बुधवार, 21 सितंबर 2022

सूरजपुर पुलिस ने पीएसीएल चिटफण्ड कंपनी के डायरेक्टर को किया गिरफ्तार

जिले के करीब 11 हजार निवेशकों से करीब 30 करोड़ रूपये का किया गया धोखाधड़ी

सूरजपुर। पुलिस महानिदेशक छत्तीसगढ़ श्री अशोक जुनेजा व पुलिस महानिरीक्षक सरगुजा रेंज श्री अजय कुमार यादव के द्वारा चिटफण्ड कंपनी के विरूद्ध लंबित मामलों के निराकरण में तेजी लाने एवं आरोपियों की गिरफ्तारी के निर्देश दिए थे, इसी परिपेक्ष्य में पुलिस अधीक्षक श्री रामकृष्ण साहू के निर्देशन में थाना सूरजपुर पुलिस ने चिटफण्ड कंपनी के 1 डायरेक्टर को गिरफ्तार किया है। विगत वर्ष 2016 में ग्राम केतका, थाना सूरजपुर निवासी कमल सिंह केराम एवं ग्राम गंगोटी, चौकी बसदेई निवासी रनमेत बाई ने रिपोर्ट दर्ज कराया था कि आरोपी सुखदेव सिंह निवासी जलियाकलान थाना चमकौर साबेह जिला रोपड़ पंजाब एवं उसके अन्य साथियों के द्वारा पैसा दोगुना करने का प्रलोभन देकर रूपया जमा कराया गया जो मैच्यूरिटी अवधि पूर्ण होने पर भी पैसा वापस नहीं कर धोखाधड़ी किया गया। दोनों ही मामलों की रिपोर्ट पर थाना सूरजपुर में क्रमशः अपराध क्रमांक 96/16 व अपराध क्रमांक 182/16 धारा 420, 120बी भादसं., 4,5,6 ईनामी चिट और धन परिचालन अधिनियम 1978, छ.ग. निक्षेपकों के हितों की संरक्षण अधिनियम 2005 की धारा 10 पंजीबद्ध कर विवेचना की गई। पूर्व में इस कंपनी के डायरेक्टर निर्मल सिंह भंगू, त्रिलोचन सिंह व सुखदेव सिंह को गिरफ्तार किया जा चुका है। पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री रामकृष्ण साहू ने चिटफण्ड के प्रकरणों में फरार आरोपियों की पतासाजी कर गिरफ्तार करने पुलिस टीम को लगाया था। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मधुलिका सिंह व एसडीओपी सूरजपुर प्रकाश सोनी के मार्गदर्शन में मामले की विवेचना के दौरान जानकारी मिली कि पीएसीएल कंपनी का डायरेक्टर जोगेन्दर टाईगर वर्तमान में थाना कोतवाली जिला कर्वधा में पंजीबद्ध मामले में गिरफ्तार होकर जिला जेल कवर्धा में निरूद्ध है जिसके बाद थाना सूरजपुर की पुलिस ने माननीय न्यायालय से प्रोडेक्शन वारंट प्राप्त कर आरोपी को कर्वधा जेल से विधिवत सूरजपुर लाया गया और विस्तृत पूछताछ के बाद दोनों मामलों में कंपनी के डायरेक्टर आरोपी जोगिंदर टाईगर पिता रघुवीर सिंह उम्र 66 वर्ष चंडीगढ़ पंजाब फनबिल, थाना सदर, जिला पटियाला पंजाब को गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय सूरजपुर में पेश किया गया। पूछताछ पर आरोपी ने बताया कि वह पीएसीएल कंपनी का डायरेक्टर था और अन्य डायरेक्टर के साथ मिलकर निवेशकों के राशि को डबल करने का झांसा देकर धोखाधड़ी करते हुए सूरजपुर जिले के करीब 11 हजार निवेशकों का करीब 30 करोड़ रूपये की धोखाधड़ी किया है। इस कार्यवाही में थाना प्रभारी सूरजपुर प्रकाश राठौर, निरीक्षक जावेद मियांदाद, एसआई संतोष सिंह, एएसआई रोपन टोप्पो, प्रधान आरक्षक विवेकानंद सिंह, आरक्षक अनुज सिंह, सुहैल राजा व हरिशंकर सिंह सक्रिय रहे। 

