बुधवार, 29 जुलाई 2020

कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक ने अंतरजिला बार्डर कमलपुर बैरियर का लिया जायजा

मुस्तैदी से डटे पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों का बढ़ाया हौसला।

कोविड ट्रेकिंग टीम को बैरियर से मिल रही है बाहर से आए लोगों की जानकारी।

पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी लगातार बैरियर व फिक्स प्वाईट का कर रहें भ्रमण।

बैरियर पर केवल आवश्यक सेवाएं व अनुमति प्राप्त वाहनों को कड़ी जांच उपरान्त दी रही प्रवेश।


सूरजपुर: कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने हेतु प्रशासन, पुलिस व स्वास्थ्य अमले के द्वारा हर संभव प्रयास व इंतेजाम की जा रही है साथ ही जिला प्रशासन ने 27 जुलाई से 31 जुलाई 2020 तक जिले के नगरीय निकाय क्षेत्रों में लाकडाउन लगाया है साथ ही जिले में धारा 144 प्रभावशील है। अंतरजिला के सीमाओं पर पुलिस की कड़ी चौकसी है जहां से आने-जाने वाले सभी वाहनों व लोगों पर पुलिस की पैनी नजर है। सीमा पर लगे बैरियर से अनुमति प्राप्त वाहनों एवं लोगों के आने-जाने का ब्यौरा पुलिस के द्वारा रजिस्टर में दर्ज किया जा रहा है। बुधवार 29 जुलाई 2020 को कलेक्टर श्री रणबीर शर्मा व पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा ने सूरजपुर-कोरिया के बार्डर में स्थित कमलपुर (नेशनल हाईव 43) बैरियर का भ्रमण कर जायजा लिया और जवानों का हौसला बढ़ाया। इस दौरान उन्होंने जरूरी सेवाएं व अनुमति प्राप्त वाहनों के आने-जाने के रिकार्ड हेतु बनाए गए रजिस्टर का अवलोकन किया।
          कलेक्टर श्री रणबीर शर्मा ने बताया कि बैरियर पर पुलिस अधिकारी व जवान सहित प्रशासनिक अमला पूरी ऊर्जा के साथ संक्रमण को रोकने के लिए डटे हुए है और आने-जाने वालों की कड़ी जांच कर आवश्यक सेवाओं में लगे वाहनों, अनुमति प्राप्त वाहन व लोगों को आने-जाने दिया जा रहा है। उन्होंने जवानों को कहा कि ड्यूटी के साथ ही संक्रमण से स्वयं को सुरक्षित रखते हुए कार्य करें।
          पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा ने बताया कि बैरियर पर तैनात जवानों के द्वारा एहतियात बरतते हुए प्रत्येक वाहनों की जांच की जा रही है। एएसपी-सीएसपी लगातार भ्रमण कर बैरियर व फिक्स प्वाईन्ट का जायजा ले रहे है और जवानों के साथ मौजूद रहकर खुद भी ड्यूटी कर रहे है। उन्होंने बताया कि आदेश-निर्देशों का कड़ाई से पालन कराया जा रहा है साथ ही नागरिकगण भी पुलिस व प्रशासन का सहयोग कर रहे है। मेडिकल व अनुमति प्राप्त वाहन, जरूरी वस्तु के परिवहन में लगे वाहनों को ही संघन जांच के बाद आने-जाने दिया जा रहा है साथ ही उनका पूरा बायोडाटा रजिस्टर में दर्ज की जा रही है। बैरियर में तैनात पुलिस कर्मियों को रात्रि में कार्य करने के लिए उन्हें टार्च और बैटन लाईट सहित रेडियम युक्त रिफलेक्टीव जैकेट उपलब्ध कराई गई है।

कोविड ट्रेकिंग टीम को बैरियर से मिल रही है बाहर से आए लोगों की जानकारी।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि बैरियर पर बाहर से आने वाले लोगों की कड़ी जांच की जा रही है। बाहर से आने वाले लोगों की जानकारी संधारित करते हुए उसकी जानकारी पुलिस अधिकारी के द्वारा कोविड ट्रेकिंग टीम को वाटसएप के माध्यम से भेजी जा रही है और टीम के द्वारा एहतियात आवश्यक कदम उठाए जा रहे है।
इस दौरान थाना प्रभारी सूरजपुर धर्मानंद शुक्ला, प्रधान आरक्षक धनेश्वर कुशवाहा, आरक्षक संदीप शर्मा, राधेश्याम साहू, शिक्षक लवकेश साहू, राजाराम साहू, अरूण साहू सहित अन्य अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे।

सोमवार, 27 जुलाई 2020

सूरजपुर कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक सहित प्रशासनिक अमला व पुलिस ने निकाला फ्लैग मार्च.........

