सोमवार, 7 जून 2021

पुलिस अधीक्षक सूरजपुर ने पुलिस लाईन में किया वृक्षारोपण..............

पर्यावरण संरक्षण आज की जरूरत, हर कोई लगाए एक पौधा।

सूरजपुर- विश्व पर्यावरण दिवस के तहत रविवार को पुलिस लाइन पर्री में पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने नीम का पौधा लगाकर वृक्षारोपण किया। पुलिस अधीक्षक ने पुलिस के अधिकारी-कर्मचारियों को पौधरोपण में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेने निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पर्यावरण संरक्षण आज की जरूरत है। यह किसी एक व्यक्ति के वश की बात नहीं है। पर्यावरण संरक्षण सामूहिक जिम्मेदारी है। उन्होंने जिले को स्वच्छ, हरा-भरा तथा खुशहाल बनाने के लिए अधिक से अधिक पौधरोपण करने एवं उसके नियमित देखरेख की अपील की।
          पुलिस अधीक्षक ने पर्यावरण को शुद्ध रखने व प्रकृति के संतुलन को बनाए रखने पर विस्तार से चर्चा की। पुलिसकर्मियों से कहा कि वह जिस भी थाना-चौकी में रहें उस थाने में एक अपने नाम का एक वृक्ष लगाएं। कारण कि वहां से स्थानांतरण के पश्चात भी एक सामाजिकता का कार्य हमेशा जीवित दिखाई देता रहे, इसमें सभी पुलिसकर्मी बढ़-चढ़कर अपनी भागीदारी निभाएं। सभी थाना प्रभारी अपने-अपने थाना परिसर व आसपास पौधरोपण करें। वृक्षारोपण से से पर्यावरण स्वच्छ रहेगा तथा भूमिगत जल भी सुरक्षित रहेगा। यह हमारी आने वाली पीढ़ियों के लिए अति आवश्यक है।
          इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर, पी.एस.महिलाने, सीएसपी जे.पी.भारतेन्दु, एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी व रक्षित निरीक्षक भूपेन्द्र कुर्रे ने भी फलदार वृक्ष लगाकरण वृक्षारोपण किया।

सूरजपुर जिले के 3 एएसआई पदोन्नत होकर बने एसआई........



पुलिस अधीक्षक ने स्टार लगाकर दी पदोन्नति।

सूरजपुर: शनिवार को पुलिस मुख्यालय रायपुर के द्वारा एएसआई को एसआई के पद पर पदोन्नति का आदेश जारी किया है जिसमें सूरजपुर जिले के 03 एएसआई विमलेश सिंह, कमलदास बनर्जी व डी.एन.पैंकरा को वरिष्ठता क्रम के आधार पर एसआई के पद पर पदोन्नति सूची में सम्मिलित किया गया है।
          रविवार 06 जून 2021 को पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने पदोन्नत हुए एएसआई विमलेश सिंह, कमलदास बनर्जी व डी.एन.पैंकरा के कंधों पर स्टार लगाकर एसआई पद पर पदोन्नति दी। पुलिस अधीक्षक ने पदोन्नत तीनों एसआई के उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं दी और उन्हें कहा कि सेवा के अगले पड़ाव में पूर्ण निष्ठा, ईमानदारी से कर्तव्यों का निर्वहन करें।
          इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर, पी.एस.महिलाने, सीएसपी जे.पी.भारतेन्दु, एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी, रक्षित निरीक्षक भूपेन्द्र कुर्रे व स्थापना प्रभारी अखिलेश सिंह मौजूद रहे।

शनिवार, 5 जून 2021

हत्या का आरोपी अपचारी बालक गिरफ्तार..........