कोयला चोरी मामले में 01 आरोपी गिरफ्तार, थाना प्रतापपुर पुलिस की कार्यवाही

सूरजपुर। बीते 21 जुलाई को थाना प्रातपपुर पुलिस ने मुखबीर की सूचना पर ग्राम गोंदा में चोरी का कोयला परिवहन कर रहे ट्रक क्रमांक सीजी 15 एसी 5100 को रोकवाया, पुलिस को देखकर ट्रक का चालक अंधेरे का फायदा उठाकर भाग निकला, ट्रक में 2 व्यक्ति देवेन्द्र सिंह व महेन्द्र सिंह निवासी ग्राम गोंदा मिले जिन्हें पकड़ा गया, ट्रक की तलाशी लेने पर उसमें 15 टन कोयला कीमत 60 हजार रूपये का लोड़ पाया जो चोरी का होने के अंदेशा पर धारा 41(1-4)/379 भादसं. के तहत कार्यवाही करते हुए ट्रक एवं कोयला जप्त कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था, वहीं मामले में अन्य आरोपी की पतासाजी की जा रही थी। पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री रामकृष्ण साहू ने मामले में आरोपी की पतासाजी कर गिरफ्तार करने के निर्देश थाना प्रभारी को दिये थे। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मधुलिका सिंह व एसडीओपी प्रतापपुर अमोलक सिंह के मार्गदर्शन में जप्त ट्रक के मालिक चंद्रिका प्रसाद जायसवाल से कोयला स्वामित्व के संबंध में दस्तावेज चाही गई जो कोई दस्तावेज प्रस्तुत नहीं करने पर मामले में आरोपी चंद्रिका प्रसाद जायसवाल पिता रामस्वरूप राम उम्र 63 वर्ष निवासी लटोरी को गिरफ्तार किया गया। इस कार्यवाही में थाना प्रभारी प्रतापपुर लक्ष्मण सिंह धुर्वे, एसआई राजेश तिवारी, प्रधान आरक्षक भागवत पैंकरा व आरक्षक जयप्रकाश पन्ना सक्रिय रहे। 

सोमवार, 19 सितंबर 2022

गायत्री भूमिगत खदान से कोयला चोरी मामले में 5 गिरफ्तार, थाना सूरजपुर पुलिस की कार्यवाही


सूरजपुर। पुलिस अधीक्षक श्री रामकृष्ण साहू ने अवैध कारोबार पर अंकुश लगाने के कड़े निर्देश पर थाना-चौकी की पुलिस के द्वारा अवैध धंधे पर लगातार कार्यवाही जारी है। बीते दिन गायत्री भूमिगत खदान के सुरक्षा प्रभारी कृष्ण कुमार दुबे ने थाना सूरजपुर पुलिस को मोबाईल पर सूचना दिया कि करीब 7-8 की संख्या में चोर गायत्री भूमिगत खदान में घुसकर 14 बोरी कोयला करीब 10 क्विंटल चोरी कर पोड़ी जंगल की ओर भागे है। सूचना मिलते ही थाना सूरजपुर की पुलिस मौके पर पहुंची जहां सुरक्षा प्रभारी ने बताया कि बेलटिकरी का शिवधारी सिंह, ग्राम सपकरा निवासी धनेश्वर राजवाड़े अपने अन्य 4-5 साथियों के साथ खदान के पीछे दीवाल के टूटे हुए क्षतिग्रस्त भाग से खदान परिसर में घुसकर कोल स्टाक के कोयला को बोरियों में भरकर बाहर ले जाकर अपने-अपने मोटर साईकिल व साईकिल में लोड कर पोड़ी जंगल की ओर भागे है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मधुलिका सिंह व एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी के मार्गदर्शन में थाना सूरजपुर की पुलिस आरोपियों की पतासाजी करते हुए पोड़ी जंगल में घेराबंदी लगाए तभी कुछ लोग मोटर सायकल व सायकल में चोरी का कोयला बोरी में भरकर जाते दिखे। पुलिस को देखकर चोर सायकल व मोटर सायकल छोड़कर भागने लगे। पुलिस ने पीछा कर आरोपी (1) ओमप्रकाश राजवाड़े पिता खमेश्वर उम्र 20 वर्ष निवासी पेण्डरखी, थाना जयनगर (2) जगत पाल सिदार पिता बसंत राम उम्र 20 वर्ष (3) सुरेन्द्र सिंह पिता नान्हू राम उम्र 26 वर्ष निवासी भरतपुर, थाना सूरजपुर (4) शिवधारी सिंह पिता मोहन सिंह उम्र 32 वर्ष निवासी बेलटिकरी (5) धनेश्वर राजवाड़े पिता सिकुल राम उम्र 30 वर्ष निवासी सपकरा, थाना सूरजपुर को पकड़ा है। मौके से पुलिस ने 10 क्विंटन कोयला कीमत करीब 11 हजार रूपये, 4 मोटर सायकल व 3 सायकल जप्त कर धारा 379 भादसं. के तहत कार्यवाही कर पांचों आरोपियों को गिरफ्तार किया है। वहीं मामले में 3 आरोपी फरार है जिनकी पतासाजी की जा रही है। इस कार्यवाही में थाना प्रभारी सूरजपुर प्रकाश राठौर, प्रधान आरक्षक ऐसन पाल, संजय सिंह राजपूत, आरक्षक हरिशंकर सिंह व दीपक दुबे सक्रिय रहे।

