सोमवार, 25 मई 2020

पुलिस अधीक्षक सूरजपुर ने झीरम श्रद्धांजली दिवस पर अधिकारी-कर्मचारी को दिलाई शपथ..........

झीरम घाटी में हुए नक्सली घटना में शहीदों के सम्मान में मौन धारण कर दी श्रद्धांजली।

सूरजपुर: सोमवार 25 मई को पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने झीरम श्रद्धांजली दिवस पर जिला पुलिस कार्यालय में झीरम घाटी में हुए नक्सली हिंसा की घटना पर शहीदों को याद करते हुए उन्हें विनम्र श्रद्धांजली अर्पित की। पुलिस अधीक्षक सहित अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, एएसपी मुख्यालय एवं कार्यालय के समस्त अधिकारी-कर्मचारी ने शहीदों के सम्मान में दो मिनट का मौन धारण कर उन्हें श्रद्धांजली दी। छत्तीसगढ़ शासन ने हर साल 25 मई को झीरम के शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए झीरम श्रद्धांजलि दिवस मनाने का निर्णय लिया है।
        इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर, एएसपी मुख्यालय पी.एस.महिलाने, थाना प्रभारी सूरजपुर धर्मानंद शुक्ला, रक्षित निरीक्षक भूपेन्द्र कुर्रे सहित जिला पुलिस कार्यालय के सभी अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे।

शनिवार, 23 मई 2020

सूरजपुर कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक ने कोरोना वारियर्स का बढ़ाया मनोबल...


*एनएसएस वालेटियर सबसे बडे़ कोरोना वारियर्स के तौर पर दे रहे अपनी सेवा।*

*पुलिस एवं प्रशासन के साथ कंधे से कंधा मिलाकर कार्य कर रहे है।*


सूरजपुर: कोरोना वायरस के संकट से नागरिकों को बचाने के लिए राष्ट्रीय सेवा योजना के वालेटियर सूरजपुर जिले के विभिन्न थाना क्षेत्रों के बैंक, सब्र्जी मार्केट एवं भीड़भाड़ वाले स्थानों पर अपनी सेवाए देते हुए सोशल व फिजिकल डिस्टेसिंग का पालन, मास्क के उपयोग को दिनचर्या में शामील करने की समझाईश दे रहे है। इन कोरोना वारियर्स की बैठक कलेक्टर श्री दीपक सोनी एवं पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा ने जिला पुलिस कार्यालय के सभाकक्ष में ली और इनसे चर्चा कर इनके सेवा के अनुभव का जाना और कोरोना संकट के बीच किए कार्यो को लेकर इनका मनोबल बढ़ाया।
          इस दौरान कलेक्टर श्री दीपक सोनी ने एनएसएस वालेटियर को कहा कि कोरोना महामारी में आपके द्वारा प्रशासन एवं पुलिस के साथ कंधे से कंधा मिलाकर कार्य कर रहे है, कोविड-19 के संकट के बीच घरोें से बाहर निकलकर नागरिकों को सुरक्षित रखने के लिए आपके द्वारा किया गया यह कार्य सबसे बडे़ कोरोना वारियर्स के तौर देखा जा रहा है। उन्होंने कहा कि जिले में एक्टिव और यंग कोरोना वारियर्स के तौर पर आप सेवा दे रहे है आपके इन सब कार्यो से संक्रमण के प्रसार को रोकने एवं लोगों को जागरूक करने में हम काफी हद तक सफल हुए है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए बैलेंस बनाकर कार्यो में छूट दी जा रही है। कलेक्टर ने कहा कि नियमों का पालन न करने की सूचनाएं मिलती है यह अच्छी बात है कि लोग प्रशासन व पुलिस तक सूचनाएं पहुंचा रहे है। उन्होंने एनएसएस वालेटियर को कोरोना वारियर्स के तौर पर दी जा रही सेवाओं पर प्रशंसा की।
          पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा ने कहा कि आप सभी ने बैंक सहित अन्य स्थानों पर नागरिकों के बीच रहकर उन्हें कोरोना के संक्रमण को लेकर सावधानी बरतने, सेनेटाइजर, मास्क का उपयोग करने, सोशल व फिजिकल डिस्टेसिंग का पालन करने की समझाईश लगातार दे रहे है जिसका खासा असर भी देखने को मिल रहा है। उन्होंने कहा कि आपने पूरे ऊर्जा के साथ लोगों को सुरक्षित रखने में हमारा साथ दिया। आपके द्वारा दी गई सेवाओं से अब नागरिकों में अपनी सुरक्षा को लेकर जागरूकता आई है। पुलिस अधीक्षक ने इन वारियर्स को कहा कि सेवा देने के दौरान अपनी भी सुरक्षा को ध्यान में रखे।

मास्क बनाकर जरूरत मंद को किया वितरण।

महाविद्यालय के प्रोफेसर सी.बी.मिश्रा ने कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक को अवगत कराया कि एनएसएस वालेटियर मनीलाल, जीशान अहमद, संजय सिंह, भूपेन्द्र प्रताप, उमेश कुमार, कौलेश्वर, रमेश कुमार, प्रीति सिंह, रेखा देवांगन व संजू कुमार ने स्वयं मास्क बनाकर अपने गांव सहित अन्य आसपास क्षेत्र के जरूरत मंद लोगों को निःशुल्क वितरण किया है। इस जानकारी पर कलेक्टर श्री दीपक सोनी व पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा ने कहा कि आप सभी के इस सेवाभाव की जितनी प्रशंसा की जाए कम है, बिना किसी मदद के औरों तक जरूरी मदद पहुंचाना प्रशंसनीय कार्य है।
इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर, एएसपी मुख्यालय पी.एस.महिलाने, अपर कलेक्टर एम.एस.मोटवानी, प्रोफेसर सी.बी.मिश्रा, ओ.पी.राजवाड़े, शिक्षक विजेन्द्र सिंह एवं एनएसएस वालेटियर मौजूद रहे।

मंगलवार, 19 मई 2020

सूरजपुर पुलिस व प्रशासन ने चेन्नई से मुंगेली जा रहे श्रमिक भाईयों को चाय, बिस्किट, भोजन की कराई व्यवस्था......

श्रमिकों के साथ मौजूद बच्चे के लिए उपलब्ध कराई दूध।

सूरजपुर: कोरोना के संकट के बीच श्रमिकों का अपनी घर वापसी का सिलसिला चल रहा है और वे निकल पड़े है अपने गांवों की ओर ताकि जल्द से जल्द अपने घर को पहुंच जाए। पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने इस कठिन घड़ी में श्रमिक भाईयों की हर संभव सहायता को लेकर पुलिस अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश के साथ ही अन्य राज्यों में फसे लोगों के जिले की सीमा में लगे बैरियर पर पहुंचने पर उनके खाने-पीने के प्रबंध किए जाने के निर्देश दिए है। जिला प्रशासन भी श्रमिकों के लिए आवश्यक मदद के साथ ही उनके आवागमन को लेकर व्यवस्था में लगी हुई है।
          सूरजपुर जिले में अन्य जिलों तथा राज्य से आवाजाही की निगरानी के लिए सीमावर्ती इलाकों में चेक पोस्ट बनाए गए है। सोमवार 18 मई को चेन्नई से मुंगेली के लिए निकले 9 श्रमिक जिनके साथ एक बच्चा भी था वे छत्तीसगढ़-मध्यप्रदेश के सरहद जिला सूरजपुर के बार्डर नवाटोला बैरियर जो थाना चांदनी के अन्तर्गत आता है वहां पैदल पहुंचे थे। पुलिस व प्रशासन ने श्रमिक भाईयों को सोशल व फिजिकल डिस्टेंसिंग के साथ उन्हें चाय, बिस्किट, पानी, भोजन एवं बच्चे के लिए दूध की व्यवस्था कराई एवं उनके गतव्य पर जाने के लिए वाहन की व्यवस्था भी मव्हुैया कराया। श्रमिकों ने बताया कि शनिवार को चेन्नई से रीवा तक टेªन में आए, रीवा से बैढन तक प्रशासन के द्वारा उपलब्ध कराए बस में पहुंचे और बैढ़न से पैदल सूरजपुर जिले के बार्डर नवाटोला पर पहुंचे है। पुलिस व प्रशासन के इस सेवाभावी कदम से न केवल श्रमिक बल्कि श्रमिक भाईयों के साथ मौजूद बच्चे में भी खुशी की ललक देखी गई। पुलिस अधीक्षक ने इस बैरियर पर विशेष निगाह रखने के निर्देश एसडीओपी ओडगी मंजूलता बाज को दी है।
          इस दौरान एसडीओपी ओड़गी मंजूलता बाज, थाना प्रभारी चांदनी शिवकुमार खुटे, एएसआई विदवा राम यादव, प्रधान आरक्षक अशोक कुजूर, मनिजर कुर्रे व शैलेन्द्र सिंह सक्रिय रहे।

सूरजपुर पुलिस ने किया अंधे कत्ल का खुलासा, 01 गिरफ्तार.....

