मंगलवार, 30 नवंबर 2021

जिले की होनहार छात्रा शालिनी का हुआ आईआईटी रूड़की में चयन, पुलिस अधीक्षक सूरजपुर ने छात्रा को उपलब्धि पर किया सम्मानित



सूरजपुर। देश के उच्च शिक्षण संस्थान इंडियन इंस्टिटयूट ऑफ टेक्नोलॉजी (आईआईटी) रूड़की में जिले की होनहार प्रतिभावान छात्रा शालिनी गुप्ता ने चयनित होकर सूरजपुर जिले का मान बढ़ाया है। मंगलवार 30 नवम्बर को पुलिस अधीक्षक श्रीमती भावना गुप्ता ने शालिनी के इस उपलब्धि पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए उन्हें स्मृति चिन्ह एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक ने अपने आईआईटी में अध्ययन से जुड़े अनुभवों को साझा किया और शालिनी को उच्च शिक्षा के लिए मार्गदर्शन देकर प्रोत्साहित किया। शालिनी सूरजपुर जिले के पत्रकार अजय गुप्ता की सुपुत्री है जो प्रारंभ से ही मेधावी रही है। इस दौरान स्थापना प्रभारी अखिलेश सिंह सहित अन्य अधिकारीगण मौजूद रहे। 

सोमवार, 29 नवंबर 2021

पुलिस जनदर्शन में एसपी सूरजपुर ने आमजनता की सुनी समस्याएं

थाना-चौकी प्रभारियों को शिकायतों की त्वरित जांच कर प्रार्थी पक्ष को अवगत कराने के निर्देश

सूरजपुर।     पुलिस जनदर्शन के माध्यम से आमजनता अपने शिकायतों, समस्याओं का त्वरित निराकरण करा रहे है। पुलिस मुख्यालय के निर्देशानुसार आमजनता की समस्याओं को सुनने एवं उसके त्वरित निराकरण के लिए जिला पुलिस कार्यालय में सोमवार को पुलिस अधीक्षक श्रीमती भावना गुप्ता ने जनदर्शन का आयोजन कर आमजनों के शिकायत-समस्याओं को बडे़ आत्मीयता के साथ सुना और संबंधित थाना-चौकी प्रभारियों को त्वरित जांच करते हुए की गई जांच से प्रार्थी पक्ष को अवगत कराने के निर्देश दिए।
               जनदर्शन में जमीन संबंधी विवाद, धोखे में रखकर जमीन रजिस्ट्री कराने, बाईक फाईनेंस की रकम एजेंट को देने पर फाईनेंस कंपनी में जमा नहीं करने, जमीन बिक्री का एग्रीमेंट कर भूमि विक्रय न करने, अज्ञात वाहन के द्वारा किए गए एक्सीडेंट संबंधी सीसीटीव्ही फुटेज, जमीन पर कब्जा करने सहित अन्य शिकायत प्राप्त हुई जिन्हें पुलिस अधीक्षक ने आत्मीयता व गंभीरतापूर्वक सुना और संबंधित थाना-चौकी प्रभारियों को जल्द निराकरण करने के निर्देश दिए है। जनदर्शन में 22 लोगों के चरित्र सत्यापन एवं राहत प्रकरण हेतु 08 मामलों में अंतिम जांच प्रतिवेदन जारी किए गए। इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर, स्थापना प्रभारी अखिलेश सिंह सहित अन्य अधिकारीगण मौजूद रहे। 

दो किलो गांजा सहित 1 गिरफ्तार, थाना रामानुजनगर पुलिस की कार्यवाही


सूरजपुर। अवैध कारोबार के विरूद्व पुलिस की लगातार कार्यवाही जारी है। इसी परिपेक्ष्य में रविवार को मुखबीर की सूचना पर रामानुजनगर थाना की पुलिस ने ग्राम तिवरागुड़ी में घेराबंदी लगाकर मोटर सायकल सहित भोजराम पिता स्व. अवतार राम उम्र 38 वर्ष निवासी केशवनगर, विश्रामपुर को पकड़ा जिसके कब्जे से 2 किलो मादक पदार्थ गांजा कीमत 20 हजार रूपये एवं परिवहन में प्रयुक्त मोटर सायकल को जप्त कर धारा 20(बी) एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्यवाही कर उसे गिरफ्तार किया है। इस कार्यवाही में थाना प्रभारी रामानुजनगर विकेश तिवारी व उनकी टीम सक्रिय रही। 

