मंगलवार, 24 नवंबर 2020

संदिग्धों की निगरानी के लिए प्रतिष्ठानों में लगाए तीसरी आंख-पुलिस अधीक्षक सूरजपुर.......

तीसरी आंख लगाने में व्यापारीगण करेंगे सहयोग।

प्रतिष्ठानों में कार्यरत् व्यक्तियों का पुलिस वेरिफिकेशन कराने को कहा।

सूरजपुर: बीते रविवार को छत्तीसगढ़ के गृहमंत्री श्री ताम्रध्वज साहू व डीजीपी श्री डी.एम.अवस्थी ने वीडियो कान्फ्रेसिंग के जरिए सभी पुलिस अधीक्षकों से कानून व्यवस्था एवं अपराधों की रोकथाम तथा व्यवसायिक प्रतिष्ठानों में सीसीटीव्ही कैमरा लगाने के लिए उन्हें प्रोत्साहित करने के निर्देश दिए थे।
          इसी परिपेक्ष्य में सोमवार 23 नवम्बर 2020 को पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने नगर के व्यवसायिक संस्थानों के संचालकों की मीटिंग पुलिस कन्ट्रोल रूम में आयोजित किया और उनसे सीसीटीव्ही की उपलब्धता, औचित्य तथा सुरक्षा विषयों को लेकर उनसे चर्चा की। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक ने कहा कि आज अपराधों की रोकथाम और अपराध अन्वेषण एवं खोज-बीन के लिए नवीन तकनीक का उपयोग सबसे कारगर साबित हो रहा है। शहर के मुख्य चौक-चौराहों पर सीसीटीव्ही कैमरा के अलावा हम सभी की जिम्मेदारी है कि अपनी सुरक्षा के लिए खुद जागरूक रहें और इसके उपाए करें। उन्होंने कहा कि आप सभी के साथ मीटिंग करने का उद्देश्य संयुक्त रूप से सुरक्षा को प्राथमिकता देना है जिससे अपराध पर अंकुश लगे और असामाजिक तत्वों पर इसका खौफ बना रहेगा। अपराध को रोकने के लिए आप सभी सतर्क रहे और सीसीटीव्ही कैमरा लगाकर हमें सहयोग प्रदान करें। उन्होंने प्रतिष्ठानों में काम करने वाले व्यक्तियों का पुलिस वेरिफिकेशन अनिवार्य रूप से कराने की समझाईश दी।

बैठक की प्रमुख बाते।

          बैठक में पुलिस अधीक्षक ने कहा कि अक्सर देखा गया है कि व्यापारीगण दुकान के आंतरिक सुरक्षा को प्रथम तथा बाहरी सुरक्षा को दूसरे स्थान पर प्राथमिकता देते है जिसका अपराधियों को लाभ मिलता है। अपराधी वारदात को अंजाम देने के बाद सीसीटीव्ही कैमरे के हार्डडिस्क की तोड़फोड़ कर या उसे लेकर फरार हो जाते है जिसके कारण पुलिस को घटना की जांच व अपराधियों तक पहुंचने में दिक्कत होती है। सभी व्यापारीगण अपने-अपने प्रतिष्ठानों में सीसीटीव्ही कैमरा अवश्य लगवाए व कम से कम 2 कैमरा दुकान के बाहर इस तरह से लगवाए जिससे रोड़ पर होने वाली गतिविधियों एवं संदिग्धों पर नजर रखी जा सके, यथासंभव सीसीटीव्ही कैमरा अच्छी क्वालिटी के लगवाए, कई बार यह देखने को मिला है कि संदेही तो दिख रहे है किन्तु पिक्चर क्वालिटी अच्छी नहीं होने के कारण उन्हें पहचानने में काफी मशक्कत करनी पड़ती है।