2 अर्न्तराज्जीय शराब तस्कर से 850 पाव अंग्रेजी शराब जप्त, थाना सूरजपुर पुलिस की कार्यवाही।शराब परिवहन में प्रयुक्त होण्डा अमेज कार भी किया गया जप्त


सूरजपुर। पुलिस अधीक्षक श्री रामकृष्ण साहू ने अवैध नशे के कारोबार पर पूर्णतः अंकुश लगाने के निर्देश थाना-चौकी प्रभारियों को दिए थे जिसमें थाना-चौकी की पुलिस के द्वारा अवैध धंधे पर लगातार कार्यवाही जारी है। इसी कड़ी में रविवार को कोतवाली पुलिस ने मुखबीर की सूचना पर 2 अर्न्तराज्जीय शराब तस्कर को पकड़ा है जिनके कब्जे से 850 पाव अंग्रेजी शराब एवं परिवहन में प्रयुक्त कार जप्त कर आबकारी एक्ट के तहत कार्यवाही किया है। दिनांक 18.09.22 को थाना सूरजपुर पुलिस को मुखबीर से सूचना मिली कि शहडोल मध्यप्रदेश से एक सफेद रंग के कार होण्डा अमेज क्रमांक एमएच 03 सीएच 1073 में दो व्यक्ति भारी मात्रा में अंग्रेजी शराब विक्रय करने हेतु सूरजपुर की ओर आने वाले है। मामले की सूचना से पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री रामकृष्ण साहू को अवगत कराने पर उन्होंने पूर्ण सर्तकता के साथ घेराबंदी लगाकर कार्यवाही करने के निर्देश दिए। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मधुलिका सिंह व एसडीओपी सूरजपुर प्रकाश सोनी के मार्गदर्शन में थाना सूरजपुर की पुलिस ने ग्राम परसापारा मेन रोड़ सुतिया नाला के पास नाबाबंदी लगाया। परसापारा में लगाए गए नाकाबंदी में एक सफेद रंग का होण्डा अमेज कार आते दिखा जिसे मुस्तैदी से घेराबंदी कर कार सहित रमाकांत उर्फ राहुल तिवारी पिता मनोज तिवारी उम्र 21 वर्ष निवासी हरदी 32, मिर्ची टोला, थाना शिवपुर जिला शहडोल मध्यप्रदेश एवं अंकित शर्मा पिता रमाशंकर शर्मा उम्र 24 वर्ष निवासी टिकरीटोला वार्ड क्र. 15 बुढ़ार, थाना बुढ़ार, जिला शहडोल मध्यप्रदेश को पकड़ा गया। कार की तलाशी लेने पर उसमें अंग्रेजी शराब मिला जिसके संबंध में दोनों से दस्तावेज की मांग किए जाने पर कोई दस्तावेज प्रस्तुत नहीं किए। आरोपियों के कब्जे से गोवा अंग्रेजी शराब 850 पाव पाया गया। मामले में गोवा अंग्रेजी शराब कीमत 62,900 रूपये एवं परिवहन में प्रयुक्त होण्डा अमेज कार कीमत 4,00,000 रूपये का जप्त कर धारा 34(2) आबकारी एक्ट के तहत कार्यवाही कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। इस कार्यवाही में थाना प्रभारी सूरजपुर प्रकाश राठौर, एसआई संतोष सिंह, एएसआई हीरालाल साहू, रघुवंश सिंह, प्रधान आरक्षक मोहम्मद तालिब शेख, आरक्षक लक्ष्मी नारायण मिर्रे, रामकुमार नायक, सत्यम सिंह, राधेश्याम साहू व प्रदीप साहू सक्रिय रहे। 