पुलिस महिला सहायता केन्द्र जरही में सुनवाई के बाद 2 जोड़े एक साथ रहने हुए राजी


सूरजपुर।     बीते 1 सितम्बर को पुलिस महिला सहायता केन्द्र जरही का शुभारंभ हुआ है जहां पर महिला संबंधी शिकायतों की सुनवाई के साथ ही परिवार परामर्श केन्द्र भी संचालित हो रहा है। पुलिस अधीक्षक श्रीमती भावना गुप्ता के निर्देश पर रविवार को परामर्श केन्द्र में घरेलू एवं आपसी पति-पत्नी के बीच विवाद के 2 मामलों की सुनवाई की गई।
           अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर व एसडीओपी प्रतापपुर अमोलक सिंह के मार्गदर्शन में परामर्श केन्द्र हुए काउंसलिंग से 2 बिछुडे़ जोड़े राजकुमारी-उजित एवं बसंती-सुखल के बीच सकारात्मक रूप से चर्चा कर आपसी समझौता कराया गया जो दोनों जोड़े सुखी जीवन जीने के लिए राजी हुए। महिला संबंधी शिकायतों व पारिवारिक मामलों की त्वरित सुनवाई के उद्देश्य से पुलिस महिला सहायता केन्द्र को प्रारंभ किया गया है जहां एक बेहतर एवं स्वच्छ वातावरण में काउंसिलिंग के माध्यम से समझाईश देकर पति-पत्नी के बीच आपसी समझौता लगातार कराया जा रहा है। बैठक में थाना प्रभारी भटगांव विमलेश सिंह, पुलिस महिला सहायता केन्द्र जरही प्रभारी एएसआई नील कुसुम बेक, सदस्य विमला राजवाड़े, विकास प्रजापति, आरक्षक राधाकृष्ण पैकरा, अमलेश्वर सिंह, तिलेश्वर सिंह व महिला सैनिक सुशीला यादव उपस्थित रहे।

शनिवार, 27 नवंबर 2021

बेहतर पुलिसिंग कर आमजनता के भरोसे को और बढ़ाने के निर्देश


  • एसपी सूरजपुर ने अपराध के बेहतर निकाल पर प्रशंसा व कमजोर परफॉर्मेंश पर दी कड़ी चेतावनी
  • इन्वेस्टीगेटर ऑफ द मंथ से 2 आरक्षकों को किया सम्मानित


सूरजपुर। शनिवार, 27 नवम्बर को पुलिस अधीक्षक श्रीमती भावना गुप्ता ने जिला पुलिस कार्यालय के सभाकक्ष में क्राईम मीटिंग आयोजित किया। जिसमें पुलिस अधीक्षक ने थानों में लंबित समस्त अपराधों, शिकायतों की बारीकी से समीक्षा करते हुए लंबित मामलों का गुणवत्तापूर्ण जांच किए जाने, महिला संबंधी अपराधों की संवेदनशीलता से जांच कर निराकृत किए जाने के निर्देश दिए है।
पुलिस अधीक्षक ने अवैध कारोबार गांजा तस्करी के विरूद्व सख्त प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित करने, गांजा परिवहन के विरूद्ध कार्यवाही के लिए दूसरे जिले व अंतर्राज्यीय बार्डर पर प्रभावी चेकिंग करने एवं आगामी माह में प्रेमनगर नगर पंचायत चुनाव को निर्विघ्न, निष्पक्ष व शांतिपूर्ण सम्पन्न कराने को लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश दिये है। अपराध सभा में अपराध निकाल, शिकायत व मर्ग की जांच में बेहतर कार्य पर प्रशंसा की और निकाल का स्तर कम पाए जाने पर संबंधित को कड़ी चेतावनी दी। उन्होंने कड़े लहजे में कहा कि पुलिस की कार्यवाही निष्पक्ष होनी चाहिए ताकि पीड़ित पक्ष को जल्द न्याय मिल सके, क्षेत्र में बेहतर पुलिसिंग कर आमजनता के भरोसे को और बढ़ाए, चिटफण्ड मामले की जांच निरंतर करें, फरार आरोपियों की पतासाजी गंभीरतापूर्वक कर गिरफ्तारी सुनिश्चित की किए जाए, गुम इंसान की दस्तयाबी के लिए थाना-चौकी स्तर पर टीम गठित कर दस्तयाबी के लिए विशेष प्रयास करें, शराब पीकर, वाहन चलाने के दौरान फोन में बात करने एवं लापरवाहीपूर्वक वाहन चलाकर एक्सीडेंट करने वाले चालकों के ड्राईविंग लायसेंस निलंबित कराने, सोशल मीडिया, फेसबुक, व्हाट्सअप, टवीटर पर लगातार मॉनीटरिंग करने एवं आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों का हिस्ट्रीशीट खोलने के निर्देश दिए।
        पुलिस अधीक्षक ने थाना-चौकी प्रभारियों को कहा कि थाना-चौकी क्षेत्र गश्त अच्छी होनी चाहिए, इसे समय-समय पर परखा जायेगा और लापरवाही पर संबंधित प्रभारी के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जाएगी। थाना-चौकी प्रभारियों को सड़क दुर्घटना में घायलों की मदद के लिए गुड सेमेटेरियन को प्रोत्साहित करने, सामुदायिक पुलिसिंग के तहत निरंतर चलित थाना, ग्राम चौपाल एवं पुलिस जनदर्शन के माध्यम से आमजनता के समस्याओं का निराकरण करने, समर्पण अभियान, हिम्मत व अग्रसर कार्यक्रम से क्रमशः बुजुर्गो, बालिकाओं व स्कूली बच्चों को अधिक से अधिक लाभ दिलाने के निर्देश दिए है।