तीसरी आंख लगाने में व्यापारीगण करेंगे सहयोग।

         बैठक में पुलिस अधीक्षक ने नगर में लगे सीसीटीव्ही कैमरा के अद्यतन स्थिति की जानकारी ली और व्यापारीगण से प्रमुख चौक-चौराहों सहित अन्य संवेदनशील स्थानों पर सीसीटीव्ही लगाने हेतु सहयोग करने की अपील की जिसमें व्यापारीगण ने पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया। बैठक में गोलू टाईल्स के संदीप गुप्ता, सांवारिया फ्लैक्स के संस्कार अग्रवाल, बनवारी लाल बिसेसर लाल के अंकुर गर्ग, सहित कई अन्य व्यापारीगण ने तीसरी आंख लगवाने में सहयोग करने की सैद्धांतिक सहमति दी।
          इस अवसर पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर, सीएसपी जे.पी.भारतेन्दु, एसडीओपी ओड़गी मंजूलता बाज, एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी, थाना प्रभारी दीपक पासवान, सीएमओ नपा दीपक एक्का सहित काफी संख्या में नगर के व्यापारीगण मौजूद रहे।

सूरजपुर पुलिस ने हत्या के फरार आरोपी को किया गिरफ्तार....


सूरजपुर: बीते 22 नवम्बर को ग्राम पलढ़ा चौकी खड़गवां निवासी सुखदेव सिंह ने चौकी खड़गवां में रिपोर्ट दर्ज कराया कि रविवार के शाम 5.30 बजे इसकी माॅ हीरामुनी जंगल से झाड़ू बहरा काटकर घर वापस आ रही थी जो रास्ते में डल्लू के घर के पास आरोपी सहोदर ने इसकी माॅ हीरामनी को जमीन विवाद की बात पर टांगी से संघातिक प्रहार कर हत्या कर भाग गया है रिपोर्ट पर अपराध क्रमांक 198/20 धारा 302 भादवि का पंजीबद्व किया गया। मामले की सूचना पर पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने चौकी प्रभारी खड़गवां को फरार आरोपी की पतासाजी कर जल्द गिरफ्तार करने के निर्देश दिए। एसडीओपी प्रतापपुर पी.एस.महिलाने के मार्गदर्शन में चौकी प्रभारी खड़गवां विमलेश सिंह ने घटना के बाद से ही आरोपी के रहने के सभी संभावित स्थानों पर दबिश किन्तु रात्रि होने से आरोपी का कोई सुराग नहीं चला। 23 नवम्बर को मामले के आरोपी को गौरा जंगल में छिपे होने की सूचना मिलने पर पुलिस की टीम ने गौरा जंगल से आरोपी सहोदर पिता राम शरण सिंह को घेराबंदी कर पकड़ा। आरोपी के मेमोरण्डम कथन के आधार पर हत्या में प्रयुक्त टांगी को जप्त कर गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।
           इस कार्यवाही में चौकी प्रभारी खड़गवां विमलेश सिंह, एएसआई बजरंगी लाल चैहान, प्रधान आरक्षक विशाल मिश्रा, विवेकानंद सिंह, आरक्षक अभय तिवारी, मिथलेश गुप्ता, कौशलेन्द्र सिंह, सैनिक रामनिवास, श्याम प्रकाश व विकास सिंह सक्रिय रहे।

गुरुवार, 19 नवंबर 2020

छठ घाटों का पुलिस अधीक्षक सूरजपुर ने लिया जायजा.........

घाटों पर पुलिस अधिकारी व जवानों की रहेगी कड़ी चौकसी

सूरजपुर। लोक आस्था का पर्व छठ को लेकर पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने गुरुवार 19 नवम्बर को सूरजपुर के रेड़ नदी स्थित छठ घाट सहित विश्रामपुर के गौरीशंकर मंदिर और गोरखनाथपुर छठ घाट का जायजा लिया। इस दौरान पुलिस अधीक्षक  ने घाटों की सफाई एवं समुचित व्यवस्था को देखकर संतुष्ट दिखे। उन्होंने छठ घाटों पर कोरोना संक्रमण के मद्देनजर सरकार की ओर से जारी गाइड लाइन का पालन कराने, छठ घाटों पर लाइटिग के साथ गोताखोर और मेडिकल टीम की तैनाती समेत कई आवश्यक दिशा निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान पुलिस अधीक्षक ने छठ घाटों पर स्थानीय छठ पूजा आयोजन समिति के सदस्यों और जन प्रतिनिधियों से भी वहां की जा रही तैयारी की जानकारी ली और कई निर्देश भी दिए। पुलिस अधीक्षक श्री कुकरेजा ने बताया कि जिले में जिन-जिन स्थानों पर छठ पर्व मनाया जाता है वहां कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के प्रबंध किए है। जिन छठ घाट पर ज्यादा भीड़ होने की संभावना है उन जगहों पर पुलिस अधिकारी-कर्मचारी के अलावा सीएसपी-एसडीओपी को भी तैनात किया गया है।
          इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर, एसडीएम पुष्पेन्द्र शर्मा, सीएसपी जे.पी.भारतेन्दु, थाना प्रभारी सूरजपुर धर्मानंद शुक्ला, थाना प्रभारी विश्रामपुर सुभाष कुजूर, नपा सीएमओ दीपक एक्का, नायब तहसीलदार अंकिता तिवारी, जनप्रतिनिधि व गणमान्य नागरिकगण मौजूद रहे।