एसडीओपी सूरजपुर गीता वाघवानी के स्थानान्तरण पर पुलिस परिवार सूरजपुर ने दी विदाई

सूरजपुर। 1 वर्ष तक जिले में अपनी सेवाएं देने के बाद एसडीओपी सूरजपुर गीता वाघवानी का स्थानान्तरण डीएसपी बालक विरूद्ध अन्वेषण शाखा जिला बालौद हुआ है। स्थानान्तरण पर पुलिस परिवार सूरजपुर के द्वारा रविवार, 18 सितम्बर को जिला पुलिस कार्यालय में विदाई सम्मान का आयोजन किया गया। जहां पुलिस अधीक्षक श्री रामकृष्ण साहू व पुलिस राजपत्रित अधिकारियों ने स्थानान्तरित एसडीओपी को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया। पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री रामकृष्ण साहू ने कहा कि एसडीओपी गीता वाघवानी सदैव अपने कार्यो के प्रति सजगता के साथ कार्य कर अधिनस्थों को सहयोग व मार्गदर्शन देते रहे। कर्तव्य निष्ठ रहते हुए अनुशासन को बनाए रखा। जिले में बेहतर कार्य किये, पुलिस की अभियानों, खासकर बाईक चोरों पर कार्यवाही, उठाईगिरी सहित अन्य मामलों के खुलासा में इनकी अहम भूमिका रही इससे लोगों में पुलिस के प्रति विश्वास और बढ़ा, इनकी पुलिसिंग में संवेदनशीलता दिखती थी, न दिन देखा न रात हर परिस्थितियों में अधिनस्थों के साथ डटे रहा और कार्यवाहियों को गति दिया। कार्यक्रम के अंत में एसडीओपी गीता वाघवानी ने जिले में किए अपने कार्यो के बारे में अनुभव साझा कर कहा कि पुलिस अधीक्षक महोदय के मार्गदर्शन में अच्छा कार्य करने और कई कार्यवाहियों के दौरान अच्छी चीजे सीखने का मौका मिला, यहां की पुलिस टीम अच्छी है और अपने कर्तव्यों के प्रति सजग एवं संवेदनशील है, किसी भी कार्य को टीमवर्क करते हुए सफलता हासिल करती है। इस अवसर में जिले के पुलिस अधिकारियों के द्वारा स्थानान्तरित एसडीओपी को पुष्पगुच्छ भेटकर उनका सम्मान किया। इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मधुलिका सिंह, सीएसपी जे.पी.भारतेन्दु, एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी, डीएसपी मुख्यालय नंदिनी ठाकुर, एसडीओपी ओड़गी राजेश जोशी, एसडीओपी प्रतापपुर अमोलक सिंह, प्रशिक्षु डीएसपी दीपमाला कुर्रे, जिले के सभी थाना-चौकी प्रभारी, जिला पुलिस कार्यालय के अधिकारीगण मौजूद रहे। 