इन्वेस्टीगेटर ऑफ द मंथ से सम्मानित हुए 2 आरक्षक 



क्राइम मीटिंग में पुलिस अधीक्षक श्रीमती भावना गुप्ता ने महत्वपूर्ण सूचना संकलन कर एनडीपीएस एक्ट के प्रकरण में आरोपियों की गिरफ्तारी में सक्रियता पर थाना झिलमिली में पदस्थ आरक्षक विश्वजीत सिंह व आरक्षक निलेश जायसवाल को प्रशस्ति पत्र व स्मृति चिन्ह देकर इन्वेस्टीगेटर ऑफ द मंथ से सम्मानित किया तथा पुलिस परिवार के अध्ययनरत् बच्चों को ऑनलाईन क्लासेस हेतु प्रारंभ किए गए अग्रसर कार्यक्रम के संचालन व शुभारंभ में मेहनत, लगन व कार्यकुशलता से कार्य करने पर एएसपी मुख्यालय पी.एस.महिलाने, एसडीओपी सूरजपुर गीता वाधवानी, एसडीओपी प्रतापपुर अमोलक सिंह, प्रधान आरक्षक इन्द्रजीत सिंह, मोहर सिंह व आरक्षक संतोष सोनी को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया।
इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर, एएसपी मुख्यालय पी.एस.महिलाने, एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी, एसडीओपी प्रतापपुर अमोलक सिंह, एसडीओपी ओड़गी राजेश जोशी, डीएसपी अजाक, जिले के सभी थाना-चौकी प्रभारी, जिला पुलिस कार्यालय के अधिकारीगण मौजूद रहे।

शुक्रवार, 26 नवंबर 2021

सूरजपुर पुलिस के जनहित के कार्यों की हो रही राष्ट्रीय स्तर पर चर्चा

संदर्भ: Times of India अखबार में छपी खबर 

साभार: TOI रायपुर संस्करण
(TOI में छपी खबर का हिन्दी अनुवाद )
छत्तीसगढ़ : सूरजपुर पुलिस का हिम्मत कार्यक्रम दे रहा महिलाओं को दे रहा आत्मविश्वास