मंगलवार, 17 नवंबर 2020

सूरजपुर पुलिस ने हत्यारे पति को किया गिरफ्तार........

घरेलू बात को लेकर पत्नी की हत्या कर शव का छुपाया था पैरावट में।

सूरजपुर। बीते 10 नवम्बर को ग्राम झांसी निवासी माधो सिंह पिता गोपाल राम ने चौकी बसदेई में रिपोर्ट दर्ज कराया कि मंगलवार को गांव का ललन सिंह घर आकर बताया कि तुम्हारीे माॅ धनमेत मामा के खलिहान में रखे पैरा में सोई है, सूचना पाकर यह खलिहान के पास गया तो देखा कि पैरा के बगल में कपड़ा ढ़का था जिसे उठाकर देखा तो कपड़े के नीचे माॅ मृत हालत में पड़ी थी जिसके नाक, कांन, मुंह से खून निकला था, इसके माता-पिता एक दूसरे से लड़ाई-झगड़ा करते थे तथा बीते रात में लड़ाई झगड़ा किऐ थे तथा सुबह इसकी माॅ की मृत्यु हो गई और सुबह से गोपाल राम भी घर में नहीं है कहीं भाग गया है। इसकी माॅ को पिता ही मारकर हत्या किया है रिपोर्ट पर चौकी में अपराध क्रमांक 467/20 धारा 302 भादवि के तहत अपराध पंजीबद्व कर विवेचना में लिया गया।
          मामले की सूचना पर पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने हत्या के मामले में फरार आरोपी की पतासाजी कर जल्द गिरफ्तार करने एवं स्वयं मामले की लगातार मानिटरिंग कर पुलिस टीम को आरोपी के रहने के संभावित स्थानों पर दबिश देने में लगाया। मामले में आरोपी की पतासाजी पुलिस टीम द्वारा की जा रही थी इसी दौरान चौकी प्रभारी सुनीता भारद्धाज को मुखबीर से सूचना मिली कि आरोपी जिला कोरिया के उदलकछार में घुमते देखा गया है जिसकी जानकारी से पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा को अवगत कराया जिस पर उन्होंने तुरंत पुलिस टीम को आरोपी की गिरफ्तारी के लिए टीम रवाना किया।
          पुलिस की टीम मुखबीर की सूचना के आधार पर सोमवार 16 नवम्बर को मनेन्द्रगढ़ के उदलकछार क्षेत्र में आरोपी की पतासाजी करते हुए वहां के रेलवे स्टेशन के पास पहुंची जो आरोपी ग्राम झांसी निवासी 46 वर्षीय गोपाल सिंह पिता नलू सिंह को ट्रेन में सवार होकर भागने की फिराक के दौरान घेराबंदी कर पकड़ा। पूछताछ पर आरोपी ने बताया कि 9 नवम्बर की रात्रि में पत्नी धनमेत के साथ घरेलू बात को लेकर झगड़ा विवाद होने पर उसे हाथ मुक्का से मारपीट किया जिसके कारण उसकी मृत्यु हो गई तब शव को कुंजन सिंह के खलिहान में रखा पैरा में ले जाकर छुपा देना स्वीकार किया। मामले में पृथक से धारा 201 भादवि जोड़ी जाकर आरोपी को विधिवत् गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।
          इस कार्यवाही में चौकी प्रभारी सुनीता भारद्वाज, एएसआई बीएम गुप्ता, प्रधान आरक्षक वरूण तिवारी, राहुल गुप्ता, निर्मल मिंज, हंसराम कनेडिया, आरक्षक अमरेन्द्र दुबे, जितेन्द्र पटेल, महेन्द्र सिंह, प्रदीप साहू, प्रदीप जायसवाल, व अमित सिंह सक्रिय रहे।

बुधवार, 11 नवंबर 2020

सूरजपुर पुलिस ने चोरी के 77 हजार रूपये कीमत के सामग्री बरामद कर 3 को किया गिरफ्तार................

