शनिवार, 29 अगस्त 2020

सूरजपुर पुलिस ने सुलझाई सलका में हुए अंधे कल्ल की गुत्थी, 2 आरोपी गिरफ्तार.......

 


सूरजपुर: दिनांक 25.08.2020 को ग्राम सलका निवासी जगमोहन सिंह पिता सुखलाल ने थाना सूरजपुर में रिपोर्ट दर्ज कराया कि इसकी माॅ फगुनी बाई एवं पिता सलका चारपारा के नए घर में रहते है जहां सुबह 8 बजे बेलटिकरी काम करने गया था, दोपहर 1 बजे इसके मझला भाई रामनाथ फोन करके बताया कि रात्रि में कोई अज्ञात व्यक्ति के द्वारा माॅ को सिर में खपटकर मार दिया है, मौके पर पहुंचकर देखा कि माॅ खाट पर मृत अवस्था में पड़ी है। जगमोहन की रिपोर्ट पर अज्ञात व्यक्ति के विरूद्व अपराध क्रमांक 349/20 धारा 302 भादसं. का पंजीबद्व किया गया। थाना प्रभारी ने मामले की सूचना से पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा को अवगत कराया जिस पर उन्होंने पुलिस टीम को घटना स्थल का बारीकी से निरीक्षण करने, साक्ष्य संकलन कर मामले से जुड़े सभी बिन्दुओं पर गंभीरतापूर्वक जांच करने के निर्देश दिए।
          अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर व सीएसपी जे.पी.भारतेन्दु के मार्गदर्शन में मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने घटना स्थल का निरीक्षण एवं शव पंचनामा के बाद मृतिका के शव को पीएम हेतु भेजा गया। हत्या के कारणों का पता लगाने लगातार जांच विवेचना एवं पूछताछ की गई जो पाया कि आरोपी का मृतिका से जमीन विवाद था और घटना दिनांक को सुरेन्द्र सिंह एक अन्य व्यक्ति के साथ मृतिका के घर तरफ गया था।
          जिसके आधार पर पुलिस टीम ने सुरेन्द्र सिंह को हिरासत में लेकर पूछताछ करने पर काफी टाल-मटोल कर जांच की दिशा भटकाने का प्रयास करते रहा और अंततः उसने अपराध कबूल किया और बताया कि इसके पिता के द्वारा मृतिका के पति सुखलाल को जमीन व बाड़ी मौखित तौर पर दान में दिया था जिस पर सुखलाल 2 मकान बनाया था और शेष भूमि पर कृषि कार्य करता था उस जमीन को कब्जा में लेना चाहता था तथा वर्तमान में उस जमीन पर कुछ फसल बोवाई करवाया था जिस कारण मृतिका लगातार सुरेन्द्र को गाली-गलौज करती थी। जिससे क्षुब्ध होकर घटना दिनांक 24/08/20 के दरम्यिानी रात्रि में अपने साथी हरण सिंह के साथ मृतिका के घर पहुंचा जहां इसके द्वारा डण्डा से मृतिका फगुनी बाई को लेटे हालत में कनपटी पर प्रहार कर हत्या कर दिया। आरोपियों के मेमोरण्डम के आधार पर हत्या में प्रयुक्त डण्डा जप्त किया गया तथा मामले में धारा 450, 34 भादसं जोड़ी जाकर आरोपी ग्राम सलका-चारपारा निवासी 33 वर्षीय सुरेन्द्र सिंह पिता पूरनराम एवं 34 वर्षीय हरण सिंह उर्फ लल्लू पिता सीताराम को विधिवत् गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

इस कार्यवाही में थाना प्रभारी सूरजपुर धर्मानंद शुक्ला, प्रधान आरक्षक बिसुनदेव पैंकरा, अदीप प्रताप सिंह, आरक्षक सुरेश साहू, रावेन्द्र पाल, रामकुमार नायक, जे.पी.तिवारी व अनुज सिंह सक्रिय रहे।

सूरजपुर पुलिस ने पत्नी के हत्यारे पति को किया गिरफ्तार........

