गुरुवार, 27 फ़रवरी 2020

बसदेई पुलिस ने अपहृता को आसाम से बरामद कर 01 आरोपी को किया गिरफ्तार......

पबजी गेम से जरिए आरोपी ने अपहृता से बनाई जान पहचान......

सूरजपुर। दिनांक 21.11.2019 को प्रार्थी ने चौकी बसदेई में रिपोर्ट दर्ज कराया कि दिनांक 12.11.19 को इसकी नाबालिक पुत्री कोचिंग जाने को बोलकर घर से निकली थी जो आज तक घर लौटकर वापस नहीं आई जिसका आस पड़ोस एवं रिश्तेदारी में पता तलाश किया गया जो कहीं नहीं मिली एवं आशंका होने बताया कि इसकी नाबालिक पुत्री को किसी अज्ञात व्यक्ति ने बहला फुसला कर भगाकर ले गया है कि रिपोर्ट पर चौकी बसदेई, थाना सूरजपुर में अपराध क्रमांक 452/19 धारा 363 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया एवं मामले के सम्पूर्ण हालत से  पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा  को अवगत कराया गया।
            पुलिस अधीक्षक सूरजपुर ने 06 फरवरी 2020 को थाना-चौकी प्रभारियों की बैठक लेकर गंभीर मामलों के आरोपियों की पतासाजी कर गिरफ्तार करने एवं अपहरण के मामले में अपहृता की पतासाजी कर दस्तयाब करने के निर्देश दिए थे। मामले की विवेचना के दौरान चौकी प्रभारी बसदेई सुनील सिंह ने अपहृता के परिजनों, रिश्तेदारों एवं आस पड़ोस के लोगों से पूछताछ पर जानकारी मालुमात किया कि अपहृता संभवतः आसाम में है जिसकी जानकारी से पुलिस अधीक्षक सूरजपुर को अवगत कराये जाने पर उन्होंने एक बड़ी पुलिस टीम गठित किया और आसाम से अपहृता को लाने की रणनीति बनाई। पुलिस की पूरी टीम ने विधिवत् नियमों का पालन करते हुए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर के मार्गदर्शन में रवाना होकर आसाम पहुंची। बसदेई पुलिस टीम को आसाम में अपहृता के बरामदमी में सहयोग करने  पुलिस अधीक्षक श्री कुकरेजा ने जिला मोरीगांव आसाम के पुलिस अधीक्षक से चर्चा की।
           बसदेई पुलिस टीम आसाम पहुंचकर थाना प्रभारी जागीरोड़, जिला मोरीगांव से मिलकर प्रकरण के संबंध में जानकारी दिया और अपहृता के बरामगी हेतु सहयोग मांगा। पुलिस टीम ने नई तकनीक की मदद् से गांव सिलभंगा, थाना जागीरोड़ आसाम से अपहृता को आरोपी मोमीन खान के कब्जे से बरामद किया। मामले की जांच में यह तथ्य आया कि आरोपी ने पबजी गेम के माध्यम से अपहृता से जान पहचान कर उसे शादी करने का झांसा दिया और आसाम से यहां आकर अपहृता को अपने साथ आसाम ले गया जहां आरोपी ने अपहृता का शारीरिक शोषण भी किया। पुलिस ने मामले में पृथक से धारा 366, 376 भादवि, पाक्सो एक्ट की धारा 4, 6 जोड़ते हुए आरोपी मोमीन खान पिता अवल खान उम्र 19 साल निवासी सिलभंगा, थाना जागीरोड, जिला मोरीगांव आसाम को विधिवत् गिरफ्तार किया।
यात्रा की अवधि 24 घंटे से अधिक होने के कारण मामले के विवेचक चौकी प्रभारी बसदेई सुनील सिंह के द्वारा प्रकरण में माननीय सीजेएम न्यायालय मोरीगांव आसाम से आरोपी का 04 दिनों का ट्रान्जिट रिमाण्ड विधिवत् प्राप्त कर आरोपी व अपहृता को वापस सूरजपुर लेकर पहुंचे और आरोपी को माननीय न्यायालय सूरजपुर के समक्ष पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।
इस कार्यवाही में चौकी प्रभारी बसदेई सुनील सिंह, प्रधान आरक्षक मनोज पोर्ते, आरक्षक महेन्द्र यादव, महेन्द्र सिंह, जितेन्द्र पटेल, अमरेन्द्र दुबे, देवदत्त दुबे व महिला आरक्षक अलती राजवाड़े सक्रिय रहे।

सोमवार, 24 फ़रवरी 2020

स्टूडेंट पुलिस कैडेट ने बांक में लगाया कैम्प......

*कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक ने कैडेटों का किया उत्साहवर्धन।*

*कैम्प में कैडेट ने खेले कई गेम्स।*

*कैडेटों ने पुलिस व सेना की सेवा में जाने दिखाई रूचि।*


सूरजपुर। जिले में स्टूडेंट पुलिस कैडेट का गठन किया गया है जिनमें पांच स्कूलों के 211 स्कूली छात्र-छात्राओं को इसके लिए चयनित किया गया है। पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा के मार्गदर्शन में एसपीसी के कैडेट ने ओड़गी थाना क्षेत्र के बांक में एक दिवसीय कैम्प का आयोजन रविवार 23 फरवरी को किया। कैम्प में एसपीसी के कैडेटों को आउटडोर प्रशिक्षण के बारे में बताया गया इसके अलावा कैडेट ने कैम्प में कई गेम्स भी खेले।
             कलेक्टर सूरजपुर श्री दीपक सोनी ने कैम्प में एसपीसी के कैडेटों का उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि एसपीसी से जुड़कर आप सभी पढ़ाई के साथ ही पुलिस की कार्यवाहियों में सहयोग कर रहे है, एसपीसी के साथ-साथ पढ़ाई में अच्छी रूचि लेकर अपने लक्ष्य को हासिल करें।
             पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने एसपीसी के बच्चों को कहा कि आपको दो साल का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इस योजना से आपको जिम्मेदार नागरिक बनाने के साथ ही उपयुक्त प्रशिक्षण देकर ज्ञान एवं सामाजिक कार्यो की क्षमता को विकसित करना, आत्म नियंत्रण, अनुशासन और अपनी जिम्मेदारियों को निभाने की नेतृत्व क्षमता को मजबूत एवं विकसित करना है। अपराध को रोकने, कानून और व्यवस्था बनाए रखने एवं सड़क सुरक्षा को बढ़ावा देने का कार्य भी हमारे साथ मिलकर कर रहे है। इनडोर प्रशिक्षण के माध्यम से पुलिस से संबंधित विषयों से परिचित कराने, पुलिस आमजन की सुरक्षा, कानून व्यवस्था, अपराधों की रोकथाम और नियंत्रण किस प्रकार से करती है उसके बारे में जानकारी दी जा रही है, अपराध नियंत्रण एवं शांति व्यवस्था बनाए रखने में पुलिस की मदद् करने, कानून के मामलों, संवैधानिक सिद्धांतों, सामुदायिक पुलिसिंग, यातायात के नियमों एवं उसके पालन कराने में सहभागिता, व्यक्तित्व विकास के सिद्धांत के बारे में बताना और उन्हें बेहतर नागरिक बनने की जानकारी देना है। उन्होंने कहा कि सक्रियता से ज्ञानवर्धन जानकारी हासिल करें, समाज के कमजोर वर्गों के लिए सहानुभूति रखे, टीम भावना से कार्य करें और सार्वजनिक स्थानों पर बोलने के कौशल को विकसित करें। पुलिस अधीक्षक ने एसपीसी के छात्रों से कहा कि जल्द ही आप सभी कैडेट को कलेक्ट्रेट व पुलिस अधीक्षक कार्यालय का भ्रमण कराया जाएगा।

*कैडेटों ने पुलिस व सेना की सेवा में जाने दिखाई रूचि।*

कैम्प में पुलिस अधीक्षक ने एसपीसी के कैडेटों को आवश्यक जानकारी दिए जाने के दौरान सभी कैडेट ने एक आवाज में पुलिस एवं सेना की नौकरी करने की इच्छा जाहिर की। पुलिस अधीक्षक ने सभी बच्चों को रूचि लेकर पढ़ाई कर अपने लक्ष्य को हासिल करने को कहा।

*कैम्प में कैडेट ने खेले कई गेम्स।*

शारीरिक फिटनेश को लेकर कैम्प में एसपीसी के कैडेटों ने रोमांचक रस्सा खींच, बालीबाल, क्रिकेट एवं कबड्डी गेम्स खेले।

इस दौरान जिला पंचायत सीईओ श्री अश्वनी देवांगन, डीएफओ श्री जगमोहन भगत, एसडीओपी ओड़गी मंजूलता बाज, रक्षित निरीक्षक भूपेन्द्र कुर्रे, थाना प्रभारी विश्रामपुर कपिलदेव पाण्डेय, थाना प्रभारी ओड़गी रामसाय पैंकरा, थाना प्रभारी झिलमिली चित्रलेखा साहू, यातायात प्रभारी आर.सी.राय, एसआई अजहरूद्दीन, आराधना बनोदे, रश्मि सिंह, स्टेनो पुष्पेन्द्र शर्मा, प्राचार्य अन्नू कांडे, खेल अधिकारी सबाब हुसैन, शिक्षक योगेश पाण्डेय, अरूण चैबे, शशि दुबे, शोभना रंजीत, राकेश कुमार सिंह, रमेश कुमार, सुनील कुमार, एस.के.सुमन, पार्वती, गौतम शर्मा, सहदेव राम रवि, रामसुभाष राजवाड़े, संजय यादव, पुलिस, फारेस्ट, रेडियों, होमगार्ड के अधिकारी-कर्मचारी, शा.कन्या उ.मा.वि.सूरजपुर, शा.बालक उ.मा.वि. सूरजपुर, शा.कन्या उ.मा.वि.विश्रामपुर, शा.बालक उ.मा.वि. विश्रामपुर एवं जवाहर नवोदय विद्यालय बसदेई के स्टूडेंट पुलिस कैडेट के छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।

मंगलवार, 18 फ़रवरी 2020

पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा ने खिलाड़ियों को राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर के खेलों में भाग लेेने किया हौसला अफजाई......

ब्लैक डायमंड गोल्ड कप फुटबॉल टूर्नामेंट के फाइनल मुकाबले में रॉयल स्पोर्टिंग क्लब चरचा ने अदानी फुटबॉल एकैडमी सरगुजा को किया परास्त.....