सूरजपुर। दिनांक 05 अक्टूबर 2020 को वार्ड क्रमांक 12 केतका रोड़ निवासी श्री के.के.अग्रवाल के घर के बाड़ी में बने कमरे का ताला तोड़कर किसी अज्ञात व्यक्ति ने कमरे में रखे 50 हजार रूपये कीमत बर्तन चोरी करने की रिपोर्ट 6 अक्टूबर को थाना सूरजपुर में किए जाने पर अपराध क्रमांक 401/20 धारा 457, 380 भादवि का पंजीबद्व कर विवेचना में लिया गया। दूसरे मामले में 01 नवम्बर को मेन रोड़ निवासी पवन डोसी के कमरे का ताला तोड़कर किसी अज्ञात व्यक्ति ने 1 एचपी का समरसिबल पम्प, वायर, पुरानी टीव्ही, सिलाई मशीन सहित अन्य वस्तुएं चोरी की गई। तीसरे मामले में 3 नवम्बर को राहुल केजरीवाल के घर के पीछे बाड़ी कुआं में लगे हाफ एचपी का टूल्ले पम्प को चोरी कर ले जाने के मामलों में धारा 457, 380 भादवि के तहत् मामला पंजीबद्व विवेचना में लिया गया।
          चोरी की वारदात पर अंकुश लगाने हेतु पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने पुलिस अधिकारियों को रात्रि गश्त प्रभावी तरीके से करने, संदिग्धों की जांच एवं सूचना प्रणाली को मजबूत बनाने के निर्देश दिए थे।
          चोरी के मामले की विवेचना के दौरान जांच कर रही कोतवाली की पुलिस टीम ने मुखबीर की सूचना पर संदेही राहुल साहू उर्फ कल्लू, राजकुमार सिंह व सन्नी पासवान को तलब कर बारीकी से पूछताछ किए जाने पर बताए कि वार्ड क्रमांक 12 केतका रोड़ के घर बाड़ी में बने कमरे का ताला तोड़कर चोरी करना स्वीकार किया जिनके निशानदेही पर 6 नग पीतल का गंज, 2 नग पीतल का सुपली, 01 नग पीतल का गधरा, 1 नग एल्युमिनियम का परात कीमत 40 हजार रूपये का बरामद किया गया। पवन डोसी के यहां हुई चोरी में राहुल साहू उर्फ कल्लू व राजकुमार सिंह द्वारा 1 समरसिबल पम्प, वायर, 1 रंगीन टीव्ही, 1 गैस कटर कीमत 35 हजार रूपये एवं राहुल केजरीवाल के यहां हुए चोरी में राहुल साहू उर्फ कल्लू पिता रामअवतार साहू उम्र 20 वर्ष निवासी साहू गली सूरजपुर से 1 हाफ एचपी का टूल्लू पम्प कीमत 2 हजार रूपये कुल मशरूका 77 हजार रूपये का बरामद कर तीनों को विधिवत् गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पर भेजा गया।
          इस कार्यवाही में एसआई हिम्मत सिंह शेखावत, एएसआई गजपति मिर्रे, प्रधान आरक्षक बिसुनदेव पैंकरा, राजकुमार नायक, आरक्षक रावेन्द्र पाल, सुरेश साहू, गौतम दुबे, महिला आरक्षक बालकुमारी मिंज, सक्रिय रहे।

मंगलवार, 10 नवंबर 2020

सूरजपुर पुलिस ने किया महिला संबंधी अपराधों पर त्वरित कार्यवाही......