सूरजपुर: दिनांक 27/08/2020 को ग्राम हरिहरपुर निवासी रनसाय चेरवा ने थाना चंदौरा में रिपोर्ट दर्ज कराया कि संतोष सिंह पिता पूरन उम्र 28 वर्ष निवासी हरिहरपुर चैनपुरपारा का रहने वाला है जो कृष्णा कुमारी को ग्राम कल्याणपुर से पत्नी बनाकर अपने घर में लाकर रखा था अपनी पत्नी के साथ घरेलू कामकाज की छोटी-छोटी बात को लेकर आए दिन वाद-विवाद, लड़ाई-झगड़ा करता था दिनांक 26.08.2020 को भी पत्नी के साथ वाद-विवाद किया। दिनांक 27.08.2020 के सुबह 10.30 बजे दिन में घरेलू विवाद को लेकर अपनी पत्नी कृष्णा कुमारी को टांगा से प्रहार कर हत्या कर दिया कि रिपोर्ट पर संतोष सिंह के विरूद्व धारा 302 भा.दं.सं. का अपराध पंजीबद्व कर विवेचना में लिया गया।
          मामले की सूचना पर पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने थाना प्रभारी चंदौरा को आरोपी की जल्द गिरफ्तारी करने के निर्देश दिए। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर व एसडीओपी प्रतापपुर राकेश पाटनवार के मार्गदर्शन में थाना चंदौरा की पुलिस टीम के द्वारा आरोपी संतोष सिंह पिता पूरन उम्र 28 वर्ष निवासी हरिहरपुर चैनपुरपारा, थाना चंदौरा को हिरासत में लेकर पूछताछ करने पर वह अपराध घटित करना स्वीकार कर बताया कि घरेलू कामकाज की छोटी-मोटी बात को लेकर हमेशा लड़ाई-झगड़ा करती थी जिससे तंग आकर अपनी पत्नी को टांगा से प्रहार कर हत्या कर दिया। आरोपी के निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त टांगा को जप्त करते हुए आरोपी को विधिवत् गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

इस कार्यवाही में थाना प्रभारी चंदौरा बाजीलाल सिंह, चौकी प्रभारी रेवटी के.पी.चौहान, एएसआई राम सिंह, प्रधान आरक्षक रविशंकर चैबे, आरक्षक मनमोहन विश्वकर्मा, रामप्यारे पैंकरा, अखिलेश दुबे, सैनिक प्रताप सिंह, धनेश्वर सिंह सक्रिय रहे।

सूरजपुर पुलिस ने नशीली दवाओं के साथ 2 किया गिरफ्तार......

 

सूरजपुर: पुलिस ने दो लोगों से 6 हजार 795 रूपये कीमत के नशीली दवाओं के साथ गिरफ्तार किया है। पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा के द्वारा जिले के थाना-चौकी प्रभारियों को नशे के कारोबार से जुड़े लोगों के विरूद्व कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश दिए है। इसी परिपेक्ष्य में शुक्रवार 28 अगस्त को थाना प्रभारी सूरजपुर धर्मानंद शुक्ला को मुखबीर से सूचना मिली कि ढुढ़रा चंदरपुर चौक के पास 2 व्यक्ति नशीली दवा की बिक्री करने के लिए ग्राहक की तलाश कर रहे है। जिसकी सूचना से पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा को अवगत कराए जाने पर उन्होंने तत्काल रेड़ कार्यवाही करने के निर्देश दिए।
          अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर के मार्गदर्शन में थाना सूरजपुर की पुलिस टीम मुखबीर सूचना की तस्दीक व कार्यवाही हेतु ढुढरा चंदरपुर चौक के पास जैसे ही पहुंची 2 व्यक्ति भागने लगे जिन्हें घेराबंदी कर पकड़ा गया। जिनसे पूछताछ करने पर अपना नाम प्रियंश सिंह उर्फ मोन्टू पिता बसंत सिंह उम्र 27 वर्ष एवं भूपेन्द्र दास उर्फ राकेश पिता परमेश्वर दास उम्र 24 वर्ष दोनों निवासी वार्ड क्रमांक 06, माईनस कालोनी विश्रामपुर का होना बताए। जिनके कब्जे से *एविल इंजेक्शन 10 एमएल का 26 नग, आर्म एविल 10 एमएल 03 नग एवं रेक्सोजेसिक 2 एमएल का 28 नग जिसकी बाजारू कीमत करीब 6 हजार 795 रूपये* का जप्त कर धारा 21ए एनडीपीएस एक्ट के तहत् कार्यवाही कर दोनों को विधिवत् गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।
          पूछताछ पर आरोपियों ने बताया कि पटना, जिला कोरिया से नशीली दवाओं को लाकर विश्रामपुर सहित सूरजपुर क्षेत्र के नशेड़ी प्रवृत्ति के लोगों को 5-10 गुना अधिक दर पर बेचकर लाभ अर्जित करते थे।

इस कार्यवाही में थाना प्रभारी सूरजपुर धर्मानंद शुक्ला, एसआई रश्मि सिंह, हिम्मत सिंह शेखावत, आरक्षक वसीम राजा, कैलाश यादव, रामकुमार नायक, हेमंत यादव, शिवकुमार, व रामदयाल राठिया सक्रिय रहे।

मंगलवार, 25 अगस्त 2020

सूरजपुर पुलिस ने हत्यारे भाई को किया गिरफ्तार......