सूरजपुर: दिनांक 28.03.2020 को ग्राम हरिहरपुर, प्रेमनगर निवासी सूचक शोेभनाथ पिता चारपरिहा धनहार ने थाना प्रेमनगर में आकर सूचना दिया कि इसकी पत्नि बुधनी बाई प्रातः घर की पीछे डबरी (तालाब) में शौच के लिए गई थी काफी देर तक नहीं आने पर उसे देखने गया तो उसकी पत्नी डबरी के पानी में फिसलकर कीचड में फौत हो गई थी तब इसने अपनी पत्नी को पानी से बाहर निकाला व अपनी लडकी रमपतिया को आवाज देकर बुलाया। सूचना पर प्रेमनगर पुलिस ने मर्ग क्रमांक 14/20 धारा 174 जा.फौ कायम कर जांच की गई।
          पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने इस मर्ग की जांच अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर के नेतृत्व में एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी, थाना प्रभारी प्रेमनगर ओ.पी.कुजूर की टीम को गंभीरतापूर्वक किए जाने के निर्देश दिए।
          जांच कार्यवाही में पुलिस टीम के द्वारा घटना स्थल ग्राम हरीहरपुर मुड़ापारा में कैम्प कर घटना स्थल का बारीकी से अवलोकन कर आस-पड़ोस के ग्रामीणों से पूछताछ किया गया। ग्रामीणों के द्वारा बताया गया घटना के समय डबरी (तालाब) में घुटना तक पानी होना बताया एवं संदेेह व्यक्त किये। पुलिस टीम ने स्वतंत्र गवाह से पूछताछ करने पर घटना दिनांक को डबरी तालाब के पास महुआ बीनने की बात बताई व डबरी तालाब से कूदा रे नी बाचो की आवाज आने पर जाकर मेड से देखने पर बुधनी बाई को खुलासो बाई पानी में दबाई थी, इसी दौरान एक महिला ने घटना को देख लिया जिस पर खुलासो बाई ने उस महिला को इस घटना की बात किसी को नहीं बताने हेतु कहा। घटना को देखने के बाद वह महिला वहां से अपने घर चली गई और दोपहर को अपने पति को भी घटना के बारे में बताई दूसरे दिन एक और महिला को भी घटना के बारे में बताई थी।
          पुलिस टीम के द्वारा संदेेही खुलासो बाई से पूछताछ करने पर पहले तो वह पुलिस को गुमराह कर घटना में किसी प्रकार का हाथ नहीं होना बताई किन्तु पुलिस टीम के द्वारा बारीकी से परत दर परत पूछताछ करने पर घटना को अंजाम देना स्वीकार करते हुए बताई कि 2-3 साल पहले पति शोभनाथ ने बुधनी बाई को दूसरी पत्नी बनाकर ले आया था बुधनी बाई के द्वारा हमेशा मुझसे विवाद करते रहती थी व पति को अपने कब्जे में कर मुझसे दूर रखती थी जिस कारण घटना दिनाक 28.03.2020 की सुबह बुधनी बाई घर के पीछे डबरी तालाब में झुक कर हाथ मुंह धो रही थी तब इसके द्वारा पीछे से जाकर धक्का देकर गिरा दी और पानी में डुबा दी। खुलासो बाई के द्वारा बुधनी बाई की हत्या करने पर थाना प्रेमनगर पुलिस के द्वारा अपराध क्रमांक 27/20 धारा 302 भादवि के तहत् मामला पंजीबद्व करते हुए खुलासो बाई को विधिवत् गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

इस कार्यवाही में एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी, थाना प्रभारी प्रेमनगर ओ.पी.कुजूर, प्रधान आरक्षक अनुराग यादव, आरक्षक राजेश सिंह, चन्द्रकात बिजनेर, हरीश दुबे, महिला नगर सैनिक अंशु सिंह व अनीता बड़ा सक्रिय रहे।

रविवार, 17 मई 2020

सूरजपुर पुलिस ने प्रवासी मजदूरों के लिए कराई बिस्किट, पानी, भोजन एवं बच्चों के लिए दूध की व्यवस्था....

मजदूरों के नंगे पाव देख उन्हें उपलब्ध कराई चरण पादुका।

विपदा की इस घड़ी में सूरजपुर पुलिस का एक छोटा सा विनम्र सेवाभाव।


सूरजपुर: कोरोना संक्रमण के बीच लॉक डाउन के कारण अन्य राज्यों से छत्तीसगढ़ के सीमावर्ती जिलों में प्रवेश करने वाले प्रवासी मजदूरों, यात्री जो भीषण गर्मी में छत्तीसगढ़ आ रहें है और बिना चरण पादुका के सफर कर रहे है उनके लिए माननीय मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ शासन ने सभी जरूरतमंदों को चरण पादुका का वितरण करने का आव्हान किया है। साथ ही माननीय डीजीपी एवं आईजीपी सर का भी लगातार प्रवासी श्रमिकों की मदद सहित अन्य कार्यो के संबंध में निर्देश एवं मार्गदर्शन प्राप्त हो रहे है। इसी कड़ी में पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा के मार्गदर्शन में जिले के सीमावर्ती चेक पोस्ट में प्रवासी मजदूरों को भोजन, पानी व जरूरतमंद श्रमिकों को चरण पादुका का वितरण किया जा रहा है साथ ही प्रशासन के सहयोग से श्रमिकों को उनके जिले के बार्डर तक पहुंचाने के लिए वाहनों की व्यवस्था भी कराई जा रही है।
          कोरोना वायरस के संकट की घड़ी में संक्रमण को रोकने जिले के सरहद एवं चौक-चौराहों में पुलिस बल की तैनाती की गई है। पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा के नेतृत्व में एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी एवं एसडीएम सूरजपुर पुष्पेंद्र शर्मा के मार्गदर्शन में चौकी प्रभारी तारा राजेश तिवारी अपनी टीम के साथ कोरबा जिले के सरहद से लगे सूरजपुर जिला के तारा चेक पोस्ट पर 24 मार्च से चौबीसों घंटा मुस्तैदी से अपने कर्तव्य पथ पर तैनात है। इनकी टीम कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए प्राप्त समस्त निर्देशों का पालन करते हुए माननीय संवेदना को ध्यान में रखकर धैर्यतापूर्वक अपने कर्तव्यों का निर्वहन कर तारा चेक पोस्ट नेशनल हाईवे क्रमांक 130 पर स्थित है इस चेक पोस्ट से दूसरे प्रदेशों से आने वाले झारखंड, उत्तरप्रदेश एवं बिहार के प्रवासी मजदूर काफी संख्या में प्रतिदिन गुजरते है जिनके लिए भोजन, पानी, बच्चों के लिए दूध की व्यवस्था एवं जरूरतमंद श्रमिकों को चरण पादुका वितरित की जा रही है। संकट की घड़ी में प्रवासी मजदूरों को मदद के साथ ही जिले की पुलिस सोशल एवं फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करने की समझाईश एवं उन्हें मास्क पहनने के लिए जागरूक कर मास्क का वितरण किया जा रहा है।
          समाज के सभी वर्ग इस विपत्ति के समय लोगों की मदद कर रहे है साथ ही पुलिस भी कोविड-19 से जारी जंग के बीच अपने कर्तव्यों के साथ-साथ प्रवासी मजदूरों की मदद करते दिखाई दे रही है। जिले के चौकी तारा प्रभारी राजेश तिवारी व उनकी टीम के द्वारा प्रवासी मजदूरों के लिए बिस्किट, पानी, भोजन, छोटे बच्चों के लिए दूध एवं नंगे पांव वाले प्रवासी मजदूरों के लिए चरण पादुका की व्यवस्था कर रही है, साथ ही प्रवासी मजदूरों को उनके घरों तक भेजने बस से झारखंड बिहार एवं उत्तरप्रदेश के बॉर्डर तक भिजवाया जा रहा है।
         विपदा की इस घड़ी में पुलिस का यह एक छोटा सा विनम्र सेवाभाव है जिसके तहत श्रमिक भाईयों को मदद पहुंचाई जा रही है।

सूरजपुर पुलिस ने 76 हजार 5 सौ कीमत के चोरी के सामान के साथ 01 को किया गिरफ्तार....

