सोमवार, 18 जून 2018

7 लाख की धोखाधड़ी करने वाला आरोपी गिरफ्तार


सूरजपुर। सूरजपुर नगर के महावीर गली निवासी शंकर जिंदिया पिता सुरेश जिंदिया द्वारा दिनांक 10/08/2017 को थाना सूरजपुर में लिखित शिकायत प्रस्तुत किया गया था कि दिनांक 06.06.1616 को उदय तिवारी नामक व्यक्ति इसके दुकान में आकर स्वयं को एनसीसीडीएफआईएल का जीएम बताकर उज्जवला योजना अन्तर्गत एलईडी बल्ब वितरण में जिला सूरजपुर में शंकर जिन्दिया को प्रभार देने के नाम पर 100 रूपये के स्टाॅम्प पेपर पर एग्रीमेंट कराकर धोखे एवं छलपूर्वक 7 लाख रूपये लेकर फरार हो गया है रिपोर्ट पर थाना सूरजपुर में 10.08.17 को आरोपी उदय नाम व्यक्ति के विरूद्ध अपराध क्रमांक 310/17 धारा-420 भादवि का प्रकरण पंजीबद्ध कर फरार आरोपी का पतासाजी किया जा रहा था।
            पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस. जायसवाल द्वारा जिला मुख्यालय में इस प्रकार के हुये धोखाधड़ी के मामले को गंभीरता से लेते हुये प्रकरण के आरोपी की पतासाजी कर शीघ्र गिरफ्तार करने एवं जिले में अन्य धोखाधड़ी के मामलों के फरार आरोपियों को पकड़ने के निर्देश दिये थे। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती मेघा टेंभुरकर एवं सीएसपी डी.के.सिंह के मार्गदर्शन में थाना सूरजपुर पुलिस के द्वारा आरोपी की पतासाजी की जा रही थी। इसी दौरान मुखबीर से आरोपी के बिलासपुर में होने की जानकारी हुई जिस पर थाना प्रभारी सूरजपुर दीपक पासवान के द्वारा अारोपी को पकड़ने पुलिस टीम बिलासपुर भेजी गई, पुलिस टीम के द्वारा आरोपी उदय तिवारी पिता रघुनंदन तिवारी उम्र 57 वर्ष को बिलासपुर से पकड़कर पूछताछ हेतु थाना सूरजपुर लाई। आरोपी उदय तिवारी से पूछताछ करने पर शंकर जिन्दिया से धोखाधड़ी कर 7 लाख रूपये लेना एवं उक्त रकम को एनसीसीडीएफआईएल कंपनी में फंस जाना बताया। आरोपी के द्वारा अपना जुर्म स्वीकार करने पर आरोपी उदय तिवारी को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया।पूछताछ में आरोपी ने बताया कि सूरजपुर के अलावा इसी प्रकार से अम्बिकापुर एवं खरसिया में भी धोखाधड़ी को अंजाम दिया है। 
          इस कार्यवाही में थाना प्रभारी सूरजपुर दीपक पासवान,उप निरीक्षक नीलाम्बर मिश्रा, एएसआई मनोज सिंह, संजय सिंह, प्रधान आरक्षक रामनिवास तिवारी, आरक्षक युवराज यादव, कपिल साडिल्य, दरश देवांगन, वसीम राजा एवं चन्द्रकुमार साहू सक्रिय रहे।

