम बैंकिंग बाधित होने के वजह से प्रार्थी 1-2 बार एटीएम लगाकर अपना पिन नंबर दबाता था तब इनके सदस्य के द्वारा एटीएम पिन नंबर देख लेते थे और हेल्प करने के बहाने एटीएम कार्ड को बदलकर दूसरा एटीएम उस व्यक्ति को दे देते थे।

आरोपी से जप्ती: 03 नग एटीएम दूसरे व्यक्ति का, 35 हजार रूपये नगद, 01 सोने की अंगुठी, 01 मोबाईल, घटना में प्रयुक्त टाटा नेस्कान एक्सएम कार क्रमांक यूपी 01 बीएम 0567 कुल कीमती 8 लाख रूपये का जप्त किया गया है।

फरार आरोपी: इन वारदात में 4 आरोपियों का हाथ था जिसमें से 01 आरोपी विकास कश्यप को पुलिस टीम ने गिरफ्तार कर लिया है और उसके 03 अन्य साथियों की पतासाजी की जा रही है।
             यह कार्यवाही एसडीओपी मनोज ध्रुव के नेतृत्व में हुई जिसमें थाना प्रभारी जयनगर दीपक पासवान, एसआई विनित पाण्डेय, नवल किशोर दुबे, एएसआई विराट विसी, प्रधान आरक्षक बिसुनदेव पैंकरा, हेमन्त सोनवानी, आरक्षक लक्ष्मी नारायण मिर्रे, युवराज यादव शामिल रहे।

शुक्रवार, 21 जून 2019

पुलिस लाईन सूरजपुर में अंतराष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया

योग दिवस पर बुधवार को जिले के पुलिस महकमे में योगासन हुआ

सूरजपुर। 21 जून अंतराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल के निर्देश पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर के मार्गदर्शन में पुलिस लाईन सूरजपुर में पुलिस विभाग के अधिकारी-कर्मचारियों ने योगाभ्यास किया। 
कार्यक्रम और योग प्रक्रियाओं का सफल और प्रभावी संचालन रक्षित निरीक्षक भूपेन्द्र कुर्रे ने किया। जिले में पदस्थ महिला आरक्षक संतोषी गिरी के द्वारा पुलिस लाईन में आयोजित योग शिविर में 100 की संख्या में पुलिस अधीक्षक कार्यालय, सीएसपी, एसडीओपी कार्यालय, पुलिस लाईन, कन्ट्रोल रूम, थाना अजाक, महिला सेल, यातायात शाखा में पदस्थ पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों व उनके परिजनों को प्रभावी योगाभ्यास कराया। योग शिविर में पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों व उनके परिजनों को ग्रीवा कीट, घुटना संचालन, ताड़ासन, वृक्षासन, पादहस्तासन, अध्र्दचंद्रासन, त्रिकोणासन, बैठक कर किए जाने भद्रासन, वज्रासन, वीक्रासन, शशांक आसन, वक्रासन, मक्रासन, शवासन का अभ्यास कराया। पुलिस लाईन मैदान में सुबह आयोजित योग शिविर में पुलिस अधिकारी-कर्मचारी एवं उनके परिजनों ने उत्साहपूर्वक भाग लिया। 
रक्षित निरीक्षक सूरजपुर भूपेन्द्र कुर्रे ने योगासन के समाप्ति पर कहा कि योग हमारी जीवन शैली में परिवर्तन लोकर हमारे अंदर ताजगी पैदा करता है तथा प्राकृतिक परिवर्जनों से शरीर में होने वाले बदलावों को सहन करने में मजबूती प्रदान करता है। योग अवसाद थकान, चिंता संबंधी विकार और तनाव को कम करने में सहायक है। योग शरीर एवं मन के निर्माण की ऐसी प्रक्रिया है जो समृद्ध और परिपूर्ण जीवन की उन्नति का मार्ग है। अंत में योग को दिनचर्या में शामिल करने तथा इसे अपनाने संकल्प दिलाया।
बता दे कि पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जायसवाल के निर्देश पर जिले के समस्त थाना-चौकी में पदस्थ अधिकारी-कर्मचारियों ने योगाभ्यास किया और थाना-चैकी प्रभारियों ने अधिनस्थों को योग को दिनचर्या में शामिल करने तथा इसे अपनाने का संकल्प दिलाया।
ज्ञात हो कि अंतराष्ट्रीय योग दिवस पर स्थानीय स्टेडियम ग्राउण्ड सूरजपुर में जिला प्रशासन के द्वारा जिला स्तरीय सामुहिक योग शिविर का आयोजन किया गया था जिसमें पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर सहित कई अन्य राजपत्रित अधिकारीगण मौजूद रहे जिन्होंने योगासन किया।

