गुरुवार, 30 मई 2019

बसदेई पुलिस को मिली बड़ी सफलता....


* 3 आरोपियों से 3 लाख 60 हजार रूपये कीमत के 1200 नग नशीली कफ सिरप जप्त

सूरजपुर। पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल के द्वारा जिले में अवैध शराब, मादक पदार्थ एवं नशीली दवाईयों के कारोबार में लिप्त लोगों के विरूद्व सख्त कार्यवाही करने के निर्देश थाना व चौकी प्रभारियों को दिये थे साथ ही सूचना संकलन हेतु मुखबीरों को एक्टिव करने के भी निर्देश दिए थे।
इसी परिपेक्ष्य में 30 मई को चौकी प्रभारी बसदेई सुनील सिंह को मुखबीर से सूचना मिली कि 3 व्यक्ति सिल्वर कलर के मारूती ओमनी में भारी मात्रा में नशीली दवाईयों को लेकर डालटेनगंज से चैकी बसदेई के ग्राम सिरसी बिक्री करने जा रहे है जिसकी सूचना चौकी प्रभारी के द्वारा पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल को दी गई जिस पर उन्होंने तत्काल पुलिस टीम के साथ आरोपियों को घेराबंदी कर पकड़ने के निर्देश दिए।
सीएसपी डी.के.सिंह के मार्गदर्शन में चौकी प्रभारी बसदेई सुनील सिंह ने पुलिस टीम के साथ ग्राम सिरसी में घेराबंदी कर मुखबीर के बताए अनुसार एक सिल्वर कलर के मारूती ओमनी आते देखा जिसे पुलिस टीम ने रोकवाने का प्रयास किया किन्तु ओमनी वाहन नहीं रूका जिसे पुलिस टीम ने पीछा कर कुछ दूरी पर घेराबंदी कर रोकवाया मारूती वाहन में तीन व्यक्ति सवार थे जिन्होंने अपना नाम (1) राही खान पिता रकीब खान उम्र 30 वर्ष ग्राम सिरसी, चौकी बसदेई (2) सलीम अंसारी पिता निजामुद्दीन शेख उम्र 32 वर्ष ग्राम मधुरी बिसुनपुरा, थाना चैनपुर, हाल मुकाम शाहपुर जिला डालटेनगंज झारखण्ड (3) इमरान अंसारी पिता नसीम अंसारी उम्र 28 वर्ष ग्राम उरसली, थाना भवनाथपुर, जिला गढ़वा झारखण्ड, हाल मुकाम भटगांव बताया। वाहन की तलाशी लिए जाने पर आरोपियों के कब्जे से वाहन में रखे 10 पेटी खाखी रंग के काटून में 100 एमएल वाला 1200 नग ऑनरेक्स नशीली कफ सिरप पाया गया जिसका बाजार मूल्य 3 लाख 60 हजार रूपए एवं परिवहन के उपयोग में लाई गई मारूती ओमनी क्रमांक जेएच 01 डीडी 8612 को विधिवत जप्त कर तीनों आरोपियों के विरूद्व धारा 21बी एनडीपीएस एक्ट के प्रावधानों के तहत अपराध पंजीबद्ध कर गिरफ्तार किया गया।
पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि तीनों आरोपी काफी लम्बे समय से नशीली दवाईयों के धंधे में संलिप्त थे और नशीली कफ सिरप को डालटेनगंज से कम कीमत में खरीदकर लाते थे और प्रतापपुर, भटगांव, सिरसी, बसदेई, सूरजपुर, जिला कोरिया के पटना व पण्डोपारा क्षेत्र में नशेड़ी किस्म के व्यक्तियों को एक सीसी कफ सिरप को 3 से 4 सौ रूपये में बेचकर लाभ अर्जित करते थे।
       सूरजपुर पुलिस ने इस वर्ष अब तक नशीली कफ सिरप व इंजेक्शन बेचने वालों 14 आरोपियों के विरूद्व एनडीपीएस एक्ट के तहत् कार्यवाही कर 5 लाख 26 हजार 246 रूपये कीमत के 707 नग नशीली इंजेक्शन, 1200 नग नशीली कफ सिरप एवं 8443 नग नशीली टेबलेट बरामद किया है। 
इस कार्यवाही में चौकी प्रभारी बसदेई सुनील सिंह, प्रधान आरक्षक मनोज पोर्ते, हंसराम कनेडिया, आरक्षक देवदत्त दुबे, अमरेन्द्र दुबे, राकेश बंजारे, महेन्द्र यादव, महेन्द्र प्रताप सिंह, अचल गुप्ता, हरिकिशन राजवाड़े व प्रदीप साहू सक्रिय रहे।

बुधवार, 29 मई 2019

अवैध कार्यो की सूचना अथवा समस्या पर सीधे मिले अथवा मोबाईल पर दे सूचना- पुलिस अधीक्षक सूरजपुर


* चलित थाना व ग्राम रक्षा समिति की बैठक में मौजूद रहे पुलिस अधीक्षक

* प्रत्येक गतिविधियों की सूचना पुलिस तक पहुंचाने किया अपील

सूरजपुर। ग्राम रक्षा समिति के सदस्य व ग्रामीणजन जो पुलिस को क्षेत्र की गतिविधियों की जानकारी देते है जिससे अपराधों के नियंत्रण व कानून व्यवस्था बनाए रखने सहयोगी साबित होती है। इसी परिपेक्ष्य में मंगलवार 28 मई को विश्रामपुर थाना क्षेत्र के ग्राम रामनगर में ’’सहयोग’’ के बैनर तले पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल की उपस्थिति में ग्राम रक्षा समिति के सदस्यों, कई ग्रामों के ग्रामीणजन की उपस्थिति में चलित थाना एवं ग्राम रक्षा समिति की बैठक का आयोजन किया गया। चलित थाना के दौरान गांव वालों की कई समस्याओं का मौके पर ही निराकरण किया गया ।
इस दौरान पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल ने ग्राम रक्षा समिति के सदस्यों एवं ग्रामीणजनों से चर्चा करते हुए कहा कि आपके सहयोग व सूचना के आधार पर पुलिस अवैध कार्यो में लिप्त लोगों के विरूद्ध लगातार कार्यवाही कर रही है। क्षेत्र में होने वाले प्रत्येक गतिविधियों की जानकारी पुलिस तक पहुंचाए निश्चित तौर पर पुलिस उसे संज्ञान में लेते हुए कार्यवाही करेगी। ग्राम रक्षा समिति एवं ग्रामीणजनों को नए तरीके से मोबाईल के जरिए हो रहे धोखाधड़ी की जानकारी देते हुए सावधानी बरतने, यातायात नियमों का पालन करने हेतु कहा। इस दौरान पुलिस अधीक्षक श्री जायसवाल ने कहा कि किसी प्रकार की समस्या, शिकायत अथवा अवैध गतिविधियों की सूचना पर उनसे सीधे मुलाकात कर सकते है अथवा मोबाईल के माध्यम से भी अवगत करा सकते है इसके लिए एसपी श्री जायसवाल ने ग्रामीणजनों को अपना मोबाईल नंबर भी नोट कराया। इस अवसर पर सीएसपी डी.के.सिंह ने कहा कि अधिकांश मामले में यह देखा गया है कि दुर्घटना एवं अपराध शराब के नशे में घटित होते है इससे बचने के लिए शराब न तो बनाए और न ही इसका सेवन करने की समझाईश दिए। अवैध गतिविधियों, संदिग्ध व्यक्तियों के गांव में आने पर उसकी सूचना एवं पुलिस के कार्यो में ग्राम रक्षा समिति का भरपूर सहयोग मिलना यह दर्शाता है कि ग्राम रक्षा समिति सर्तक व सजग रहकर कार्य कर रही है।बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री जायसवाल ने ग्राम रूनियाडीह निवासी इजराईल खान जो वर्ष 1990-91 से लगातार ग्राम रक्षा समिति का सक्रिय सदस्य रहकर कार्य करते रहने पर उनकी प्रशंसा की और कहा कि पुलिस अब आपके गांव में लगातार चलित थाना व ग्राम रक्षा समिति के सदस्यों के बैठकों का आयोजन करेगी।इस दौरान थाना प्रभारी विश्रामपुर कपिलदेव पाण्डेय, चौकी प्रभारी करंजी प्रमोद पाण्डेय, एएसआई उमेश सिंह, सोहन सिंह, प्रधान आरक्षक रघुवंश सिंह, आनंद सिंह, वरूण तिवारी, इन्द्रजीत सिंह, ग्राम रूनियाडीह, दतिमा मोड़, करंजी, रामनगर, सरस्वतीपुर, कुम्दा बस्ती, गांगीकोट, शिवनंदनपुर एवं विश्रामपुर के ग्राम रक्षा समिति के सदस्य व भारी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित रहे।