छेड़छाड़ के मामले में 4 तो दुष्कर्म के मामले में 3 दिवस के भीतर पेश किया चालान।

सूरजपुर: पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा के निर्देशन में जिले की पुलिस ने बालिका व महिलाओं के विरूद्व होने वाले अपराधो में तत्परता के साथ जल्द से जल्द चालान पेश करने की मुहिम निरंतर जारी है। इसी कड़ी में थाना जयनगर के द्वारा एक महिला से छेड़छाड़ एवं एक महिला से दुष्कर्म के मामले में त्वरित कार्यवाही करते हुए आरोपियों की गिरफ्तारी कर महज 4 तथा 3 दिनों के भीतर चालान पेश किया है।
          पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा के द्वारा जिले के पुलिस अधिकारियों को बालिका एवं महिलाओं पर घटित हुए अपराधों को गंभीरता से लेते हुए त्वरित कार्यवाही एवं मामले की विवेचना शीघ्रता से पूर्ण कर चालान न्यायालय में पेश करने के निर्देश दिए थे ताकि पीड़ित को जल्द न्याय मिल सके।
          सूरजपुर जिले के थाना जयनगर का यह मामला है, जहां 15 अक्टूबर 2020 को एक महिला को आरोपी प्रकाश विश्वास ने बेईज्जत करने की नियत से छेड़छाड़ किया। जिसकी रिपोर्ट थाना जयनगर 04 नवम्बर को पीड़िता के द्वारा की गई। मामले में पुलिस ने आरोपी प्रकाश विश्वास के विरूद्व अपराध क्रमांक 243/20 धारा 354 भारतीय दण्ड संहिता के तहत् मामला दर्ज किया गया। मामले की विवेचना थाना प्रभारी जयनगर दीपक पासवान के द्वारा करते हुए एफआईआर के 24 घंटे के भीतर आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया। जांच में पीड़िता का कथन महिला पुलिस अधिकारी से कराया गया एवं पीड़िता का माननीय न्यायालय में धारा 164 सीआरपीसी का बयान दर्ज कराते हुए मामले में महज 04 दिन के भीतर साक्ष्य संकलित करते हुए विवेचना पूर्ण कर अभियोग पत्र तैयार कर माननीय न्यायालय सूरजपुर में दिनांक 07 नवम्बर को पेश कर किया गया।
          दूसरे मामले में एक महिला ने एक व्यक्ति के विरूद्व शादी करने का झांसा देकर अनाचार करने एवं शादी करने से इंकार कर दिया। जिसकी रिपोर्ट थाना जयनगर 07 नवम्बर 2020 को पीड़िता के द्वारा की गई। मामले में पुलिस ने आरोपी राजकुमार कुर्रे के विरूद्व अपराध क्रमांक 245/20 धारा 376 भा.दं.सं. के तहत् मामला दर्ज किया गया। इस मामले की भी विवेचना थाना प्रभारी जयनगर दीपक पासवान के द्वारा करते हुए एफआईआर के 6 घंटे के भीतर आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया। जांच में पीड़िता का कथन महिला पुलिस अधिकारी से कराया गया एवं पीड़िता का माननीय न्यायालय में धारा 164 सीआरपीसी का बयान दर्ज कराते हुए मामले में महज 03 दिन के भीतर साक्ष्य संकलित करते हुए विवेचना पूर्ण कर दिनांक 9 नवम्बर को अभियोग पत्र माननीय न्यायालय सूरजपुर में पेश कर किया गया।
          इससे आरोपी को जल्द सजा मिल सकेगी और इस तरह की सोच रखने वालों को पुलिस की ओर से सख्त मैसेज भी जायेगा। ज्ञात हो कि इसके पूर्व भी चौकी रेवटी, चौकी लटोरी व थाना सूरजपुर के द्वारा भी महिला संबंधी अपराधों में जल्द विवेचना पूर्ण कर चालान पेश किया गया है।

बुधवार, 4 नवंबर 2020

सूरजपुर पुलिस ने नाबालिक बालिका के अपहरण व अनाचार के मामले में 6 दिनों के भीतर पेश किया चालान.......