सीएसपी की टीम ने मानी जंगल में जुआ खेलते पकड़ा 13 जुआड़ी को


जुआ फड़ से 1 लाख 3 हजार 40 रूपये किया गया जप्त

सूरजपुर। 20-21 जून की दरम्यिानी रात्रि में पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल को मुखबीर से सूचना प्राप्त हुई कि मानी जंगल में काफी संख्या में लोग जुआ खेल रहे है जिस पर एसपी श्री जायसवाल ने तत्काल सीएसपी डी.के.सिंह को पुलिस टीम बनाकर कार्यवाही करने के निर्देश दिए।
सीएसपी डी.के.सिंह ने तत्काल पुलिस टीम गठित कर छापामार कार्यवाही की योजना बनाते हुए अपने साथ-साथ अपनी टीम के सभी सदस्यों को स्थानीय वेश-भूषा धारण करवाई तथा स्थानीय वाहनों की मदद से मौके पर पहुंचे क्योंकि जुआड़ी पुलिस के आने की सूचना देने हेतु 2-3 लोगों को लगाकर रखते थे जिन्हें भ्रमित करने के लिए पुलिस ने स्थानीय वेशभूषा धारण किया एवं वाहन को ऐसा रूप दिया कि मानो कोई बाराती वाहन हो ऐसे वाहनों की मदद् से पुलिस टीम मानी जंगल पहुंची जहां क्रेशर के बगल में कई लोगों को मोमबत्ती की रौशनी में बैठे देखा जिस पर पुलिस टीम ने चारों ओर से घेराबंदी कर 13 व्यक्ति जो मोमबत्ती की रौशनी में जुआ खेल रहे थे जो क्रमशः ग्राम सिलौटा, थाना प्रतापपुर निवासी 36 वर्षीय विपलोप विश्वास, 32 वर्षीय रामप्रकाश चेरवा, ग्राम तेलईकछार थाना जयनगर निवासी 32 वर्षीय भैयालाल राजवाड़े, ग्राम कैलाशपुर निवासी 35 वर्षीय दीना राजवाड़े, ग्राम डेडरी थाना सूरजपुर निवासी 35 वर्षीय पुनीत राम देवांगन, 32 वर्षीय धरमजीत देवांगन, ग्राम मानी चैक निवासी 20 वर्षीय ललित राजवाड़े, ग्राम सपकरा निवासी 32 वर्षीय गणेश यादव, बौरीपारा अम्बिकापुर निवासी 35 वर्षीय नीरज कुमार रजक, शिकारी रोड़ अम्बिकापुर निवासी 32 वर्षीय अनूक कुमार, माईनस कालोनी विश्रामपुर निवासी 42 वर्षीय मोहम्मद हसन, ग्राम सतपता विश्रामपुर निवासी 35 वर्षीय राजेश रजक एवं मेन रोड़ विश्रामपुर निवासी 40 वर्षीय राजेश मालवीय हारजीत का दाव लगाकर जुआ खेलते पकड़ा। पुलिस टीम ने जुआ फड़ से 1 लाख 3 हजार 40 रूपये जप्त किया साथ ही 7 मोटर सायकल एवं 2 चार पहिया वाहनोें को भी जप्त किया है। पकड़े गए 13 लोगों के विरूद्व कोतवाली पुलिस के द्वारा धारा 13 जुआ एक्ट के तहत् कार्यवाही की गई है।
कार्यवाही सीएसपी डी.के.सिंह के नेतृत्व में हुई जिसमें थाना प्रभारी सूरजपुर उमाशंकर सिंह, थाना प्रभारी विश्रामपुर कपिलदेव पाण्डेय, चौकी प्रभारी लटोरी अजहरूद्दीन, प्रधान आरक्षक रामनिवास तिवारी, आनंद सिंह, आरक्षक जयप्रकाश तिवारी एवं अखिलेश पाण्डेय सम्मिलित रहे।