भारत-पाकिस्तान बार्डर पर स्थित श्रीगंगानगर राजस्थान से 2 अपहृताओं को कोतवाली पुलिस टीम ने किया बरामद...


* मामले के 2 आरोपी गिरफ्तार, 1 आरोपी मण्डला जेल में है निरूद्ध
* अपहृता के घर लौटने पर परिजनों के चेहरे पर आई मुस्कान

सूरजपुर। गत् 20 मई को ग्राम भगवानपुर, थाना प्रेमनगर निवासी प्रार्थिया रामेश्वरी कुजूर पिता गोरेलाल ने थाना सूरजपुर में रिपोर्ट दर्ज कराई कि इसकी दो बहन 18 वर्षीय सोनिया एवं 17 वर्षीय बहन को 2 माह पूर्व ग्राम पलढा, थाना प्रतापपुर निवासी रामसेवक टोप्पो ने दिल्ली में नौकरी दिलवाने का झांसा देकर प्रार्थियां एवं उसकी दोनों बहनों को दिल्ली लेकर गया जहां नान्हू एवं अशोक नाम के व्यक्तियों के घर ले गया जहां प्रार्थियां का स्वास्थ्य खराब होने से वह वापस आ गई वापस आते समय अपनी बहनों को भी लाना चाह रही थी किन्तु रामसेवक, नान्हू कुमार एवं अशोक के द्वारा ले जाने से मना कर दिया गया। कुछ दिन बाद 17 वर्षीय नाबालिग के द्वारा प्रार्थियां को फोन कर बताया गया कि सोनिया और मुझे बंधक बना लिए है वापस आने नहीं दे रहे है दुव्र्यवहार करते है जिस पर प्रार्थियां द्वारा रामसेवक टोप्पो को फोन से अपनी बहनों को वापस घर भेजने की बात बोली गई किन्तु उसके द्वारा उनकी बहनों को वापस नहीं भेजा गया। प्रार्थिया की रिपोर्ट पर थाना सूरजपुर में अपराध क्रमांक 190/19 धारा 365, 34 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल के द्वारा थाना सूरजपुर की पुलिस टीम को अपहृता की बरामदगी एवं आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु दिल्ली रवाना किया।
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर एवं सीएसपी डी.के.सिंह के मार्गदर्शन में पुलिस टीम के द्वारा प्रकरण की प्रार्थिया जो पूर्व में दिल्ली जा चुकी थी उससे आरोपियों की जानकारी हासिल की एवं नए तकनीक की मदद् ली गई, पुलिस टीम दिल्ली पहुंचकर प्राप्त जानकारी के माध्यम से आरोपी रामसेवक टोप्पो को उसके निवास नेबसराय नई दिल्ली से हिरासत में लेकर पूछताछ किया जो रामसेवक बताया कि नान्हू कुमार का जीजा अशोक कुमार केंवट जिला जेल मण्डला मध्यप्रदेश में बंद है जिसके कहने पर नान्हू कुमार के द्वारा सोनिया एवं 17 वर्षीय नाबालिग लड़की को श्रीगंगानगर राजस्थान लेकर गया है। इस पूरे घटनाक्रम की मानिटरिंग स्वयं पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जायसवाल के द्वारा किया जाता रहा।
हिरासत में लिये गए आरोपी रामसेवक टोप्पो को पुलिस टीम अपने साथ लेकर राजस्थान पहुंची। पुलिस टीम ने कार्यकुशलता व सूझबूझ से रामसेवक के निशानदेही व नई तकनीक की मदद् से भारत-पाकिस्तान बार्डर पर स्थित श्रीगंगानगर (राजस्थान) से 17 वर्षीय अपहृत बालिका एवं 18 वर्षीय अपहृत सोनिया को आरोपी नान्हू कुमार के कब्जे से बरामद किया गया। नान्हू कुमार से पूछताछ करने पर बताया कि वह बालिकाओं को कई स्थानों पर ले जाकर काम करवाता था और अपने साथ ही रखता है। पुलिस टीम ने मामले के दोनों अपहृताओं को बरामद एवं दोनों आरोपियों को हिरासत में लेकर सूरजपुर वापस आई। दोनों अपहृताओं को पुलिस ने बाल कल्याण समिति के समक्ष प्रस्तुत कर उनके परिजनों को सौंप दिया, जिससे परिजनों के चेहरे पर खुशी की लहर दौड़ उठी। 
प्रकरण में आरोपी रामसेवक टोप्पो पिता रघुनाथ टोप्पो उम्र 23 वर्ष निवासी पलढ़ा, थाना प्रतापपुर एवं नान्हू कुमार पिता स्व. चौधरी कंवर उम्र 22 वर्ष निवासी सोहरपाथ, थाना नेतरहार जिला लातेहार झारखण्ड को अपराध सबूत पाए जाने पर विधिवत् गिरफ्तार किया गया। प्रकरण में एक आरोपी अशोक कुमार केंवट पिता चलितर मुखिया उम्र 38 वर्ष निवासी इन्द्रा इनक्लेब नई दिल्ली जो थाना मोतीनाला जिला मण्डला मध्यप्रदेश में छेड़छाड़ एवं अपहरण के मामले में मण्डला जेल में निरूद्व है जिसका माननीय न्यायालय से प्रोडक्सन वारंट प्राप्त कर गिरफ्तारी की जाएगी।
इस कार्यवाही में थाना प्रभारी सूरजपुर उमाशंकर सिंह, एसआई रश्मि सिंह, एएसआई कमलदास बनर्जी, आरक्षक लक्ष्मी नारायण मिर्रे, भीमेश आर्मो, साईबर सेल के युवराज व महिला आरक्षक बालकुमारी मिंज सक्रिय रहे।

सोमवार, 27 मई 2019

पुलिस अधीक्षक सूरजपुर ने लिया निर्माण कार्यो का जायजा..