लाकडाउन की घोषणा के बाद शहर में किया गया फ्लैग मार्च।

मंगलवार से बेवजह घूमने वालों पर होगी सख्त कार्यवाही।

कोरोना संक्रमण को रोकने प्रशासन ने 31 जुलाई तक लाकडाउन की घोषणा की है।

सूरजपुर: जिला प्रशासन ने जिले में बढ रहे कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों को ध्यान में रखते हुए आगामी 31 जुलाई 2020 तक नगरीय निकाय क्षेत्रों में लॉकडाउन की घोषणा की है जिसे प्रभावी तौर पर अमल में लाने, जन सामान्य में जागरूकता एवं सूचना तथा असामाजिक तत्वों के मन में भय पैदा करने के लिए कलेक्टर श्री रणबीर शर्मा व पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा के निर्देश पर पुलिस के अधिकारी व जवानों ने सोमवार को कोतवाली पहुंचे जहां से फ्लैग मार्च निकाला गया। विदित हो कि 3 दिन पहले कलेक्टर व एसपी ने विभिन्न व्यापारिक संगठनों, राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों, मीडिया बंधुओं एवं जनसामान्य से चर्चा की थी। चर्चा में आए लोगों के सुझाव एवं कोरोना संक्रमण की स्थिति को देखते हुए एहतियात के तौर पर लागडाउन लगाया जा रहा है।
          कलेक्टर श्री रणबीर शर्मा व पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा एवं सीईओ श्री आकाश छिकारा के नेतृत्व में एसडीएम पुष्पेन्द्र शर्मा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर, सीएसपी जे.पी.भारतेन्दु व थाना-चौकी प्रभारी व भारी संख्या में पुलिस के अधिकारी व जवानों ने फ्लैग मार्च में शामिल रहे। यह फ्लैग मार्च कोतवाली से प्रारंभ होकर मनेन्द्रगढ़ रोड़, भैयाथान रोड़, अम्बिकापुर रोड़ तक गई इसके अलावा विश्रामपुर के कई क्षेत्रों में भी फ्लैग मार्च निकाला गया।
          प्रशासन ने मंगलवार से लोगों के बेवजह घरों से बाहर निकलने पर पूरी तरह पाबंदी लगाई गई है। केवल आवश्यक सेवाओं से जुडे लोगों को ही अपने पहचान पत्र और वाजिब कारण के साथ बाहर निकलने की अनुमति है। शहर के सभी प्रमुख स्थानों एवं अलग- अलग जगहों और निश्चित दूरी पर पुलिस ने चेक प्वाइंट बने है, इसके अलावा पुलिस राजपत्रित अधिकारी के नेतृत्व में कंट्रोल रूप में बैठी टीम भी इसकी लगातार निगरानी करेगी।
          कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक ने लोगों से अपील की है कि जरूरी न होने पर किसी भी हालत में घर से बाहर न निकलें और फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए सुरक्षित रहें। एक स्थान पर 5 से अधिक लोग एकत्र न हो इन्हें सुनिश्चित कराने सूरजपुर जिले के समस्त नगरीय निकायों में थानों की पुलिस लगातार क्षेत्रों में पेट्रोलिंग करेगी। इसके साथ ही उन्होंने इस आपात स्थिति में नागरिकों से कानून-व्यवस्था बनाए रखने में सहयोग करने की अपील भी की है। किसी भी आकस्मिकता एवं मदद के लिए जिले के हेल्पलाईन नंबर 9479193999, 9111033446 एवं 9926408456 एवं राज्य के हेल्प लाईन नंबर 104 एवं 1100 पर काॅल किया जा सकता है।
          फ्लैग मार्च में प्रशिक्षु डीएसपी रवि कुजूर, तहसीलदार नंदजी पाण्डेय, नायब तहसीलदार गरिमा सिंह, अंकिता तिवारी, सीएमओ दीपक एक्का, रक्षित निरीक्षक भूपेन्द्र कुर्रे, थाना प्रभारी धर्मानंद शुक्ला, सुभाष कुजूर, चौकी प्रभारी लवकुमार पाण्डेय, सुनील सिंह, चित्रलेखा साहू सहित काफी संख्या में पुलिस के अधिकारी-कर्मचारीगण मौजूद रहे।

शुक्रवार, 24 जुलाई 2020

सूरजपुर पुलिस ने 64 हजार 594 रूपये के नशीली दवाईयों के साथ 2 को किया गिरफ्तार.....