24 घंटे के भीतर आरोपियों को किया गया गिरफ्तार।

सूरजपुर: पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा के निर्देशन में जिले की पुलिस ने बालिका व महिलाओं के विरूद्व होने वाले अपराधो में तत्परता के साथ जल्द से जल्द चालान पेश करने की मुहिम चला रखा है। इसी कड़ी में थाना सूरजपुर के द्वारा एक नाबालिक बालिका के अपहरण व दुष्कर्म के मामले में त्वरित कार्यवाही कर 24 घंटे के भीतर आरोपियों की गिरफ्तारी करते हुए महज 6 दिनों के भीतर चालान पेश किया है। पुलिस महानिदेशक छत्तीसगढ़ श्री डी.एम.अवस्थी के द्वारा पुलिस अधिकारियों को बालिका एवं महिलाओं के विरूद्व घटित होने वाले अपराधों में तत्काल कार्यवाही करने तथा आरोपियों को गिरफ्तार कर जल्द चालान माननीय न्यायालय में पेश करने के निर्देश दिए थे।
           पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा के द्वारा जिले के पुलिस अधिकारियों को बालिका एवं महिलाओं पर घटित हुए अपराधों को तत्परता एवं संवेदनशीलता के साथ त्वरित कार्यवाही एवं मामले की विवेचना शीघ्रता से पूर्ण कर चालान न्यायालय में पेश करने के निर्देश दिए थे ताकि पीड़ित को जल्द न्याय मिल सके।
मामला थाना सूरजपुर का है, जहां 05 अक्टूबर 2020 को एक नाबालिक लड़की जंगल में लकड़ी लेने गई थी जिसे किसी अज्ञात व्यक्ति ने बहला फुसलाकर भगाकर ले गया था जिसकी रिपोर्ट थाने में 29 अक्टूबर को दर्ज कराई गई। मामले में अज्ञात के विरूद्व अपराध क्रमांक 443/20 धारा 363 भादवि के तहत् मामला दर्ज किया गया।
           प्रकरण की विवेचना थाना प्रभारी सूरजपुर धर्मानंद शुक्ला ने किया जो जांच के दौरान जानकारी मिली कि नाबालिक लड़की को आरोपी सुनील कसेर बहला फुसलाकर भगाकर ले गया था जहां उसके साथ अनाचार किया, इस घटना में उसकी बहन ने भी साथ दिया था, मामले में पृथक से धारा 366, 376(2-ढ), 376(2-झ), 34 भादवि व पोक्सो एक्ट की धारा 4, 6, 17 जोड़ी जाकर दोनों को 30 अक्टूबर को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया जहां से दोनों को जेल भेज दिया गया। जांच में पीड़िता का कथन महिला पुलिस अधिकारी से कराया गया, पीड़िता का माननीय न्यायालय में धारा 164 सीआरपीसी का बयान एवं सीडब्ल्यूसी सूरजपुर के समक्ष काउन्सलिंग कराया गया और मामले में महज 06 दिन के भीतर साक्ष्य संकलित करते हुए विवेचना पूर्ण कर अभियोग पत्र तैयार कर 03 नवम्बर को चालान माननीय न्यायालय सूरजपुर में पेश कर दिया गया।

सोमवार, 2 नवंबर 2020

सूरजपुर पुलिस ने संजयनगर पेट्रोल पम्प से डकैती व लूट का डीजल खरीदने वाले 1 आरोपी को किया गिरफ्तार.......