पुलिस कर्मियों को जल्द मिलेगी आवास की सुविधा।
रक्षित केन्द्र में 168 नग आवासीय क्वार्टर का निर्माण लगभग पूर्ण।

सूरजपुर: रक्षित केन्द्र परिसर में मुख्यमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत 168 नग ‘‘जी’’ एवं ‘‘एच’’ टाईप आवासीय क्वार्टर पुलिस कर्मचारियों हेतु निर्माणाधीन है जिसका जायजा सोमवार 27 मई को पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल ने लिया इस दौरान ठेकेदार व हाउसिंग कार्पोरेशन के अभियंता मौजूद रहे। पुलिस अधीक्षक श्री जी.एस.जायसवाल ने ठेकेदार व छ.ग. पुलिस हाउसिंग कार्पोरेशन के अभियंता को निर्माण व सुधार कार्य शीघ्र अतिशीघ्र पूर्ण कर पुलिस विभाग को हैण्डओव्हर करने के निर्देश दिए ताकि आवासीय क्वार्टर को पुलिस कर्मचारियों को आबंटित की जा सके। निर्माण कार्य का जायजा लेने के उपरान्त एसपी श्री जायसवाल ने पुलिस लाईन का आकस्मिक निरीक्षण कर रक्षित निरीक्षक को आग की स्थिति से निपटने हेतु अग्निशमन यंत्र की उपलब्धता सुनिश्चित कराने, आपात स्थिति से निपटने हेतु आवश्यक संसाधन को दुरूस्त रखने एवं परिसर में वृक्षारोपण कराने के निर्देश दिए।
इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर, सीएसपी डी.के.सिंह, रक्षित निरीक्षक भूपेन्द्र सिंह कुर्रे, मुख्य लिपिक संतोष वर्मा, छ.ग. पुलिस हाउसिंग कार्पोरेशन के अभियंता एवं ठेकेदार उपस्थित रहे।

मंगलवार, 21 मई 2019

थाना रामानुजनगर पुलिस ने सुलझाई अन्धे कत्ल की गुत्थी। मृतक का दोस्त ही निकला कातिल...

आरोपी के पे्रमिका से मृतक करता था मोबाईल से बात।
दिनांक 14.05.19 को मृतक का शव ग्राम दवना के एक कुआं में मिला था।
सूरजपुर: दिनांक 15.05.19 को सूचक जवाहर लाल सिंह आ0 सहोरन सिंह उम्र 48 वर्ष निवासी ग्राम दवना थाना रामानुजनगर को थाना आकर मर्ग इन्टीमेशन चाक कराया कि इसके पुत्र सोनीलाल के कुंआ के अन्दर एक अज्ञात व्यक्ति (पुरूष) का शव मृत अवस्था में पड़ा हुआ है कि रिपोर्ट पर मर्ग क्र0 36/19 धारा 174 जाफौ कायम कर शव का पंचनामा कार्यवाही पश्चात् पी0 एम0 सी.एच.सी. रामानुजनगर से करायी गई, एवं आमजन द्वारा हत्या होने का शंका जताने पर पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी0 एस0 जायसवाल के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरिश राठौर एवं पुलिस अनुविभागीय अधिकारी प्रेमनगर चंचल तिवारी के मार्गदर्शन में प्रकरण की अग्रिम विवेचना की गई तथा अज्ञात शव के शिनाक्त नहीं होने से समाचार पत्र एवं मोबाईल व्हाट्सअप में माध्यम से समाचार ग्रुपों में प्रसारित किया गया तथा मृतक के वारिसान का पता नही चलने शव का ग्राम पंचायत दवना के सरपंच समयलाल के सुपुर्दकर शव का अंतिम संस्कार कराया गया। तत्पश्चात् लगातार मृतक के वारिसानों का पता तलाश की जा रही थी कि दिनांक 18.05.19 को ग्राम पोड़ी निवासी मानसाय यादव आ0 संतोखी राम उम्र 45 वर्ष जाति बरगाह थाना आया और बताया कि मोबाईल व्हाट्सअप से मृतका का फोटो देखकर अपना पुत्र सूरजचंद का शव होना बताया तब मृतक के पी0एम0 दौरान प्रिजर्व उसके कपड़े शर्ट, पैंट, गंजी, व सेन्डल को दिखाकर पहचान कराया गया जो सूरजचंद का ही होना बताकर पहचान किया। शव के उत्खनन हेतु एसडीएम सूरजपुर से अनुमति प्राप्त का कार्यपालिक दण्डाधिकारी रामानुजनगर के समक्ष शव का उत्खनन कराया जाकर मृतक सूरजचंद आ0 मानसाय यादव उम्र 22 वर्ष सा0 पोड़ी थाना सूरजपुर के शव को उसके पिता मानसाय यादव के सुपुर्द किया गया तथा दिनांक 20.05.19 को सीएचसी रामानुजनगर से शार्ट पी0एम0 रिपोर्ट प्राप्त हुआ जिसमें मृतक के सिर में चोट लगने से फौत होना लेख किया गया है। मृतक सूरजचंद के पिता मानसाय यादव का कथन लिया गया जो अपने कथन में बताया कि दिनांक 14.05.19 के शाम इसके पुत्र मृतक सूरजचंद को उसका साथी बलिन्दर सिंह द्वारा सरस्वतीपुर शादी में जाना है और वहां से बारात में ग्राम दवना जाना है कहकर अपने साथ ले गया था किन्तु आज दिनांक तक सूरजचंद वापस नहीं आया और बलिन्दर अपने घर वापस आ गया है पूछने पर टाल-मटोल करते रहा सही जानकारी नही दे रहा है मुझे संदेह है कि बलिन्दर ही मेरे पुत्र को कुआ में ढकेलकर हत्या कर दिया होगा बताया, तत्पश्चात संदेही बलिन्दर सिंह आ0 हीरासाय जाति गोंड़ उम्र 22 वर्ष साकिन ग्राम पोड़ी थाना सूरजपुर जिला सूरजपुर (छ0ग0) को अभिरक्षा में लेकर से घटना के सम्बंध में पूछताछ किया गया जो जुर्म स्वीकार करते बताया कि दिनांक 14.05.19 को उसके रिस्तेदार शिवकुमार निवासी सरस्वतीपुर के घर में शादी था। शादी में जाने के लिए आपने साथी राहूल व सूरजचंद को अपने मोटर सायकल में लेकर शाम को पोड़ी से निकलकर करीब 8.00 बजे रात को सरस्वतीपुर पहुचे वहां से बारात निकल जाने से उक्त तीनो बलिन्दर के मोटर सायकल से ग्राम दवना बारात में आये। तीनों ने डी.जे. बाजा में डान्स किये उसी दौरान बलिन्दर सिंह तथा सूरजचंद दोनो वहां से बाहर निकलकर वहां से कुछ दुर गये फिर बलिन्दर ने सूरजचंद से उसका मोबाईल मांगा और अपनी प्रमिका बगीचा निवासी से बात करने लगा और सूरजचंद भी आरोपी के प्रेमिका से हंस-हस कर बात करने लगा जो बलिन्दर को अच्छा नही लगा तब बलिन्दर बोला कि यहां हल्ला हो रहा है चलो कहीं शांत जगह में जाकर बात करते है फिर वे दोनों शादी पंडाल से कुछ दुरी पर गये तो एक कुआं मिला जहां बगल में पक्का का फर्स बना हुआ था वहीं पर फर्स में दोनों बैठे और पुनः बलिन्दर ने सूरजचंद के मोबाईल से अपने प्रेमिका को फोन लगाकर बात करने लगा। उसी समय सूरजचंद ने बलिन्दर को बोला कि वह भी आरोपी के प्रमिका से प्यार करता है और मेरी बात कराओ बोला तब उसी समय आरोपी के प्रेमिका से बात करने व दोनों में मेरी प्रेमिका है कहकर उसी बात पर दोनों में झुमा झटकी हुआ और बलिन्दर गुस्साकर सूरजचंद को बगल में जो कुआं था उसी में जोर से ढकेल कर गिरा दिया जिससे सूरजचंद कुआ में गिर कर फौत कर गया तब बलिन्दर वहां से मृतक का मोबाईल फोन को लेकर अकेले अपने मोटर सायकल से अपने घर चला गया और सूरजचंद के परिजनों के पूछने पर गोल मोल जवाब देता रहा है उसी दौरान मृतक के मोबाईल का भी उपयोग किया है। कि मर्ग जांच दौरान कथन प्रार्थी, गवाहान, घटना स्थल निरीक्षण, एवं परिस्थिति जन्य साक्ष्य से धारा 302 भादवि का अपराध सबूत पाये जाने से अपराध क्र 100/19 धारा 302 भादवि पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। दौरान विवेचना आरोपी बलिन्दर द्वारा अपने मेमोरण्डम कथन दौरान मृतक का मोबाईल फोन अपने घर से निकाल कर पेश करने पर समक्ष गवाहान जप्त कर कब्जे पुलिस लिया गया। आरोपी बलिन्दर सिंह के विरूद्ध अपराध सबूत पाये जाने से का दिनांक 21.05.19 को गिरफ्तार कर न्यायालय सूरजपुर पेश किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।
इस कार्यवाही में थाना प्रभारी रामानुजनगर विकेश तिवारी, एसआई बी.डी. यादव, प्रधान आरक्षक लखेश साहू, देवनारायण यादव, रविन्द्र भारती आरक्षक अकरम मोहम्मद, अमलेश्वर कुमार, देवान सिंह एवं गणेश सिंह सक्रीय रहे।