पुलिस के द्वारा लगातार नशे के धंधे में संलिप्त लोगों पर कर रही कार्यवाही।

सूरजपुर: पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा ने जिले में नशीले पदार्थ के क्रय-विक्रय पर अंकुश लगाने एवं इस प्रकार के अवैध कारोबार में संलिप्त लोगों के विरूद्व सख्त कार्यवाही कर रही है। ज्ञात हो कि पिछले दिनों नशे के धन्धे में लिप्त लोगों के विरूद्व कठोर कार्यवाही करने को लेकर पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन भी सौंपा गया था।
          इसी परिपेक्ष्य में गुरूवार 23 जुलाई को थाना प्रभारी रामानुजनगर गोपाल धुर्वे को मुखबीर से सूचना प्राप्त हुई कि कोरिया जिले से एक सफेद रंग की 800 कार से दो व्यक्ति नशीली दवाई दवाई लेकर बिक्री करने हेतु ग्राम माजा की ओर आ रहे है, जिसकी सूचना से पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा को अवगत कराए जाने पर उन्होंने तत्काल रेड़ कार्यवाही करने के निर्देश दिए।
          अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर व एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी रामानुजनगर ने पुलिस टीम के साथ रेड कार्यवाही हेतु ग्राम माजा यात्री प्रतीक्षालय के पास पहुंचकर घेराबंदी लगाई इसी दौरान मुखबीर के बताए अनुसार सफेद रंग की 800 कार में दो व्यक्ति आते दिखे जिन्हें घेराबंदी कर रोकवाया गया। दोनों से नाम पता पूछे जाने पर बाजारपारा, बैकुण्ठपुर जिला कोरिया निवासी 23 वर्षीय मोहम्मद इमरान पिता मो. इरफान एवं 23 वर्षीय प्रवीण प्रजापति पिता तेजीराम बताया। जिनके कब्जे से एक काला रंग के बैग एवं लाल रंग के झोला में आरसी कफ सिरप 55 नग एवं स्पास्मो प्रोक्सीवोन कैप्सूल 864 नग कीमत 64 हजार 594 रूपये एवं परिवहन में प्रयुक्त कार क्रमांक सीजी 04 जेडपी 0455 को जप्त कर अपराध क्रमांक 132/20 धारा 21बी एनडीपीएस एक्ट का अपराध पंजीबद्व कर विधिवत गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।
          पूछताछ पर आरोपियों ने बताया कि नशीली दवाईयों को कोरिया जिला से लाकर रामानुजनगर सहित आसपास के क्षेत्र में नशेड़ियों को वास्तविक कीमत से 8-10 गुना अधिक दर पर बिक्री कर लाभ अर्जित करते थे।
इस कार्यवाही में थाना प्रभारी रामानुजनगर गोपाल धुर्वे, एएसआई माधव सिंह, प्रधान आरक्षक हेमन्त सोनवानी, आरक्षक रामसागर साहू, हितेश्वर राजवाड़े, चन्द्रकुमार साहू, संतोष ठाकुर, बेचूराम सोलंकी, वेदप्रकाश राजवाड़े व रविशंकर साहू सक्रिय रहे।

मंगलवार, 21 जुलाई 2020

खोरमा प्रतापपुर का सडक हादसा निकला हत्या का मामला......