सूरजपुर पुलिस की परामर्शदात्री समिति की बैठक हुई



सूरजपुर।  मुख्यालय रायपुर के निर्देश पर इकाई स्तरीय परामर्शदात्री समिति का गठन पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल के द्वारा किया गया। एसपी सूरजपुर श्री जायसवाल के मार्गदर्शन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मेघा टेंभुरकर के द्वारा परामर्शदात्री समिति के गठित अधिकारी व कर्मचारियों से पुलिस के वेलफेयर के संबंध में सुझाव प्राप्त करने हेतु बुधवार को पुलिस कन्ट्रोल रूम के सभाकक्ष में बैठक आयोजित की गई।
        बैठक में एएसपी श्रीमती टेंभुरकर ने परामर्शदात्री समिति के अधिकारी कर्मचारियों को पुलिस के वेलफेयर के संबंध में सुझाव आमंत्रित किये। बैठक में समिति के सदस्यों ने साप्ताहिक अवकाश की सुविधा प्रारंभ कराये जाने, मकान किराया भत्ता 7वें वेतनमान के आधार पर दिये जाने, मोबाईल एवं पेट्रोल भत्ता, शासन की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ दिलाये जाने हेतु सहित अन्य कई वेलफेयर के सुझाव प्राप्त हुये जिनमें प्रमुख रूप से पुलिस स्कूल प्रारंभ कराये जाने एवं पुलिस लाईन पर्री में पुलिस कैन्ट्रीन शीघ्र प्रारंभ हो जिससे पुलिस के अधिकारी कर्मचारियों को उचित मूल्य एवं एक ही स्थान पर उन्हें उनकी जरूरत की वस्तुएं मिल सके।
         बैठक में डीएसपी मुख्यालय निमिषा पाण्डेय, मुख्य लिपिक संतोष वर्मा, थाना प्रभारी सूरजपुर दीपक पासवान, थाना प्रभारी ओड़गी अजरूद्दीन, रक्षित निरीक्षक रामप्रसाद पैंकरा, सूबेदार सनत ठाकुर, चैकी प्रभारी बसदेई कपिलदेव पाण्डेय, सुलेमान लकड़ा, सुनील वर्मा, प्रधान आरक्षक विवेकानंद सिंह, विवेक पाण्डेय, सुभाष ठाकुर, जोरसाय बेक, आरक्षक सुन्दर श्याम सोनी, परिमल भट्टाचार्य, अजय प्रताप राव, महिला आरक्षक शकुन्तला कुजूर व निरोज केरकेट्टा उपस्थित रहे।

बुधवार, 13 जून 2018

सूरजपुर पुलिस के ‘‘सहयोग’’ अभियान का गृहमंत्री ने किया शुभारंभ








सूरजपुर ।आमजन व पुलिस के मध्य बेहतर तालमेल, समन्वय एवं आमजन की पुलिस के साथ सक्रिय भागीदारी से अपराध नियंत्रण की परिकल्पना युक्त सामुदायिक पुलिसिंग के कार्यक्रम का शुभारंभ गृहमंत्री श्री रामसेवक पैंकरा के मुख्य आतिथ्य में पुलिस लार्इन सूरजपुर में 12 जून को हुआ। पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल ने इस कार्यक्रम का नाम ‘‘सहयोग’’ रखा है। इसके तहत अनुविभाग एवं थाना स्तर पर विभिन्न आयोजन यथा चलित थाना, सार्इबर क्रार्इम जागरूकता तथा किशोरों एवं बालकों के हितार्थ लैंगिक अपराधों की जानकारी के साथ-साथ विभिन्न क्रीड़ा प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जावेंगा। 