मंगलवार, 18 जून 2019

पत्नी का हत्यारा पति को बसदेई पुलिस ने किया गिरफ्तार

सूरजपुर: गत् 15 जून को ग्राम बसदेई निवासी राजकुमार पिता एतवार साय चौकी बसदेई में आकर रिपोर्ट दर्ज कराया कि इसके गांव का राजकुमार राजवाड़े अपनी पत्नी जुगमेन बाई का गला दबाकर हत्या कर घर के दरवाजे को ताला लगाकर मनेन्द्रगढ़ चला गया था कि रिपोर्ट पर मर्ग सदर कायम कर शव पंचनामा कार्यवाही में लिया गया तथा हालात से पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर व सीएसपी डी.के.सिंह को अवगत कराकर शव पंचनामा के बाद शव का पी.एम. जिला चिकित्सालय सूरजपुर में भेज कर कराया गया। मर्ग जांच के दौरान प्रार्थी, गवाहों एवं वारिसान का कथन, शव निरीक्षण, घटना स्थल निरीक्षण एवं डाॅक्टर से प्राप्त शार्ट पी.एम. रिपोर्ट के आधार पर आरोपी राजकुमार राजवाड़े जो अपनी पत्नी को झगड़ा-विवाद कर हत्या करना पाए जाने पर आरोपी के विरूद्व धारा 302 भादवि का मामला पंजीबद्व कर विवेचना में लिया गया।
हत्या के मामले में फरार आरोपी की पतासाजी कर शीघ्र-अतिशीघ्र गिरफ्तार करने के निर्देश पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल ने चौकी प्रभारी बसदेई सुनील सिंह को दिए थे। आरोपी राजकुमार राजवाड़े उर्फ राजबब्बर घटना कारित करने के पश्चात् से फरार था। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर व सीएसपी डी.के.सिंह के मार्गदर्शन में चौकी बसदेई की पुलिस टीम आरोपी के पतासाजी करने मनेन्द्रगढ़ रवाना हुई और मुखबीर की सूचना पर बस स्टैण्ड मनेन्द्रगढ़ में आरोपी राजकुमार को पकड़ने पुलिस टीम ने घेराबंदी लगाई आरोपी पुलिस टीम को देखकर भागने लगा जिसे पुलिस टीम ने पीछा कर पकड़ा। 
मामले के आरोपी से पूछताछ किए जाने पर उसने बताया कि 15 जून के दिन के 11-12 बजे के मध्य पत्नी मृतिका जुगमेन बाई इसका किसी अन्य लड़की से अवैध संबंध होने की शंका कर झगड़ा-विवाद कर रही थी जो आरोपी आवेश में आकर गला दबाकर अपनी पत्नी का हत्या कर शव को फांसी में लटकाने का प्रयास किया जो विफल रहा और डर से घर के सामने के दरवाजे में बाहर से ताला लगाकर मनेन्द्रगढ़ भाग गया। आरोपी के जुर्म स्वीकार करने एवं आरोपी के विरूद्व अपराध धारा सदर का घटित करना भली भांति सबूत पाए जाने पर आरोपी राजकुमार राजवाड़े उर्फ राजबब्बर पिता जगलाल राजवाड़े उम्र 24 वर्ष साकिन बसदेई, चौकी बसदेई को विधिवत् गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।
इस कार्यवाही में चौकी प्रभारी बसदेई सुनील सिंह, प्रधान आरक्षक मनोज पोर्ते, प्रधान आरक्षक निर्मल मिंज, आरक्षक देवदत्त दुबे, अमरेन्द्र दुबे, राकेश बंजारे, जितेन्द्र पटेल, प्रदीप साहू एवं रामनारायण सोनवानी सक्रिय रहे।