सूरजपुर पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ्तार।

सूरजपुर: दिनांक 18 जुलाई 2020 को ग्राम सरहरी निवासी लक्ष्मी प्रसाद कोडाकू ने थाना प्रतापपुर में सूचना दिया कि इसके लड़के बृज कुमार कोडाकू का सरहरी के अजीत कुमार के वाहन क्रमांक सीजी 15 सीएक्स 8252 से चाचीडाड़ जाने के दौरान खोरमा के पास एक्सीडेंट हो गया जिसमें उसकी मृत्यु हो गई। सूचना पर मर्ग क्रमांक 72/2020 धारा 174 जा.फौ. कायम कर जांच में लिया गया। जांच के दौरान परिजनों के द्वारा हत्या का आशंका व्यक्त किये जाने पर थाना प्रभारी विकेश तिवारी ने हालात से पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा को अवगत कराया जिस पर उन्होंने मामले से जुड़े सभी बिन्दुओं पर सूक्ष्मता से गंभीरतापूर्वक जांच करने के निर्देश दिए।
        एसडीओपी प्रतापपुर राकेश पाटनवार के नेतृत्व में थाना प्रभारी प्रतापपुर के द्वारा मामले की जांच तत्परतापूर्वक की गई। जांच में यह तथ्य आया कि अजीत टोप्पो के घर मृतक बृजकुमार कोडाकू रात्रि में आया था जो साथ में खाए-पीए इसी दौरान बृजकुमार अपने साथ अजीत टोप्पो का बटन वाला चाकू ले जाने लगा जो अजीत के द्वारा छीना झपटी करते हुये चाकू नहीं देने पर गुस्सा में बृजकुमार के जांघ में चाकू घुसा दिया जिससे काफी मात्रा में खून निकलने लगा और उसकी मृत्यु हो गई। इसके उपरान्त आरोपी अपने घर से फावडा एवं पानी लाकर खून को साफ कर दिया एवं मृतक के पैर में दुपटटा बांध कर सूमो वाहन से प्रतापपुर ला रहा था जो खोरमा के पास सूमो गोल्ड वाहन को एक्सीडेंट कर दिया। आरोपी अजीत टोप्पो को हिरासत में लेकर पूछताछ करने पर पहले तो गुमराह करते रहा किन्तु परत दर परत हुई पूछताछ के बाद बृजकुमार की हत्या करना स्वीकार किया जिसके विरूद्व हत्या एवं साक्ष्य छुपाने पर धारा 302, 201 भारतीय दण्ड संहिता का अपराध पंजीबद्व किया गया एवं आरोपी के मेमोरण्डम के अनुसार घटना में प्रयुक्त चाकू को जप्त करते हुए विधिवत् गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।
          एसडीओपी प्रतापपुर राकेश पाटनवार के नेतृत्व में थाना प्रभारी प्रतापपुर विकेश तिवारी, प्रधान आरक्षक संतोष सिंह, विवेक पाण्डेय, आरक्षक इन्द्रजीत सिंह, अभय तिवारी, मिथलेश गुप्ता, शेखर मानिकपुरी, अखिलेश यादव, प्रवीण सिंह, कौशलेन्द्र सिंह, निरंजन एक्का व परमेश्वर पैंकरा सक्रिय रहे।

सूरजपुर पुलिस ने किया हत्यारे चचेरे भाई को गिरफ्तार.....

सूरजपुर: दिनांक 20.07.2020 को रात्रि में ग्राम पंचायत मोहली के भूतपूर्व सरपंच थाना झिलमिली में उपस्थित आकर रिपोर्ट दर्ज कराया कि ग्राम मोहली के शिवहरि देवांगन एवं टिकाईत देवांगन के बीच शाम करीब 7.30 बजे मोहली (बडकापारा) सीसी रोड़ में ग्राम मोहली के कोटवार जिरोधन के घर पास जमीन, मकान की हिस्सा बंटवारा एवं रास्ता नहीं देने की बात पर लड़ाई झगड़ा हो रहे थे इस दौरान टिकाईत देवांगन बांस का डण्डा से शिवहरि देवांगन को सिर के पीछे भाग में मारा, जिससे उसका सिर फट गया और मौके पर ही शिवहरि देवांगन मृत पड़ा है कि रिपोर्ट पर अपराध क्रमांक 55/2020 धारा 302 भादसं का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। मामले की सूचना पर पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने हत्या के मामले में आरोपी की पतासाजी कर जल्द गिरफ्तार करने के निर्देश देते हुए मामले की लगातार मानिटरिंग करते रहे।
          मामले की जांच एसडीओपी ओड़गी मंजूलता बाज के नेतृत्व में थाना प्रभारी झिलमिली पुलिस टीम के साथ तत्काल रवाना होकर ग्राम मोहली (बडकापारा) पहुंचकर आरोपी टिकाईत देवांगन की पतासाजी करते हुए घेराबंदी कर पकड़ा। पूछताछ पर आरोपी ने बताया कि चचेरा भाई शिवहरि से जमीन हिस्सा बंटवारा को लेकर कई वर्षों से विवाद चल रहा था सोमवार के शाम करीब 07 बजे इसके खेत को कब्जा कर बोवाई कर देने एवं घर से कैसे बाहर निकलते हो कहकर शिवहरि घर के पास आकर धमकी व गाली गलौज देने लगा, इसी बात को क्षुब्ध होकर घर से बासं का डण्डा निकाला और कोटवार जिरोधन के घर पास सीसी रोड़ में शिवहरि के सिर में बांस डण्डा से मारा, मारने से खून निकलने पर शिवहरि गिर गया और फौत कर गया। आरोपी टिकाईत देवांगन के निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त डण्डा को जप्त कर विधिवत् गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।
          इस कार्यवाही में थाना प्रभारी झिलमिली नरेन्द्र सिंह, एएसआई लवकुश राजवाड़े, गुरू प्रसाद यादव, प्रधान आरक्षक केष्वर राम मरावी, आरक्षक निलेश जायसवाल, हेमन्त सिंह, रामा कुमार, राकेश सिंह, अमित सिंह, ओम प्रकाश सिंह, दिलपाल कसेरा, अवधेश पैकरा, चंद्रदेव मरावी एवं सैनिक मनीष नायक व जुगेन्दर कुशवाहा सक्रिय रहे।