शहीद परिवार का हुआ सम्मान 

             सहयोग के शुभारंभ अवसर पर सर्वप्रथम शहीद पोलिकार्प तिग्गा की धर्मपत्नी श्रीमती फुलकेरिया तिग्गा एवं शहीद कृष्णानाथ किण्डो की धर्मपत्नी श्रीमती उषा किण्डो को गृहमंत्री श्री रामसेवक पैंकरा ने साल व श्रीफल देकर सम्मानित किया। 
            पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल ने इस अवसर पर कहा कि सहयोग अर्थात जनता एवं पुलिस का साझा मंच। इसकी संकल्पना माननीय प्रधानमंत्री महोदय के पुलिस महानिदेशक कॉन्फ्रेंस एवं माननीय गृहमंत्री के पुलिस अधीक्षक कॉन्फ्रेंस में चिन्हित की गर्इ। सहयोग का चरम उद्दश्य जनता के अधिकतम सहयोग से भय तथा अपराध मुक्त समाज का निर्माण है। सहयोग वस्तुत: अवधारण नहीं भावना है, क्योंकि जनसामान्य की तुलना में पुलिस बल नगण्य है। अत: एक विचलन मुक्त समाज जनता के भावनात्मक सहयोग से ही संभव है। सहयोग कार्यक्रम के माध्यम से अपराध के नियंत्रण एवं अपराध की सूझ हेतु जनता की सक्रिय भागीदारी सुनिश्चित की जायेगी। व्यस्तम कार्यक्रम के बीच अपना बहुमूल्य समय देने हेतु माननीय गृहमंत्री श्री रामसेवक पैंकरा का विशेष आभार व्यक्त किया। 

सूरजपुर पुलिस की ‘‘सहयोग’’ लोगो का गृहमंत्री ने किया विमोचन


सूरजपुर पुलिस के सहयोग कार्यक्रम के शुभारंभ अवसर पर गृहमंत्री श्री रामसेवक पैंकरा ने पुलिस विभाग की इस अनूठी पहल की सराहना की एवं उन्होंने कहा कि मैं इस कार्यक्रम का शुभारंभ कर अभिभूत हॅू। पुलिस को आमजन सहयोग दे ताकि वे अपना कार्य निर्विध्न एवं निष्पक्ष होकर कर सके, सहयोग शब्द स्वत: ही पुलिस एवं आमजन के आपसी सामान्जस्य का द्योतक है। पुलिस हर समय अपनी ड्यिूटी में मुस्तैद है जिससे हम सुरक्षित महसूस करते है। माननीय मंत्री महोदय ने ऑपरेशन गर्जना के तहत् बालिकाओं के स्वरक्षार्थ, कौशल प्रदर्शन की प्रशंसा की। 

शहीद के नाम पर होगा पुलिस लार्इन का ग्राउण्ड व सड़क 

       गृहमंत्री श्री रामसेवक पैंकरा ने इसी मंच से ही पुलिस लार्इन के परेड ग्राउण्ड का नाम शहीद पोलिकार्प तिग्गा एवं भैयाथान रोड़ से पुलिस लार्इन को जोड़ने वाली सड़क का नाम शहीद कृष्णनाथ किण्डो के नाम पर रखने की घोषणा की। सहयोग कार्यक्रम के आकर्षक एवं भव्य शुभारंभ पर उन्होंने पुलिस अधीक्षक की प्रशंसा की। 
           सहयोग कार्यक्रम के शुभारंभ की स्मृतियों को अतिथियों के मानस पटल पर अक्षुण्ण रखने हेतु गृहमंत्री श्री रामसेवक पैकरा, कलेक्टर सूरजपुर के.सी.देवसेनापति, पुलिस अधीक्षक सरगुजा सदानंद कुमार, सीर्इओ संजीव झा, डीएफओ बी.पी.सिंह को स्मृति चिन्ह भेंट की गर्इ। 
         सहयोग लोगो युक्त टी शर्ट एवं केप वितरण किया गया - सूरजपुर पुलिस ने ग्रामीण क्षेत्र से आये स्कूली छात्र/छात्राओं को सहयोग लोगो युक्त टी शर्ट एवं केप का वितरण किया। आकर्षक ‘‘सहयोग’’ का लोगो जिसमें सूरजपुर पुलिस लिखा है उसे पाकर स्कूली छात्र/छात्राएं उत्साहित दिखे। 