रायपुर। लोगों के साथ पारस्परिक संपर्क को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से सामुदायिक पुलिसिंग कार्यक्रमों की एक श्रृंखला में, सूरजपुर जिले की महिला पुलिस अधीक्षक भावना गुप्ता लड़कियों और महिलाओं को सशक्त बनाने, बुजुर्गों की देखभाल करने और बच्चों के लिए विशेष कक्षाओं के साथ गुणवत्तापूर्ण शिक्षा सुनिश्चित करने के लिए अभिनव अभियान शुरू कर रही हैं।
"हिम्मत" कार्यक्रम के तहत लगभग 400 लड़कियों और महिलाओं को आत्मरक्षा का प्रशिक्षण दिया गया, जबकि कई को 'मल्लखंभ' पारंपरिक खेलों के साथ प्रशिक्षित किया गया, और उनमें से दो को राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता के लिए चुना गया है।
        खेल के प्रति लड़कियों के उत्साह को देखते हुए जिला मल्लखंभ का प्रशिक्षण देने के लिए अकादमी स्थापित करने की योजना बना रहा है। कोंडागांव जिले में आयोजित राज्य स्तरीय प्रतियोगिता के लिए 12 लड़कियों का चयन किया गया था। एसपी भावना गुप्ता ने टीओआई को बताया-
         "सूरजपुर एक आदिवासी बहुल जिला है और बहुत सारी चुनौतियों का सामना करता है। मैं पुलिस और लोगों के बीच की खाई को कम करना चाहती थी क्योंकि वे आमतौर पर पीड़ित होने पर हमारे संपर्क में आते हैं लेकिन पारस्परिक संपर्क और एक दूसरे तक पहुंचना आवश्यक है। इसलिए, ऐसे कई कार्यक्रमों में, हमें 'हिम्मत' आत्मरक्षा और खेल कार्यक्रम में उत्कृष्ट प्रतिक्रिया मिल रही है, बुजुर्गों की जरूरत के लिए समर्पित समर्पण और अग्रसर जिसे हमने मुख्य रूप से पुलिस परिवार के बच्चों के लिए शुरू किया है, लेकिन इसमें वंचित बच्चों को भी शामिल किया है," ।
        अगस्त में शुरू हुए 'हिम्मत' ने लड़कियों और महिलाओं में आत्मरक्षा के लिए लड़ने का साहस जगाया है और एसपी को उम्मीद है कि यह महिलाओं के खिलाफ अपराध के ग्राफ को प्रभावित करेगा। जंगली क्षेत्र में घूमने वाली लड़कियां अब असुरक्षित महसूस नहीं करती हैं और वे जानती हैं कि बिना हथियार के कैसे लड़ना है, लेकिन स्वाभाविक रूप से वे जो दुपट्टा पहनती हैं, जो बैग वे ले जा रही हैं और उनके नाखूनों के साथ।
        एसपी ने कहा, "पुलिस उन पीड़ितों तक पहुंचने की भी कोशिश कर रही है जो पोस्ट ट्रॉमा जोन में हैं और उनमें विश्वास जगा रहे हैं।" समाज द्वारा परित्यक्त महसूस कर रहे बुजुर्ग लोगों की आवश्यकता और अकेलेपन को महसूस करते हुए, समर्पण कार्यक्रम ने लगभग 500 वरिष्ठ नागरिकों को जोड़ा है, उन्हें किसी भी सहायता के लिए आपातकालीन संपर्क नंबरों के साथ विशेष आई-कार्ड प्रदान किए हैं। पुलिसकर्मी थोड़े-थोड़े अंतराल में उनके घरों में जाते हैं और त्यौहारों के दौरान सहायता और साथ देते हैं। एसपी ने कहा, "इससे लोगों और परिवार के सदस्यों को चेतावनी दी जाती है कि वे बुजुर्ग लोगों के साथ दुर्व्यवहार या हमला या लूट न करें क्योंकि वे पुलिस के संपर्क में हैं।"
बच्चों की शिक्षा और उन्हें प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए तैयार करने और विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञों के साथ जुड़कर अवसरों के द्वार खोलने पर ध्यान केंद्रित करने वाला एक अन्य कार्यक्रम "अग्रसर" है जो वर्चुअल प्लेटफॉर्म के माध्यम से एक वैकल्पिक कोचिंग है।
"एक बार जब पुलिसकर्मियों के बच्चों ने इसे अच्छी तरह से अपनाया, तो माता-पिता की मांगों के आधार पर, हमने 200 वंचित बच्चों को भी शामिल किया। हमने डॉक्टर, वकील, आईआईटी स्नातक, आईएएस अधिकारी को भी साथ लिया है जिनसे बच्चे बात करते हैं और ज्ञान प्राप्त करते हैं । हमने 150 शिक्षकों से मदद ली जो स्वेच्छा से विभिन्न विषयों पर मदद करते हैं," एसपी गुप्ता ने कहा। 