गुरुवार, 2 जुलाई 2020

सूरजपुर पुलिस ने किया अंधे कत्ल का खुलासा, 2 आरोपी गिरफ्तार.........

सूरजपुर: दिनांक 25/06/2019 को ग्राम कोटेया निवासी बीरसाय कुशवाहा ने थाना झिलमिली में उपस्थित होकर सूचना दिया कि मृतक प्रदीप कुशवाहा जब 2 वर्ष का था उसी समय उसके पिता की मृत्यु हो गई थी तब से उसे चाचा बीरसाय कुशवाहा के द्वारा पालन-पोषण करने के लिए ग्राम खोड़ थाना पटना कोरिया ले गया था। दिनांक 22 जून 2019 के शाम को खोड़ से अपने घर कोटेया आया था जो 24 जून 2019 के 9 बजे घर से निकला था जो रात में घर वापस नहीं आया। दिनांक 25.06.19 के 5.00 बजे सुबह घर के बाड़ी में प्रदीप कुशवाहा का शव पड़ा हुआ है। सूचना पर मर्ग क्रमांक 31/19 कायम कर मौके पर जाकर शव पंचनामा की कार्यवाही की गई जो मृतक के गले में चोट के निशान थे, शव को पीएम के लिए भेजा गया। पीएम रिपोर्ट में डाक्टर के द्वारा मृतक की मृत्यु गला घोटने से दम घुटने से होना लेख किए जाने पर थाना झिलमिली पुलिस के द्वारा अज्ञात व्यक्ति के विरूद्व अपराध क्रमांक 94/19 धारा 302 भादवि का मामला पंजीबद्व कर विवेचना में लिया गया।

          पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा ने जिले की कमान संभालने के बाद से ही पुराने गंभीर अपराधों के निकाल एवं आरोपियों की पतासाजी कर गिरफ्तार करने हेतु पुलिस टीम गठित कर लगातार मामलों की मानिटरिंग करते हुए टीम को दिशा-निर्देश देते रहे। पुलिस अधीक्षक ने एसडीओपी ओड़गी मंजूलता बाज के नेतृत्व में पुलिस टीम गठित करते हुए मामले की जांच की जिम्मेदारी सौंपा था।

          मामले की जांच विवेचना के दौरान गवाहों से पूछताछ पर यह तथ्य सामने आया की गांव का पंच विजय नारायण कुशवाहा का मृतक की माॅं रामबाई कुशवाहा के साथ अवैध संबंध था और उसके घर आना जाना होते रहता था जो घटना दिनांक के बाद से आना जाना कम कर दिया है। पूछताछ में विजय नारायण इस बात से इंकार करता रहा जिसकी तस्दीक लगातार पुलिस टीम के द्वारा की गई। पुलिस टीम ने विजय नारायण कुशवाहा और रामबाई कुशवाहा को तलब कर बारीकी से पूछताछ करने पर दोनों के द्वारा मिलकर मृतक प्रदीप कुशवाहा की हत्या करना स्वीकार किया।