सूरजपुर- दिनांक 31.05.2021 को प्रतापपुर थाना क्षेत्र निवासी एक व्यक्ति ने थाना में रिपोर्ट दर्ज कराया कि इसकी नाबालिक पुत्री 21 मई के रात्रि में 10 बजे घर से बिना बताए कहीं चली गई है। प्रार्थी की सूचना पर गुम इंसान कायम करते हुए अपराध क्रमांक 104/2021 धारा 363 भादस. पंजीबद्व किया गया। इसी बीच सूचना प्राप्त हुई कि ग्राम दरहोरा थाना चदौरा में एक अज्ञात लड़की का शव मिला है, चंदौरा थाना में मर्ग कायम कर जांच की जा रही है। मामले की सूचना पर पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने थाना प्रभारी प्रतापपुर को प्रकरण की गंभीरतापूर्वक विवेचना करने एवं चंदौरा में मिले लड़की के शव की तस्दीक करने के निर्देश दिए।
          एसडीओपी प्रतापपुर प्रशांत खाण्डे के नेतृत्व में प्रतापपुर व चंदौरा की संयुक्त पुलिस टीम के द्वारा जांच की गई। जांच के दौरान प्रार्थी के द्वारा अज्ञात लड़की के कपड़ा चप्पल मोबाईल से अपनी पुत्री के रूप में उसकी पहचान किया। प्रार्थी के द्वारा बताया गया कि उसकी पुत्री से एक नाबालिक लड़का बातचीत करता था जिसके आधार पर संदेही बालक से पूछताछ की गई जिसने बताया कि वह अपने गांव से नाबालिक लड़की से मिलने ग्राम सरहरी मोटर सायकल में आया था, मिलने पर लड़की उसे अपने घर अपने साथ ले जाने की जिद करने लगी, समझाने के बावजूद नहीं मानी एवं मरने की धमकी देने लगी तब अपचारी बालक चाकू से लड़की के गले में वार कर उसके दुपट्टा का फंदा बनाकर गले में फंसा कर हत्या करना स्वीकार किया। अपचारी बालक के निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त चाकू, मोटर सायकल जप्त करते हुए प्रकरण में पृथक से धारा 302 भादस. जोड़ी जाकर अपचारी बालक को विधिवत गिरफ्तार किया गया।
         इस कार्यवाही में थाना प्रभारी प्रतापपुर विकेश तिवारी, थाना प्रभारी चंदौरा एन.के.त्रिपाठी, आरक्षक परमेश्वर पैंकरा, अभय तिवारी, शेखर मानिकपुरी, मिथलेश गुप्ता, अविनाश कुजूर, इन्द्रजीत सिंह व कौशल सक्रिय रहे।

बैंक से पैसा निकाल घर जा रहे व्यक्ति से 49 हजार रूपये की चोरी के मामले में 1 गिरफ्तार...............