 

सूरजपुर: दिनांक 23 अगस्त 2020 को ग्राम चंदननगर ठिहाईपारा निवासी नेमकुंवर यादव ने थाना प्रेमनगर में रिपोर्ट दर्ज कराया कि 22 अगस्त को इसका बड़ा लड़का जीवन प्रसाद अपने भांजी संतोषी को लेकर तिवरागुड़ी टीसी कटवाने गये थे जो लगभग 7-8 बजे शाम को फोन कर छोटे लड़के भुवनेश्वर प्रसाद को बोला कि मोटर साईकल खराब हो गया है लेने आ जाओं परन्तु कोई साधन नहीं रहने से छोटा लड़का लेने नहीं गया। रात्रि करीब 12.30 बजे जीवन प्रसाद एवं नातीन संतोषी वापस घर आये उसके बाद जीवन ने भुनेश्वर को लेने क्यों नहीं गये कहकर गाली गलौज करते हुए हाथ, झापड़ व लात से मारपीट करने लगा तब भुवनेश्वर तुम हमेशा मारपीट करते हो आज तुम्हें जिन्दा नहीं छोडूंगा, मारकर खत्म कर दूंगा कहते हुए साईकिल पंप को उठाकर जीवन प्रसाद के सिर मुंह एवं गला में मारकर हत्या कर दिया, रिपोर्ट पर थाना प्रेमनगर में अपराध क्रमांक 62/20 धारा 302 भादसं. का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना कार्यवाही में लिया गया। मामले की सूचना पर पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने आरोपी की गिरफ्तारी करने के निर्देश देते हुए खुद मामले की लगातार मानिटरिंग करते रहे।  
          अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर व एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी के मार्गदर्शन में थाना प्रेमनगर की पुलिस टीम के द्वारा प्रकरण में आरोपी भुनेश्वर प्रसाद यादव जो घटना के बाद से फरार हो गया था उसकी पतासाजी कर उसे पास के जंगल से घेराबंदी कर पकड़ा तथा हत्या में प्रयुक्त साईकिल में हवा भरने वाले पम्प को आरोपी के मेमोरण्डम के आधार पर बरामद कर अपराध सबूत पाए जाने पर आरोपी भुनेश्वर प्रसाद यादव पिता स्व. देवधारी यादव उम्र 22 वर्ष को विधिवत् गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।
इस कार्यवाही में थाना प्रभारी प्रेमनगर ओ.पी.कुजूर, एसआई गणेश राम चैहान, आरक्षक चन्द्रकांत बिजनेर, राकेश पोर्ते, बलदेव सिंह, सत्यनारायण तिवारी, प्रवीण मिंज व भुनेश्वर सिंह सक्रिय रहे।

सूरजपुर पुलिस ने 95 हजार 960 रूपये कीमत के मादक पदार्थ गांजा के पौधों के साथ 01 को किया गिरफ्तार.....

23 किलो 990 ग्राम वजनी 287 नग गांजा का पौधा किया गया जप्त।

सूरजपुर: पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा ने जिले में नशीले पदार्थ के क्रय-विक्रय पर अंकुश लगाने एवं अवैध कारोबार में संलिप्त लोगों के विरूद्व कठोर कार्यवाही करने को लेकर पुलिस अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए है, निर्देश के पालन में थाना प्रभारियों ने क्षेत्र में मजबूत सूचना तंत्र बिछा रखा है।
          सोमवार 24 अगस्त 2020 को थाना प्रभारी चंदौरा बाजीलाल सिंह को मुखबीर से सूचना मिली कि ग्राम घुमाडांड-कथरापारा निवासी रामस्वरूप सिंह अपने मकई खेत बाड़ी में गांजा का पौधा लगाया है जिसकी सूचना से पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा को अवगत कराए जाने पर उन्होंने तत्काल कार्यवाही करने के निर्देश दिए।
          अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर व एसडीओपी प्रतापपुर राकेश पाटनवार के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी चंदौरा पुलिस टीम के साथ मुखबीर सूचना की तस्दीकी व कार्यवाही हेतु ग्राम घुमाडांड-कथपारारा निवासी रामस्वरूप के यहां पहुंची और उसे तलब कर उसके मकई बाड़ी में खोजबीन करने पर बाड़ी से 287 नग अवैध मादक पदार्थ गांजा का पौधा वजन 23 किलो 990 ग्राम कीमत 95 हजार 960 रूपये का पाए जाने पर आरोपी रामस्वरूप सिंह पिता संतोषी सिंह उम्र 55 वर्ष के विरूद्व धारा 20बी एनडीपीएस एक्ट के तहत् अपराध पंजीबद्व कर विधिवत् गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पर भेजा गया।

इस कार्यवाही में थाना प्रभारी चंदौरा बाजीलाल सिंह, चौकी प्रभारी रेवटी के.पी.चौहान, प्रधान आरक्षक विशाल गुप्ता, आरक्षक मनोज राय, अनुरूद पैकरा, मनमोहन विश्वकर्मा, विकास सिंह व बृजलाल राजवाड़े सक्रिय रहे।

सोमवार, 17 अगस्त 2020

सूरजपुर पुलिस ने गुम हुए 30 मोबाईल बरामद कर संबंधित को सौंपे...........