सोमवार, 20 मई 2019

सूरजपुर पुलिस बैडमिंटन लीग का फाईनल मुकाबला रहा रोमांचक। युगल का फाईनल मुकाबला सीएसपी डी.के.सिंह व आरक्षक हरेन्द्र सिंह की टीम ने जीता। एकल का फाईनल मुकाबला अखिलेश सिंह ने किया अपने नाम








सूरजपुर: पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल के मार्गदर्शन में डाॅ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी इण्डोर स्टेडियम में तीन दिवसीय सूरजपुर पुलिस बैडमिंटन लीग का फाईनल मुकाबला रविवार 19 मई को हुआ। युगल की टीम के फाईनल मैच में सीएसपी डी.के.सिंह व आरक्षक हरेन्द्र सिंह का मुकाबला एसडीओपी मनोज ध्रुव व अखिलेश सिंह के बीच 3 सेट में खेला गया जिसमें सीएसपी डी.के.सिंह व हरेन्द्र सिंह की टीम शानदार जीत दर्ज की। एकल टीम के फाईनल मुकाबला अखिलेश सिंह व हरेन्द्र सिंह के बीच हुआ जिसमें अखिलेश सिंह ने शानदार खेल का प्रदर्शन करते हुए फाईनल मैच अपने नाम किया।
युगल एवं एकल टीम के विजेता एवं उप विजेता को पुलिस अधीक्षक श्री जी.एस.जायसवाल ने ट्राॅफी देकर सम्मानित किया। वहीं मैच के रैफरी राॅकी लाम्बा को ट्राफी देकर सम्मानित किया गया।
पुलिस अधीक्षक ने सभी प्रतिभागियों को उत्साहवर्धन हेतु दिया ईनाम।
सूरजपुर पुलिस बैडमिंटन लीग में हिस्सा लेने वाले सभी अधिकारी-कर्मचारियों को खेल के प्रति रूचि रखने एवं इस प्रतियोगिता में भाग लेने पर पुलिस अधीक्षक श्री जी.एस.जासवाल ने उत्साहवर्धन हेतु ईनाम दिया है इसके अलावा बैडमिंटन लीग को सफल बनाने में विशेष योगदान देने वाले कर्मचारियों को भी पुरस्कृत किया है। पुलिस बैडमिंटन लीग अतिथियों के मानस पटन पर अक्षुण्ण रखने पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर, डीएसपी मुख्यालय प्रकाश सोनी को स्मृति चिन्ह भेंट की गई। मंच का संचालन डीएसपी रामश्रृंगार यादव के द्वारा किया गया।
इस दौरान एसडीओपी प्रेमनगर चंचल तिवारी, रक्षित निरीक्षक भूपेन्द्र कुर्रे, स्टेनो पुष्पेन्द्र शर्मा, थाना प्रभारी उमाशंकर सिंह, कपिलदेव पाण्डेय, जमाल फिरदौसी, विकेश तिवारी, चौकी प्रभारी प्रमोद पाण्डेय, सुनील सिंह, निर्मल वर्मा, एसआई सुनीता भारद्वाज, प्रमोद डनसेना, बैडमिंटन संघ के उपाध्यक्ष बाकेबिहारी अग्रवाल व प्रमोद तायल, सौरभ, प्रधान आरक्षक आलोक सोनी, धनेश्वर कुशवाहा, राहुल गुप्ता, अखिलेश यादव, विवेक पाण्डेय, आरक्षक वसीम राजा, संतोष सोनी, विनय दान, चंदप्रकाश साहू, राजीव गवेल सहित काफी संख्या में पुलिस के अधिकारी-कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

शनिवार, 18 मई 2019

नाबालिगों को भगाकर ले जाने वाले 2 गिरफ्तार, रामानुजनगर पुलिस की कार्यवाही।

सूरजपुर: गत् 16 मई को ग्राम पटना बछियाबांध पारा थाना रामानुजनगर निवासी देव सिंह पिता बोधन सिंह ने थाना रामानुजनगर में रिपोर्ट दर्ज कराया कि इसके नाबालिग 16 वर्षीय पुत्र 15 मई को घर से बिना बताए कही चला गया है तथा उसी गांव के सहदेव सिंह ने भी रिपोर्ट दर्ज कराया कि इसका 16 वर्षीय नाबालिग पुत्र भी 15 मई को घर से बिना बताए कहीं चला गया है सूचना मिलने पर रामानुजनगर पुलिस ने पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल को हालात से अवगत कराया जिस पर उन्होंने मामले की गंभीरता को देखते हुये अपराध दर्ज करने व जांच टीम गठित करते हुए त्वरित कार्यवाही करने के निर्देश दिए। एसडीओपी प्रेमनगर चंचल तिवारी के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी रामानुजनगर द्वारा दोनों मामले में अलग-अगल अपराध क्रमांक 95/16 धारा 363, 370 भादवि एवं अपराध क्र. 96/19 धारा 363, 370 भादवि का पंजीबद्व कर विवेचना में लिया। पतासाजी के दौरान गुम बालकों को कटनी मध्यप्रदेश में होने की सूचना मिली जो रामानुजनगर पुलिस के द्वारा कटनी पुलिस को सूचना देते हुए पुलिस टीम के साथ कटनी रवाना होकर गुम बालकों को आरोपी प्रदुमन पटेल पिता इन्द्रभान पटेल उम्र 19 वर्ष साकिन महुदर, थाना रामपुर बाघेलाम जिला सतना (मध्यप्रदेश) हाल मुकाम सुपरवाईजर गोंगलू एग्रो प्राईवेट लिमिटेड दोडम्बे मनमाड़, जिला नासिक महाराष्ट्र के कब्जे से बोधन सिंह के नाबालिक पुत्र को एवं सहदेव सिंह के नाबालिग पुत्र को बहला-फुसलाकर मजदूरी कराने के उद्देश्य से ले जाते समय रेलवे स्टेशन कटनी से बरामद किया गया। इस मामले में आरोपी संतलाल पिता रामसुन्दर उम्र 23 वर्ष साकिन पटना भूरीपारा, थाना रामानुजनगर की भी संलिप्तता पाई गई। पुलिस ने आरोपी प्रदुमन पटेल एवं संतलाल को विधिवत् गिरफ्तार किया है। 
उक्त कार्यवाही में थाना प्रभारी रामानुजनगर विकेश तिवारी, एसआई बी.डी.यादव, एएसआई विराट विशी, प्रधान आरक्षक रविन्द्र भारती, आरक्षक अमलेश्वर कुमार एवं मोहम्मद अकरम सक्रिय रहे।