मार्शल आर्ट, जूड़ो, कराटे एवं योगाभ्यास का हुआ प्रदर्शन 

सहयोग कार्यक्रम का शुभारंभ एवं ऑपरेशन गर्जना के समापन के दौरान योगाभ्यास संजय गिरी व टीम, कराटे राहुल दास व टीम, तार्इक्वांडो महेश्वर पुरी व टीम के द्वारा प्रदर्शन किया गया एवं कस्तुरबा गांधी छात्रावास एवं नर्सिंग कालेज की छात्राओं ने मनमोहक सामूहिक नृत्य की प्रस्तुती दी। कार्यक्रम में काव्य मिश्रा एवं हितेन्द्र वर्मा के द्वारा गीत की प्रस्तुति की। बालिका एवं महिलाएं घर के किसी काम से बाहर जाने आने के दौरान उनके साथ होने वाले दुव्र्यवहार के संबंध में प्रशिक्षण शिविर से पूर्व उनकी स्थिति क्या थी और वर्तमान में क्या है इसकी प्रस्तुति दी गर्इ। सहयोग के शुभारंभ के साथ ही ऑपरेशन गर्जना के तहत् 5 जून से 11 जून तक चले आत्मरक्षा प्रशिक्षण शिविर का समापन हुआ। मंच संचालन डीएसपी रामश्रृंगार यादव एवं आभार प्रदर्शन अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती मेघा टेंभुरकर ने किया।
           इस दौरान एएसपी बी.एल.केहरी, सीएसपी डी.के.सिंह, डीएसपी मुख्यालय निमिषा पाण्डेय, एसडीओपी प्रेमनगर चंचल तिवारी, एसडीओपी सूरजपुर मनोज धु्रव, एसडीओपी ओड़गी डॉ. धु्रवेश जायसवाल, एसडीओपी प्रतापपुर आर.के.शुक्ला, डीएसपी राकेश पाटनवार, जिला शिक्षा अधिकारी राकेश सिंह, अजय मिश्रा, संजय मिश्रा, राजेश महलवाला, मण्डल अध्यक्ष मुकेश गर्ग, नपाअ थलेश्वर साहू, प्रिन्ट एवं इलेक्ट्रानिक मिडिया, जिला समन्वय मितान पुलिस टार्इम्स नलिन जिन्दल, सुमित मित्तल, स्टेनो पुष्पेन्द्र शर्मा, रक्षित निरीक्षक रामप्रसाद पैंकरा, थाना प्रभारी दीपक पासवान, सुनील तिवारी, तेजनाथ सिंह, प्रदुम्मन तिवारी, अनूप एक्का, शिवराम कुंजाम ओ.पी.कुजूर, सी.पी.तिवारी, रामेन्द्र सिंह, अजरूद्दीन, व्ही.एन.भारद्वाज, ए0टोप्पो, नरेन्द्र सिंह, यातायात प्रभारी सूरजन राम राजवाड़े, एमटीओ गंगाधर जोशी, एसआर्इ रश्मि सिंह, आराधना बनोदे, चित्रलेखा साहू, सी.आर.राजवाड़े, स्पेशल पुलिस टीम प्रभारी सरफराज फिरदौसी, चौकी प्रभारी कपिलदेव पाण्डेय, रविन्द्र प्रताप सिंह, राजेश तिवारी, प्रमोद पाण्डेय, सुमन्त पाण्डेय, रामनरेश गुप्ता, रामबाबु दोहरे, महेश्वर सिंह, पुलिस के अधिकारी कर्मचारीगण, करीब 3 हजार नर्सिग कालेज एवं स्कूली छात्र/छात्राएं, गणमान्य नागरिकगण, पुलिस एवं होमगार्ड की महिला कर्मचारी उपस्थित रहे। 