शनिवार, 15 जून 2019

पुलिस अधीक्षक सूरजपुर ने थाना जयनगर का किया औचक निरीक्षण


निरीक्षण पर अनुपस्थित पाए गए अधिकारी-कर्मचारियों की दर्ज करवाई गैरहाजिरी

सूरजपुर। थाना के द्वारा किए जा रहे कार्यवाही, रिकार्ड संधारण, सीसीटीएनएस के तहत् आॅनलाईन दर्ज किए जा रहे प्रथम सूचना पत्र की जानकारी सहित अन्य कार्यो का जायजा लेने शुक्रवार 14 जून को पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल ने थाना जयनगर का औचक निरीक्षण किया।
आकस्मिक निरीक्षण पर थाना जयनगर पहुंचे पुलिस अधीक्षक श्री जी.एस.जायसवाल ने थाना व परिसर की साफ-सफाई का जायजा लिया। उन्होंने प्रधान आरक्षक मोहर्रिर के द्वारा किए जा रहे कार्यो एवं रोजनामचा का अवलोकन कर थाना में संधारण किए गए रिकार्डो का अवलोकन किया तथा पाए गए खामियों को तत्काल दुरूस्त करने के निर्देश दिए। सीसीटीएनएस के तहत् आनलाईन दर्ज की जा रही एफआईआर व अन्य प्रपत्र को साफ्टवेयर में अपलोड करने की जानकारी सीसीटीएनएस आपरेटर से ली ओर थाना के मालखाना को चेक किया। थाना में उपस्थित विवेचकों को निगरानी व गुण्डा बदमाशों को नियमित चेक करने एवं उनके विरूद्व किसी प्रकार की शिकायत प्राप्त होने पर सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिए। औचक निरीक्षण के दौरान अनुपस्थित पुलिस अधिकारी-कर्मचारी की गैरहाजिरी रोजनामचा में दर्ज करवाया। 
आकस्मिक निरीक्षण के दौरान सीएसपी डी.के.सिंह, एसडीओपी सूरजपुर मनोज ध्रुव, डीएसपी मुख्यालय प्रकाश सोनी, एसआई विनित पाण्डेय सहित थाना में पदस्थ अधिकारी-कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

स्वस्थ एवं निरोगी रहने नियमित करें योग, रक्षित केन्द्र में पुलिस जवानों को कराया गया योग



सूरजपुर। पुलिस अधिकारी-कर्मचारी आए दिन अपने कार्यों की व्यस्तता के कारण शारीरिक फिटनेश पर ध्यान नहीं दे पाते जिस कारण उन्हें कई परेशानियां भी होती है। आगामी अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के मद्देनजर पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल ने पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों को योग की शिक्षा दिलवाने के निर्देश दिए थे। इसी क्रम में शनिवार 15 जून को सुबह 6 से 7.30 बजे तक रक्षित केन्द्र सूरजपुर में पुलिस के अधिकारी-कर्मचारी व उनके परिजनों को योग शिक्षक संजय गिरी के द्वारा योग की जानकारी देते हुए योगाभ्यास कराया गया। 
इस संबंध में पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल ने कहा कि पुलिस अधिकारी-कर्मचारी योग और ध्यान के माध्यम से अपने कार्य क्षमता और एकाग्रता बढ़ा सकते है। विपरीत परिस्थितियों में हमारे जवानों को अपने कार्य क्षेत्र में सफलता हासिल करने में मदद् मिलेगी। नियमिय रूप से योग करने पर व्यक्ति अपने आप को फीट रख सकता है, योग दिमाग और शरीर की एकता का प्रतीक है प्रत्येक वर्ष 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाता है। यह दिन वर्ष का सबसे लंबा दिन होता है और योग भी मनुष्य को दीर्घ जीवन प्रदान करता है। बदलती जीवन-शैली में यह चेतना बनकर हमें जलवायु परिवर्तन से लड़ने में मदद करता है। योग हमारे जीवन में एक अमूल्य उपचार है इसे नियमित रूप से करने को कहा। 
शनिवार को योग शिक्षक संजय गिरी ने रक्षित केन्द्र में पुलिस के अधिकारी-कर्मचारियों को सर्वप्रथम मंत्रोच्चारण शुरू कर शिथिलीकरण के अभ्यास, खड़े होकर किए जाने वाले 5 आसन, बैठकर किए जाने वाले 7 आसन सहित कपालभाती, अनुलोम, विलोम, प्राणायाम, शीतली, भ्रामणी प्राणायाम व ध्यान के अभ्यास करवाए व उनके लाभ बताते हुए योग से निरोग रहने के तरीके बताए इसके अलावा छोटी-छोटी बीमारियों में योग के माध्यम से छुटकारा पाने के तरीके बताते हुए प्रतिदिन नियमित रूप से योग करने प्रेरित किया। इस दौरान रक्षित निरीक्षक भूपेन्द्र कुर्रे, रक्षित केन्द्र व थाना-चौकी के पुलिस अधिकारी-कर्मचारी सहित काफी संख्या में उनके परिजन उपस्थित रहे।