सूरजपुर पुलिस बैडमिंटन लीग में खेले जा रहे शानदार मैच। रविवार को बैडमिंटन लीग को होगा फाईनल मुकाबला।



सूरजपुर: पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल के मार्गदर्शन में डाॅ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी इण्डोर स्टेडियम में सूरजपुर पुलिस बैडमिंटन लीग में शनिवार को शानदार 4 सिंगल व डबल्स क्वार्टर फाईनल खेले गए। डबल्स में सीएसपी डी.के.सिंह, हरेन्द्र सिंह एवं आरक्षक विनय दान, भीमेश आर्मो तथा आरआई भूपेन्द्र कुर्रे, हिम्मत सिंह सेखावत एवं एसडीओपी मनोज ध्रुव, अखिलेश सिंह के बीच हुए मुकाबले में सीएसपी डी.के.सिंह व हरेन्द्र सिंह तथा एसडीओपी मनोज ध्रुव, अखिलेश सिंह की टीम ने जीत दर्ज कर फाईनल मुकाबले के लिए क्वालीफाई किया।
वहीं सिंग्लस मैच में आरक्षक हरेन्द्र सिंह एवं एएसआई सुनील सिंह तथा आरआई भूपेन्द्र कुर्रे एवं अखिलेश सिंह के बीच हुए मुकाबले में आरक्षक हरेन्द्र सिंह एवं अखिलेश सिंह ने जीत दर्ज कर फाईनल मुकाबले के लिए क्वालीफाई किया। सूरजपुर पुलिस बैडमिंटन लीग का फाईनल मुकाबला रविवार के शाम 6 बजे खेले जायेंगे।
इस दौरान सीएसपी डी.के.सिंह, एसडीओपी मनोज ध्रुव, रक्षित निरीक्षक भूपेन्द्र कुर्रे, स्टेनो पुष्पेन्द्र शर्मा, एसआरसी प्रभारी अखिलेश सिंह, निरीक्षक दीपक पासवान, थाना प्रभारी विश्रामपुर कपिलदेव पाण्डेय, चौकी प्रभारी अजहरूद्ीन, सुनील सिंह, प्रमोद पाण्डेय, निर्मल वर्मा, रैफरी सोमेश लाम्बो, एसआई रश्मि सिंह, सुनीता भारद्वाज, प्रमोद डनसेना, हिम्मत सिंह सेखावत सहित पुलिस अन्य अधिकारी-कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

शुक्रवार, 17 मई 2019

17 मई से आगाज हुई सूरजपुर पुलिस का बैडमिंटन लीग प्रतियोगिता। पुलिस अधीक्षक की टीम ने जीता शो मैच। पुलिस विभाग में खेल को बढ़ावा देने हुआ आयोजन।



सूरजपुर: पुलिस परिवार सूरजपुर के द्वारा डाॅ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी इण्डोर स्टेडियम सूरजपुर में 3 दिवसीय पुलिस बैडमिंटन लीग प्रतियोगिता शुक्रवार से प्रारंभ हुई। पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल के मार्गदर्शन में आयोजित इस लीग में कार्यालय एवं थाना-चौकी के पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों की 24 टीमों ने भाग लिया जिसमें 8 टीमे क्वार्टर फाईनल के लिए क्वालीफाई किया। 18 मई को 4 क्वार्टर एवं 2 सेमी फाईनल मैच खेले जाएंगे। बैडमिंटन लीग का शो मैच पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल, डीएसपी प्रकाश सोनी एवं सीएसपी डी.के.सिंह, एसडीओपी ओड़गी मंजूलता बाज ने खेला जिसमें एसपी सूरजपुर श्री जायसवाल की टीम ने जीत दर्ज की। मंच का संचालन प्रधान आरक्षक रामनिवास तिवारी के द्वारा किया गया।
इस दौरान पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल ने कहा कि पुलिस को हर समय मुस्तैद रहना पड़ता है कब कहा किसे ड्यूटी के लिए जाना पड़ जाए इसके लिए वह सदैव तत्पर रहते है। शारीरिक फिटनेश बनाए रखने के लिए खेल आवश्यक है। उन्होंने कहा कि इस लीग की रूपरेखा बहुत कम समय में तैयार की गई जिसके लिए यहां की पुलिस अधिकारीगण बधाई के पात्र है। जिले की पुलिस खेल हो या सौपे गए कर्तव्य इसे बेहतर रूप से संपादित कर रही है। 
इस दौरान सीएसपी डी.के.सिंह, एसडीओपी मनोज ध्रुव, एसडीओपी ओड़गी मंजूलता बाज, डीएसपी मुख्यालय प्रकाश सोनी, डीएसपी रामश्रृंगार यादव, एसडीओपी प्रेमनगर चंचल तिवारी सहित पुलिस कार्यालय के अधिकारीगण व प्रतियोगिता में भाग ले रहे थाना-चौकी के पुलिस अधिकारी-कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

गुरुवार, 16 मई 2019

17 से 19 मई तक चलेगा सूरजपुर पुलिस का बैडमिंटन लीग..

सूरजपुर: पुलिस विभाग में खेल को बढ़ावा देने एवं पुलिस अधिकारी/कर्मचारियों को शारीरिक चुस्त दुरूस्त बनाये रखने के उद्ेश्य से पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल के निर्देश पर पुलिस परिवार सूरजपुर के द्वारा पुलिस बैडमिंटन लीग का आयोजन कालेज ग्राउण्ड में स्थित डाॅ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी इण्डोर स्टेडियम में किया गया है, पुलिस बैडमिंटन लीग 17 मई से 19 मई 2019 तक चलेगा जिसमें सूरजपुर जिले के विभिन्न थाना, चौकी व कार्यालयों के टीमों का चयन किया गया है। इन तीन दिनों तक चलने वाले मैच में क्वाटर फाईनल, सेमी फाईनल एवं 19 मई को फाईनल मैच खेले जायेंगे जिसमें जिले के राजपत्रित अधिकारी सहित पुलिस के अधिकारी/कर्मचारी हिस्सा लेंगे।
एसपी श्री जायसवाल ने प्रतियोगिता के सफल संचालन हेतु सीएसपी डी.के.सिंह एवं एसडीओपी मनोज ध्रुव को नोडल अधिकारी बनाया है।

बुधवार, 15 मई 2019

शराब पीकर वाहन चलाने वालों की अब खैर नहीं। -शराब पीकर वाहन चलाते पकड़े गए 24 चालक, पुलिस ने किया वाहन जप्त। -यातायात नियमों का उल्लघंन करने वाले 90 चालकों पर हुई कार्यवाही, 24 हजार 5 सौ रूपये वसूल की गई समन शुल्क।