शुक्रवार, 8 जून 2018

15 वर्षो से लापता महिला को सूरजपुर पुलिस ने केरल से सकुशल लाकर परिजनों को सौंपा

सूरजपुर । गत 25 मई को भैयाथान पुलिस को मेन्टल हाॅस्पिटल त्रिवेन्द्रम केरल से सूचना दी गई कि ग्राम घोंसा की एक महिला जो अपना नाम संध्या पाण्डेय बताती है मेंटल हास्पिटल में उपचार चल रहा है जिसे विगत् 3 वर्ष पूर्व त्रिवेन्द्रम पुलिस पेट्रोलिंग पार्टी के द्वारा अर्धविक्षिप्त हालत में त्रिवेन्द्रम रेलवे स्टेशन से उपचार हेतु माननीय न्यायालय के आदेश पर वहां लाया गया था वर्तमान में जिसकी दिमागी हालत में काफी सुधार हो गया है। उक्त सूचना पर थाना प्रभारी भैयाथान द्वारा ग्राम घोंसा में स्टाफ भेजकर पतासाजी कराने पर जानकारी प्राप्त हुई कि संध्या पाण्डेय नाम की कोई महिला गांव में नहीं है। उक्त नाम की महिला के गांव में न होने पर मेन्टल हास्पिटल त्रिवेन्द्रम से उक्त महिला का फोटोग्राफ मंगवाया गया और गांव में जाकर फोटो दिखाकर पहचान कराई गई जिससे मालूम हुआ कि वह महिला हिरोंदिया सिंह पति स्व. भुवनेश्वर सिंह ग्राम घोंसा थाना भैयाथान की निवासी है जो पिछले 15 वर्षों से लापता है। मेन्टल अस्पताल से सूचना प्राप्त होने पर थाना प्रभारी भैयाथान ए0टोप्पो ने इसकी सूचना तत्काल पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती मेघा टेंभुरकर को दी । 
लापता महिला व उसका पुत्र 
          पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल के निर्देशन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मेघा टेंभुरकर एवं एसडीओपी सूरजपुर मनोज धु्रव के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी ए0टोप्पो ने थाने में पदस्थ आरक्षक दीपक यादव एवं हितेश्वर राजवाड़े को आवश्यक दस्तावेज सहित उक्त महिला के पुत्र आकाश एवं पड़ोसी त्रिलोक सिंह के साथ मेन्टल हाॅस्पिटल त्रिवेन्द्रम केरल रवाना किया। पुलिस कर्मचारियों द्वारा केरल पहुंचकर 15 वर्षो से लापता महिला से मिले और उसके पुत्र एवं पड़ोसी के द्वारा पहचान की गई कि वह महिला हिरोंदिया बाई है। पूर्ण संतुष्टि के उपरान्त हिरोंदिया बाई के पुत्र आकाश सिंह के द्वारा त्रिवेन्द्रम के न्यायालय में अपनी माॅ को सुपुर्द करने हेतु आवेदन दिया गया जिस पर वहां के माननीय न्यायालय के द्वारा मेंटल हास्पिटल ओलनपारा पेरूरकदा, त्रिवेन्द्रम केरल से आवश्यक जानकारी लेकर हिरोंदिया बाई को उसके पुत्र आकाश सिंह के सुपुर्द करने का आदेश जारी किया। भैयाथान पुलिस एवं उसके परिजन आदेश का परिपालन करते हुए मेन्टल हास्पिटल  से हिरोंदिया बाई को लेकर भैयाथान पहुंची।
            इस संबंध में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मेघा टेंभुरकर ने बताया कि 15 वर्ष पूर्व हिरोंदिया बाई के पति की मृत्यु के बाद हिरोंदिया बाई की मानसिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण गांव से अन्यत्र कहीं चली गई थी। इसकी सूचना परिजनों के द्वारा पुलिस को नहीं दिया गया था। 15 वर्षों से गायब महिला की सूचना मिलने पर पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल के निर्देशन में भैयाथान पुलिस के द्वारा सक्रियता दिखाते हुए अपनी सूझबूझ से आवश्यक कार्यवाही कराते हुए गायब महिला हिरोंदिया बाई को सकुशल त्रिवेन्द्रम केरल से लेकर भैयाथान (सूरजपुर) पहुंची।15 वर्षों से गायब महिला हिरोंदिया बाई को सकुशल त्रिवेन्द्रम केरल से लाये जाने पर महिला के परिजनों सहित गांव के लोगों के द्वारा पुलिस की सराहना की जा रही है।