बुधवार, 12 जून 2019

चोरी के 3 मोटर सायकल सहित 1 गिरफ्तार, विश्रामपुर पुलिस की कार्यवाही

आरोपी क्षेत्र में मोटर सायकल चोरी की घटना को देता था अंजाम

सूरजपुर। क्षेत्र में लगातार हो रही मोटर सायकलों की चोरी के घटनाओं पर अंकुश लगाने एवं चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले आरोपी की पतासाजी कर पकड़ने के निर्देश पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल ने थाना-चौकी प्रभारियों को दिए थे।
थाना विश्रामपुर में पंजीबद्व अपराध क्रमांक 136/19 व अपराध क्र. 137/19 धारा 379 भादवि में आरोपी की पतासाजी पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल के निर्देशन व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर व सीएसपी डी.के.सिंह के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी विश्रामपुर कपिलदेव पाण्डेय के द्वारा पुलिस टीम के साथ पतासाजी कर रहे थे साथ ही मुखबीर को भी अलर्ट किया गया था। पुलिस टीम को पता तलाश के दरम्यिान तैनात मुखबीर से जानकारी मिली कि ग्राम करवां, थाना जयनगर निवासी चैन सिंह अपने पास दो-तीन मोटर सायकल रखा है जो बदल-बदल कर उसे चला रहा है कि सूचना तस्दीकी हेतु विश्रामपुर पुलिस टीम तत्काल ग्राम करवां पहुंचकर मुखबीर के बताए अनुसार चैन सिंह पिता पुरषोत्तम सिंह उम्र 23 वर्ष को ग्राम करवां में घेराबंदी कर पकड़ा गया। 
पुलिस टीम के द्वारा किए गए पूछताछ में चैन सिंह ने बताया कि दिनांक 1 जून के रात करीब 11 बजे एवं 2 जून के भोर करीब 4 बजे एसईसीएल अस्पताल कुम्दा कालोनी के बाउण्ड्री के अंदर से क्रमशः मोटर सायकल क्रमांक सीजी 15 सीबी 9015 व सीजी 15 सी 8941 को चोरी कर अपने घर ले आया था तथा करीब एक-डेढ़ माह पूर्व बस स्टैण्ड हनुमान मंदिर विश्रामपुर के पास से एक मोटर सायकल क्रमांक सीजी 15 सीजे 3704 को भी चोरी किया है और तीनों मोटर सायकल को बिक्री करने के लिए अपने पास अपने घर के पीछे परछी में रखा है जो आरोपी का गवाहों के समक्ष मेमोरण्डम कथन लेकर तीनों मोटर सायकल जिसकी कुल कीमत 60 हजार रूपये को जप्त किया गया। 
मोटर सायकल क्रमांक सीजी 15 सीबी 9015 व सीजी 15 सी 8941 जो अपराध क्र. 136/19 व 139/19 धारा 379 भादवि की चोरी गई सम्पत्ति है जिसे वाजाप्ता शुमार किया गया तथा मोटर सायकल क्रमांक सीजी 15 सीजे 3704 कीमती 30 हजार रूपये के मालिक की पतासाजी किए जाने पर पता नहीं चलने व मोटर सायकल चुराई हुई सम्पत्ति का होने की पूर्ण संभावना पर इस्तगाशा क्रमांक 6/19 धारा 41(1-4) जा.फौ. 379 भादवि का कायम किया जाकर आरोपी चैन सिंह को विधिवत् गिरफ्तार किया गया है।
उक्त कार्यवाही में थाना प्रभारी विश्रामपुर कपिलदेव पाण्डेय, एएसआई रामसिंह, प्रधान आरक्षक वरूण तिवारी, आनंद सिंह, इन्द्रजीत सिंह, आरक्षक अखिलेश पाण्डेय, आसिफ अख्तर व अजय सिंह सक्रिय रहे।