सूरजपुर: यातायात नियमों का उल्लघंन करने वालों सहित शराब पीकर डाईविंग करने वाले वाहन चालकों के विरूद्व कार्यवाही करने के निर्देश पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल ने जिले के थाना-चौकी प्रभारियों को दिए थे।
निर्देश के परिपालन में मंगलवार 14 मई को जिले के थाना-चौकी की पुलिस ने जगह-जगह सघन चेकिंग अभियान चलाया। चेकिंग के दौरान पुलिस ने छोटे-बड़े वाहन चालकों को रूकवाकर एल्को मीटर से जांच की। जांच के दौरान पुलिस ने 24 वाहन चालकों को शराब पीकर वाहन चलाते पाए जाने पर वाहन जप्ती की कार्यवाही कर प्रकरण माननीय न्यायालय भेजा है। इसके अलावा दो पहिया वाहन में तीन सवारी, बिना दस्तावेज सहित यातायात नियमों का उल्लघंन करने वाले 90 वाहन चालकों के विरूद्व मोटर व्हीकल एक्ट के तहत् कार्यवाही कर 24 हजार 5 सौ रूपये का समन शुल्क अर्जित किया है। वहीं शराब पीकप वाहन चलाने वालों की जांच पुलिस के द्वारा लगातार की जा रही है।

शुक्रवार, 10 मई 2019

जनरल परेड में एसपी सूरजपुर ने दी अधिकारी/कर्मचारियों को ईनाम।


सूरजपुर: रक्षित केन्द्र सूरजपुर में शुक्रवार को आयोजित जनरल परेड़ में पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल ने परेड की सलामी ली। परेड़ में सम्मिलित अधिकारी कर्मचारियों के परेड़ को देखा। उन्होंने थाना-चैकी प्रभारियों से परेड़ करवाया। उत्कृष्ट वेश-भूषा एवं परेड करने वाले अधिकारी-कर्मचारियों को उत्साहवर्धन हेतु ईनाम दिया। परेड़ के उपरान्त रक्षित केन्द्र के स्टोर शाखा के रख-रखाव को देखा। इस दौरान सीएसपी डी.के.सिंह, एसडीओपी सूरजपुर मनोज ध्रुव, डीएसपी मुख्यालय प्रकाश सोनी, जिले के थाना-चैकी प्रभारी सहित रक्षित केन्द्र व विभिन्न थाना चैकी के अधिकारी/कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

गुरुवार, 9 मई 2019

कुदरगढ़ पुलिस ने ली ग्राम रक्षा समिति की बैठक..

पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल के निर्देश पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर व एसडीओपी ओड़गी मंजूलता बाज के मार्गदर्शन में चैकी कुदरगढ़ पुलिस के द्वारा ग्राम रक्षा समिति के सदस्यों की बैठक लोक न्यास कुदरगढ़ कन्ट्रोल रूम में आयोजित की गई। बैइक में क्षेत्र के जनप्रतिनिधि, ग्राम रक्षा समिति के सदस्यगण उपस्थित रहे। पुलिस के द्वारा ग्राम रक्षा समिति के सदस्यों को कहा कि आप अपने गांव के अन्य लोगों को सोना चांदी साफ करने वाले वालों से सावधान रहने, फोन के माध्यम से लाॅटरी लगने के नाम पर धोखाधड़ी की जानकारी देने, नाबालिगों को वाहन चलाने हेतु नहीं देने, शराब पीकर वाहन न चलाने एवं यातायात नियमों का पालन करने हेतु कहा गया। इस दौरान चैकी प्रभारी कुदरगढ़ के द्वारा ग्राम रक्षा समिति के सदस्यों के कर्तव्यों के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई।

बुधवार, 8 मई 2019

सूरजपुर: फर्जी जमीन बिक्री प्रकरण में 2 आरोपी गिरफ्तार।





       थाना झिलमिली के अन्तर्गत ग्राम दनौली स्थित 05 एकड़ भूमि खसरा नंबर 428/3 रकबा 2 हेक्टेयर के प्रकरण के प्रार्थी नीरज अग्रवाल निवासी सूरजपुर के द्वारा कैलाश अग्रवाल निवासी सूरजपुर, कैलाश अग्रवाल के साथी विजय शुक्ला निवासी केंवरा तथा संत दुबे निवासी कोयलारी तथा हल्का पटवारी स्व. रामनारायण दुबे एवं भुनेश्वर उर्फ भण्डारी निवासी दनौली के द्वारा फर्जी भूमि का दस्तोवज तैयार कर आठ लाख रूपये में 05 एकड़ भूमि बिक्री कर प्रार्थी नीरज अग्रवाल को कूटरचित दस्तावेज एवं फर्जी विक्रेता एवं फर्जी गवाह के द्वारा रजिस्ट्री होने के उपरांत सीमांकन के समय उक्त खसरा की भूमि न पाये जाने से मामला का खुलसा हुआ। 
      नीरज अग्रवाल के द्वारा दिये गये आवेदन के जांच पश्चात् थाना झिलमिली के अपराध क्रमांक 44/18 धारा 420, 34 के तहत् मामला पंजीबद्व कर विवेचना की गई। विवेचना में कैलाश अग्रवाल, विजय शुक्ला, संत दुबे एवं भुनेश्वर उर्फ भण्डारी तथा मृतक पटवारी राम नारायण दुबे, रामपति एवं नान साय के विरूद्ध उक्त घटना एक राय होकर षडयंत्र कर फर्जी जमीन का दस्तोवज तैयार कर फर्जी व्यक्ति के द्वारा भूमि बिक्री कर आठ लाख रूपये का हड़प कर ठगी करना पाया गया। 
प्रकरण में मुख्य धोखाधड़ी, जालसाजी का पहलू यह है कि भूमि विक्रेता जनार्दन कोईर निवासी दनौली को भूमि स्वामी बनाया गया है जो वास्तविक व्यक्ति जनार्दन कोईर ग्राम दनौली में है परन्तु रजिस्ट्री पत्र में इसका फोटो नहीं है। दूसरे व्यक्ति का फोटो लगा है जिसे रजिस्ट्रार के द्वारा सत्यापित किया गया है। किसी तरह रजिस्ट्री के गवाह रामपति एवं मानसाय दनौली के नाम, पता सहित दर्ज है जबकि वास्तव में यह लोग रजिस्ट्री के गवाह नहीं है। इसकी पतासाजी की जा रही थी कि इस मामले में पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल के द्वारा पतासाजी कर जल्द गिरफ्तार करने के विभिन्न बिन्दुओं के निर्देश के साथ थाना प्रभारी एम.जे.फिरदौसी को निर्देश दिये कि अज्ञात भूमि विक्रेता तथा कथित जनार्दन कोईर एवं उक्त गवाहों के पतासाजी का भरसक प्रयास किया जा रहा था कि पता नहीं चल रहा था। पुलिस महानिरीक्षक सरगुजा रेंज श्री के.सी.अग्रवाल भी इस मामले को गंभीरता से लेकर जल्द से जल्द आरोपी की गिरफ्तारी का निर्देश दिये तथा एसपी सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल के द्वारा 5 हजार रूपये का ईनाम का उद्घोषणा किये।
       पुलिस महानिरीक्षक सरगुजा रेंज श्री के.सी.अग्रवाल एवं पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर एवं एसडीओपी मनोज धु्रव के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी झिलमिली के द्वारा जांच दौरान तथाकथित भूमि विक्रेता जनार्दन का पता अंबिकापुर के पास किशुननगर में पता चलने पर पकड़ा गया। जो वास्तविक नाम लखन बरवा आ0 रामदेव बरवा जाति चेरवा उम्र 40 वर्ष पाया गया। पूछताछ पर पूरा खुलासा किया बताया कि आरोपी प्रसन्न कुमार निवासी घोंसा थाना झिलमिली इसका साला है जो भुनेश्वर उर्फ भण्डारी के साथ मिलकर कैलाश अग्रवाल, विजय शुक्ला, संत दुबे के कहने पर फर्जी विक्रेता एवं गवाह तलाश करने को कहने पर प्रसन्न इसे गवाही के लिये बोला, उसी गांव से गवाह नान साय एवं रामजीत को तलाश किया कि दिनांक 23 जून 2014 को लखन बरवा को जनाधरण भूमि स्वामी बनाया गया। जिसे विजय शुक्ला एवं भूनेश्वर उर्फ भण्डारी जनाधरन का दस्तखत करने के लिये सिखाये बाद कोर्ट में फर्जी भूमि का रजिस्ट्री किया। इस तरह उक्त आरोपियों के द्वारा फर्जी दस्तावेज तैयार कर फर्जी विक्रेता से प्रार्थी नीरज अग्रवाल को आठ लाख रूपये में भूमि बेचकर ठगी किये।
       इस प्रकरण में लखन बरवा पिता रामदेव बरवा निवासी किशुननगर थाना गांधीनगर अंबिकापुर एवं प्रसन्न कुमार पिता बिहारी लाल चेरवा निवासी घोंघा थाना भैयाथान को गिरफ्तार किया गया है। जिसे रिमाण्ड हेतु न्यायालय भेजा गया है। प्रकरण में आरोपी पटवारी राम नारायण दुबे दिनांक 26/03/18 को आत्महत्या कर स्वर्गवास हो गये है तथा आरोपी नानसाय एवं रामजीत जो फर्जी गवाह बने थे दिनांक 21/08/14 को अंबिकापुर में दुर्घटना से दोनों की मौत हो गई है ंआरोपी कैलाश अग्रवाल एवं विजय शुक्ला को माननीय उच्च न्यायालय बिलासपुर से गिरफ्तारी में राहत प्रदान की गई है शेष आरोपी भुनेश्वर उर्फ भण्डारी एवं संत दुबे फरार है जिनकी पतासाजी की जा रही है। 
       इस कार्यवाही में थाना प्रभारी झिलमिली एम.जे.फिरदौसी, एएसआई ललित तिर्की, प्रधान आरक्षक भुपेन्द्र सिंह पोर्ते, आरक्षक हितेश्वर राजवाड़े, नगर सैनिक भूपेन्द्र दुबे सक्रिय रहे।