सूरजपुर। विगत 10 फरवरी से चल रहे राज्य स्तरीय ब्लैक डायमंड गोल्ड कप फुटबॉल प्रतियोगिता का अंतिम फाइनल मैच अदानी फुटबॉल एकेडमी सरगुजा तथा न्यू स्पोर्ट्स क्लब चरचा के मध्य स्थानीय खेल परिसर जरही में सम्पन्न हुआ। सोमवार 17 फरवरी को समापन मैच के मुख्य अतिथि पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा थे कार्यक्रम की अध्यक्षता एसईसीएल भटगांव क्षेत्र के महाप्रबंधक यूपी कंजरकर ने की। इस फाइनल मुकाबले में दर्शकों को रोमांचक मैच देखने का मौका मिला। पहले हाफ में टूर्नामेंट की दोनों उत्कृष्ट टीमों में मैच मध्यम गति से चला किंतु दूसरे हाफ में चरचा की टीम ने एक गोल दागकर 1-0 की बढ़त बना ली किन्तु चंद मिनटों बाद ही सरगुजा की अदानी फुटबॉल एकेडमी ने भी एक गोल दागकर मुकाबला बराबरी पर ला खड़ा कर दिया, बराबरी पर फैसला नहीं होने से टाईब्रेकर के द्वारा मुकाबला और भी रोमांचक हो गया जिसमें चरचा की टीम 5-4 से विजय रही। रॉयल स्पोर्टिंग क्लब चरचा के गोलकीपर नवीन नायक का प्रदर्शन शानदार रहा। मैच के मुख्य रेफरी अविनाश प्रधान मुंगेेश्वर राजवाड़े, रविंद्र राजवाड़े तथा साइड रेफरी लव कुमार व धर्मपाल थे।
               मुख्य अतिथि की आसंदी से पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने आयोजन समिति तथा खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ाने के साथ कहा कि संभाग के सरगुजा व सूरजपुर में फुटबॉल के प्रतिभाओं की कमी नहीं है। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि हारजीत के अलावा खिलाड़ियों का एक साथ बैठकर आपस में मिलने की भावना रही यही सबसे बड़ी उपलब्धि है। हमारे लिए खेलों में भाग लेना आवश्यक है, खेल में भाग लेने पर हम सभी फिजिकल रूप से फिट रहते है। उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों ने इस प्रतियोगिता में उम्दा प्रदर्शन किया, सभी खिलाड़ियों ने मानसिक दबावों से बाहर आकर खेल की तरफ ध्यान दिया एवं यहां से अच्छे अनुभव हासिल किए। उन्होंने आशा व्यक्त करते हुए कहा कि फुटबाल की अच्छी तैयारी के साथ राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर के खेलों में भाग लेकर जिले का नाम रौशन करें।
बतौर अतिथि क्षेत्रीय कार्मिक प्रबंधक श्री टोप्पो, श्रमिक नेता मनोज मिश्रा, जगन्नाथ पांडे, थाना प्रभारी भटगांव किशोर केंवट एसआई आराधना बनोदे, एएसआई के.के.यादव सहित करीब 20 हजार की संख्या में दर्शकगण मौजूद रहे साथ ही टूर्नामेंट को सफल बनाने एसईसीएल भटगांव क्षेत्र स्तरीय फुटबॉल टीम के सदस्य प्रताप सिंह मरावी, ठुनुवा राम, संधारि राम राजवाडे, तथा आयोजन समिति के समस्त सदस्यों का योगदान सराहनीय रहा।

सोमवार, 17 फ़रवरी 2020

रामानुजनगर पुलिस ने किया पुलिस जनता सम्मेलन का आयोजन...........

जनता के सहयोग से अपराधों व अपराधियों पर कसी जा सकती है लगाम.......