सूरजपुर। दिनांक 18.10.20 को माॅ वैष्णणी पेट्रोल पम्प संजयनगर में काम करने वाले मैनेजर अमर दयाल यादव ने थाना जयनगर में रिपोर्ट दर्ज कराया कि 17-18 अक्टूबर की दरम्यिानी रात्रि में 1 स्कार्पियों तथा 1 बोलेरो वाहन में 7-8 लोग लाठी, डण्डा, सब्बल लेकर पहुंचे और डरा धमकाकर उसके सामने ही खड़ी टैंकर के टंकी का लाक तोड़कर 6 जरकीन डीजल निकाले और उसके पाकिट से 2 हजार रूपये, आधार कार्ड व अन्य दस्तावेज लूट लिए। प्रार्थी की रिपोर्ट पर थाना जयनगर में अपराध क्रमांक 224/20 धारा 395 भारतीय दण्ड संहिता का पंजीबद्व कर विवेचना में लिया गया।
          पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा के मार्गदर्शन में 20 अक्टूबर को मामले के 5 आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायिक पर भेजा गया था। पेट्रोल पम्प में खड़ी टैंकर के टंकी से डीजल निकालने के बाद डीजल को ग्राम खुटाटोला, थाना जैतहरी, मध्यप्रदेश निवासी रमेश गुप्ता को बिक्री करने की जानकारी आरोपियों ने बताई थी। जिसके बाद से ही पुलिस अधीक्षक ने आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस टीम लगाया था जो मुखबीर की सूचना पर जयनगर की पुलिस टीम ने गत् दिवस मामले में आरोपी रमेश गुप्ता पिता रामप्रसाद गुप्ता उम्र 35 वर्ष को उसके गांव से घेराबंदी कर पकड़ा, पूछताछ पर आरोपी ने बताया कि वह डीजल को खरीदा था और इसके लिए उसने ही जरकिन उपलब्ध कराया था। प्रकरण में चोरी की वस्तु होने की जानकारी के बाद भी उसकी खरीदी कर बिक्री करना पाए जाने पर विधिवत् गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पर भेजा गया।
          इस कार्यवाही में थाना प्रभारी जयनगर दीपक पासवान, प्रधान आरक्षक रजनीश त्रिपाठी, तालीब शेख, आरक्षक राजकुमार पासवान सक्रिय रहे।

शनिवार, 31 अक्तूबर 2020

सूरजपुर पुलिस ने अनाचार के मामले में 3 दिनों के भीतर पेश किया चालान...............


सूरजपुर। जिले की पुलिस ने त्वरित कार्यवाही करते हुए जान से मारने की धमकी देकर लगातार पीड़िता के साथ अनाचार करने और घटना के बारे में किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी देने के मामले में आरोपी की गिरफ्तारी व विवेचना पूर्ण कर महज 3 दिनों के भीतर चालान प्रस्तुत कर नजीर पेश किया है। श्रीमान् पुलिस महानिदेशक, छत्तीसगढ़ ने पुलिस अधिकारियों को बालिका एवं महिलाओं के विरूद्व घटित होने वाले अपराधों में तत्काल कार्यवाही करने तथा आरोपियों को गिरफ्तार करते हुए जल्द चालान न्यायालय में पेश करने के निर्देश दिए थे। पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा के द्वारा जिले के पुलिस अधिकारियों को बालिका एवं महिलाओं पर घटित हुए अपराधों को गंभीरता से लेते हुए त्वरित कार्यवाही एवं मामले की विवेचना शीघ्रता से पूर्ण कर चालान न्यायालय में पेश करने के निर्देश दिए थे। ताकि पीड़ित को जल्द न्याय मिल सके।
          पुलिस अधीक्षक के मार्गदर्शन में जिले की पुलिस के द्वारा महिलाओं से संबंधित मामलों को प्राथमिकता के आधार पर जांच की जा रही है। सूरजपुर जिले के थाना सूरजपुर का यह मामला है, करीब 1 वर्ष पूर्व से एक महिला को आरोपी गुलाब प्रसाद साहू के द्वारा उसके पिता को जान से मारने की धमकी देकर लगातार उसके साथ अनाचार करते रहा और किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी दिया, जिसकी रिपोर्ट थाना सूरजपुर में 27 अक्टूबर को पीड़िता के द्वारा की गई। मामले में कोतवाली पुलिस ने आरोपी गुलाब प्रसाद साहू के विरूद्व अपराध क्रमांक 436/20 धारा 376 (2-ढ़), 506 भारतीय दण्ड संहिता के तहत् मामला दर्ज किया।
          मामले की विवेचना कोतवाली में पदस्थ एसआई रश्मि सिंह राज के द्वारा करते हुए एफआईआर के महज डेढ घंटे के भीतर आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया। जांच में पीड़िता का कथन, पीड़िता का माननीय न्यायालय में धारा 164 सीआरपीसी का बयान दर्ज कराते हुए प्रकरण में महज 03 दिनों के भीतर साक्ष्य संकलित करते हुए विवेचना पूर्ण कर अभियोग पत्र तैयार कर दिनांक 29 अक्टूबर को माननीय न्यायालय सूरजपुर में पेश कर किया गया। इससे आरोपी को जल्द सजा मिल सकेगी और इस तरह की सोच रखने वालों को पुलिस की ओर से सख्त मैसेज भी जायेगा। ज्ञात हो कि जिले की पुलिस के द्वारा पूर्व में भी महिला संबंधी 2 प्रकरणों में अपराध पंजीबद्व होने के महज 5 दिनों के भीतर चालान पेश की जा चुकी है।