          पुलिस अधीक्षक ने बताया कि आरोपी विजय नारायण और रामबाई दोनों के मध्य करीब 2 वर्ष से अवैध संबंध था जिसकी वजह से विजय नारायण अक्सर रामबाई के घर जाता था। घटना दिनांक 24/06/2019 से एक दिन पूर्व मृतक प्रदीप कुशवाहा अपने चाचा के घर खोड़ से अपनी माॅ के घर ग्राम कोटेया आया था। घटना दिनांक को दोनों आरोपी सलका बाजार सब्जी बेचने गये हुये थे, वहां से वापस आते समय दोनों ने रात्रि में मिलने की योजना बनाई। विजय नारायण रात्रि करीब 11 बजे रामबाई के घर गया तब रामबाई ने विजय नारायण को कहा कि बेटा घर में आया है बाहर चलते है तब दोनों घर के पीछे सब्जी बाड़ी में गये इसके कुछ देर बाद मृतक प्रदीप कुशवाहा वहां पर पहुंच गया और अपनी माॅं को विजय नारायण के साथ आपत्तिजनक स्थिति में देखा और गुस्से में आ गया जिसके बाद उसने आरोपी विजय नारायण से झूमा झटकी व हाथापाई करने लगा उसी बीच आरोपी विजय नारायण ने प्रदीप का गला दबाने का प्रयास करने लगा और पास में रखे नारियल की रस्सी को रामबाई लेकर आ गई जिसे मृतक के गले में डाल दी फिर दोनों आरोपीगण मिलकर रस्सी से खींचकर मृतक का गला दबा दिये जिससे प्रदीप कुशवाहा की मृत्यु हो गई। मृत्यु के बाद घटना को आत्महत्या का स्वरूप देने के लिए पड़ोसी राजेश कुशवाहा के निर्माणाधीन कमरे के छत पर लोहे की राड़ में उसी रस्सी का फंदा बना कर फंदे को लटका दिये थे जिसमें मृतक को लटकाने वाले थे परन्तु मृतक का शरीर भारी होने से दोनों मिलकर मृतक के शव को फंदे में नहीं लटका पाये जिसके कारण मृतक के शव को वहीं जमीन पर छोड़ दिये। जिसके बाद रामबाई अपने घर से एक साल निकाल कर लाई जिसे विजय नारायण ने पड़ोसी राजेश के छत के उपर जहां पर फंदे को लटकाया गया था वहां बिछा दिया। इसके उपरान्त रामबाई ने मृतक के जूते एवं मोबाईल को लेकर अपने घर में धान रखने के लिये बने खाली कोठी में छुपा दिया। मामले में धारा 201, 34 भादवि जोड़ी जाकर आरोपी विजय नारायण कुशवाहा पिता रामेश्वर कुशवाहा उम्र 50 वर्ष निवासी कोटेया, थाना झिलमिली एवं रामबाई कुशवाहा पति स्व. बबन राम कुशवाहा उम्र 55 वर्ष निवासी कोटेया झिलमिली के विरूद्व अपराध सबूत पाए जाने पर विधिवत् गिरफ्तार किया गया है।
          एसडीओपी ओड़गी मंजूलता बाज के नेतृत्व में थाना प्रभारी झिलमिली नरेन्द्र सिंह, थाना प्रभारी भटगांव किशोर केंवट, चैकी प्रभारी चेन्द्रा आराधना बनोदे, चैकी प्रभारी करंजी चित्रलेखा साहू, एएसआई लवकुश राजवाड़े, गुरू प्रसाद यादव, लक्ष्मी प्रसाद गुप्ता, प्रधान आरक्षक अभिषेक पाण्डेय, संजय चैहान, आरक्षक हितेश्वर राजवाड़े, अमित कुमार सिंह, हेमंत कुमार सिंह, निलेश जायसवाल, कमलेश मानिकपुरी, रामा कुमार, राकेश सिंह, नोविन लकड़ा, भुनेश्वर पाटले, ओम प्रकाश सिंह, राजू कुमार, रजनीश पटेल, सुशील मिश्रा, संतोष जायसवाल, महिला आरक्षक प्रफुल्ला मिंज, अंजिता तिर्की सक्रिय रहे।

मंगलवार, 30 जून 2020

सूरजपुर पुलिस ने 1 लाख कीमत के मादक पदार्थ गांजा के साथ 01 को किया गिरफ्तार.......

पुलिस अधीक्षक ने पुलिस टीम को नगद ईनाम देने की घोषणा।

रविवार, 28 जून 2020

स्पंदन अभियान: पुलिस अधीक्षक सूरजपुर ने पुलिस जवानों की सुनी समस्याएं..........


सूरजपुर: पुलिस जवानों को मानसिक तनाव से बचाने के लिए शनिवार को पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा ने चौकी लटोरी परिसर एवं थाना जयनगर में स्पंदन अभियान के तहत पुलिस जवानों की समस्याएं सुनी और उसका निराकरण किया। पुलिस अधीक्षक ने जवानों को संबोधित करते हुए कहा कि स्पंदन अभियान के तहत हमारे जवानों के विभागीय, व्यक्तिगत समस्याएं सुनकर उसका समाधान करना है। उन्होंने कहा कि संवाद से सभी समस्याओं का हल निकाला जा सकता है, अपनी समस्या को मुझ तक पहुंचाए निश्चित तौर पर समस्या का समाधान किया जाएगा, ड्यूटी के उपरान्त शारीरिक फिटनेश बनाए रखने के लिए खेलकुद एक्टिविटी करने कहा। स्पंदन अभियान के तहत हुए इस आयोजन के दौरान कई जवानों ने अपनी समस्या के बारे में अवगत कराया जो पुलिस अधीक्षक ने उन समस्याओं का निराकरण भी किया। 
          पुलिस अधीक्षक ने थाना प्रभारी जयनगर सुनीता भारद्धाज व चौकी प्रभारी लटोरी सुनील सिंह को कहा कि जवानों के द्वारा अवकाश की आवश्यकता बताए जाने पर उन्हें नियमानुसार तत्काल अवकाश दी जाए एवं थाना व चौकी परिसर में वालीबाल, बैडमिंटन खेलकूद एक्टिीविटी की व्यवस्था कराने के निर्देश दिए।