आरोपी रात्रि में घर खुला देख चोरी की घटना को देता था अंजाम।

सूरजपुर: सूरजपुर पुलिस ने 76 हजार 5 सौ रूपये कीमत के मोबाईल, डीटीएच रिसिवर, लैपटाप व सोने के मांग टीका के साथ एक व्यक्ति को पकड़ा है जिसके विरूद्व धारा 41(1-4)जा.फौ./379 भादवि व धारा 457, 380 भादवि के तहत कार्यवाही करते हुए गिरफ्तार किया है।
         रविवार 17 मई को थाना प्रभारी जयनगर दीपक पासवान को मुखबीर से सूचना मिली कि सिलफिली निवासी आकाश सिंह एक बैग में लेपटाप और मोबाईल लेकर बेचने हेतु ग्राहक की तलाश में गांव में घुम रहा है। जिसकी सूचना से पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा को अवगत कराए जाने पर उन्होंने थाना प्रभारी जयनगर को घेराबंदी कर पकड़ने के निर्देश दिए।
         थाना प्रभारी जयनगर पुलिस टीम के साथ मुखबीर सूचना की तस्दीक व कार्यवाही हेतु सिलफिली के गोड़पारा पहुंचे जहां आकाश सिंह पुलिस टीम को देखकर भागने लगा जिसे घेराबंदी कर पकड़ा गया एवं उसके बैग की तलाशी लिए जाने पर बैग से सैमसंग, जियो, विडियोकान के 3 नग मोबाईल, एयरटेल का डीटीएच रिसिवर 01 नग, एचपी कंपनी का लैपटाॅप 01 नग, सोने का मांग टीका 01 नग मिला जो चोरी का होने की पूर्ण अंदेशा पर धारा 41(1-4)जा.फौ./379 भादवि के तहत जप्त किया गया। पूछताछ पर आकाश सिंह ने बताया कि करीब 2 माह पूर्व मदनपुर निवासी कृष्णा राय व संतोष सरकार एवं अजिरमा निवासी बबलू सिंह के यहां से उक्त वस्तुओं को चोरी करना स्वीकार किया। जयनगर पुलिस ने इसके बाद पीड़ितों से सम्पर्क कर उन्हें बुलाया और उनसे सामानों की पहचान कराई। प्रार्थी कृष्णा राय के द्वारा थाना जयनगर में आकाश सिंह के विरूद्व धारा 457, 380 भादवि के तहत् अपराध दर्ज कराया। आरोपी आकाश सिंह पिता रामचन्दर सिंह उम्र 19 वर्ष निवासी गोड़पारा सिलफिली, थाना जयनगर से उपरोक्त वस्तुएं कीमत 76 हजार 5 सौ रूपये का जप्त उसे विधिवत् गिरफ्तार किया गया। पूछताछ पर आरोपी ने यह भी बताया कि वह रात्रि के समय घुमकर जिस किसी का भी घर खुला देखता था उस घर में घुसकर छोटी-बड़ी वस्तुओं को चोरी करता था।
          इस कार्यवाही में थाना प्रभारी जयनगर दीपक पासवान, एएसआई विराट विशी, आरक्षक दीपक दुबे, शिव राजवाड़े, ललन सिंह, नीरज झा सक्रिय रहे।

पुलिस अधीक्षक सूरजपुर ने ली राहत प्रकरणों से जुड़े मामलों पर बैठक।

प्राकृतिक आपदा पर मृतक के परिजनों को 7 दिवस के भीतर राहत राशि दिलाने समन्वय बनाकर कार्य करने दिए निर्देश....


सूरजपुर: 11 मई को पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने जिले के थाना-चौकी प्रभारियों को प्राकृतिक आपदा, नैसर्गिक विपत्तियों सहित अज्ञात वाहन से दुर्घटना में घायल/मृत्यु तथा एक्ट्रोसिटी एक्ट के तहत पंजीबद्व होने वाले प्रकरणों में शासन के दिशा-निर्देश के अनुरूप दी जाने वाली सहायता राशि मृत व्यक्ति के परिवार के निकटतम व्यक्ति/वारिस अथवा पीड़ित को सहायता अनुदान दिलाने जाने हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश दी थी। पूर्व में दिए गए निर्देशों के पालन की स्थिति एवं प्राकृतिक आपदा से जुड़े मामलों की विस्तृत जानकारी लेने एवं ऐसे मामलों में मृतक के परिजनों को यथासंभव 7 दिवस के भीतर राहत राशि दिलाने को लेकर पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने शनिवार 16 मई 2020 को जिला पुलिस कार्यालय के सभाकक्ष में पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों की बैठक ली।
         बैठक में पुलिस अधीक्षक ने थाना-चौकी प्रभारियों से प्राकृतिक आपदा, कुआं में डुबने, आकाशीय बिजली गाज, सर्प काटने सहित इसी प्रकार के अन्य मामलों में हुए मृत्यु पर भेजे गए राहत प्रकरण एवं स्वीकृत राहत राशि की वस्तुस्थिति की समीक्षा करते हुए कहा कि ऐसे मामलों में मृतक के वारिस/परिजन को प्राथमिकता के आधार पर जल्द राहत दिलाई जाए, मर्ग की जांच के दौरान मृतक का पीएम रिपोर्ट डाॅक्टर से समन्वय स्थापित कर जल्द प्राप्त की जाये। उन्होंने राजपत्रित अधिकारियों को विशेष रूचि लेकर ऐसे मामलों की लगातार समीक्षा कर त्वरित राहत प्रकरण सुसंगत दस्तावेजों के साथ संबंधित कार्यपालिक मजिस्ट्रेट, एसडीएम कार्यालय को भेजवाने के निर्देश दिए।
          पुलिस अधीक्षक ने ऐसे मामलों पर जल्द राहत राशि दिलाने को लेकर अपर कलेक्टर, एसडीएम व तहसीलदार से चर्चा की। उन्होंने कहा कि कार्यो की व्यस्तता के बीच मृतक के परिजन को राहत पहुंचाने यथासंभव 7 दिवस के अंदर मृतक के वारिस/परिजन को राहत राशि स्वीकृत हो ताकि संबंधित पर आई विपदा का मुकाबला करने के लिए उनमें मनोबल बना रहे। राहत प्रकरण स्वीकृति की प्रक्रिया में किसी भी प्रकार सहयोग की आवश्यकता होने पर तत्काल अवगत कराने को कहा।
          बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर, पी.एस.महिलाने, अपर कलेक्टर एम.एस.मोटवानी, एसडीएम पुष्पेन्द्र शर्मा, सीएसपी जे.पी.भारतेन्दु, एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी, एसडीओपी ओड़गी मंजूलता बाज, एसडीओपी प्रतापपुर राकेश पाटनवार, तहसीलदार नंदजी पाण्डेय, थाना-चौकी प्रभारी सहित कार्यालय के अधिकारीगण मौजूद रहे।

शुक्रवार, 15 मई 2020

सूरजपुर कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक ने रेवटी बैरियर का लिया जायजा............