गुरुवार, 25 नवंबर 2021

चोरी के 2 मोटर सायकल सहित 1 गिरफ्तार, थाना जयनगर पुलिस की कार्यवाही



पीजी कालेज से स्कूटी तो रविन्द्रनगर से मोटर सायकल किया था चोरी

सूरजपुर। गुरूवार को थाना प्रभारी जयनगर को मुखबीर से सूचना मिली कि कमलपुर का रोहन राय एक काले रंग के स्कूटी को कम रकम में बेचने की फिराक में अजबनगर की ओर घुम रहा है जिसकी सूचना से वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराते हुए सिलफिली में घेराबंदी लगाकर स्कूटी सहित उसे पकड़ा गया जिससे वाहन के दस्तावेज की मांग किए जाने पर कोई वैध दस्तावेज प्रस्तुत नहीं किया। बारीकी से पूछताछ करने पर स्कूटी को पीजी कालेज अम्बिकापुर से चोरी करना तथा 1 मोटर सायकल को ग्राम रविन्द्रनगर से चोरी करना बताया जिसके निशानदेही पर चोरी की मोटर सायकल को उसके घर से बरामद किया गया। दोनों वाहन चोरी का होने की पूर्ण संभावना पर धारा 41(1-4) जा.फौ./379 भादवि के तहत कार्यवाही करते हुए एक स्कूटी व एक मोटर सायकल कीमत 1 लाख 15 हजार रूपये का जप्त कर आरोपी ग्राम कमलपुर निवासी रोहन राय उर्फ बंटी को विधिवत गिरफ्तार किया गया। इस कार्यवाही में थाना प्रभारी जयनगर सुभाष कुजूर, प्रधान आरक्षक रजनीश त्रिपाठी, आरक्षक जितेन्द्र सिंह, राजकुमार पासवान, कृष्णा सिंह, जय प्रकाश यादव, अभय पाण्डेय सक्रिय रहे। 

16 जुआड़ियों को जुआ खेलते पकड़ा, 42500 रूपये जप्त किया भटगांव पुलिस ने

सूरजपुर। अवैध कार्यों के विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही को लेकर पुलिस अधीक्षक श्रीमती भावना गुप्ता  के सख्त निर्देश पर लगातार कार्यवाही जारी है। बीती रात्रि को थाना भटगांव की पुलिस ने मुखबीर की सूचना पर ग्राम तेलगवां स्थित पोल्ट्री फार्म कैम्पस में दबिश देकर जुआ खेलते 16 व्यक्ति धर्मेन्द्र जायसवाल, अनिल गुप्ता, मोहर्रम अली, बिंदेश्वरी यादव उर्फ विदेशी, दुर्गा प्रसाद, तनवीर आलम, संदीप कुशवाहा, जयराम राजवाड़े, धर्मेन्द्र प्रसाद, राजेश कुमार, मनोज दास, कमलेश सोनी, शिवकुमार राजवाड़े, लालजी राजवाड़े, सीताराम यादव, शिव नारायण यादव को रंगे हाथों पकड़ा। जुआड़ियों के कब्जे व जुआ फड़ से 42500 रूपये जप्त कर धारा 13 जुआ एक्ट के तहत कार्यवाही किया है। इस कार्यवाही में थाना प्रभारी भटगांव विमलेश सिंह व उनकी टीम सक्रिय रहे।

दूसरे मामले में उमेश्वरपुर चौकी की पुलिस ने 6 लोगों को जुआ खेलते पकड़ा, 5370 रूपये जप्त 

बुधवार को एक दूसरे मामले में चौकी उमेश्वरपुर की पुलिस टीम ने ग्राम पार्वतीपुर में हारजीत का दाव लगाकर जुआ खेल रहे 6 व्यक्ति राम अवतार, अनिल सिंह, जगदीश सिंह, परवेज आलम, गुलाब त्रिपाठी व सुभाष राजवाड़े को रंगे हाथों पकड़ा जिनके कब्जे व फड़ से 5370 रूपये जप्त कर धारा 13 जुआ एक्ट के तहत कार्यवाही किया है।