पास्को एक्ट की विवेचना में बरते सावधानी- जिला व सत्र न्यायाधीश सूरजपुर, पुलिस अधीक्षक कार्यालय में आयोजित हुआ एक दिवसीय कार्यशाला


सूरजपुर। महिला व बाल अपराध पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन जिला पुलिस कार्यालय के सभाकक्ष में रविवार, 18 सितम्बर को किया गया जिसका शुभारंभ माननीय जिला व सत्र न्यायाधीश श्री गोविन्द नारायण जांगड़े ने मॉ सरस्वती की प्रतिमा पर दीप प्रज्जवलित कर किया। थानों में विभिन्न आपराधिक मामलों में किशोर न्याय अधिनियम से जुड़े प्रकरण की विवेचना काफी संवेदनशीलता एवं सावधानी से की जानी चाहिए। बाल मनोविज्ञान एवं जेजे एक्ट के प्रावधान का परिपालन सजगता किया जाना आवश्यक है। अपराधों की विवेचना में सावधानी बरते, घटना से जुड़े छोटे-छोटे साक्ष्यों को संकलित करें, आपकी सही विवेचना ही आरोपी को सजा दिलाने में कारगर साबित होगा। उक्त बातें माननीय जिला व सत्र न्यायाधीश श्री गोविन्द नारायण जांगड़े कार्यशाला में कही। उन्होंने कहा कि बच्चों व महिलाओं को सुरक्षा व सम्मान देने जेजे एक्ट बनाया गया है, बच्चों से जुड़े मामले काफी संवेदनशील होते है, ऐसे मामलों में एहतियात बरतते हुए विवेचना करने की बात कही। पुलिस अधीक्षक श्री रामकृष्ण साहू ने कहा कि इस कार्यशाला से हमारे थाना-चौकी प्रभारी व विवेचकों को किशोर अपराध से जुड़े मामलों की पड़ताल में सहायता मिलेगी, विवेचक सजगता के साथ नियमानुसार विधि अनुरूप कार्यवाही कर सकेंगे। कार्यशाला में माननीय प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश श्री ओमप्रकाश सिंह चौहान ने महिला विरूद्ध अपराध के बारे में, माननीय अपर सत्र न्यायाधीश सुश्री रंजू राऊत राय ने पास्को एक्ट, माननीय अपर सत्र न्यायाधीश श्री राजेन्द्र कुमार वर्मा ने एनडीपीएस एक्ट तथा माननीय न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी श्री आनंद कुमार सिंह ने पीड़ित क्षतिपूर्ति योजना के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी देते हुए विवेचकों को मार्गदर्शन दिया। उन्होंने विवेचकों को कहा कि विवेचना के दौरान गवाहों के कथन सहित अन्य दस्तावेजों में जांचकर्ता अधिकारी के हस्ताक्षर, स्पष्ट नाम, पद अनिवार्य रूप से अंकित की जावें। जीपी योगेन्द्र सिंह देव व एडीपीओ आर.के.चौरसिया ने चालान पेश करते समय बरती जाने वाली सावधानियों सहित कई अन्य जरूरी जानकारियों से अवगत कराया। एक दिवसीय कार्यशाला में थाना-चौकी प्रभारी व थाना में पदस्थ विवेचकों ने हिस्सा लिया जिन्होंने माननीय न्यायाधीश से विवेचना संबंधी अपने प्रश्नों को बताया और उसका उत्तर जाना। इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मधुलिका सिंह, सीएसपी जे.पी.भारतेन्दु, एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी, एसडीओपी सूरजपुर गीता वाधवानी, डीएसपी मुख्यालय नंदिनी ठाकुर, एसडीओपी ओड़गी राजेश जोशी, एसडीओपी प्रतापपुर अमोलक सिंह, प्रशिक्षु डीएसपी दीपमाला कुर्रे, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. आर.एस.सिंह, डॉ. दीपक जायसवाल, जिले के सभी थाना-चौकी प्रभारी, जिला पुलिस कार्यालय के अधिकारीगण मौजूद रहे।