बैरियर पर पहुंचे मजदूरों को बसों से भेजी जा रही उनके मूल जिला।

सूरजपुर-बलरामपुर के कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक की रेवटी में हुई अंतरजिला बार्डर मीटिंग।

सूरजपुर। कोविड-19 के संक्रमण से नागरिकों को सुरक्षित रखने की मुहिम के तहत जिले के कलेक्टर श्री दीपक सोनी व पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा ने बैरियर पर तैनात पुलिस जवानों, स्वास्थ्य अमला व कोरोना वारियर्स के तौर पर सेवा दे रहे अधिकारी-कर्मचारी के बीच पहुंचकर उनका मनोबल बढ़ा रहे है, साथ ही अन्तर्राज्जीय व अंतर जिला के बैरियर पर पड़ोसी राज्य के जिले के कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक के साथ बार्डर मीटिंग कर संक्रमण के प्रसार को रोकने एवं अपराधिक गतिविधियों पर रोक लगाने को लेकर बैठक कर रहे है ताकि एक-दूसरे जिले की प्रशासन व पुलिस आपसी समन्वय के साथ बेहतर रणनीति के तहत् कार्य कर सके।
          इसी कड़ी में गुरूवार 14 मई को सूरजपुर कलेक्टर श्री दीपक सोनी व पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा ने सूरजपुर-बलरामपुर के बार्डर रेवटी बैरियर पहुंचे और बैरियत पर तैनात जवानों, स्वास्थ्य व प्रशासनिक अमले का मनोबल बढ़ाते हुए कहा कि हर समय मास्क लगाकर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ कार्य करें, स्वास्थ्य के प्रति जागरूक रहे, जो भी मजदूर बैरियर पर पहुंचते है उनके सुविधाओं का ध्यान रखे, किसी को तकलीफ न हो यह सुनिश्चित करें, शासन-प्रशासन के दिशा-निर्देशों का अक्षरशः पालन की जाए।
           सूरजपुर कलेक्टर ने कहा कि बैरियर में अस्वस्थ्य व्यक्ति के आने पर उसका प्राथमिक उपचार की जाए, उन्हें दवा-भोजन उपलब्ध कराए और ऐसे मामलों में तत्काल अनुमति प्राप्त कर उन्हें उनके जिले भेजी जाए। बैरियर पर मजदूरों के पहुंचने पर उन्हें बसों के जरिए उनके जिले भेजते हुए संबंधित जिले को उसकी जानकारी से अनिवार्य रूप से अवगत कराने को कहा। उन्होंने कहा कि मेरे द्वारा मजदूरों को उनके जिले में भेजने के कार्यो को माॅनिटरिंग की जा रही है।
            पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा ने जवानों को कहा कि संक्रमण से नागरिकों को बचाने के लिए खुद को फिट रखना जरूरी है इसके लिए नियमित तौर पर पोषणयुक्त खाद्य पदार्थ का सेवन करने कहा। उन्होंने चैकी प्रभारी रेवटी को कहा कि बैरियर पर तैनात जवानों के लिए हरसंभव सुविधाएं उपलब्ध कराये।

रेवटी में हुई सूरजपुर-बलरामपुर के कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक की अंतरजिला बार्डर मीटिंग।

गुरूवार को सूरजपुर-बलरामपुर के बार्डर रेवटी बैरियर में दोनों जिले के कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक की कोरोना संक्रमण की रोकथाम व बचाव को लेकर बैठक हुई। इस बैठक में  सूरजपुर कलेक्टर श्री दीपक सोनी व पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा, बलरामपुर कलेक्टर श्री संजीव झा, पुलिस अधीक्षक श्री टी.आर.कोसिमा सहित दोनों ओर के कई अधिकारीगण मौजूद रहे।
          बैठक में कोविड-19 वैश्विक महामारी की रोकथाम व बचाव के लिए किए गए इंतजाम, आपसी समन्वय के साथ कार्य करने, जिले में आने व बाहर जाने वाले मजदूर अनिवार्य रूप से क्वाॅरेंटाइन में रहे यह सुनिश्चित कराने के लिए मजदूरों की जानकारी एक-दूसरे जिले में साझा करने पर सहमति बनी। दोनों जिले में अपराधों की रोकथाम को लेकर भी रणनीति के तहत कार्य करने की योजना एवं सूचनाओं के आदान-प्रदान पर भी सहमति बनी। रेड व ओरेंज जोन के बारे में भी चर्चा की गई। दोनों ओर के प्रशासन व पुलिस कोरोना वायरस के नियंत्रण को लेकर गंभीर और मुस्तैद रहकर कार्य कर रही है।
          इस दौरान एसडीओपी प्रतापपुर राकेश पाटनवार, एसडीएम सीएस पैंकरा, जनपद सीओ मोहम्मद निजामुदद्धीन, चैकी प्रभारी रेवटी लवकुमार पाण्डेय, बलरामपुर जिले से एसडीएम विशाल महाराणा, एसडीओपी वाड्रफनगर ध्रुर्वेश जायसवाल, डिप्टी कलेक्टर विवेकचंद एवं चैकी प्रभारी वाड्रफनगर सुनील तिवारी मौजूद रहे।

सूरजपुर कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक ने किया जजावल का दौरा.........

सूरजपुर कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक किया जजावल का दौरा।

प्रशासन-पुलिस की व्यवस्था व सुरक्षा से खुश है जजावल व आसपास गांव के ग्रामीणजन।

दूध व सब्जी मिलने की जानकारी ली ग्रामीणों से।

ग्रामीणों ने 2 ट्रान्सफार्मर लगाने की मांग, कलेक्टर ने कहा जल्द लगवाई जायेगी ट्रान्सफार्मर।

जजावल को बनायेंगे आदर्श ग्राम, विकास के लिए बनाई जा रही कार्ययोजना -कलेक्टर सूरजपुर।


सूरजपुर। जिले के कलेक्टर श्री दीपक सोनी व पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा के द्वारा लगातार अंतरराज्जीय, अंतरजिला बैरियर, कंटेन्मेंट जोन में जाकर कोविड-19 से नागरिकों को सुरक्षित रखने मजबूती के साथ सेवा दे रहे अधिकारी-कर्मचारियों का मनोबढ़ बढ़ा रहे है, ग्रामीणों से मिलकर उन्हें वायरस से बचने की समझाईश एवं जजावल के ग्रामीणों को दी जा रही सामग्री की उपलब्ध की लगातार मानिटरिंग कर रहे है। कलेक्टर व एसपी के जजावल में लगातार दौरा कर व्यवस्थाओं को जायजा लेने पर ग्रामीणजन प्रशासन की व्यवस्था एवं पुलिस की पुख्ता सुरक्षा प्रबंध से काफी खुश है और वे प्रशासन व पुलिस का सहयोग कर रहे है। दोनों अधिकोरियों ने ग्राम पकनी के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का भी जायजा लिया।
          सूरजपुर कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक ने कन्टेन्मेंट जोन की व्यवस्था, सुरक्षा, ग्रामीणों को उपलब्ध कराई जा रही सामग्री की वस्तुस्थिति जानने एवं पुलिस, प्रशासन व स्वास्थ्य अमले का मनोबल ऊंचा बनाए रखने गुरूवार 14 मई को चंदौरा थाना क्षेत्र के ग्राम जजावल कन्टेन्मेंट जोन पहुंचे।
         इस दौरान कलेक्टर श्री दीपक सोनी व पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा ने जजावल कन्टेन्मेंट जोन में तैनात पुलिस के जवानों को एलर्ट रहकर ड्यूटी करने, कंटेन्मेंट जोन में किसी को आने-जाने नहीं देने, हर समय मास्क लगाकर तय दूरी बनाकर कार्य करने एवं स्वास्थ्य के प्रति जागरूक रहने के निर्देश दिए।

कलेक्टर ने ग्रामीणों से पूछा नियमित मिल रही दूध व सब्जी।

जजावल के दौरे पर पहुंचे कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक ने सोशल डिस्टेंसिंग के तहत् ग्रामीणों से चर्चा कर उन्हें संक्रमण से बचने के लिए सारे एहतियात बरतने की समझाईश दी। कलेक्टर श्री दीपक सोनी ने ग्रामीणों से पूछा कि आप सभी को सब्जी एवं पिलखा क्षीर का दूध मिल रहा है जिस पर ग्रामीणों ने नियमित तौर पर सब्जी व दूध मिलने की जानकारी दी।

प्रशासन-पुलिस की व्यवस्था व सुरक्षा से खुश है जजावल व आसपास गांव के ग्रामीणजन।

जजावल में मजदूरों को रखने हेतु क्वाॅरेटाइन कैम्प बनाने को लेकर वहां के ग्रामीणजन नाखुश थे और अब जिला प्रशासन की व्यवस्थाओं एवं पुलिस की सुरक्षा प्रबंध से जजावल सहित आसपास के ग्रामीणजन काफी खुश है। कलेक्टर श्री दीपक सोनी ने बताया कि जजावल सहित आसपास के गांव में स्वास्थ्य अमला लगातार जाकर ग्रामीणों का स्वास्थ्य परीक्षण कर रही है, प्रशासनिक, पुलिस व स्वास्थ्य अमले के लगातार आने-जाने से ग्रामीणों में हर्ष का माहौल है और सभी डाॅकडाउन का पालन कर प्रशासन व पुलिस को सहयोग दे रहे है। संक्रमण से लड़ने, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने हेतु जिले के भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर आयुष इम्युनिटी बूस्टर का वितरण एवं प्रचार किया जा रहा है। जिला प्रशासन कोरोना वायरस के संक्रमण से नागरिकों को बचाने के लिए प्रतिबद्ध है और लगातार इस दिशा में कार्य किए जा रहे है।