सोमवार, 22 नवंबर 2021

10 लाख कीमत के 40 मोबाइल फोन उनके वारिसानों को किए वापस सूरजपुर पुलिस ने

  • गुम मोबाईल की सूचना देने सूरजपुर पुलिस के ब्लाग में मौजूद है सुविधा

सूरजपुर।     मोबाइल फोन आज के दौर में सबसे महत्वपूर्ण वस्तु है। इंसान की जरूरत बन चुका मोबाइल यदि खो जाता है या चोरी हो जाता है तो उन्हें काफी असुविधा होती है। पुलिस अधीक्षक श्रीमती भावना गुप्ता ने मोबाइल चोरी, मोबाइल खोने की बात को गंभीरता से लेते हुए आमजनता की सुविधा को ध्यान में रखते हुए सूरजपुर पुलिस के ब्लाग में गुम मोबाईल की सूचना देने की सुविधा उपलब्ध कराया है इसके अलावा लिंक https://forms.gle/hYeR5TfNft3yqTet7 पर भी क्लीक कर गुम हुए मोबाईल के बारे में सूचना दी जा सकती है। गुम हुए मोबाईल की खोजबीन के लिए साईबर सेल का लगाया गया है जिसके सार्थक परिणाम सामने आ रहे है।
            साइबर सेल ने ऐसे करीब 10 लाख कीमत के 40 मोबाइल फोन को केवल एक महीने में ढूंढ निकाला है इन मोबाईलों को सोमवार को पुलिस अधीक्षक ने उनके वारिसानों को वितरण किया है। मोबाइल खोजने में साइबर सेल से एसआई नीलाम्बर मिश्रा, आरक्षक युवराज यादव, रोशन सिंह, विनोद सारथी की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। गुम मोबाईल वितरण कार्यक्रम के दौरान एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी, स्थापना प्रभारी अखिलेश सिंह मौजूद रहे।

रविवार, 21 नवंबर 2021

थाना-चौकी में आयोजित हुआ जनदर्शन, आमजनता के शिकायतों का हुआ निराकरण

परिवार परामर्श केन्द्र की सुनवाई से 4 जोड़े आपसी मतभेद भुलाकर साथ रहने हुए राजी

सूरजपुर। छत्तीसगढ़ शासन व पुलिस महानिदेशक द्वारा आमजनता की समस्याओं को सुनने एवं उसके निराकरण के लिए पुलिस जनदर्शन कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश दिए है जिसके परिप्रेक्ष्य में जिला स्तर पर पुलिस अधीक्षक सहित सभी पुलिस राजपत्रित अधिकारी व समस्त थाना-चौकी प्रभारियों के द्वारा पुलिस जनदर्शन का आयोजन किया जा रहा है।
        पुलिस अधीक्षक श्रीमती भावना गुप्ता के निर्देशन में शनिवार, 20 नवम्बर को जिले के सभी थाना-चौकी प्रभारियों ने जनदर्शन का आयोजन कर आमजनता की कई शिकायतों-समस्याओं को गहनता से सुना और निराकरण किया। जिनमें पैतृक जमीन के बटवारे, बच्चों के बीच खेलकूद की बात को लेकर विवाद की भी शिकायते प्राप्त हुई जो पुलिस अधिकारियों ने दोनों पक्षों की मौजूदगी में काउन्सलिंग करते हुए अपने-अपने हक की भूमि को नापी कराकर काबिज होने एवं बच्चों के खेलकूद की शिकायत पर दोनों पक्षों के आपसी भाईचारे के साथ रहने, विवाद नहीं करने की समझाईश देने पर वे राजी हुए। शनिवार को ही परिवार परामर्श केन्द्र में पति-पत्नी से संबंधित 4 पारिवारिक मामलों की बेहतर एवं स्वच्छ वातावरण में दोनों पक्षों की मौजूदगी में सुनवाई की गई जिसमें चारों जोड़े आपसी मतभेद भुलाकर साथ में रहने राजी हुए। एसपी ने आमजनों को किसी प्रकार की कोई समस्या-शिकायत होने पर जनदर्शन कार्यक्रम में उपस्थित होकर अपने समस्या से अवगत करा निराकरण कराने कहा है।