शनिवार, 17 सितंबर 2022

नशे के अवैध कारोबार पर सूरजपुर पुलिस की निरंतर कार्यवाही जारी, मादक पदार्थ गांजा सहित 2 गिरफ्तार, थाना रामानुजनगर पुलिस की कार्यवाही


सूरजपुर। पुलिस अधीक्षक श्री रामकृष्ण साहू के निर्देश के बाद अवैध कारोबार में लिप्त लोगों के विरूद्व पुलिस की लगातार कार्रवाई जारी है। इसी क्रम में थाना रामानुजनगर पुलिस को मुखबीर से सूचना मिला कि ग्राम नारायणपुर में दो व्यक्ति मादक पदार्थ गांजा बिक्री करने के लिए ग्राहक की तलाश कर रहे है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मधुलिका सिंह व एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी के मार्गदर्शन में शनिवार को रामानुजनगर पुलिस की टीम ने ग्राम नारायणपुर में घेराबंदी कर ग्राम बचरापोड़ी, थाना खड़गवां जिला कोरिया निवासी विकास साहू पिता रामधारी साहू उम्र 23 वर्ष एवं नरेन्द्र साहू पिता जय नारायण उम्र 23 वर्ष को पकड़ा जिसके कब्जे से मादक पदार्थ गांजा 1 किलो 100 ग्राम कीमत करीब 20 हजार रूपये का जप्त कर धारा 20बी एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्यवाही कर दोनों को गिरफ्तार किया गया। इस कार्यवाही में थाना प्रभारी रामानुजनगर रूपेश कंुतल, प्रशिक्षु डीएसपी दीपमाला कुर्रे, एसआई मनी प्रसाद राजवाड़े, एएसआई बिसुनदेव पैंकरा, मंजू सिंह, आरक्षक महेन्द्र प्रताप सिंह सक्रिय रहे।

रेलवे साइडिंग चेक पोस्ट से लोहे का बाट चोरी मामले में थाना रामानुजनगर पुलिस ने 3 को किया गिरफ्तार


सूरजपुर। दिनांक 16.09.22 को रामानुजनगर के अदानी कंपनी का सिक्यूरिटी आफिसर रमेश बघेल ने थाना रामानुजनगर में रिपोर्ट दर्ज कराया कि चेक पोस्ट के बगल में कोयला वजन करने हेतु लोहे का 50-50 किलो का बाट करीब 80 नग रखा हुआ था, 11 सितम्बर के रात्रि में कोई अज्ञात व्यक्ति के द्वारा 2 नग बाट को चोरी कर ले गया है। मामले की रिपोर्ट पर धारा 379 भादसं. के तहत मामला पंजीबद्ध किया गया। एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी के मार्गदर्शन में चोर की पतासाजी की जा रही थी इसी बीच मुखबीर से सूचना मिला कि ग्राम दवना का कमलभान सिंह लोहे का बाट रखा और बिक्री करने के लिए ग्राहक की तलाश कर रहा है। सूचना पर थाना रामानुजनगर पुलिस ने त्वरित कार्यवाही करते हुए दबिश देकर कमलभान सिंह पिता शिव सिंह उम्र 25 वर्ष को पकड़ा। पूछताछ पर उसने बताया कि अपने साथी राहुल द्धिवेदी एवं अशोक सिंह के साथ 2 मोटर सायकल से अदानी रेलवे साइडिंग चेक पोस्ट पहुंचे और 2 नग लोहे का बाट चोरी करना स्वीकार किया। मामले में संलिप्त आरोपी राहुल द्धिवेदी पिता आदित्य उम्र 25 वर्ष निवासी रामानुजनगर व अशोक सिंह पिता जवाहर लाल उम्र 22 वर्ष ग्राम सरईपारा, थाना रामानुजनगर को भी घेराबंदी कर पकड़ा गया। आरोपियों के निशानदेही पर 50-50 किलो का लोहे का बाट कीमत करीब 10 हजार रूपये एवं घटना में प्रयुक्त 2 नग मोटर सायकल जप्त कर तीनों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। इस कार्यवाही में थाना प्रभारी रामानुजनगर रूपेश कुंतल, प्रशिक्षु डीएसपी दीपमाला कुर्रे, एएसआई बिसुनदेव पैंकरा व प्रधान आरक्षक हंसराम कनेडिया सक्रिय रहे।