सोमवार, 6 मई 2019

झिलमिली पुलिस ने राहगीरों हेतु खोलवाया प्याऊ



सूरजपुर । थाना प्रभारी झिलमिली जमाल फिरदौसी के द्वारा सराहनीय पहल करते हुए आमजनों सहित राहगीरों को भीषण गर्मी से राहत के लिए थाना के पास प्याऊ खुलवाया है। रविवार 5 मई को एसडीओपी सूरजपुर मनोज ध्रुव के द्वारा लोगों को मीठा शर्बत पिलाकर प्याऊ का शुभारंभ किया गया। पुलिस की इस पहल की पुलिस अधिकारियों सहित आमजनों ने प्रशंसा की है।

ग्राम रक्षा समिति एवं पुलिस जनमित्र के सदस्यों की हुई बैठक


*पुलिस को दें संदिग्धों के गांव में आने की सूचना

सूरजपुर। ग्रामीण क्षेत्रों में प्रभावी पुलिस व्यवस्था लागू किए जाने एवं अपराध नियंत्रण हेतु ग्रामीण जनता का सक्रिय सहयोग प्राप्त करने ग्रामीण क्षेत्र के व्यक्तियों, उत्साही युवकों जिनकी छवि निष्पक्ष एवं निर्विवाद हो उन्हें ग्राम रक्षा समिति एवं पुलिस जनमित्र सदस्य बनाने हेतु बैठक लेने एवं सर्व सम्मति से ग्राम रक्षा का गठन करने के निर्देश पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल ने जिले के थाना-चौकी प्रभारियों को दिए थे।निर्देश के परिपालन में रविवार 5 मई को जिले के थाना-चौकी प्रभारियों के द्वारा अपने-अपने क्षेत्र में ग्रामीणों की बैठक ली गई और ग्राम रक्षा समिति एवं पुलिस जनमित्र समिति के सदस्य बनने हेतु इच्छुक व्यक्तियों जिनकी छवि निष्पक्ष एवं निर्विवाद हो उनका गठन किया गया। 
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर के मार्गदर्शन में झिलमिली थाना परिसर में ग्राम रक्षा समिति के बैठक में एसडीओपी सूरजपुर मनोज ध्रुव के द्वारा उपस्थित ग्रामीणों एवं ग्राम रक्षा समिति एवं पुलिस जनमित्र सदस्य को उनके कर्तव्यों के विषय में विस्तारपूर्वक जानकारी देते हुए कहा कि वर्तमान अपराध यथा एटीएम फाॅड, चिटफण्ड, मानव तस्करी, सोशल मीडिया से होने वाले धोखाधड़ी से सावधान रहने एवं दूसरों को भी इससे सावधान रहने की समझाईश देने, चिटफण्ड कंपनी, जेवर चमकाने एवं नकली सोना बेचने वाले गिरोह, संदिग्ध व्यक्तियों के गांव में आने की सूचना तत्काल पुलिस को देने हेतु कहा। बैठक में एसडीओपी मनोज ध्रुव ने कहा कि आप सभी के सहयोग से इस प्रकार के अपराधों से बचा जा सकता है।
इस बैठक में थाना प्रभारी झिलमिली जमाल फिरदौसी सहित कई ग्रामों के ग्राम रक्षा समिति के सदस्य एवं पुलिस जनमित्र के सदस्यगण सहित काफी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित रहे।

पुलिस ने आवारा मवेशियों के गले में लगाई रेडियम पट्टी




सूरजपुर। राष्ट्रीय राजमार्गों एवं राज्यकीय राजमार्गो में मवेशियों के बैठे रहने एवं विचरण करने से सड़क दुर्घटनाएं न हो साथ ही इस प्रकार के सड़क दुर्घटनाओं की संभावना को कम करने हेतु आवश्यक पहल करने के निर्देश पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल ने जिले के थाना-चौकी प्रभारियों को दिए थे।
     निर्देश के परिपालन में रविवार 5 मई को अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर के मार्गदर्शन में चौकी प्रभारी तारा राजेश तिवारी के द्वारा ग्राम शिवनगर में पैदल रोड़ पेट्रोलिंग के दौरान राष्ट्रीय राजमार्ग 130 में आवारा मवेशी जो सड़क पर घुम रहे थे उनके सिंग में रेडियम चश्पा करते हुये उनके गले में रेडियम का पट्टा पहनाया गया ताकि सड़क दुर्घटना की संभावना को कम किया जा सके। मवेशियों में रेडियम लगे होने पर रात्रि के समय वाहन के रौशनी से मवेशियों को दूर से देखा जा सकेगा और सड़क दुर्घटना से बचा जा सकेगा।

रविवार, 5 मई 2019

आरोपी के कब्जे से अपहृत बालिका को दमन से बरामद कर लाई बसदेई पुलिस, आरोपी गिरफ्तार