ग्रामीणों ने 2 ट्रान्सफार्मर लगाने की मांग, कलेक्टर ने कहा जल्द लगवाई जायेगी ट्रान्सफार्मर।


कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक ने ग्राम जजावल के सरपंच करमातो बाई व ग्रामीणजनों से मिलकर उनसे चर्चा की। इस दौरान ग्रामीणों ने जजावल गांव के कई मोहल्ले में कम वोल्टेज की समस्या होने एवं 2 ट्रान्सफार्मर लगाने की मांग की जिस पर कलेक्टर श्री दीपक सोनी ने ग्रामीणों को आश्वस्त किया जल्द उनके गांव में ट्रान्सफार्मर लगवाई जाएगी। कलेक्टर ने इस बारे में बिजली विभाग के अधिकारियों को आवश्यक निर्देश भी दिए है।

जजावल को बनायेंगे आदर्श ग्राम, विकास के लिए बनाई जा रही कार्ययोजना -कलेक्टर सूरजपुर।

कलेक्टर श्री दीपक सोनी ने जजावल, पकनी, चंदौरा के ग्रामीणजनों से मिलकर रूबरू हुए। कलेक्टर ने कहा रोजगार से जोड़ने की दिशा में जिला प्रशासन के द्वारा यहां के विकास के लिए कार्ययोजना बनाई जा रही है। नरवा, घुरवा, बाड़ी के अन्तर्गत ग्रामीणों को रोजगार उपलब्ध कराई जायेगी, मनरेगा के तहत् डबरी, तालाब जैसे कई कार्यो को कराया जायेगा। वनधन विकास योजना को लागू करवाया जायेगा। इसके साथ ही अन्य रोजगार के लिए हर संभव सहयोग किए जाएंगे ताकि क्षेत्र के युवाओं को रोजगार के अधिक अवसर प्राप्त हो। कलेक्टर श्री सोनी ने ग्रामीणों को कहा कि जजावल को आदर्श ग्राम बनायेंगे।
          इस दौरान एसडीएम प्रतापपुर सीएस पैंकरा, जनपद सीओ मोहम्मद निजामुद्दीन, एसडीओपी प्रतापपुर राकेश पाटनवार, तहसीलदार राधेश्याम तिर्की, थाना प्रभारी चंदौरा एन.के.त्रिपाठी, बीएमओ राजेश श्रेष्ठ सहित अन्य अधिकारीगण मौजूद रहे।

बुधवार, 13 मई 2020

सूरजपुर पुलिस ने 4 लाख 55 हजार 829 रूपये के चोरी की सामग्री किया बरामद, 7 आरोपी गिरफ्तार.......



सूरजपुर। थाना सूरजपुर पुलिस के द्वारा केतका रोड़, चम्पकनगर, मानपुर एवं केशवनगर आदर्श गोठान से हुए चोरी का खुलासा करते हुए 7 आरोपियों को गिरफ्तार कर 4 लाख 55 हजार 829 रूपये की विभिन्न सामग्री बरामद करने में सफलता हासिल की है। पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने बताया कि सीएसपी जे.पी.भारतेन्दु के नेतृत्व में कोतवाली प्रभारी धर्मानंद शुक्ला व उनकी टीम ने 5 चोरी के मामलों का खुलासा करते हुए 7 आरोपियों को गिरफ्तार किया है साथ ही 4 लाख 55 हजार 829 रूपये के सामानों की बरामदगी में सफलता हासिल मिली है।
          दिनांक 11/05/2020 को नेहरूपार्क रोड सूरजपुर निवासी रविकांत अग्रवाल ने थाना कोतवाली में लिखित आवेदन पत्र दिया कि 10 मई 2020 के रात्रि में उसके केतका रोड़ स्थित फैक्ट्री में खड़ी गाड़ियों के बैट्री टर्मिनल वायर, अन्य लोहे एवं एल्युमिनियम के सामान, लोहे की प्लेट, रेडिवाटर, गैस कटर की घड़ी सेट, एल्युमिनियम पिस्टन आदि वस्तुए कीमत करीब 55 हजार रूपये की है जिसे किसी अज्ञात व्यक्ति ने चोरी कर कर ले गया है। प्रार्थी की रिपोर्ट पर कोतवाली पुलिस ने अज्ञात व्यक्ति के विरूद्व अपराध क्रमांक 186/20 धारा 457, 380 भादवि के तहत् मामला पंजीबद्व किया गया।
          लाॅकडाउन में हुए चोरी की घटना को गंभीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने कोतवाली प्रभारी धर्मानंद शुक्ला को सूचना तंत्र मजबूत करते हुए गंभीरतापूर्वक अज्ञात आरोपी की पतासाजी कर गिरफ्तार करने के निर्देश दिए।
          मामले की विवेचना के दौरान पुलिस को मुखबीर से सूचना मिली कि साहूगली निवासी राहुल साहू के तार इस चोरी से जुड़े हुए है जिसके बाद कोतवाली पुलिस की टीम राहुल साहू को संदेह के आधार पर उसे घर से पकड़ा और हिकमत अमली से पूछताछ करने पर राहुल ने चोरी का अपराध करना स्वीकार कर चोरी किए गए 2 लोहे का प्लेट बरामद कराया तथा अपने मेमोरण्डम कथन में चोरी किये हुए अन्य सामान को अपने सार्थी रोहित कसेरा के पास ले जाकर बेचना बताया। पुलिस ने राहुल साहू के मेमोरण्डम के आधार पर रोहित कसेरा के घर पहुंची और उससे बारीकी से पूछताछ करने पर चोरी की गई सम्पत्ति को अपने घर में रखना बताया जिसके निशानदेही पर 01 नग रेडियेटर, 05 नग पिस्टन, गलाया हुआ तांबे का टर्मिनल वायर कुल कीमत करीब 40 हजार रूपये को जप्त कर प्रकरण में धारा 411, 34 भादवि जोड़ी जाकर आरोपी राहुल साहू उर्फ कल्लू कबाड़ी पिता राम अवतार साहू उम्र 22 वर्ष निवासी साहूगली सूरजपुर एवं रोहित कसेरा पिता शशी कसेरा उम्र 18 वर्ष निवासी पुराना बाजारपारा सूरजपुर को विधिवत् गिरफ्तार किया गया।
          इस मामले में पुलिस की जप्ती कार्यवाही के दौरान आरोपी रोहित कसेरा के घर पर सिल्वर फ्रेम के टुकड़े एवं सिल्वर का तार कुल वजन 45 किलो कीमत 5 हजार 8 सौ 29 रूपये का पाया गया जिसके बारे में पूछताछ पर रोहित ने बताया कि 01 अज्ञात व्यक्ति के द्वारा इसे लाकर बेचने पर इसके द्वारा क्रय किया गया था। सिल्वर फ्रेम एवं सिल्वर के तार चोरी के होने की पूर्ण अंदेशा पर धारा 41(1-4) जा.फौ./379 भादवि के तहत के तहत् कार्यवाही कर आरोपी रोहित कसेरा को गिरफ्तार किया गया।

80 हजार कीमत के फ्रेसिंग तार सहित 5 गिरफ्तार, कोतवाली पुलिस की कार्यवाही।
चम्पकनगर व मानपुर से की गई थी तार की चोरी।