शुक्रवार, 26 जून 2020

सूरजपुर: लंबित मामलों में फरार चल रहे आरोपियों की धरपकड़ में तेजी लाने के निर्देश पिछले दिनों पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने जिले के थाना-चैकी प्रभारियों को दिये थे


इसी परिपेक्ष्य में थाना विश्रामपुर के अपराध क्रमांक 263/19 धारा 452, 147, 148, 149, 294, 506, 323, 386 भादवि 25, 27 आम्र्स एक्ट एवं अपराध क्रमांक 264/19 धारा 147, 148, 149, 184, 333, 353, 294 भादवि 25, 27 आम्र्स एक्ट एवं अपराध क्रमांक 101/20 धारा 294, 506, 323, 307 भादवि का आरोपी विकास राव जो पूर्व में दिनांक 19.11.2019 के शाम करीब 4.30 बजे प्रार्थी चरण सिंह अग्रवाल अपने फार्म हाउस शिवनंदनपुर में बैठे थे उसी समय आरोपी विकास राव दिनेश राव उर्फ बबली फरसा व तलवार से लैस होकर अपने घर की महिलाएं संध्या सिंह सोनिया राव व संजीवी शर्मा राव सहित फार्म हाउस में बने घर के अन्दर कमरे में जबरन प्रवेश कर प्रार्थी चरण सिंह अग्रवाल के गर्दन पर फरसा व पेट पर तलवार रखकर गाली-गलौज कर सादे कागज में हस्ताक्षर करने को विवश कर रहे थे, नहीं तो जान से मारने की धमकी देकर धक्का देकर गिरा दिए जो बचाओ बचाओ चिल्लाने पर महिलाएं लाल मिर्ची पावडर प्रार्थी के शरीर के उपर डाल दी। हल्ला सुनकर पास के लोग पहुंच बीच बचाव किए तथा चरण सिंह अग्रवाल को फार्म हाउस से बाहर निकाल कर लाए जहां रोड में भी आरोपियां द्वारा धक्का मुक्की कर प्रार्थी चरण सिंह अग्रवाल को मारपीट करने का प्रयास किया गया था जिसकी सूचना थाना के पेट्रोलिंग पार्टी को मिलने पर प्रार्थी आरक्षक अखिलेश पाण्डेय पेट्रोलिंग पार्टी के कर्मचारियों के साथ मौके पर पहुंचा तथा बीच बचाव व समझाईश देने लगा जो आरोपीगण पुलिस से बहसबाजी व गाली-गलौज करते हुए धक्का मुक्की करने लगे तथा आरक्षक अखिलेश पाण्डेय को धकेल कर गिरा दिये जिस कारण उसके बाए पैर के पंजे में गंभीर चोट लगकर पंजे की हड्डी टूट गया था। प्रार्थी चरण सिंह एवं आरक्षक अखिलेश पाण्डेय के रिपोर्ट पर अलग अलग अपराध पंजीबद्व कर विवेचना में लिया गया था। आरोपी विकास राव के अतिरिक्त अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी थी किन्तु आरोपी विकास राव घटना दिनांक से फरार रहते हुये दिनांक 21 जून 2020 को अपनी बहु सोनिया राव के सिर में फरसे से प्राणघातक हमला कर दिया था। प्रार्थियां सोनिया राव के रिपोर्ट पर अपराध कायम कर तीनों अपराध में आरोपी विकास राव पिता के. सत्यनारायण निवासी शिवनंदनपुर की सरगर्मी से तलाश चल रहा था इसी बीच मुखबीर की सूचना पर 25 जून 2020 को आरोपी विकास राव को कुम्दा ठिहाईपारा से हिरासत में लिया गया एवं पूछताछ कर तीनों प्रकरण के घटना में प्रयुक्त 02 नग फरसा जप्त कर विधिवत् गिरफ्तार किया गया।
         इस कार्यवाही में थाना प्रभारी विश्रामपुर सुभाष कुजूर, एएसआई उमेश सिंह, कमलदास बनर्जी, प्रधान आरक्षक वरूण तिवारी, आनंद कुमार सिंह, आरक्षक अखिलेश पाण्डेय, अकरम मोहम्मद, राजकुमार सिंह, रमेश कसेरा, रविशंकर पाण्डेय , अजय प्रताप राव व असिफ अख्तर सकिय रहे।

सेन्ट्रल बैंक शाखा रामानुजनगर में हुए धोखाधड़ी के मामले में 2 आरोपी गिरफ्तार........