सूरजपुर। *पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा* के निर्देशन में रामानुजनगर पुलिस ने शनिवार 15 फरवरी को ग्राम तिवरागुड़ी में पुलिस व जनता के बीच के संबंधों को और अधिक मधुर बनाने पुलिस जनता सम्मेलन का आयोजन किया जिसमें ग्राम रक्षा समिति के सदस्य, जनप्रतिनिधिगण सहित भारी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित रहे।
                *अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर* के मार्गदर्शन में एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी व थाना प्रभारी रामानुजनगर गोपाल धुर्वे के द्वारा पुलिस जनता सम्मेलन का आयोजन किया। इस अवसर पर *एसडीओपी प्रेमनगर* ने कहा कि जनता पुलिस के आंख व कान हैं। जनता के सहयोग से अपराधों व अपराधियों पर लगाम कसी जा सकती है। वे गांव तिवरागुड़ी में आयोजित पुलिस जनता सम्मेलन में ग्रामीणों को संबोधित कर कहा कि *पुलिस अधीक्षक सूरजपुर* के दिशा निर्देशानुसार में रामानुजनगर थाना में तैनात प्रत्येक पुलिस कर्मी ने किसी न किसी गांव में पहुंच जनता के बीच आपसी संबंधों को और मजबूत करने का कार्य किया है, वहीं क्षेत्र में इस प्रकार का माहौल बनाने में सहयोग देने की अपील भी जनता व क्षेत्र के गणमान्य व्यक्तियों से की है। सम्मेलन में पुलिस के द्वारा गुम इंसान की सूची से ग्राम रक्षा समिति के सदस्यों को अवगत कराया एवं किसी प्रकार की जानकारी मिलने पर अवगत कराने का कहा।
                 एसडीओपी प्रेमनगर ने कहा कि जनता व पुलिस के बीच इस प्रकार के मधुर संबंध होने चाहिए ताकि क्षेत्र में किसी भी प्रकार का ऐसा कार्य न होने पाए जिससे क्षेत्र की शाति भंग होती हो। अगर कोई असामाजिक तत्व क्षेत्र की शाति भंग करना चाहता है या फिर किसी भी प्रकार का अवैध कार्य कर रहा है तो उसकी सूचना पुलिस को दी जाए ताकि उसके विरूद्व वैधानिक कार्यवाही की जा सके। पुलिस प्रशासन हर समय जनता की सेवा के लिए तत्पर है ताकि क्षेत्र में शांति व्यवस्था बनी रहे। थाना प्रभारी रामानुजनगर ने ग्राम रक्षा समिति के सदस्यों को कहा कि अपने-अपने गांव के प्रत्येक गतिविधियों की जानकारी से जरूर अवगत कराए, वर्तमान समय में हो रहे आनलाईन, एटीएम, लाटरी लगने का झांसा देकर होने वाले धोखाधड़ी की जानकारी दी और उसके बचाव के तरीके बताए। उन्होंने कहा कि अपने घर के आसपास रहने वालों लोगों व अपने परिजनों को भी इसकी जानकारी दें।
इस दौरान जिला पंचायत उपाध्यक्ष नरेश राजवाड़े, जिला पंचायत सदस्य उषा सिंह, ग्राम रक्षा समिति रामानुजनगर के अध्यक्ष खिलानंद गोस्वामी, ग्राम तिवरागुड़ी, नकना, बकना, मांजा, तेलईमुड़ा, उमापुर के सरपंच, पंच, ग्राम रक्षा समिति के सदस्य व थाना रामानुजनगर के पुलिस अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे।

बुधवार, 12 फ़रवरी 2020

आईजी सरगुजा श्री रतनलाल डांगी ने सूरजपुर जिले का किया दौरा......

पुलिस की कार्यवाही पारदर्शी एवं निष्पक्ष बनाए रखने दिए निर्देश...

महिला सुरक्षा को लेकर सख्त कदम उठाए जायेंगे....

थाना विश्रामपुर व पुलिस कार्यालय का लिया जायजा...

शासकीय सीयूजी सिम किया वितरित...

सूरजपुर। पुलिस महानिरीक्षक, सरगुजा रेंज, सरगुजा श्री रतनलाल डांगी ने मंगलवार 11 फरवरी को सूरजपुर जिले का दौरा किया। इस दौरान पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा मौजूद रहे। आईजी सरगुजा ने सर्वप्रथम थाना विश्रामपुर का आकस्मिक निरीक्षण किया इस दौरान उन्होंने थाना की रिकार्ड व दस्तावेज का अवलोकन कर शस्त्रागार का जायजा लिया, थाना में तैनात पुलिस कर्मियों से बात किया। थाना प्रभारी विश्रामपुर कपिलदेव पाण्डेय की प्रशंसा की करते हुए साफ-सफाई, रिकार्ड एवं मालखाना का अवलोकन किया एवं व्यवस्था से संतुष्ट दिखे।

कार्यालय के शाखाओं का लिया जायजा।

पुलिस अधीक्षक कार्यालय सूरजपुर पहुंचकर आईजी सरगुजा श्री डांगी ने कार्यालय के सभी शाखाओं का जायजा लिया। इस दौरान पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा ने कार्यालयीन अधिकारियों के द्वारा किए जाने वाले कार्यो की जानकारी से उन्हें अवगत कराया। सूरजपुर के दौरे पर आए आईजी श्री डांगी को पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा ने पुस्तकें भेंट की।

थाना-चौकी प्रभारियों को दिए निर्देश।

जिला पुलिस कार्यालय के सभाकक्ष में आईजी सरगुजा ने जिले के पुलिस अधिकारियों एवं सभी थाना-चौकी प्रभारियों की बैठक ली और उनका परिचय प्राप्त किया। बैैठक में उन्होंने थाना प्रभारियों से उनके यहां लंबित मामलों एवं उपलब्ध बल आदि की जानकारी ली और कहा कि लंबित मामलों के जल्द निराकरण हेतु थाना में पदस्थ विवेचकों को जांच हेतु डायरी सौंपे, चिटफण्ड के मामलों का जल्द निराकरण करने के निर्देश दिए। उन्होंने पुलिस अधिकारियों को कहा कि महिला सुरक्षा को लेकर सख्त कदम उठाए जाए, स्कूल-कालेजों के पास पुलिस की मौजूदगी के साथ ही नियमित पेट्रोलिंग कराने, फरियादी के थाना आने पर उन्हें सम्मानपूर्वक बैठाकर उनकी शिकायतों को सुने और त्वरित वैधानिक कार्यवाही करें। आईजी सरगुजा ने पुलिस की कार्यवाही पारदर्शी एवं निष्पक्ष बनाए रखने एवं कार्यवाहियों के दौरान सर्तकता बरतने के निर्देश दिए।