शुक्रवार, 16 सितंबर 2022

सूरजपुर पुलिस ने महिला सुरक्षा एप ’’अभिव्यक्ति’’ की जानकारी देने चलाया अभियान, पुलिस के द्वारा स्कूल, आश्रम, छात्रावास में जाकर दी जानकारी।


सूरजपुर। महिलाओं की सुरक्षा के लिए अभिव्यक्ति एप छत्तीसगढ़ पुलिस विभाग द्वारा तैयार किया गया है। इस अभिव्यक्ति ऐप के इस्तेमाल से महिलाओं को विपरित परिस्थितियों में तत्काल पुलिस सहायता मिलेगी। इसके अलावा इस एप के माध्यम से महिलाएं कहीं से भी अपनी शिकायत पुलिस के पास दर्ज करा सकेंगी। पुलिस अधीक्षक श्री रामकृष्ण साहू ने अभिव्यक्ति ऐप का जिले में बेहतर क्रियान्वयन एवं महिलाओं-छात्राओं को इस सुरक्षा ऐप का ज्यादा से ज्यादा उपयोग कराने एवं व्यापक रूप से प्रचार-प्रसार के लिए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मधुलिका सिंह को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है। एएसपी मधुलिका सिंह के मार्गदर्शन में शुक्रवार को जिले के थाना-चौकी प्रभारियों के द्वारा महिला सुरक्षा ऐप अभिव्यक्ति के प्रचार-प्रसार एवं इसके इस्तेमाल को लेकर पुलिस के अधिकारी विभिन्न स्कूलों, आश्रम एवं छात्रावास पहुंची और शिक्षकगण की मौजूदगी में एप के इस्तमाल के बारे में जानकारी दी। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि मोबाइल फोन में प्ले स्टोर से अभिव्यक्ति महिला सुरक्षा एप डाउनलोड करना है। इसमें उन्हें साइन इन करना है, अपना मोबाइल नंबर डालना है, ओटीपी आएगा उसे एप में डालना है, केवायसी अपडेट करना है, जिसके बाद महिलाएं कभी भी इस एप के माध्यम से अपनी शिकायत अपलोड कर तुरंत पुलिस की सहायता प्राप्त कर सकती है और कानून के संबंध में किसी प्रकार के असमंजस की स्थिति में पुलिस अधिकारी से जानकारी लेने खुद अपना मोबाईल नंबर से छात्राओं को अवगत कराया।

अभिव्यक्ति एप में महिला सुरक्षा संबंधी दी गई है कई महत्वपूर्ण जानकारियां

पुलिस अधिकारियों ने छात्राओं को कहा कि छत्तीसगढ़ पुलिस की अभिव्यक्ति एप में महिला सुरक्षा से जुड़े कई अहम जानकारियां मौजूद है जिसे जरूर अध्ययन करें। उन्हें महिला संबंधी अधिकारों, कानूनी प्रावधानों के बारे में जानकारी दी गई। कहीं आने-जाने के दौरान किसी प्रकार की समस्या अथवा परेशानी होने पर एप का इस्तेमाल कर पुलिस को अवगत कराए यथासंभव पुलिस जल्द आप तक पहुंचेगी और पुलिस सहायता उपलब्ध होगी।

तेंदपत्ता कार्ड का केवाईसी के नाम पर अंगूठा लगवाकर ग्रामीणों से 125700 रूपये ठगी करने वाला आरोपी गिरफ्तार, थाना चंदौरा पुलिस की कार्यवाही