बुधवार, 28 अक्तूबर 2020

सूरजपुर पुलिस ने चोरी के मामले में 2 वर्षो से फरार आरोपी को किया गिरफ्तार।

सूरजपुर: दिनांक 08.05.2018 को मकनपुर निवासी देवानंद यादव पिता दामोदर यादव ने थाना प्रतापपुर में रिपोर्ट दर्ज कराया कि खुर्शीद आलम पिता स्व. मोहम्मद अब्दुल अजीज आलम निवासी तारानाखो, चौकी घोडथम्भा, थाना धनवार, जिला गिरीडीह झारखंड प्रार्थी के घर में 04 वर्षो से किराये में रहता था और स्वयं का जेसीबी मशीन रखा था जिससे खेत खुदाई का काम करवाता था, जेसीबी नबर जेएच 02 एबी 8133 की देखभाल प्रार्थी करता था। दिनांक 04.05.18 को यह और इसकी पत्नी शादी में गए थे घर में इनके बच्चे थे, इसी दौरान प्रार्थी के घर में रखा एक टीन का पेटी जिसमें 3 लाख रूपये को गुलाबा तोड़कर एवं घर के बरामदे में रखा मोटर सायकल स्पेलेन्डर क्रमांक सीजी 15-7378 को चोरी कर ले गया और जेसीबी मशीन को ऑपरेटर के माध्यम से तीन दिन पहले ही अपने गांव भेज चुका था। प्रार्थी की रिपोर्ट पर थाना प्रतापपुर में अपराध क्रमांक 59/18 धारा 380 भा.दं.सं. के तहत मामला पंजीबद्व कर विवेचना में लिया गया। प्रकरण का आरोपी ग्राम तारानाखो निवासी खुर्शीद आलम घटना दिनांक से ही फरार था जिसकी गिरफ्तारी हेतु कई बार पुलिस टीम उसके रहने के संभावित स्थानों व सकुनत पर दबिश दे चुकी थी किन्तु वह पकड़ा में नहीं आया था।
          पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने जिले की कमान संभालने के बाद से ही पुराने लंबित अपराधों के निकाल एवं फरार आरोपियों की पतासाजी कर उनकी धरपकड़ हेतु पुलिस टीम गठित कर लगातार मामलों की मानिटरिंग करते हुए टीम को दिशा-निर्देश देते रहे।
          पुलिस अधीक्षक के मार्गदर्शन में मामले के आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस टीम उसके सकुनत ग्राम तारानाखो, चौकी घोडथम्भा, थाना धनवार, जिला गिरीडीह झारखंड पहुंची और गत दिवस पुलिस टीम ने वहां की स्थानीय पुलिस की मदद, सूझबूझ तथा बेहतर रणनीति के बदौलत आरोपी खुर्शीद आलम के सकुनत पर दबिश देकर उसे हिरासत में लिया। पूछताछ पर आरोपी ने अपराध करना स्वीकार कर बताया कि चोरी की गई रकम को खर्च कर दिया है, आरोपी के निशानदेही पर स्पेलेण्डर मोटर सायकल क्रमांक सीजी 15-7378 को बरामद कर वापस प्रतापपुर पहुंची जहां उसकी विधिवत गिरफ्तार के बाद न्यायिक रिमाण्ड पर भेजा गया।
          इस कार्यवाही में थाना प्रभारी प्रतापपुर विकेश तिवारी, एसआई सी.पी. तिवारी, एएसआई बजरंगी लाल चौहान, प्रधान आरक्षक राहुल गुप्ता, आरक्षक रावेन्द्र पाल व नौशाद खान सक्रिय रहे।