मंगलवार, 11 जून 2019

चिटफण्ड मामलों का शीघ्र करें निराकरण- पुलिस अधीक्षक सूरजपुर

* पल-पल की कार्यवाही, घटना व अपराध की सूचना से अवगत कराए

*अच्छे कार्यो पर ईनाम एवं लापरवाही पर दी जाएगी सजा

सूरजपुर। थानों में लंबित अपराध, शिकायतों की विस्तृत जानकारी लेकर उनके निराकरण में तेजी लाने, सामुदायिक पुलिसिंग के तहत् किये गये कार्यो एवं चिटफण्ड के मामलों के निराकरण में तेजी लाने, अपराधों पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल ने जिले के पुलिस अधिकारियों की क्राईम मीटिंग मंगलवार 11 जून को पुलिस कार्यालय के सभाकक्ष में ली।
इस दौरान पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल ने थाना चौकी प्रभारियों से लंबित अपराधों जिनमें चिटफण्ड के मामले, हत्या, अपहरण, चोरी सहित अन्य मामलों की विस्तृत जानकारी ली और थाना प्रभारियों को उनके निराकरण हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। चिटफण्ड के प्रकरण जिनमें आरोपी गिरफ्तार नहीं है उनकी गिरफ्तारी हेतु पुलिस टीम रवाना करने, अवैध कोयला व नशीली दवाओं के कारोबार में संलिप्त लोगों के विरूद्व सख्त कार्यवाही की जावे, चोरी की घटनाओं पर अंकुश लगाने आदतन अपराधियों पर सतत निगाह रखने, प्रभावी पेट्रोलिंग व रात्रि गश्त करने के साथ ही सूचना तंत्र मजबूत करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि शिकायत पत्रों की जांच मौके पर जाकर किए जाए, अवैध कार्यो की सूचना पर तत्काल कार्यवाही सुनिश्चित कराए एवं शहर में यातायात व्यवस्था सुगम बनाए रखने के निर्देश दिए।
बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री जायसवाल ने कहा कि थाना-चौकी प्रभारियों को कहा कि कार्यो की पल-पल सूचना, घटना व अपराध की सूचना सहित अन्य कार्यवाहियों की जानकारी से अवगत कराए, पुलिस अधिकारी सजग रहकर सौपे गए दायित्वों को शत्-प्रतिशत करने का लक्ष्य लेकर चले, प्रत्येक 15 दिवस में पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों के कार्यो की समीक्षा कर अच्छे कार्यो पर ईनाम एवं लापरवाही बरतने वालों को दण्डित किया जाएगा। थाना-चौकी प्रभारियों को कहा कि थाना के कार्यो एवं आपराधिक मामलों की जानकारी व क्षेत्र की गतिविधियों की जानकारी पूछे जाने पर तत्काल दी जावे। जिले के राजपत्रित अधिकारियों को गंभीर अपराधों का जल्द निराकरण कराने, थाना-चौकी का अधिक से अधिक आकस्मिक निरीक्षण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अंजोर रथ के माध्यम से ग्रामीणजनों को आनलाईन, मोबाईल, एटीएम, लाॅटरी लगने के नाम पर धोखाधड़ी का शिकार न हो इसके लिए उन्हें जागरूक किया जा रहा है उनके क्षेत्र में रथ पहुंचने पर धोखाधड़ी से बचाव के व्यापक प्रचार-प्रसार किए जाने के निर्देश दिए। 
इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर, सीएसपी डी.के.सिंह, एसडीओपी ओड़गी मंजूलता बाज, एसडीओपी सूरजपुर मनोज ध्रुव, एसडीओपी प्रतापपुर राकेश पाटनवार, डीएसपी अजाक बालसाय केरकेट्टा, एसडीओपी प्रेमनगर चंचल तिवारी जिले के थाना-चौकी प्रभारी सहित पुलिस के अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