शासकीय सिम किया वितरण।

शासन द्वारा पुलिस अधिकारियों/कर्मचारियों में परस्पर संचार सुविधा को सुगम-त्वरित बनाने के उद्धेश्य एवं शासकीय उपयोगार्थ जिले के सभी पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों को सीयूजी सिम उपलब्ध कराया है जो पुलिस मुख्यालय के माध्यम से प्राप्त हुए थे। आईजी सरगुजा श्री डांगी ने सीयूजी सिम को पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों को वितरित किया।

पत्रकारवार्ता।

पुलिस अधीक्षक कार्यालय में पत्रकारवार्ता में आईजी सरगुजा श्री रतनलाल डांगी ने कहा कि महिलाओं की सुरक्षा को लेकर विशेष फोकस रहेगा, स्कूल, कालेज के आसपास पुलिस की मौजूदगी दिखेगी, थाना में शिकायत करने हेतु आने वाले फरियादियों को सम्मानपूर्वक बैठाकर उनकी शिकायत को सुनकर उस पर तत्काल उचित वैधानिक कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा कि यूथ को अच्छे संस्कार दें, बेहतर पालन-पोषण करें एवं उनमें अच्छी आदते विकसित करें, जिससे न कि उनके परिवार बल्कि समाज व राष्ट्र की उन्नती हो। यूथ के किस कार्य से उनका भविष्य खराब हो सकता है उन्हें यह समझने की आवश्यकता है। व्यवहार अच्छा और बर्ताव ऐसा रखे कि युवा उनसे अच्छी चीजें सीख सकें ताकि आने वाली पीढ़ी हमें सशक्त व मजबूत मिले।

इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर, एएसपी मुख्यालय पी.एस.महिलाने, सीएसपी जे.पी.भारतेन्दु, एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी, एसडीओपी ओड़गी मंजूलता बाज, जिले के सभी थाना-चौकी प्रभारी सहित पुलिस कार्यालय के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

2 लाख 50 हजार कीमत के नशीली कफ सिरप के साथ 01 गिरफ्तार, करंजी पुलिस की कार्यवाही...

पुलिस अधीक्षक सूरजपुर को मिली थी सूचना.........

सूरजपुर। सोमवार 10 फरवरी 2020 को पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा को मुखबीर ने सूचना दिया कि ग्राम कड़िया, थाना चलगली निवासी सुनील प्रसाद गुप्ता भारी मात्रा में नशीली दवाई लेकर बिक्री करने हेतु काला रंग के पल्सर मोटर सायकल में काला कोट पहनकर करंजी की ओर जा रहा है। सूचना पर पुलिस अधीक्षक ने चौकी प्रभारी करंजी संजय गोस्वामी को सतर्कता बरतते हुए घेराबंदी लगाकर नशीली दवा बिक्री करने हेतु आ रहे व्यक्ति को पकड़ने के निर्देश दिए।
          चौकी प्रभारी करंजी पुलिस टीम के साथ दतिमा चौक के पास घेराबंदी लगाए जो दतिमा चौक के पास एक काला रंग के पल्सर मोटर सायकल में काला कोट पहना हुआ व्यक्ति राई की ओर से आते दिखा जिसे रोकने का इशारा करने पर वाहन को तेज गति से चलाते हुए दतिमा ओव्हर ब्रीज की ओर भागने लगा जिसे पुलिस टीम ने पीछा कर दतिमा के ओव्हर ब्रिज के पास घेराबंदी कर पकड़ा। पूछताछ पर उसने अपना नाम सुनील प्रसाद गुप्ता पिता बैजनाथ गुप्ता उम्र 45 वर्ष ग्राम कड़िया, थाना चलगली जिला बलरामपुर का होना बताया जिसके कब्जे से एक झोला व एक नीले रंग के बैग में 432 नग अवैध आरएक्स कफ सिरप बरामद हुआ, जप्त नशीली कफ सिरप की बाजारू कीमत 2 लाख 50 हजार रूपये एवं परिवहन में प्रयुक्त सोल्ड बजाज पल्सर मोटर सायकल को जप्त कर आरोपी सुनील प्रसाद गुप्ता को विधिवत् गिरफ्तार किया है।
         पूछताछ पर आरोपी ने बताया कि झारखण्ड के कई स्थानों से नशीली कफ सिरप को कम कीमत में लाकर विश्रामपुर, सूरजपुर, करंजी, रामानुजनगर, नारायणपुर क्षेत्र के नशेड़ियों को वास्तविक कीमत से 8-10 गुना अधिक दर पर बिक्री कर लाभ अर्जित करता था। आरोपी को पूर्व चंदौरा पुलिस ने अवैध नशीली दवा के मामले में गिरफ्तार करके जेल भेजा था।
इस कार्यवाही में चौकी प्रभारी करंजी संजय गोस्वामी, प्रधान आरक्षक रघुवंश सिंह, विकास सिंह, आरक्षक सतीश उपाध्याय, भोला राजवाड़े, ताराचंद यादव व धनेश्वर सिंह सक्रिय रहे।

शनिवार, 8 फ़रवरी 2020

लटोरी पुलिस ने किया अंधे कत्ल का खुलासा, 01 आरोपी गिरफ्तार..........