शनिवार, 20 नवंबर 2021

साहस, आत्मबल और सफलता के लिए संर्घष की मशाल थमा गया बाल सुरक्षा सप्ताह


  • सूरजपुर पुलिस ने पूरे सप्ताह बच्चों को दी बाल सुरक्षा से जुड़ी कई जानकारियां
  • हिम्मत कार्यक्रम से जुड़ी बालिकाओं ने किया रोप मलखम का  शानदार प्रदर्शन
  • स्कूली बच्चों की खूबसूरत रंगोली ने किया सभी का ध्यान आकर्षित

सूरजपुर।     पूर्व प्रधानमंत्री स्व.पंडित जवहार लाल नेहरू जी के जयंती को बाल दिवस के रूप मे पूरे देश मे मनाया जाता है, इसी परिप्रेक्ष्य में पुलिस मुख्यालय रायपुर के निर्देशानुसार 14 नवम्बर से 20 नवम्बर 2021 तक बाल सुरक्षा सप्ताह का आयोजन किया गया। पुलिस अधीक्षक श्रीमती भावना गुप्ता के मार्गदर्शन में पूरे जिले में बाल सुरक्षा सप्ताह मनाया गया जिसका शुभारंभ कार्यक्रम 14 नवम्बर को जिला मुख्यालय में किया गया था जिसका समापन शनिवार को थाना रामानुजनगर में किया गया। बाल सुरक्षा सप्ताह के दौरान जिले के पुलिस राजपत्रित अधिकारी, सभी थाना-चौकी प्रभारियों ने अपने क्षेत्र में स्थित स्कूलों में जाकर गुड-टच, बैड-टच, साईबर सुरक्षा, पास्को एक्ट, जेजे एक्ट, मानव तस्करी, नशा के दुष्प्रभाव, मानव तस्करी, बाल विवाह, बाल श्रम, स्वच्छता, नशा के दुष्प्रभाव, पीडित क्षतिपूर्ति की जानकारी देते हुए स्कूली बच्चों को थाना का शैक्षणिक भ्रमण भी कराया। 
            शनिवार को थाना रामानुजनगर में आयोजित समापन कार्यक्रम में हिम्मत कार्यक्रम के तहत आत्मरक्षा का प्रशिक्षण ले रहे बालिकाएं, स्कूली बच्चे के द्वारा रंगोली प्रतियोगिता, कुर्सी दौड़, जूड़ो करोटे एवं रोप मलखम का प्रदर्शन किया। सूरजपुर पुलिस के हिम्मत कार्यक्रम से जुड़े बालिका पूर्णिमा पूरी, दुर्गावती गुर्जर, सुनैना जायसवाल, मायावती जायसवाल, अंजली पूरी, मंजिता राजवाड़े, देवन्ती राजवाड़े ने रोप मलखम का शानदार प्रदर्शन एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी के नेतृत्व में किया।


            इस दौरान पुलिस अधीक्षक श्रीमती भावना गुप्ता ने बच्चों के अधिकारों की जानकारी देते हुए कहा कि बालकों का शोषण करने वाले असामाजिक तत्वों के विरुद्ध सख्त कानूनी कार्रवाई होगी जिसके तहत कठोर कारावास का प्रावधान है, जिससे स्वयं बचें और औरों को भी ऐसा ना करने को प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि हिम्मत कार्यक्रम से बालिकाओं में काफी हिम्मत आई है, रोप मलखम में बालिकाएं राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता के लिए चयनित हुई हैं, बालकों की सुरक्षा सर्वोपरि है जिसमें समाज के सभी वर्गो का सहयोग अपेक्षित है, अभिभावक हिम्मत कार्यक्रम के तहत बच्चों को आत्मरक्षा का प्रशिक्षण लेने हेतु प्रोत्साहित करें। पुलिस अधीक्षक ने बच्चों द्वारा इस संबंध में पूछे गए प्रश्नों व उनकी जिज्ञासाओं का समाधान किया गया और बच्चों के साथ काफी समय भी बिताए।
            समापन कार्यक्रम में रंगोली प्रतियोगिता में छात्र आरती व लक्ष्मी के द्वारा चाचा नेहरू, माननीय मुख्यमंत्री छ.ग. शासन तथा राष्ट्रीय ध्वज की कलाकृति बनाया जिन्हें प्रथम स्थान हासिल हुआ, कुर्सी दौड़ में आंचल यादव ने प्रथम स्थान हासिल किया जिन्हें पुरस्कृत किया गया। रोप मलखम में शानदार प्रदर्शन करने वाली बालिका पूर्णिमा पूरी का जन्मदिवस होने की जानकारी पर पुलिस अधीक्षक ने जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में बालिका से केक कटवाकर उसका जन्मदिवस मनाया और उसे शुभकामनाएं दी।