शुक्रवार, 7 जून 2019

एसडीओपी सूरजपुर ने डिस्ट्रिक ई मिशन टीम की बैठक ली

एक क्लीक से मिलेगी अपराधों की ऑनलाइन फ्लैक्सी रिपोर्ट की जानकारी

सूरजपुर सीसीटीएनएस योजना के अन्तर्गत चल रहे कार्यो, योजना के अन्तर्गत फिल किए जा रहे एफआईआर में समुचित दाखिला की समीक्षा करने एवं पुलिस कर्मचारी अपराधों की हेडवाईस जानकारी एक क्लीक के माध्यम से किस प्रकार निकाल सकते है इस हेतु उन्हें प्रशिक्षण देने के निर्देश पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल ने दिए थे। 
निर्देश के परिपालन में शुक्रवार 07 जून को अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर के मार्गदर्शन में एसडीओपी सूरजपुर मनोज ध्रुव के द्वारा डिस्ट्रिक ई मिशन टीम के तहत् थानों में कार्य करने वाले कर्मचारियों की बैठक पुलिस कन्ट्रोल रूम के सभाकक्ष में ली।
इस दौरान एसडीओपी मनोज ध्रुव ने थानों में सीसीटीएनएस योजना के अन्तर्गत कैश साॅफ्टवेयर में डाटा एन्ट्री के कार्य कर रहे पुलिस कर्मचारियों से अब तक प्रथम सूचना पत्र सहित अन्य प्रपत्र अपलोड करने संबंधी जानकारी ली और उन्हें थाना में किए जाने वाले मैनुअल कार्य से इलेक्ट्रानिक कार्य की ओर अग्रसर होने की कड़ी में बताया कि डेस्क बोर्ड में दिये गए ऑपशन को सलेक्ट कर एक क्लीक के माध्यम से ऑनलाईन फ्लैक्सी रिपोर्ट जिसमें अपराधों की जानकारी हेडवाईस निकाली जा सकती है उसकी जानकारी प्रोजेक्टर के माध्यम से दी। उन्होंने बताया कि सीसीटीएनएस साॅफ्टवेयर में वर्ष 2002 से अभी तक के सारे प्रथम सूचना पत्र का दाखिला अपलोड किया जा चुका है। पूर्व में पुलिस कर्मचारियों को लंबित अपराध, अपराधों की संख्यात्मक एवं त्रिवर्षीय तुलनात्मक जानकारी बनाने में 1 से 2 दिन का समय लग जाता था किन्तु सीसीटीएनएस डेस्कबोर्ड के माध्यम से कर्मचारी अब कुछ ऑपशन सलेक्ट कर एक क्लीक के माध्यम से जानकारी हासिल कर सकेंगे जिससे उनका काफी समय बचेगा।
बैठक में आरक्षक मनीष पन्ना, मिथलेश प्रजापति, सीएसपी, एसडीओपी कार्यालय सहित जिले के थानों में सीसीटीएनएस के तहत् कार्य करने वाले प्रधान आरक्षक एवं आरक्षकगण उपस्थित रहे।

सोमवार, 3 जून 2019

माननीय मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने सूरजपुर पुलिस की ‘‘अंजोर रथ’’ वाहन को हरी झण्डी दिखाकर किया रवाना