हिस्सा बटवारा की रंजीश पर भतीजे ने की बुआ की हत्या....

सूरजपुर। गत् 14 नवम्बर 2019 को दोपहर करीब 1.00 बजे ग्राम लटोरी भण्डारपारा, चौकी लटोरी निवासी 70 वर्षीय उजियारो राजवाड़े पति जगलाल राजवाड़े को उसके घर के सामने किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा सिर में मारकर चोट पहुंचाये जाने से मृतिका के परिजनों द्वारा ईलाज हेतु पहले सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लटोरी में भर्ती कराये जो उसी दिन लटोरी से रेफर करने पर मेडिकल कालेज अम्बिकापुर में भर्ती कराया गया। ईलाज दौरान उजियारों की 18 नवम्बर 2019 को मृत्यु हो गई। जिस पर नम्बरी पश्चात मर्ग डायरी चौकी लटोरी को जांच हेतु प्राप्त होने पर चौकी प्रभारी लटोरी सुभाष कुजूर के द्वारा मर्ग की जांच शुरू की गई। मामला प्रथम दृष्टया संदेहास्पद होने पर हालात के बारे में पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा को अवगत कराया जिस पर उन्होंने अपराध पंजीबद्व करते हुए घटना के वास्तविक तथ्यों के बारे में पता लगाते हुए आरोपी की गिरफ्तारी के निर्देश दिए।
         लटोरी पुलिस ने मामले में अज्ञात व्यक्ति के विरूद्व धारा 302 भादवि के तहत् अपराध पंजीबद्व कर विवेचना प्रारंभ किया। पुलिस अधीक्षक सूरजपुर के निर्देशन एवं मार्गदर्शन में अज्ञात आरोपी की पता तलाश की गई। प्रकरण में अज्ञात आरोपी के संबंध में पतासाजी हेतु मुखबीर तैनात किया गया। मुखबीर से प्राप्त सूचना के आधार पर संदेही ईश्वर राम राजवाड़े पिता मनोहर राजवाडे उम्र 36 वर्ष निवासी लटोरी भण्डारपारा, चौकी लटोरी को पुलिस हिरासत में लेकर पूछताछ करने पर उसने दिनांक घटना को लकड़ी के डण्डे से उजियारों को सिर में मारपीट कर गंभीर चोट पहुचाना बताया एवं जुर्म करना स्वीकार किया जो आरोपी ईश्वर राम राजवाड़े के मेमोरण्डम कथन मुताबिक मारपीट में प्रयुक्त लकड़ी का डण्डा जप्त किया गया व आरोपी को विधिवत् गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय में पेश किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।
        मृतिका उजियारो का आरोपी ईश्वर राम राजवाड़े भतीजा लगता है। मृतिका अपने मायके में ही आरोपी ईश्वर के पिता मनोहर के घर में रहती थी जो शराब पीकर अक्सर आरोपी को मेरे जमीन से हट जाओ, मुझे जमीन का बटवारा दो, सब हड़प लिये हो कहकर गाली गुप्तार करते रहती थी इसी बात को लेकर आरोपी मृतिका से रंजीश बनाकर रखा था। घटना दिनांक को भी मृतिका आरोपी को गाली गुप्तार कर रही थी जिस पर आरोपी के द्वारा मृतिका की हत्या करने की नियत से सिर में प्राण घातक चोट पहुचाया जिससे मृतिका की मृत्यु हुई है।
         इस कार्यवाही में चौकी प्रभारी लटोरी सुभाष कुजूर, एएसआई के.डी. बनर्जी, प्रधान आरक्षक विकास मिश्रा, संजय सिंह यादव, आरक्षक विकास मिश्रा, देवनंदन राजवाड़े, प्रभाकर सिंह, प्रेम सिंह, भूपेन्द्र सिंह व चन्दर साय राजवाडे सक्रिय रहे।

शुक्रवार, 7 फ़रवरी 2020

पुलिस अधीक्षक सूरजपुर ने बैंकों की सुरक्षा परखने चलाया विशेष अभियान......