मंगलवार, 5 जून 2018

पुलिस अधीक्षक कार्यालय में हुआ फलदार पौधों का वृक्षारोपण


सूरजपुर। 5 जून अन्तर्राष्ट्रीय वृक्षारोपण दिवस पर पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल के निर्देशन व मार्गदर्शन में पुलिस अधीक्षक कार्यालय सूरजपुर में एएसपी श्रीमती मेघा टेंभुरकर, डीएसपी मुख्यालय निमिषा पाण्डेय, रक्षित निरीक्षक रामप्रसाद पैंकरा, मुख्य लिपिक संतोष वर्मा, एमटीओ गंगाधर जोशी व अन्य कार्यालयीन स्टाफ ने फलदार पौधों का वृक्षारोपण किया। इस दौरान एएसपी श्रीमती टेंभुरकर ने कहा कि वर्तमान परिदृश्य में बढ़ते वातावरण प्रदूषण को ध्यान में रखते हुये अत्यधिक संख्या में पेड़ लगाने की आवश्यकता है जिससे सभी को स्वच्छ हवा मिल सके, वृक्ष लगाने के बाद उसकी देखरेख एवं नियमित रूप से पानी दिया जाना आवश्यक है, लगाये गये पौधों जब तक वृक्ष न बन जाये उसकी देखरेख करने हेतु कहा।