सूरजपुर: गत् वर्ष 22 नवम्बर को ग्राम सिरसी निवासी एक व्यक्ति चौकी बसदेई आकर रिपोर्ट किया कि 22 नवम्बर की सुबह 10ः00 बजे इसकी 16 वर्षीय नाबालिक लड़की घर में बिना बताए कहीं चली गई है। प्रार्थी की सूचना पर चौकी बसदेई थाना सूरजपुर में अपराध क्रमांक 471/18 धारा 363 भादवि का प्रकरण पंजीबद्ध कर गुमशुदा नाबालिक को खोजबीन करना प्रारंभ किया। पूर्व में पुलिस महानिदेशक श्री डी.एम.अवस्थी द्वारा सभी जिलों में गुमशुदा नाबालिग बच्चों के प्रकरणों को गंभीरता से लेते हुए इनकी खोजबीन हेतु विशेष अभियान ‘‘आपरेशन मुस्कान’’ चलाए जाने हेतु सभी जिले के पुलिस अधीक्षकों को निर्देश जारी किए थे। जिसके तारतम्य में पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल के द्वारा जिले के थाना-चौकी प्रभारियों को गुमशुदा एवं अपहृत बच्चों की दस्तयाबी एवं आरोपी की गिरफ्तारी हर संभव प्रयास करने के निर्देश दिए थे।
पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर एवं सीएसपी डी.के.सिंह के मार्गदर्शन में चौकी प्रभारी बसदेई सुनील सिंह द्वारा गुमशुदा नाबालिक के संबंध में जानकारी एकत्र करना प्रारंभ किया। पतासाजी के दौरान यह मालूम हुआ कि बसदेई निवासी नागेन्द्र देवांगन पिता शंकर देवांगन उम्र 21 वर्ष भी दिनांक 22/11/18 से अपने घर पर नहीं है। गुम नाबालिक के पतासाजी दौरान चौकी प्रभारी बसदेई सुनील सिंह के नेतृत्व में चौकी बसदेई पुलिस द्वारा गुम नाबालिक के सहेलियों, सहपाठियों से बारिकी से गुम नाबालिक के विषय में पूछताछ की गई जिससे यह प्रमाणित होने लगा कि संदेही आरोपी द्वारा ही प्रेमप्रसंग में नाबालिक को बहला-फुसला कर भगा ले गया है। दौरान पतासाजी चौकी बसदेई पुलिस द्वारा साईबर सेल से समन्वय स्थापित कर आरोपी नागेन्द्र देवांगन लोकेशन की जानकारी प्राप्त की गई जिस पर जानकारी हासिल हुई कि केन्द्र शासित प्रदेश दमन राज्य में है जो गुजरात राज्य का सरहदी ईलाका है।
पतासाजी दौरान यह ज्ञात हुआ कि आरोपी नागेन्द्र देवांगन का पिता शंकर देवांगन गुजरात में किसी फैक्टरी में काम करता है जिससे चौकी बसदेई पुलिस का संदेह पुख्ता हो गया कि आरोपी द्वारा नाबालिक अपहृता को गुजरात राज्य अथवा इसके सरहदी क्षेत्रों में ले जाया गया होगा जिस पर चौकी प्रभारी बसदेई सुनील सिंह द्वारा मामले के सम्पूर्ण हालात को पुलिस अधीक्षक श्री जी.एस.जायसवाल को अवगत कराया गया। पुलिस टीम दिगर राज्य जाने की अनुमति पुलिस महानिरीक्षक, सरगुजा रेंज सरगुजा व पुलिस अधीक्षक सूरजपुर से प्राप्त कर नाबालिक अपहृता को बरामद करने हेतु पुलिस चैकी बसदेई की एक टीम गुजरात रवाना की गई। टीम द्वारा गुजरात राज्य के सरहदी क्षेत्र जिला दमन पहुंचकर आरोपी नागेन्द्र देवांगन व अपहृता की पतासाजी की जा रही थी। किन्तु गुजरात राज्य के सरहदी जिला दमन जैसे बडे शहर में अत्यधिक फैक्टरियां होने से पुलिस टीम को आरोपी एवं अपहृता की पतासाजी हेतु काफी कठिनाईयों का सामना करना पड़ा। आरोपी एवं अपहृता के खोजबीन दौरान बसदेई पुलिस टीम द्वारा दमन पुलिस स्टेशन नानी दमन केन्द्र शासित प्रदेश से सहयोग प्राप्त किया गया, जहां पर पता चला कि आरोपी नागेन्द्र देवांगन एक प्लास्टिक फैक्टरी में काम करता है तथा किराये का मकान लेकर नाबालिक अपहृता को रखा हुआ है। सूचना पर चौकी बसदेई पुलिस टीम एवं नानी दमन पुलिस टीम द्वारा संयुक्त रूप से आरोपी के किराये के मकान में दबिश दी गई पुलिस के आने की आहट पाकर आरोपी भागने की कोशिश करने लगा जिसे पुलिस टीम द्वारा संयुक्त रूप से घेराबंदी कर पकड़ा एवं नाबालिग अपहृता को दस्तयाब किया गया। आरोपी नागेन्द्र देवांगन के द्वारा नाबालिग लड़की को बहला फुसलाकर भगा ले जाकर अनाचार किए जाने पर पुलिस ने प्रकरण में धारा 366, 376 भादवि व पास्को एक्ट की धारा 4, 6 जोड़ी जाकर आरोपी को विधिवत् गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया।
इस कार्यवाही में चौकी प्रभारी बसदेई सुनील सिंह, प्रधान आरक्षक मनोज पोर्ते, आरक्षक जितेन्द्र पटेल, अमरेन्द्र दुबे, देवदत्त दुबे, महेन्द्र प्रताप सिंह एवं साईबर सेल के आरक्षक युवराज यादव का उल्लेखनीय योगदान रहा।

बुधवार, 1 मई 2019

पुलिस ने 90 बिना इंश्योरेंस के वाहन चालकों सहित 303 वाहन चालकों के विरूद्व की एम.व्ही.एक्ट के तहत् कार्यवाही। 68 हजार 7 सौ रूपये वसूल की गई समन शुल्क।









सूरजपुर: सड़क दुर्घटना के प्रकरण में वाहन चालक का डाईविंग लायसेंस एवं वाहन का इंश्योरेंस नहीं होने के कारण पीड़ित पक्ष को मुआवजा राशि नहीं मिल पाती साथ ही यातायात नियमों का उल्लघंन करने से सड़क दुर्घटनाएं होती है, सड़क दुर्घटनाओं को रोकने एवं यातायात नियमों का उल्लघंन करने वालों के विरूद्व मोटर व्हीकल एक्ट के तहत् कार्यवाही करने के निर्देश पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल ने जिले के थाना-चौकी प्रभारियों को दिए थे। 
निर्देश के परिपालन में मंगलवार 30 अप्रैल को जिले के थाना-चौकी की पुलिस ने सघन वाहन चेकिंग अभियान चलाया जिसकी मानिटरिंग खुद एसपी सूरजपुर श्री जायसवाल के द्वारा किया जाता रहा। दिन भर चले इस कार्यवाही में पुलिस ने 90 ऐसे वाहनों को सड़क पर चलते पाया जिसका इंश्योरेंस नहीं था इन वाहन चालकों के विरूद्व एम.व्ही.एक्ट के तहत् कार्यवाही कर 25 हजार 6 सौ रूपये का समन शुल्क लिया गया। इसके अलावा बिना नंबर के वाहन, बिना डाईविंग लायसेंस, खतरनाक ढ़ग से वाहन चलाने एवं यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले 213 वाहन चालकों के विरूद्व मोटर व्हीकल एक्ट के तहत् कार्यवाही करते हुये 43 हजार 1 सौ रूपये कुल 303 वाहन चालकों से 68 हजार 7 सौ रूपये का समन शुल्क अर्जित कर शासन के कोष में जमा किया।
जिले की पुलिस के द्वारा कार्यवाही के दौरान वाहन चालकों को हेलमेट पहनने हेतु प्रोत्साहित करते हुये दुर्घटना के दौरान हेलमेट किस प्रकार व्यक्ति की जान बचा सकता है, सड़क पर चलने के दौरान सजग रहने, वाहन चलाते समय मोबाईल का इस्तेमाल न करने एवं यातायात नियमों का पालन कर दुर्घटना से बचाव के उपाए भी बता रही है।