50 से अधिक बैंकों का पुलिस टीम ने किया सुरक्षा आडिट।

बैंकों के आसपास संदिग्धों की भी हुई छानबीन।

सूरजपुर। पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा के निर्देश के बाद जिले के समस्त थाना-चौकी प्रभारियों एवं पुलिस की कई टीमों ने बैंकों की सुरक्षा आडिट का अभियान चलाया। इस दौरान सभी थाना-चौकी क्षेत्रों के बैंकों की तलाशी लेकर सायरन के साथ ही सीसीटीवी कैमरों की जांच की। पुलिस के अधिकारियों ने बैंक की सुरक्षा व्यवस्था, बैंक परिसर में संदिग्ध व्यक्तियों की चेकिंग, बैंक के ग्राहक किसी प्रकार की ठगी का शिकार न हो, बैंक में लगे सुरक्षा अलार्म सिस्टम ठीक ढंग से काम कर रहे है अथवा नहीं इसे अपनी उपस्थिति में चेक करवाया।
             पुलिस अधिकारियों ने जिन बैंक में गार्ड नहीं पाए उन बैंक प्रबंधकों को सुरक्षा गार्ड की व्यवस्था करने के साथ ही सुरक्षा को लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए और बैंक के निकास व प्रवेश द्वार की जानकारी ली। जिले के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में पुलिस के द्वारा बैंक के साथ ही एटीएम की भी सुरक्षा का जायजा लिया। शुक्रवार 07 फरवरी को जिले की पुलिस ने एसबीआई, एचडीएफसी, आईसीआईसीआई, सरगुजा क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, सेन्ट्रल बैंक, देना बैंक, एक्सिस बैंक, आईडीबीआई, बैंक आफ इंडिया, यूनियन बैंक सहित 50 से अधिक बैंकों की जांच की।
पुलिस के जांच अभियान में बैंक में भीड़ लगाए लोग अचानक पुलिस को आया देख लाइन में खड़े हो गए। वहीं बिना काम के बैंक में मौजूद लोगों से पुलिस ने पूछतांछ के बाद बाहर का रास्ता दिखाया। संदिग्ध रूप से बैंक में मौजूद लोगों की पुलिस ने तलाशी ली और सुरक्षा व्यवस्था को लेकर बैंकों के शाखा प्रबंधकों को आवश्यक निर्देश दी।
               पुलिस अधीक्षक ने बताया कि पुलिस ने बैंक अधिकारियों को जांच के दौरान समझाइश दी कि बैंक की सुरक्षा में पाए गए कमियों को जल्द दुरूस्त कराये, जिन बैंकों में गार्ड नहीं है उन शाखा प्रबंधकों को जल्द ही सुरक्षा गार्ड रखने के निर्देश दिए गए है। थाना प्रभारियों ने बैंक के शाखा प्रबंधकों से मुलाकात कर बैंक के सामान्य कामकाज की जानकारी ली और उन्हें बैंक के बाहर तथा सड़क तक फोकस करने हेतु सीसीटीव्ही कैमरा लगवाने एवं सीसीटीव्ही फुटेज पर हर समय निगरानी रखने को कहा है। बैंक की सुरक्षा एवं ग्रामीणजन किसी प्रकार की ठगी का शिकार न हो इसकी रोकथाम समेत सुरक्षा व्यवस्था को और मजबूत करने के लिए पुलिस बैंकों की जांच कर रही है। बैंकों में आगजनी से बचाव के उपकरणों का भी जायजा लिया गया। बैंकों के शाखा प्रबंधकों व स्टाफ के साथ सुरक्षा पर चर्चा कर उन्हें आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इस प्रकार से औचक निरीक्षण लगातार जारी रहेगा।

गुरुवार, 6 फ़रवरी 2020

पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा ने थाना-चौकी प्रभारियों को दी सख्त हिदायत.....

महिलाओं व बच्चों से संबंधित मामलों का जल्द निराकरण करने दिए निर्देश।

कम्युनिटी पुलिसिंग बढ़ाने पर दिया जोर।

सूरजपुर। थानों में पंजीबद्व अपराधों खासकर महिलाओं व बच्चों से संबंधित अपराधों में त्वरित कार्यवाही सुनिश्चित करते हुए पंजीबद्व मामलों की गंभीरता व संवेदनशीलता के आधार पर निराकरण करने एवं पीड़ितों को जल्द न्याय मिले इस हेतु प्रकरण का चालान न्यायालय में पेश हो इसी उद्धेश्य से पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने गुरूवार 06 फरवरी 2020 को जिला पुलिस कार्यालय के सभाकक्ष में पुलिस अधिकारियों व थाना-चौकी प्रभारियों एवं इन मामलों की जांच कर रहे विवेचकों की बैठक ली।
            बैठक में पुलिस अधीक्षक ने जिले के सभी थाना-चैकी प्रभारियों से उनके यहां लंबित महिलाओं व बच्चों से संबंधित अपराधों के बारे में विस्तृत जानकारी ली और उन्हें जल्द निराकरण करने के निर्देश दिए। कई मामलों में आरोपीगण दिगर राज्य के होने की जानकारी पर आरोपियों की धरपकड़ हेतु पुलिस टीम को दिगर राज्य विधिवत् जाने के निर्देश दिए। उन्होंने थाना में आने वाले फरियादियों की शिकायत अथवा समस्या को गंभीरतापूर्वक सुनकर त्वरित कार्यवाही करने, महिलाओं एवं बच्चों के आने-जाने वाले ऐसे स्थान जो सुनसान हो उन स्थानों पर पेट्रोलिंग करने, रात्रि के वक्त रेलवे स्टेशन, बस स्टापेज पर बस व अन्य सवारी वाहनों की आकस्मिक चेकिंग एवं ड्यूटी आने एवं वापस लौटते के दौरान संदिग्धों पर पैनी नजर रखने एवं अवैध कार्यो में लिप्त लोगों के विरूद्व सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिए। इस दौरान पुलिस अधीक्षक ने थाना प्रभारियों को कहा कि कम्युनिटी पुलिसिंग के तहत् थानों के दुरस्त ग्रामों में चलित थाना का आयोजन कर ग्रामीणों के शिकायतों का मौके पर ही निराकरण करें।
      इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर, एएसपी मुख्यालय पी.एस.महिलाने, एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी, एसडीओपी ओड़गी मंजूलता बाज, डीएसपी अजाक बालसाय केरकेट्टा, जिले के समस्त थाना-चौकी प्रभारी सहित पुलिस के अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।

सोमवार, 3 फ़रवरी 2020

कलेक्टर श्री दीपक सोनी व पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा ने लगातार करते रहे मतदान केन्द्रों का दौरा........