सूरजपुर। स्थानीय बाजारगली सूरजपुर निवासी विपिन सिंह ने थाना सूरजपुर में रिपोर्ट दर्ज कराया कि दिनांक 07/03/2020 के दरम्यानी रात में इसके कंपनी के चम्पकनगर स्थित प्लांट से कोई अज्ञात व्यक्ति 23 बण्डल फेसिंग जाली तार चोरी कर ले गया है रिपोर्ट पर थाना सूरजपुर में अज्ञात व्यक्ति के विरूद्व अपराध क्रमांक 187/20 धारा 379, 411 भादवि के तहत् मामला पंजीबद्व किया गया। वहीं ग्राम मानपुर सूरजपुर निवासी डिगेश साहू ने भी रिपोर्ट दर्ज कराया कि 07 मार्च 2020 के दरम्यिानी रात मानपुर बाईपास के आगे स्थित मकान-खेत पर लगे 04 बण्डल फ्रेसिंग जाली तार को किसी अज्ञात व्यक्ति ने चोरी करने की रिपोर्ट पर अज्ञात व्यक्ति के विरूद्व अपराध क्रमांक 188/20 धारा 379 भादवि का पंजीबद्व किया गया।
          मामले की पतासाजी के दौरान पुलिस को मुखबीर से सूचना मिली कि चम्पकनगर प्लांट से तार की चोरी में तिलसिवां व देवीपुर के संतोष, निक्की, जशपाल, अमन व 1 अन्य व्यक्ति का हाथ है जिसके बाद कोतवाली पुलिस की टीम ने ग्राम तिलसिवां निवासी 29 वर्षीय संतोष रवि पिता बृजलाल रवि, 20 वर्षीय निक्की रवि पिता जगदीश 19 वर्षीय अमन रवि पिता ओमप्रकाश रवि, ग्राम केशवनगर, थाना विश्रामपुर निवासी 20 वर्षीय जसपाल रवि उर्फ बंटी पिता करमचंद को संदेह के आधार पर उनके गांव से पकड़ा।
          पुलिस के सख्ती से पूछताछ करने पर चारों ने चम्पकनगर प्लांट एवं मानपुर से अपने 01 अन्य साथी के साथ चोरी की घटना को अंजाम देना स्वीकार किया और बताया कि चोरी किए गए तार को छोटा हाथी में लोड़ कर ग्राम देवीपुर निवासी 30 वर्षीय जयप्रकाश साहू पिता रामकिसुन साहू के पास ले जाकर बिक्री करना बताया। कोतवाली पुलिस टीम ने जयप्रकाश साहू के घर पहुंच खरीदे गए तार के बारे में पूछताछ की जो उसने बताया कि तार को खरीदने के बाद उसे घर में रखा है आरोपी के निशानदेही पर पुलिस ने 27 बण्डल फ्रेसिंग तार कीमत 80 हजार रूपये एवं परिवहन में प्रयुक्त छोटा हाथी वाहन क्रमांक सीजी 29 ए 3770 को जप्त कर पांचों आरोपियों को विधिवत् गिरफ्तार किया है। मामले में एक अन्य आरोपी फरार है जिसकी पतासाजी पुलिस के द्वारा की जा रही है।

केशनगर आदर्श गोठान से हुए चोरी का हुआ खुलासा।
3 लाख 30 हजार के सोलर पम्प, पाईप व अन्य सामग्री बरामद, 04 गिरफ्तार।


चम्पकनगर प्लांट एवं मानपुर से फ्रेसिंग जाली तार चोरी करने वाले आरोपी संतोष रवि, निक्की रवि, अमन रवि एवं जसपास रवि उर्फ बंटी के घर पहुंची पुलिस टीम ने इनके घरों से पृथक-पृथक 4 नग सोलर पम्प, 4 नग पाईप, 10 सेन्ट्रिग प्लेट व फ्लैक्सी कुल कीमत 3 लाख 30 हजार रूपये का चोरी के होने की पूर्ण अंदेशा पर धारा 41(1-4) जा.फौ./379 भादवि के तहत के तहत् कार्यवाही कर आरोपी इन चारों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। पूछताछ पर आरोपियों ने बताया कि इन वस्तुओं को विश्रामपुर के ग्राम केशवनगर में स्थित आदर्श गोठान से चोरी की गई है, चोरी करने के उपरान्त सामान को आपस में बाट लिया गया था।
          सीएसपी जे.पी.भारतेन्दु के नेतृत्व कार्यवाही की गई जिसमें थाना प्रभारी सूरजपुर धर्मानंद शुक्ला, एसआई हिम्मत सिंह शेखावत, एसआई रश्मि सिंह, प्रधान आरक्षक अदीप प्रताप सिंह, धनेश्वर कुशवाहा, अखिलेश यादव, धनेश्वर कुशवाहा, आरक्षक रामकुमार नायक, कैलाश यादव, प्रेमसागर साहू, शिवमूरत किण्डो, चन्द्रपाल, दरश देवांगन, जयप्रकाश तिवारी, रामदयाल राठिया, ईश्वर सिंह, अंतोष खलखो, महिला नगर सैनिक प्रीति साहू सक्रिय रहे।

मंगलवार, 12 मई 2020

पुलिस अधीक्षक सूरजपुर ने दिए प्राकृतिक आपदा के मामलों में त्वरित राहत प्रकरण तैयार कर भेजने के निर्देश.....

सूरजपुर। किसी व्यक्ति की प्राकृतिक आपदा में मृत्यु हो जाने पर उसके परिजनों को तत्काल अनुदान के रूप में शासन के द्वारा प्रदाय की जाने वाली सहायता राशि जल्द मिल सके ताकि संबंधित पर आई विपदा का मुकाबला करने के लिए उनमें मनोबल बना रहे और उस क्षति से उभर सके। इसी परिपेक्ष्य में पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने जिले के थाना-चौकी प्रभारियों को ऐसे मामलों को प्राथमिकता के आधार पर राहत प्रकरण तैयार कर संबंधित कार्यालय को भेजने के निर्देश दिए है।
          पुलिस अधीक्षक ने लोक सेवा गारंटी अधिनियम के तहत आने वाले प्रकरण जैसे प्राकृतिक आपदा, कुआं में डुबने से हुई मृत्यु, आकाशीय बिजली गाज, सर्प काटने से हुई मृत्यु, नैसर्गिक विपत्तियों सहित अज्ञात वाहन से दुर्घटना में घायल/मृत्यु तथा एक्ट्रोसिटी एक्ट के तहत पंजीबद्व होने वाले प्रकरणों में दी जाने वाली सहायता राशि मृत व्यक्ति के परिवार के निकटतम व्यक्ति/वारिस अथवा पीड़ित को नियमानुसार आवश्यक सहायता अनुदान दिलाने जाने हेतु त्वरित राहत प्रकरण प्राथमिकता के आधार पर तैयार कर संबंधित कार्यपालिक मजिस्ट्रेट, एसडीएम कार्यालय को भेजने के निर्देश दिए है।
          पुलिस अधीक्षक ने थाना-चौकी प्रभारियों को यह भी निर्देश दिए है कि राहत प्रकरण तैयार कर भेजने के उपरान्त यह भी जानकारी ले कि पीड़ित पक्ष को राहत राशि स्वीकृत हुई अथवा नहीं, इसके लिए संबंधित कार्यालयों से समन्वय भी स्थापित की जावें।

गुरुवार, 7 मई 2020

छत्तीसगढ़-मध्यप्रदेश के बार्डर नवाटोला में सूरजपुर व सिंगरौली के जिला प्रशासन व पुलिस की हुई अंतरराज्जीय बार्डर मीटिंग.....

सूरजपुर कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक ने मध्यप्रदेश बॉर्डर नवाटोला पहुंच चेक पोस्ट का किया निरीक्षण, दिए आवश्यक दिशा निर्देश।

रेड एवं ऑरेंज जोन से आने वालों का प्रवेश रहेगा प्रतिबंधित।

गांव में प्रवेश करने वालों पर कड़ी नजर रखी जाए-पुलिस अधीक्षक।

कलेक्टर-पुलिस अधीक्षक ने नवाटोला के ग्रामीणों को दी जागरूकता की समझाईश।


सूरजपुर: कोविड-19 के रोकथाम एवं बचाव तथा लॉक डाउन की अवधि में अन्य राज्य के आने-जाने वाले श्रमिकों और अन्य लोगों की आवाजाही की जानकारी लेने गुरूवार 07 मई 2020 को *सूरजपुर कलेक्टर श्री दीपक सोनी व पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा* ने छत्तीसगढ़-मध्यप्रदेश राज्य के बार्डर नवाटोला चेक पोस्ट पहुंचे। वहां उन्होंने चेक पोस्ट से गुजरने वाले लोगों की जानकारी और आने जाने वालों की रजिस्ट्रेशन संधारण, फोटोग्राफी वीडियोग्राफी, ट्रैवल हिस्ट्री की जानकारी ली और मास्क, गमछा, ग्लब तथा संक्रमण से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंस का पालन करने संबंधी आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

छत्तीसगढ़-मध्यप्रदेश के बार्डर नवाटोला में सूरजपुर व सिंगरौली के जिला प्रशासन व पुलिस की हुई अंतरराज्जीय बार्डर मीटिंग।