आकर्षक साज सज्जा व जानकारी वर्धक ‘‘अंजोर रथ’’ वाहन की मुख्यमंत्री ने की प्रशंसा

सूरजपुर। माननीय मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ शासन श्री भूपेश बघेल ने सोमवार 3 मई को अम्बिकापुर प्रवास के दौरान पुलिस के द्वारा तैयार किए गए ‘‘अंजोर रथ’’ वाहन को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। पुलिस महानिरीक्षक सरगुजा रेंज श्री के.सी.अग्रवाल के निर्देश पर पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल ने जिले में ‘‘सहयोग’’ के बैनर तले आयोजित विभिन्न आयोजनों जिनमें आमजनों को मोबाईल एवं ऑनलाईन होने वाले धोखाधड़ी से सावधान करने, साईबर क्राईम, चिटफण्ड कंपनी के झांसा में न आए इससे संबंधित जागरूकता वाहन तैयार करने के निर्देश सीएसपी डी.के.सिंह को दिए थे। 
एसपी सूरजपुर श्री जायसवाल के मार्गदर्शन में सीएसपी डी.के.सिंह के नेतृत्व में पुलिस के द्वारा आमजन की समस्याओं के निराकरण हेतु किए गए प्रयास, आमजनों को मोबाईल, एटीएम एवं आनलाईन से होने वाले धोखाधड़ी से सावधान करने, साईबर क्राईम, चिटफण्ड कंपनी के झांसा में न आने, यातायात संबंधी नियम से आमजन को जागरूक करने, साल भर में सामुदायिक पुलिसिंग की जानकारी की चित्रावली के माध्यम से प्रदर्शन एवं जानकारीवर्धक आकर्षक एवं भव्य साज सज्जा तथा गाने के माध्यम से जागरूकता का संदेश देने वाले वाहन तैयार करवाई जिसका नाम ‘‘अंजोर रथ’’ रखा गया था। सोमवार को अम्बिकापुर प्रवास पर पहुंचे माननीय मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल, माननीय स्वास्थ्य मंत्री श्री टी.एस.सिंहदेव, माननीय शिक्षा मंत्री डाॅ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने सूरजपुर पुलिस के द्वारा तैयार किए गए ‘‘अंजोर रथ’’ वाहन की प्रशंसा करते हुए हरी झण्डी दिखाकर आमजन को जागरूक करने रवाना किया। आयोजन में सूरजपुर जिले के अलावा सरगुजा, जशपुर, कोरिया एवं बलरामपुर जिले के भी तैयार किए गए जागरूकता वाहनों को भी रवाना किया गया।

* ‘‘अंजोर रथ ’’ चलित थाना की तरह करेगा कार्य

पुलिस के द्वारा तैयार किए गए ‘‘अंजोर रथ’’ जिले में समस्त गांवों के साप्ताहिक बाजार, स्कूल, कालेज, चैपाल स्थानों एवं विभिन्न स्थानों में जाएगा। यह रथ चलित थाना के रूप में कार्य करेगा और किसी व्यक्ति की समस्या अथवा शिकायत पर यथास्थिति निराकरण किया जायेगा इसके अलावा ग्रामीणजनों को आवश्यक मार्गदर्शन की देगा।
इस अवसर पर पुलिस महानिरीक्षक सरगुजा रेंज श्री के.सी.अग्रवाल, एसपी सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल, एसपी सरगुजा श्री सदानंद कुमार, बलरामपुर एसपी श्री टी.आर.कोसिमा, एसपी कोरिया श्री विवेक शुक्ला, एसपी जशपुर श्री शंकरलाल बघेल, डीएसपी प्रकाश सोनी, यातायात प्रभारी आर.सी.राय, एसआई विनीत पाण्डेय सहित दूसरे जिले के अधिकारीगण उपस्थित रहे।सूरजपुर पुलिस की आकर्षक साज सज्जा वाले इस रथ वाहन को तैयार करने में सीएसपी डी.के.सिंह, आरक्षक संतोष सोनी एवं जयप्रकाश तिवारी की महती भूमिका रही।