आरोपी को पकड़ने पुलिस वेशभूषा बदलकर पहुंची जंगल।

आरोपी पहले भी इस प्रकार के वारदात को दे चुका है अंजाम।

बैंक के बाहर आसानी से झांसे में आने वाले व्यक्ति की करते थे तलाश।

सूरजपुर- दिनांक 03.06.2021 को ग्राम सुन्दरपुर निवासी 60 वर्षीय रघुवीर राजवाड़े ने चौकी बसदेई में आकर रिपोर्ट दर्ज कराया कि 3 जून को सुबह 11.00 बजे गांव के रामलाल मिश्रा के साथ सहकारी बैंक भैयाथान पैसा निकालने गया था, बैंक से करीब 3 बजे 49000/- रूपये निकाला जिसे लेकर रामलाल मिश्रा के साथ वापस मोटर सायकल से अपने घर सुन्दरपुर आ रहा था, 4 बजे के आसपास जैसे ही गोबरी नाला के ऊपर सिरसी पहुँचे तो पीछे से काले रंग के पल्सर मोटर सायकल में एक अज्ञात व्यक्ति आया साथ चलने के दौरान अपनी बातों में उलझाया और रूकवाकर बात करने लगे तो डिक्की में रखा 49000/- रूपये को निकाल लिया और वहां से फरार हो गया। प्रार्थी की रिपोर्ट पर अपराध क्रमांक 256/21 धारा 379 भा.दं.सं. के तहत मामला पंजीबद्व किया गया।
          मामले की सूचना से चौकी प्रभारी बसदेई सुनील सिंह ने पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा को अवगत कराया जो उन्होंने फौरन घटना स्थल के चारों दिशाओं में नाकाबंदी करवाई और आने-जाने वालों की जांच करने के निर्देश दिए। उन्होंने पुलिस की 3 टीमों को बैंक, घटना स्थल एवं उसके आसपास के सीसीटीव्ही फुटेज निकालने व पूर्व में इस प्रकार के वारदात को अंजाम देने वालों का रिकार्ड खंगालने के निर्देश दिए। जांच कर रही पुलिस टीम को सीसीटीव्ही फुटेज एवं पूर्व के अपराधिक रिकार्ड के आधार पर अहम जानकारियां हाथ लगी।
          पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा ने बताया कि घटना के बाद कड़ी नाकाबंदी लगाई गई, जांच के दौरान सरहर्दी जिलों की पुलिस को इस वारदात के बारे में अवगत कराया गया और ऐसे मामलों को अंजाम देने वालों की जानकारी एकत्र की गई। सीसीटीव्ही फुटेज की मदद व मुखबीर की सूचना पर जिला कोरिया के पटना बाईपास के जंगल में छिपे आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस टीम ने अपने वेशभूषा को परिवर्तित कर वहां पहुंची और आरोपी सहजोर अली पिता अयूब अली उम्र 32 वर्ष निवासी ईरानी मोहल्ला अम्बिकापुर को घेराबंदी कर पकड़ा गया जिसके कब्जे से 35000/- रूपये बरामद किया गया। उन्होंने बताया कि पकड़े गए आरोपी के विरूद्व अम्बिकापुर के मणीपुर चौकी में इसी प्रकार वारदात को अंजाम देने का मामले में गिरफ्तार हुआ था।
          पुलिस अधीक्षक ने बताया कि आरोपी वारदात को अंजाम देने के पहले प्लानिंग के तहत 1-2 बैकों पर जाकर ऐसे व्यक्ति की तलाश में लगा था जिन्हें आसानी से झांसे में लिया जा सके पर वहां कोई नहीं मिला। तब वह सहकारी बैंक पहुंचा था और पैसा निकालने आए प्रार्थी पर निगाह रखने लगा। बैंक से पैसा निकालकर प्रार्थी को वापस जाने के दौरान उसे अपने झांसे में लेकर रकम चुराना आरोपी ने स्वीकार किया और 14 हजार रूपये को खर्च कर देना बताया। मामले में 35 हजार रूपये एवं घटना में प्रयुक्त काले रंग के पल्सर मोटर सायकल जप्त कर आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पर भेजा गया।
          इस कार्यवाही में थाना प्रभारी जयनगर दीपक पासवान, थाना प्रभारी विश्रामपुर सुभाष कुजूर, चौकी प्रभारी बसदेई सुनील सिंह, एएसआई बी.एम.गुप्ता, प्रधान आरक्षक मनोज पोर्ते, राहुल गुप्ता, वरूण तिवारी, आरक्षक देवदत्त दुबे, महेन्द्र सिंह, अमित सिंह, युवराज यादव, रौषन सिंह, विनोद सारथी व अमरेन्द्र दुबे सक्रिय रहे।

शुक्रवार, 4 जून 2021

पुलिस महानिदेशक छत्तीसगढ़ ने वर्चुवल सम्मान समारोह में कोरोना वारियर्स पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों का किया सम्मान........


प्रदेश की पुलिस ने कठिनाईयों व चुनौतियों को स्वीकार कर लोगों को संक्रमण से बचाया।

जवानों ने निष्ठा व साहस का परिचय व मानवीय स्वरूप दिखाते हुए जिम्मेदारी के साथ कार्य में डटे रहे।