सूरजपुर: सेन्ट्रल बैंक आफ इंडिया शाखा रामानुजनगर के तत्कालीन शाखा प्रबंधक आलोक कुमार गुप्ता एवं बैंक के अन्य कर्मचारी हेड कैशियर देवेश कुमार लालखेर एवं सहायक प्रबंधक सुरेन्द्र सुराई मराण्डी तथा एग्रीकल्चर फिल्ड आंफिसर सचिन गोविंद गायकवाड एवं एस.डब्यू.ओ. अभिषेक मण्डल के द्वारा सेन्ट्रल बैंक शाखा रामानुजनगर के द्वारा छल पूर्वक षडयंत्र कर अन्य आरोपीगणों से मिलकर शासकीय राशि का गबन करते हुये अन्य खाता धारकों के साथ मिलकर सुनियोजित तरीके से इनके द्वारा दूसरे व्यक्ति के खाता धारकों के रूपये को बिना खाता धारक के स्वीकृति या जानकारी के उनके एकाउंट से कुटरचित दस्तावेज तैयार कर एवं इलेक्ट्रानिक उपकरणों को उपयोग करते हुये सेन्ट्रल बैंक रामानुजनगर के शासकीय रकम को छलपूर्वक खाता धारकों को धोखा देते हुये करीब 2 करोड़ 10 लाख रूपये का गबन किया गया था। जिसके संबंध में वर्तमान सेन्ट्रल बैंक शाखा रामानुजनगर के शाखा प्रबंधक बलराम मोहन्ती के लिखित आवेदन पर आरोपी आलोक कुमार गुप्ता, हेड कैशियर देवेश कुमार लालखेर एवं सहायक प्रबंधक सुरेन्द्र सुराई मराण्डी तथा एग्रीकल्चर फिल्ड आंफिसर सचिन गोविंद गायकवाड एवं एस.डब्यू.ओ. अभिषेक मण्डल के द्वारा सेन्ट्रल बैंक रामानुजनगर के खाता धारक सलमान अहमद मंसूरी, अमोस एक्का व अन्य के विरूद्व अपराध क्रमांक 110/2020 धारा 420, 409, 467, 468, 471, 120(बी) भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है।पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने मामले में फरार आरोपियों की पतासाजी करते हुए जल्द गिरफ्तार करने के निर्देश दिए थे। एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी के नेतृत्व में थाना रामानुजनगर की पुलिस टीम के द्वारा मामले में फरार चल रहे आरोपी सलमान अहमद मंसूरी पिता कुर्बान अहमद निवासी त्रिपुरेश्वरपुर, थाना रामानुजनगर एवं अमोस एक्का पिता कलम एक्का निवासी कोट पटना, थाना सूरजपुर को उनके गांव में घेराबंदी कर पकड़ा एवं विधिवत् गिरफ्तार किया है।
         ज्ञात हो कि तत्कालीन शाखा प्रबंधक आलोक कुमार गुप्ता एवं बैंक के अन्य कर्मचारी सहायक प्रबंधक सुरेन्द्र सुराई मराण्डी तथा एग्रीकल्चर फिल्ड आंफिसर सचिन गोविंद गायकवाड एवं एस.डब्यू.ओ. अभिषेक मण्डल जो कि थाना रामानुजनगर के अपराध क्रमांक 156,157,199/2020 धारा 420, 409, 467, 468, 471, 120(बी) भादवि के प्रकरण में पूर्व में गिरफतार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया था जो उप जेल में परिरूद्ध हैं।

        इस कार्यवाही में थाना प्रभारी रामानुजनगर गोपाल धुर्वे, एसआई बी.डी. यादव, एएसआई माधव सिंह, बृजेश यादव, प्रधान आरक्षक हेमन्त सोनवानी, रविन्द्र भारती, आरक्षक वेदप्रकाश राजवाडे, संतोष ठाकुर, अमलेश्वर कुमार, रामसागर साहू, देवान सिंह व गणेश सिंह सक्रिय रहे।