*करीब 2 लाख रूपए की कीमत के 30 मोबाईल सुपुर्द किए।*

*लगातार जारी रहेगा अभियान- पुलिस अधीक्षक सूरजपुर।*

सूरजपुर: जिले से गुम हुए मोबाइलों को खोजने के लिए सूरजपुर पुलिस की ओर से विशेष अभियान चलाया गया। सोमवार 17 अगस्त 2020 को बरामद हुए 30 मोबाइलों को संबंधित व्यक्तियों को सौंपे गए। यह मोबाइल सर्विलांस में लगाकर ट्रेस किए गए थे। पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा के निर्देशन में गुम हुए मोबाइल को खोजने के लिए विशेष अभियान चलाया गया। जिसमें साइबर सेल को आवश्यक निर्देश दिए गए कि जो मोबाइल गुम होने संबंधी आवेदन प्राप्त हुए उनका तुरंत ही निराकरण किया जाए। जिस पर सर्विलांस में लगाकर गुम मोबाईल को ट्रेस किए गए। मोबाइल बरामद होने पर आवेदकों को उनके मोबाईल सुपुर्द किए गए।

करीब 2 लाख रुपए की कीमत के 30 मोबाइल सुपुर्द किए।

जिनमें आवेदक संजय गवेल, सुनेश्वर पैंकरा, टिकेश्वरी ध्रुव, राजेश अग्रवाल, सूरज कुमार, लेफ सिंह, दिनानाथ विश्वकर्मा, इरफान खान, आशिक खान, गुलाम अहमद, राजेश साहू, संतोष साहू, पवन मित्तल, डाॅ. ममता शर्मा, इंदू प्रजापति को उनके गुम हुए मोबाईल दी गई। इसके अलावा 15 अन्य लोग जो जिले के विभिन्न क्षेत्र के निवासी है उन्हें संबंधित थाना-चैकी के माध्यम से मोबाईल को सौंपा जाएगा। मोबाइल खोजने में साइबर सेल से आरक्षक युवराज यादव, रौशन सिंह, विनोद सारथी की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। इस कार्यवाही पर पुलिस महानिरीक्षक, सरगुजा रेंज, सरगुजा श्री रतनलाल डांगी ने टीम को नगद ईनाम देने की घोषणा की है।

लगातार जारी रहेगा अभियान।

पुलिस अधीक्षक श्री कुकरेजा ने बताया कि जिले की पुलिस के द्वारा गुम हुए मोबाईल खोजने का यह अभियान लगातार जारी रहेगा। इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर, थाना प्रभारी सूरजपुर धर्मानंद शुक्ला व एएसआई संजय सिंह मौजूद रहे।

बुधवार, 12 अगस्त 2020

पुलिस अधीक्षक सूरजपुर ने चुना थाना प्रभारी सूरजपुर को काॅप आफ द मंथ।

सूरजपुर: जिले में पुलिस अधिकारी-कर्मचारी को उत्कृष्ठ कार्य कुशलता के साथ जिम्मेदारियों का निर्वहन, कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम हेतु किए गए बेहतर कार्य पर अब पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा प्रति माह जिले के एक पुलिस अधिकारी-कर्मचारी को *काॅप आफ द मंथ* से सम्मानित किये जाने का निर्णय लिया है।
          इसी तारतम्य में आज पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री कुकरेजा ने माह जुलाई में जिले के समस्त पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों के कार्यो का आंकलन के पश्चात् थाना प्रभारी सूरजपुर धर्मानंद शुक्ला के कार्यो को सबसे उत्कृष्ठ पाया। पुलिस अधीक्षक ने निरीक्षक धर्मानंद शुक्ला को काॅप आफ द मंथ के लिए चुना है।
          पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इस योजना के तहत जिले के समस्त पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों द्वारा किए गए उत्कृष्ट कार्यों का मूल्यांकन कर प्रत्येक माह एक पुलिस अधिकारी-कर्मचारी को काॅप आफ द मंथ से सम्मानित किया जाएगा। बीते जुलाई माह के कार्यो की समीक्षा पर पाया गया कि निरीक्षक धर्मानंद शुक्ला ने उत्कृष्ट कार्य कुशलता से अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन किया, साथ ही कोरोना संक्रमण की इस घड़ी में 24 घण्टे प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के साथ कदम से कदम मिलाकर डटे रहे। उन्होंने आशा व्यक्त किया कि जिले के अन्य पुलिस अधिकारी-कर्मचारी भी इससे प्रेरणा लेकर अपने-अपने क्षेत्रों में अच्छा कार्य करेंगे।