सूरजपुर। दिनांक 01.08.22 को ग्राम ठूठीझरिया थाना चंदौरा में एक अज्ञात व्यक्ति तेंदूपत्ता कार्ड का केवाईसी करने के नाम से आया व लगभग 21 ग्रामीणों का आधार कार्ड के माध्यम से फिंगरप्रिंट मशीन में अंगूठा लगवा कर सभी ग्रामीणों के खातों से अलग-अलग कुल 125700 रूपये धोखाधड़ी कर निकाल लिया, ग्रामीणों की शिकायत पर दिनांक 09.08.22 को मामले में अज्ञात व्यक्ति के विरुद्ध अपराध क्रमांक 110/22 धारा 420 भादसं. के तहत मामला पंजीबद्ध किया गया। लोगों के साथ हुए धोखाधड़ी के मामले की सूचना पर पुलिस अधीक्षक श्री रामकृष्ण साहू ने अज्ञात आरोपी की पतासाजी कर गिरफ्तार करने के निर्देश दिए। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मधुलिका सिंह व एसडीओपी प्रतापपुर अमोलक सिंह के मार्गदर्शन में आरोपी की गहनता से खोजबीन की जा रही थी और नई तकनीकी की भी मदद ली गई। इसी बीच मुखबीर से धोखाधड़ी करने वाले व्यक्ति के बारे में महत्वपूर्ण सूचना मिली जिसके आधार पर आरोपी तुलसी यादव पिता जगदीश यादव उम्र 26 वर्ष निवासी गझगवां, थाना प्रतापपुर को पकड़ा गया। पूछताछ पर आरोपी ने अपराध कबूल करते हुए बताया की वह पिछले 7-8 महीनों से ऑनलाइन तीन पत्ती वीडियो गेम खेलने का आदि हो चुका है जिसमें लगभग ढाई लाख रूपये हार गया था इसी दौरान उसे पता चला कि ग्राम ठूठीझरिया में तेंदूपत्ता कार्ड का केवाईसी नहीं हुआ है और वहां मोबाइल सिग्नल भी ठीक से नहीं आता है तब वीडियो गेम में हारे पैसा की भरपाई के लिए ग्राम ठूठीझरिया के ग्रामीणों के साथ धोखाधड़ी करने का षड्यंत्र बनाया व घटना को अंजाम दिया और धोखाधड़ी किए गए पैसों को भी वह ऑनलाइन वीडियो गेम में हार गया है। आरोपी के कब्जे से मामले में इस्तेमाल किए गए मोटर साइकिल, एंड्राइड मोबाइल एवं फिंगरप्रिंट मशीन को जप्त कर आरोपी को गिरफ्तार किया है। इस कार्यवाही में थाना प्रभारी चंदौरा शिवकुमार खुंटे, एएसआई अत्येंद्र सिंह, प्रधान आरक्षक आनंद सिंह, रामकुमार, उदय सिंह, आरक्षक सेलवेस्टर लकड़ा, रवि जायसवाल व विनय कुमार सक्रिय रहे।   

'सायबर की पाठशाला' : सायबर जागरूकता अभियान कड़ी-3

'सायबर की पाठशाला' : सायबर जागरूकता अभियान कड़ी-3
सायबर की पाठशाला में आज तीसरे पाठ में हम समझने की कोशिश कर रहे हैं कि एक सुरक्षित लिंक कैसा दिखता या होता है। धोखेबाज/अपराधी आम लोगों को ठगने के लिए बैंको के नाम से मिलते जुलते नाम या अक्षरों का प्रयोग करके एक यूआरएल/URL बनाता है और उसे मोबाइल पर सीधे मैसेज के रूप में भेजता है इन लिंकनुमा URL पर क्लिक करते ही आप ठगी के शिकार हो जाते हैं। यदि लिंक में anydesk, mingle, teamviewer जैसे शब्द हैं तो आपके फोन को हैक करने का प्रयास हो रहा है, तुरंत मैसेज डिलिट करें। लिंक पर क्लिक बिलकुल न करें। अनजान से व्यक्तियों से फोन पर ज्यादा बात न करें और न ही उन्हें किसी भी तरह की जानकारी दें चाहे कुछ भी हो जाए। तभी आप ठगी से बच पाएंगे। इस तरह के फर्जीवाड़ों पर और विस्तार से जानकारी के लिए इस श्रृंखला पर नजर बनाए रखें। पिछले पाठों को फिर से जानने के लिए/ पुनरावलोकन के लिए तस्वीर पर क्लिक करें या ऊपर के संबंधित टैब (सायबर की पाठशाला) पर क्लिक करें।