सूरजपुर: वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के दूसरे फेज में छत्तीसगढ़ पुलिस के द्वारा लाकडाउन का पालन कराने, नागरिकों को संक्रमण से सुरक्षा हेतु नैतिकतापूर्वक किए गए कार्यो, कोविड संक्रमण को रोकने रिस्पांश टाईम में एहतियात कदम उठाने पर *पुलिस महानिदेशक छत्तीसगढ़ श्री डी.एम.अवस्थी* ने गुरूवार, 03 जून 2021 को *पुलिस महानिरीक्षक रायपुर रेंज व आईजी गुप्तवार्ता श्री आनंद छाबड़ा, पुलिस महानिरीक्षक दुर्ग रेंज श्री विवेकानंद, एडीजी श्री संजीव शुक्ला व एआईजी श्री राजेश अग्रवाल* की मौजूदगी में वर्चुवल सम्मान समारोह के जरिए प्रदेश के ऐसे पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों की प्रशंसा करते हुए उन्हें कोरोना वारियर्स का प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया है।
          इस दौरान पुलिस महानिदेशक श्री डी.एम.अवस्थी ने कहा कि कोरोना के द्वितीय फेज में प्रदेश के सभी पुलिस महानिरीक्षक, पुलिस अधीक्षक व कमाण्डेंड सहित सभी अधिकारी-कर्मचारियों ने कठिनाईयों व चुनौतियों को स्वीकार करते हुए अच्छे कार्य किये, उत्कृष्ठ कार्य करने वाले सभी पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों को सम्मानित करने उन्हें एक साथ एकत्र करना संभव नहीं होने के कारण यह वर्चुवल सम्मान समारोह आयोजित किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश की पुलिस संक्रमण के दौर में निष्ठा व साहस का परिचय तथा मानवीय स्वरूप दिखाते हुए जिम्मेदारियों के साथ कार्य में डटी रही। संक्रमण के बावजूद भी पुलिस लगातार फिल्ड में अपनी जान की परवाह न करते हुए लोगों को सुरक्षित रखने में अहम भूमिका निभाई।
          पुलिस महानिदेशक श्री अवस्थी ने प्रदेश के पुलिस अधिकारी-कर्मचारी जिनकी कोरोना संक्रमण से मृत्यु हुई है उन्हें श्रद्धांजली देते हुए सभी पुलिस अधीक्षकों को ऐसे मामलों में त्वरित अनुकम्पा नियुक्ति देने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अखबारों व इलेक्ट्रानिक मीडिया ने हमारे कार्यो सहित जनता के द्वारा लाकडाउन के दौरान पुलिस जवानों को राहत पहुंचाने के बारे में लोगों को अवगत कराया। उन्होंने कहा कि किसी जवान के द्वारा किए गए अच्छे कार्य से उस जिले की पुलिस अधीक्षक की अच्छी छवि प्रदर्शित होती हैै। पुलिस अधीक्षकों को कहा कि बेहतर कार्य हेतु जवानों को लगातार प्रोत्साहित करें, अच्छे थाना संचालन करने वाले थाना प्रभारियों की सूची उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिन अधिकारी व जवानों को कोरोना वारियर्स से सम्मानित किया गया है उनके प्रशस्ति पत्र जल्द ही जिले में पहुंच जायेगी। इस वर्चुअल मीटिंग में उन्होंने कहा कि प्रदेश की पुलिस किस प्रकार संक्रमण को रोकने के साथ ही बेहतर कार्य की उसकी पुस्तिका प्रकाशित करवाई जायेगी।
          पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने बताया कि पुलिस मुख्यालय के द्वारा कोरोना संक्रमण के दौर में अच्छा कार्य करने वाले अधिकारी व जवानों का नाम नामांकित करने के निर्देश प्राप्त होने पर जिले से कोरोना वारियर्स सम्मान के लिए थाना प्रभारी भटगांव किशोर केंवट, थाना प्रभारी चंदौरा एन.के.त्रिपाठी, चौकी प्रभारी खड़गवां विमलेश सिंह, प्रधान आरक्षक मान सिंह, आरक्षक बिहारी पाण्डेय व गणेश सिंह को नामिनेट किया था जिन्हें माननीय पुलिस महानिदेशक छत्तीसगढ़ ने प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया है।
          पुलिस अधीक्षक सूरजपुर ने बताया कि जिले के सभी अधिकारी व जवानों ने वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के दौरान अच्छा कार्य किया है। उन्होंने बताया कि संक्रमण के पहले व द्वितीय फेज के दौर में लगातार जिले के थाना-चौकी, अंतरराज्जीय, अंतर जिलों के चेकपोस्ट का भ्रमण/निरीक्षण कर पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों का मनोबल ऊंचा बनाए रखा। जवानों को कोरोना से स्वयं को सुरक्षित रखते हुए कर्तव्य का निष्पादन करने सहित अन्य आवश्यक दिशा-निर्देश लगातार देते रहे और पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों को अच्छे कार्यो हेतु प्रोत्साहित किया। जिले के थाना-चौकी प्रभारियों ने सामाजिक सरोकार का कार्य करते हुए जरूरत मंद लोगों को कोरोना से बचाव के लिए मास्क, सेनेटाईजर का वितरण किया साथ ही आवश्यतानुसार लोगों को जरूरी मदद मुव्हैया कराई।
इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर, स्थापना प्रभारी अखिलेश सिंह, दशरथ पैंकरा, एएसआई संजय सिंह, आरक्षक युवराज यादव, रौशन सिंह व एनआईसी से चलमा रेड्डी उपस्थित रहे।