महिलाओं को आत्मरक्षा की प्रशिक्षण देने ‘‘आॅपरेशन गर्जना’’ की हुई शुरूवात






सूरजपुर। महिलाओं को आत्मरक्षा की प्रशिक्षण देने हेतु शिविर का आयोजन मितान पुलिस टाईम्स के संयुक्त तत्वाधान एवं पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल के मार्गदर्शन में सूरजपुर पुलिस लाईन पर्री में शुभारंभ 05 जून को प्रातः 7 बजे किया गया जो 11 जून 2018 तक चलेगा। उक्त प्रशिक्षण शिविर में सूरजपुर नगर एवं आसपास के ग्रामों के काफी संख्या में बालिका एवं महिलाएं उपस्थित हुये जिन्हें अपनी सुरक्षा कैसे कर सकते है इसकी जानकारी दी गई। इस शिविर में महिला सशिक्तकरण, आत्मरक्षा हेतु जूडो, कराटे, ताइक्वान्डो प्रशिक्षकों के साथ ही योग प्रशिक्षक संजय गिरी के द्वारा बालिकाओं व महिलाओं को प्रशिक्षित किया गया। 
               इस दौरान पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल ने कहा कि हाल ही में नागालैण्ड चुनाव ड्यूटी में गया था जहां देखा कि महिलाएं जो निर्णय लेती है पुरूष वर्ग उसे मान लेते है, वहां की महिला अपनी सुरक्षा हेतु काफी जागरूक है। ऐसी जागरूकता सूरजपुर जिले में होनी आवश्यक है। आॅपरेशन गर्जना के तहत महिलाओं को बेहतर प्रशिक्षण प्राप्त करने हेतु कहा ताकि आवश्यकता पड़ने पर उसका इस्तेमाल कर सके। आज के परिवेश में जब महिला पुरूषों के साथ कदम से कदम मिलाकर आगे बढ़ रही है उन्हें अपने घरेलू, स्कूल एवं कार्यालयीन कार्य में जाने आने के दौरान कई बार दुर्व्यवहार का सामना करना पड़ता है इस दौरान उन्हें अपनी आत्मरक्षा हेतु मार्शल आर्ट की जानकारी होना अति आवश्यक है। इस कार्यक्रम का उद्देश्य है कि महिलाएं जुडो, कराटे, मार्शल आर्ट से प्रशिक्षित होकर सशक्त हो और स्वयं के साथ दूसरों की भी सुरक्षा कर सकें।
             इस अवसर पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्रीमती मेघा टेंभुरकर ने कहा कि आपरेशन गर्जना का उद्देश्य तब पूरा होगा जब महिलाएं आत्मनिर्भर होकर अपने साथ होने वाले दुर्व्यवहार से बचते हुये उसका मुंहतोड़ जवाब देंगी, शिविर में उपस्थित बालिका एवं महिलाओं को कहा कि आप प्रशिक्षित होकर अपने आस पड़ोस में रहने वाले बालिका एवं महिलाओं को भी प्रशिक्षित करें ताकि महिलाएं भयमुक्त वातावरण में अपने कार्यों को कर सके। शिविर में उपस्थित बालिकाओं एवं महिलाओं को पुलिस के अधिकारियों, पुलिस कन्ट्रोल रूम एवं थाना चौकी के मोबाईल नंबर की जानकारी दी गई। 
डीएसपी रामश्रृंगार यादव ने पुलिस लाईन ग्राउण्ड में 2 बेहद सुन्दर आम के पेड़ स्थित है जिसके छांव में उक्त प्रशिक्षण शिविर का शुभारंभ किया गया उन दोनों आम के पेड़ के नामकरण करने हेतु पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल से अनुरोध किये जाने पर एसपी श्री जायसवाल ने दोनों पेड़ों का नाम ‘‘सहदेव’’ रखा। कार्यक्रम का संचालन डीएसपी रामश्रृंगार यादव एवं आभार प्रदर्शन डीएसपी मुख्यालय निमिषा पाण्डेय के द्वारा किया गया। 
        इस दौरान डीएसपी मुख्यालय निमिषा पाण्डेय, एसडीओपी प्रेमनगर चंचल तिवारी, एसडीओपी सूरजपुर मनोज धु्रव, थाना प्रभारी सूरजपुर दीपक पासवान, रक्षित निरीक्षक रामप्रसाद पैंकरा, एसआई आराधना बनोदे, चित्ररेखा साहू, जिला समन्वय मितान पुलिस टाईम्स नलिन जिन्दल, सुमित मित्तल एवं रक्षित केन्द्र में पदस्थ महिला कर्मचारी, प्रशिक्षण ले रहे नगर एवं आसपास के ग्रामों के 200 बालिका एवं महिलाएं उपस्थित रहे।