          गुरूवार को छत्तीसगढ़-मध्यप्रदेश राज्य के बार्डर नवाटोला में जिला प्रशासन सूरजपुर एवं जिला प्रशासन सिंगरौली की कोरोना संक्रमण की रोकथाम व बचाव को लेकर अन्तरराज्जीय बार्डर के जो निर्देश है उसके पालन के लिए समन्वय बैठक की गई। इस बैठक में सूरजपुर कलेक्टर श्री दीपक सोनी व पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा, कलेक्टर सिंगरौली श्री के.व्ही.एस.चौधरी, पुलिस अधीक्षक सिंगरौली श्री टी.के.विद्यार्थी, डीएफओ जे.आर.भगत, आरटीओ सहित जिला सूरजपुर व सिंगरौली एसडीएम, तहसीलदार, एसडीओपी, थाना प्रभारी, सरपंच, पंच मौजूद रहे।
          बैठक में कोरोना संक्रमण की रोकथाम व बचाव के लिए किए गए इंतजाम, अपराधों की रोकथाम, आपसी समन्वय के साथ कार्य करने, संक्रमण के प्रति नागरिकों में जागरूकता, श्रमिकों के लुकछिप कर प्रवेश को प्रतिबंधित करने, मजदूरों के मूव्हमेंट को लेकर असुविधा न हो इस बारे में की तैयारी, मजदूरों को क्वाॅरेंटाइन करने एवं रेड व ओरेंज जोन के बारे में चर्चा कर कार्ययोजना के बारे में चर्चा कर रणनीति बनाई गई। दोनों ओर के प्रशासन व पुलिस कोरोना वायरस के नियंत्रण को लेकर गंभीर और मुस्तैद रहकर कार्य कर रही है। समन्वय बैठक में दोनों ओर की सूचनाओं के आदान-प्रदान को लेकर भी रणनीति तैयार की गई।
          कलेक्टर श्री दीपक सोनी ने कहा कि मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ से लगे जिला सूरजपुर के अंतरराज्जीय बार्डर केवल एक है। शासन के निर्देशों के अनुसार दूसरे राज्यों से आने वाले मजदूरों के लिए नवाटोला बैरियर पर संभागवार 5 काउन्टर बनाया गया है तथा संभागवार 5 बस तैनात है, सभी बसों को सेनेटाईज करने की व्यवस्था की गई है, मेडिकल की टीम नवाटोला बैरियर पर तैनात है।
          पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा ने कहा कि बार्डर पार करने के लिए लोग तरह-तरह के बहाने लगा रहे है। लेकिन प्रशासन व पुलिस का लक्ष्य कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोकना है और किसी भी व्यक्ति को इसकी चपेट में आने से रोकने के लिए हर संभव प्रयास करना है।

रेड एवं ओरेंज जोन से आने वालों के प्रवेश पर प्रतिबंध।

        कलेक्टर सूरजपुर श्री दीपक सोनी व पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा ने चेक पोस्ट पर कार्यरत पुलिस स्टाफ व अन्य कर्मचारियों को कहा कि ऐसे सभी राज्यों के हॉटस्पॉट जिले की सूची रखें ताकि वहां से आने वालों को वेरिफाई किया जा सके। उन्होंने पुलिस व प्रशासन के अमले को कहा कि मध्य प्रदेश के भोपाल, उज्जैन एवं इंदौर आदि हॉट-स्पॉट जिले हैं। वहां से लोगों को छत्तीसगढ़ के भीतर आने नहीं दिया जाए। रेड और ओरेंज जोन जिलों से किसी को भी प्रवेश की अनुमति ना दें, इनके प्रवेश पर पूर्णता प्रतिबंध करने के सख्त निर्देश दिए।

कलेक्टर-पुलिस अधीक्षक ने नवाटोला के ग्रामीणों को दी जागरूकता की समझाईश।

         कलेक्टर श्री दीपक सोनी एवं पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा ने नवाटोला के ग्रामीणों को कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर जागरूकता की समझाईश दी। मौजूद ग्रामीणों से अपील करते हुए कहा कि जो व्यक्ति बाहर से आए हैं वे स्वघोषणा करें ताकि उनकी स्वास्थ्य जांच की जा सके। कलेक्टर ने ग्रामीणों से सोशल डिस्टेंस का पालन करने, मास्क, गमछा, हाथ को साबुन से धोने व सेनेटाइजर का उपयोग करने की समझाईश दी तथा कहा कि हमें कोरोना बीमारी से लड़ना है संक्रमित व्यक्ति से नही, सभी को एहतियात रखते हुए कोरोना से जंग जीतनी है।

गांव में प्रवेश करने वालों पर कड़ी नजर रखी जाए-पुलिस अधीक्षक।

          पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा ने सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने कहा। उन्होंने कहा कि आगामी दिनों में बाहर से श्रमिक वापस आएंगे जिन्हें 14 दिन के लिए क्वाॅरेंटाईन में रखा जाएगा। हमें जिला को कोरोना मुक्त करना है इसलिए हमारी कोशिश होनी चाहिए की कोरोना को हराने टीम भावना से बेहतर समन्वय करते हुए कार्य करना है। समय-समय पर शासन-प्रशासन के निर्देश का अनिवार्य रूप से पालन किया जाए। संदिग्ध लोगों को स्वास्थ्य परीक्षण के लिए तत्काल स्वास्थ्य विभाग को सूचित करें। पुलिस अधीक्षक ने कहा की गांव में प्रवेश करने वालों पर कड़ी नजर रखी जाए क्योंकि वर्तमान परिस्थिति को देखते हुए अत्याधिक सावधानी बरतने की आवश्यकता है।
        बैठक में डीएफओ सूरजपुर जे.आर.भगत, एसडीएम भैयाथान प्रकाश राजपूत, एसडीओपी ओड़गी मंजूलता बाज, जिला परिवहन अधिकारी अतुल असैया, थाना प्रभारी चांदनी, शिवकुमार खुटे, सरपंच नवाटोला सुबह सिंह, सरपंच सपहा बाबुराम सिंह, सरपंच खालबहरा, मध्यप्रदेश सिंगरौली के एसडीएम माड़ा रवि मालवी, सीएसपी विंध्यनगर देवेश पाठक, थाना प्रभारी माड़ा प्रशिक्षु डीएसपी अर्चना शर्मा, चौकी प्रभारी शासन दिव्या सिंह, ग्राम बसोड़ा सरपंच रामशंकर, मकरोहर सरपंच श्रवण कुमार, सहित अन्य अधिकारीगण मौजूद रहे।

मंगलवार, 5 मई 2020

सूरजपुर कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक ने नवोदय विद्यालय क्वारंटीन कैम्प का किया निरीक्षण.....

*दिगर राज्यों से आने वाले श्रमिकों के लिए नवोदय बसदेई में बनाई गई क्वारंटाइन कैंप।*

*जिले के प्रवासी श्रमिकों को ठहरने तथा सुरक्षा के होंगे पुख्ता इंतजाम।*

*कैम्प में बनेगी कन्ट्रोल रूम, श्रमिकों की गतिविधियों पर नजर रखने लगाई जाएगी सीसीटीव्ही कैमरा।*

सूरजपुर। दूसरे राज्यों के प्रवासी श्रमिक जो सूरजपुर जिले के निवासी है उन्हें क्वारंटीन करने को लेकर जिला प्रशासन व पुलिस के द्वारा सभी व्यवस्थाओं को सुनिश्चित कराने को लेकर काफी गंभीर एवं सजग है। सूरजपुर के कई क्षेत्रों के काफी संख्या में लोग अन्य प्रदेशों में काम कर रहे थे और वहां लाॅकडाउन की वजह से फंसे हुए थे जो अब वापस जिले में आ रहे है, आने के बाद इन श्रमिकों को 14 दिन के लिए क्वारंटाइन कैम्प में रखा जाएगा। जिसके लिए बसदेई स्थित जवाहर नवोदय विद्यालय बसदेई को जिला क्वारंटीन कैम्प बनाया गया है जिसका सोमवार 04 मई 2020 को कलेक्टर सूरजपुर श्री दीपक सोनी व पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा ने निरीक्षण कर क्वारंटीन कैम्प की व्यवस्था को सुनिश्चित कराने को लेकर कई अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी है।
         सोमवार को नवोदय बसदेई पहुंचकर सूरजपुर कलेक्टर श्री दीपक सोनी व पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा ने विद्यालय परिसर का निरीक्षण किया एवं कई विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर क्वारंटीन कैम्प में दवाई, खाने-पीने, जरूरी वस्तुओं के परिवहन एवं विशेष सावधानी बरतने के संबंध में विस्तृत दिशा-निर्देश दी। प्रवासी श्रमिकों को लिए बनाए जा रहे इस क्वारंटीन कैम्प में कमरों की संख्या, साफ शौचालय, स्नान घर, विद्युत आपूर्ति, प्रकाश व्यवस्था, साफ पानी, चिकित्सा एवं सुरक्षा व्यवस्था को सुनिश्चित करा दुरूस्त क्रियान्वयन कराने कई विभागों के अधिकारियों को इसकी जिम्मेदारी सौंपी है।