शांतिपूर्ण चुनाव को लेकर पुलिस बल रही मुस्तैद

मतदान के दौरान पुलिस की रही पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था

पुलिस अधीक्षक ने फोर्स के मूव्हमेंट को लेकर की थी व्यापक तैयारियां

तृतीय चरण के मतदान में 03 बजे तक हुआ 70.39 प्रतिशत मतदान

तृतीय चरण के मतदान में 03 बजे तक हुआ 70.39 प्रतिशत मतदान

सूरजपुर। जिला सूरजपुर में 03 फरवरी 2020 त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के तृतीय चरण के अन्तर्गत जिले के ओड़गी एवं प्रतापपुर विकास खण्ड के कुल 337 मतदान केन्द्रों पर मतदाताओं ने उत्साह के साथ अपने-अपने बूथों में जाकर अपने मताधिकार का प्रयोग किया। सोमवार की सुबह से ही जिला निर्वाचन अधिकारी श्री दीपक सोनी व पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने संयुक्त रूप से प्रतापपुर विकास खण्ड के मतदान केन्द्र सकलपुर, दवनकरा, बंशीपुर, केवरा, सोनगरा, खुटरापारा, भेड़िया, बड़वार, डांडकरवां सहित दोनों विकास खण्डों के कई मतदान केन्द्रों का दौरा कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया।
       कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक ने मतदान प्रारंभ होने के बाद से ही दोनों विकासखण्डों के कई मतदान केन्द्रों पर पहुंचे और बूथों पर सुविधाओं एवं सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। मतदान केन्द्रों पर तैनात पुलिस के जवानों से बात कर व्यवस्थित रूप से मतदान प्रक्रिया को सम्पन्न करने के निर्देश दिए। बूथों का जायजा लेने के दौरान मतदान केन्द्रों पर मतदाताओं ने व्यवस्थित व कतारबद्व होकर मतदान करते रहे। दोपहर 3 बजे तक करीब 70.39 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया है।

मतदान के दौरान पुलिस की रही पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था।

पुलिस अधीक्षक सूरजपुर ने त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के तृतीय चरण का मतदान शांतिपूर्वक, निष्पक्ष एवं निर्विग्न सम्पन्न कराने हेतु जोनल अधिकारी, सेक्टर अधिकारी, पेट्रोलिंग, नाकाबंदी व मतदान केन्द्रों पर पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था हेतु 750 से अधिक पुलिस के अधिकारी-कर्मचारी, नगर सेना, वनरक्षक, कोटवार की ड्यूटी लगाई थी, इसके अलावा पुलिस के अधिकारी-कर्मचारियों की कई रिजर्व पार्टी को भी कई स्थानों पर तैनात किया गया। मतदान के लिए पुलिस की व्यवस्था भी चाक-चैबंद रही जिसमें कहीं भी विवाद की स्थिति नहीं देखी गई।

पुलिस अधीक्षक ने फोर्स के मूव्हमेंट को लेकर की थी व्यापक तैयारियां।

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के प्रथम, द्धितीय व तृतीय चरण के मतदान के बीच केवल 1 दिन का समय सुरक्षा बलों के पास होता था। फोर्स को एक स्थान से दूसरे स्थान पर भेजना काफी चुनौतिपूर्ण रहा। पुलिस अधीक्षक सूरजपुर ने फोर्स के मूव्हमेंट को लेकर व्यापक तैयारियां की थी। जिसके फलस्वरूप प्रथम, द्धितीय व तृतीय चरण के मतदान के दौरान पुलिस फोर्स अपने कर्तव्य स्थल पर समय से पहुंचे और चुनाव प्रक्रिया सफलतापूर्वक सम्पन्न कराया।
        पंचायत चुनाव के प्रथम, द्धितीय व तृतीय चरण के मतदान के दौरान पुलिस अपने रणनीति के तहत् जहां भी तनाव की स्थिति निर्मित होती वहां तत्काल पेट्रोलिंग पार्टी सहित पुलिस के अधिकारीगण मौके पर पहुंचकर दोनों पक्षों को शांत कराते हुए विवाद का निराकरण करती एवं व्यवस्थाओं को सुचारू रूप से संचालित कराती। तृतीय चरण के मतदान के दौरान कहीं से किसी अप्रिय घटना की सूचना नहीं मिली। पुलिस तृतीय चरण के चुनाव के दौरान मुस्तैदी के साथ अपनी ड्यूटी को किया। इस दौरान लगातार पुलिस के द्वारा पेट्रोलिंग की जाती रही है।

मतदान कर सेल्फी जोन में फोटो खींचते दिखे काफी मतदातागण।

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के दौरान मतदान के पश्चात् मतदाताओं द्वारा सेल्फी जोन के समक्ष काफी उत्सुकता से सेल्फी लेते देखे गए। मतदाता सेल्फी लेकर आयोग को वाट्सएप मोबाईल नंबर 8815175580 पर भेज रहे है। बेस्ट सेल्फीज को निर्वाचन आयोग द्वारा पुरस्कृत किया जाएगा।