शुक्रवार, 1 जून 2018

रामानुजनगर की किसान महिला से 2 लाख की ठगी के अारोपी हुए गिरफ्तार


*    ठगी की गई रकम 2 लाख व सोने की मोहर अारोपी से बरामद 

*   थाना रामानुजनगर व स्पेशल पुलिस टीम की संयुक्त कार्रवाई 

 *   उत्तर प्रदेश के बाराबंकी से किया गया गिरफ्तार

  *   घटना के बाद 6 दिनों में ही पुलिस को मिली सफलता 

सूरजपुर। थाना रामानुजनगर के ग्राम गोकुलपुर निवासी फूलसुन्दरी पति सुखदेव उम्र 56 वर्ष जाति गोंड़ ने 24 मई को थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई कि दो अज्ञात व्यक्ति दिनांक 23/05/18 के सुबह 6.00 बजे प्राथिया फूलसुन्दरी के घर आकर जेसीबी मशीन से खेत बनवा देगे कहकर 30 रूपये फीट में बात तय किया और प्रार्थिया के पति द्वारा खेत दिखाने के बाद दिनांक 23/05/18 को आरोपियों द्वारा शाम 7-8 बजे खेत बनाना शुरू कर दिया और दिनांक 24/05/18 को सुबह 9 बजे जेसीबी का डीजल खत्म हो गया है कहकर पैसे की मांग की गई जिस पर प्रार्थी द्वारा पैसे नहीं होने पर बैंक से निकालने की बात कहने पर दोनों अज्ञात आरोपियों द्वारा प्रार्थी एवं उसके पति को काले रंग के पल्सर मोटर सायकल से सेन्ट्रल बैंक रामानुजनगर लाकर दो लाख रूपये उसके बैंक खाते से निकलवाकर एवं प्रार्थिया द्वारा गले में पहने सोने की मोहर कीमती 20 हजार रूपये को डरा धमकाकर निकलवाकर ले गए कि रिपोर्ट पर थाना रामानुजनगर में अपराध क्रमांक 78/18 धारा 417, 384, 34 भादवि कायम कर विवेचना में लिया गया। रिपोर्ट दर्ज करने पश्चात् पुलिस महानिरीक्षक सरगुजा रेंज श्री हिमांशु गुप्ता, पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती मेघा टेंभुरकर एवं एसडीओपी प्रेमनगर श्रीमती चंचल तिवारी के निर्देशन एवं मार्गदर्शन पर मामले की गंभीरता को देखते हुये थाना रामानुजनगर एवं स्पेशल पुलिस टीम की संयुक्त टीम बनाकर अज्ञात आरोपियों की पतासाजी किया गया। मुखबिरों से पुख्ता जानकारी मिलने पर संयुक्त टीम को जिला बाराबंकी उत्तरप्रदेश भेजकर आरोपियों के ठिकाने पर दबिश देकर घेराबंदी कर पकड़ा गया एवं आरोपी (1) जब्बार खान पिता अब्दुल अजगर उम्र 48 वर्ष (2) असलम खान पिता बिस्मिल्ला खान उम्र 38 वर्ष दोनों निवासी ग्राम बिलौली जगदीशपुर, चौकी इसरौली, थाना फतेहपुर, जिला बाराबंकी उत्तरप्रदेश के कब्जे से दो लाख रूपये, 01 नग सोने का मोहर कीमती 20 हजार रूपये, 01 नग प्रकरण में प्रयुक्त मोबाईल को बरामद कर जप्त किया गया है एवं आरोपियों को गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय में पेश किया गया।

*      पूर्व में भी संभाग में कर चुके हैं वारदात  

       आरोपियों से पूछताछ पर पता चला कि इस तरह की घटना पूर्व में भी दिनांक 17/01/18 को थाना उदयपुर, जिला सरगुजा क्षेत्रान्तर्गत 05 लाख रूपये एवं दिनांक 24/05/18 को बैकुण्ठपुर जिला कोरिया में 30 हजार रूपये का जेसीबी मशीन से काम कराने की बात कर ठगी का अपराध कर चुके हैं। 

*    गाँव के अधिकांश लोगों का व्यवसाय  है ठगी   

अारोपियों के गाँव के ज्यादातर लोग ठगी जैसे अपराधों में संलिप्त है जो छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों में घूम-घूमकर गांव के भोले-भाले आम जनता को गुमराह कर नगदी रकम की ठगी कर फरार हो जाते है। अारोपियों से पूछताछ पर कई महत्वपूर्ण जानकारियाँ प्राप्त हुई है जिनसे कई अन्य मामलों में मदद मिल सकती है।इस कार्यवाही में थाना प्रभारी रामानुजनगर रामेन्द्र सिंह, एसआई निर्मल वर्मा, नीलाम्बर मिश्रा, एएसआई विराट विशी, माधव सिंह, प्रधान आरक्षक गुड्डू कुशवाहा, आरक्षक मोहम्मद अकरम, देवदत्त दुबे, रावेन्द्र पाल, सायबर सेल से युवराज यादव, रोशन सिंह एवं स्पेशल पुलिस टीम प्रभारी सरफराज फिरदौसी, प्र.आर. बिसुनदेव पैकरा, आरक्षक विकास पटेल, सतेन्द्र दुबे एवं महेन्द्र प्रताप सिंह सक्रिय रहे।