*कैम्प की व्यवस्था को लेकर कलेक्टर ने इन विभागों को सौंपी जिम्मेदारी।*

कलेक्टर श्री दीपक सोनी ने पीएचई विभाग को पूरे विद्यालय को सेनेटाईजर करने, आने वाले श्रमिकों को मास्क उपलब्ध कराने, जल संसाधन विभाग को अस्थाई कन्ट्रोल रूम स्थापित करने, प्रत्येक कमरे में बाल्टी, मग्गा, साबुन, तौलिया सहित सभी कमरों में माईक सिस्टम लगाने के निर्देश दिए ताकि वहां रूकने वाले मजदूर माईक से अपनी बात व्यवस्था में लगे कर्मचारियों तक पहुंचा सकें। इसी प्रकार लोक निर्माण विभाग को विद्यालय के चारों ओर मजबूत बैरिकेट लगाने के निर्देश दिए है। इस दौरान कलेक्टर श्री सोनी ने कहा कि क्वारंटीन कैम्प में सबसे महत्वपूर्ण जिम्मेदारी स्वास्थ्य एवं पुलिस विभाग की होगी जिसके तहत स्वास्थ्य अमला हर संमय वहां मौजूद रहकर प्रत्येक श्रमिकों का स्वास्थ्य जांच करेगी एवं पुलिस के अधिकारी व जवान पुख्ता सुरक्षा बन्दोबस्त बनाए रखेगी।
कलेक्टर श्री दीपक सोनी ने बताया कि दूसरे प्रदेशों से आने वाले प्रवासी श्रमिक जो इस जिले के निवासी है उनके आने पर उन्हें 14 दिनों के लिए क्वारंटीन कैम्प में रखा जाएगा। इस दौरान उन्हें चिकित्सा सुविधा, साफ पानी, भोजन, स्वच्छ स्नानघर, सूचना देने के लिए लाउड स्पीकर, लाउड हेल, साफ-सफाई और सुरक्षा की व्यवस्था की जाएगी। प्रवासी श्रमिकों के आने से पहले पूरे विद्यालय को सैनेटाइज कराया जाएगा।

क्वारंटीन कैम्प में पुलिस की रहेगी सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम। 

पुलिस अधीक्षक श्री राजेश कुकरेजा ने बताया कि दूसरे राज्यों से आ रहे प्रवासी श्रमिक जो इस जिले के निवासी है उनके यहां आने पर उनकी पूरी बायाडाटा ली जाएगी, क्वारंटीन कैम्प में रहने के दौरान श्रमिक को एक नंबर आबंटित किया जाएगा जो पूरे क्वारंटीन अवधि के दौरान श्रमिक की प्रत्येक गतिविधि पर आबंटित नंबर के आधार पर की जायेगी। क्वारंटीन कैम्प एवं उसके आसपास पुलिस टीम लगातार पेट्रोलिंग करेगी और पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखेगी। उन्होंने कहा कि सुरक्षा के मद्देनजर क्वारंटीन कैंप पर कड़ी निगरानी रखने प्रशासन के द्वारा सीसीटीव्ही कैमरा लगाई जायेगी।

इस दौरान जिला पंचायत सीईओ श्री अश्वनी देवांगन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर, एसडीएम पुष्पेन्द्र शर्मा, सीएसपी जे.पी.भारतेन्दु, तहसीलदार नंदजी पाण्डेय, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. आर.एस.सिंह, पीएचई, जल संसाधन व पीडब्ल्यूडी के अधिकारीगण मौजूद रहे।

शुक्रवार, 1 मई 2020

पुलिस अधीक्षक सूरजपुर ने बैंक, सब्जी मार्केट का लिया जायजा.......

विभिन्न बैंक, सब्जी मार्केट एवं सार्वजनिक भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर एनएसएस के छात्र दे रहे अपनी सेवाएं।

कोरोना वारियर्स के तौर पर एनएसएस के छात्र पुलिस के साथ कंधे से कंधा मिलाकर कर रहे उत्कृष्ठ कार्य।

राष्ट्रीय सेवा योजना के छात्र अनुशासन एवं धैर्य के साथ में कर रहे ड्यूटी।

सूरजपुर। कोविड-19 के संक्रमण से नागरिकों को बचाने में एनएसएस के छात्र पुलिस के साथ कंधे से कंधा मिलाकर देश व लोकहित में कोरोना वारियर्स के तौर पर कार्य कर रहे है। राष्ट्रीय सेवा योजना से जुड़े छात्र-छात्राएं सूरजपुर सहित विश्रामपुर क्षेत्र के बैंक, बाजारों व गैस एजेंसियों पर अपनी सेवाएं देते हुए नागरिकों को संक्रमण से बचाव के लिए मास्क पहनने तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन सुनिश्चित करा रहे है।

          गुरूवार 30 अप्रैल को पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने सूरजपुर के सब्जी मार्केट एवं एसबीआई शाखा का जायजा लिया जहां पर पुलिस के जवान व एनएसएस के छात्र ड्यूटी पर मुस्तैदी से कार्य पर डटे हुए थे। इस दौरान पुलिस अधीक्षक ने पुलिस के जवानों एवं एनएसएस के छात्रों को कहा कि आप सभी लाक डाउन में रखी जाने वाली सावधानियों का स्वयं भी पालन करें और ड्यूटी स्थल में लोगो को समझाईश देकर पालन करवाए। अपनी सुरक्षा के साथ-साथ आमजनों की सुरक्षा के लिए उन्हें हर समय मास्क पहनने एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन सुनिश्चित कराए ताकि नागरिक कोरोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षित रहे। पुलिस अधीक्षक ने उन्हें कहा कि गैस एजेन्सी व बैंक प्रबंधन के द्वारा अपने ग्राहकों के लिए सेनेटाइजर एवं साबुन से हाथ धोने की व्यवस्था कराई है प्रत्येक नागरिक इन स्थानों में प्रवेश करने के पूर्व सेनेटाइजर होकर ही प्रवेश करें इस बात का विशेष ध्यान देने को कहा। सब्जी मार्केट में सब्जी दुकानों के सामने शारीरिक दूरी हेतु मार्किंग किए गए स्थानों पर नागरिक खडे होकर सामग्री क्रय करें यह सुनिश्चित कराए और इसके लिए लोगों को जागरूक करें।
          पुलिस अधीक्षक ने कहा कि एनएसएस के छात्र-छात्राएं पुलिस के जवानों के साथ विभिन्न बैंक, सब्जी मार्केट एवं सार्वजनिक भीड़-भाड़ वाले स्थानों में पुलिस के साथ कंधे से कंधा मिलाकर उत्कृष्ठ कार्य कर रहे है। कोरोना वारियर्स के तौर अपनी सेवाएं 3-3 घंटे देते हुए कार्य कर रहे है। राष्ट्रीय सेवा योजना से जुड़े छात्रों एवं इस कार्य हेतु आगे आए शिक्षण संस्थान तथा शिक्षकों के प्रति आभार व्यक्त किया।

            पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इन जवानों से हालचाल पूछा तो वे सभी काफी प्रसन्न दिखे और कोरोना वारियर्स के तौर पर कार्य कर अपने आप को गौरवान्वित महसूस कर रहे थे, उनका उत्साह देखते ही बन रहा था और उनको महसूस हो रहा था कि देशहित के लिए उनके द्वारा कार्य किया जा रहा है, इनमें संतोष का भाव था जो उनके चेहरे पर देखते ही बन रहा था, एनएसएस के छात्र अनुशासन एवं धैर्य के साथ में ड्यूटी कर रहे थे।

इस दौरान थाना प्रभारी सूरजपुर धर्मानंद शुक्ला, प्रोफेसर सी.बी. मिश्रा, संजय कुमार, मनीलाल सिंह, उमेश कुमार, ट्रिकेश, दिल्लू देवांगन, कमलेश्वर, भूपेन्द्र प्रताप, रूकमणी राजवाड़े, रेखा देवांगन, प्रीति सिंह, सुनीता, फुलबाई, लल्लूराम, प्रीतम तिवारी, मनोज मौर्य, अनुकेश सोनवानी, रमेश, जिशान अहमद, भुपेन्द्र कुमार व संजय सिंह सहित अन्य एनएसएस छात्र सक्रिय रहे।