                इस दौरान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर, सचिव प्रदेश कांग्रेस कमेटी इस्माईल खान, जिला पंचायत सदस्य उषा सिंह, मेंहदी यादव, प्रवक्ता ब्लाक कांग्रेस कमेटी ऋषि दुबे, सरपंच सुशीला सिंह, परमेश्वर यादव, आनंद कुंवर, संदीप जायसवाल, सत्य नारायण दुबे, गणेश, एसआई सुनीता भारद्धाज, एएसआई बृजेश यादव, कमाण्डो ट्रेनर चंदन टोप्पो, अम्मेलाल, बजरंग राजवाड़े, देवन्ती राजवाड़े, काफी संख्या में बच्चे एवं उनके अभिभावकगण मौजूद रहे।


शुक्रवार, 19 नवंबर 2021

सूरजपुर पुलिस ने अपहृत बालिका को रायसेन मध्यप्रदेश से किया बरामद, 1 गिरफ्तार

सूरजपुर।    दिनांक 22.10.21 को भटगांव क्षेत्र निवासी एक व्यक्ति ने थाना भटगांव में रिपोर्ट दर्ज कराया कि 15 अक्टूबर को इसकी नाबालिक पुत्री घर से बिना बताये कही चली गई है किसी अज्ञात व्यक्ति के द्वारा बहला फुसलाकर भगाकर ले गया है कि रिपोर्ट पर धारा 363 भादवि के तहत मामला पंजीबद्ध किया गया। गुमशुदा एवं नाबालिक बालिका को भगाकर ले जाने के मामले को गंभीरता से लेते हुए  पुलिस अधीक्षक श्रीमती भावना गुप्ता  ने जिले के थाना-चौकी प्रभारियों को गुमशुदा एवं अपहरण के मामले में गंभीरतापूर्वक हर संभव प्रयास कर नई तकनीक की मदद एवं छोटी-बड़ी सुराग हासिल कर अपहृता को दस्तयाब तथा आरोपी को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए थे। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर व एसडीओपी प्रतापपुर अमोलक सिंह के मार्गदर्शन में प्रकरण की विवेचना की गई जो पुलिस टीम को सूत्रों के जरिये जानकारी मिली की नाबालिक लड़की रायसेन मध्यप्रदेश में है जो पुलिस टीम विधिवत मध्यप्रदेश के लिए रवाना हुई और जिला रायसेन में आरोपी जसवंत ठाकुर पिता उमराव निवासी बेगमगंज पांडाझीर के कब्जे से अपहृत बालिका को दस्तयाब किया गया। पीड़िता से पूछताछ के बाद प्रकरण में पृथक से धारा 366, 376(2)(एन) भादवि व पोक्सो एक्ट की धारा 6 जोड़ी जाकर आरोपी को विधिवत् गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया जहां से उसे जेल भेज दिया गया। इस कार्यवाही में थाना प्रभारी भटगांव विमलेश सिंह, एएसआई उमेश सिंह, आरक्षक संतोष जायसवाल व मनोज जायसवाल सक्रिय रहे। 

भटगांव के बाजारपार में हुए चोरी मामले को 3 अपचारी बालकों ने दिया था अंजाम

सूरजपुर।      गुरूवार 18 नवम्बर को बाजारपारा भटगांव निवासी सरोज शाह ने थाना में रिपोर्ट दर्ज कराया कि छठ पूजा मनाने पैतृक गांव परिवार सहित गया था, 17 नवम्बर को वापस आया तो देखा कि घर में लगे ताला को तोड़कर किसी अज्ञात व्यक्ति ने लैपटॉप, 4 नग बाजारू अंगुठी, नगदी रकम की चोरी कर लिया है। प्रार्थी की रिपोर्ट पर थाना भटगांव में धारा 457, 380 भा.दं.सं. के तहत मामला पंजीबद्व कर विवेचना की गई।
                एसडीओपी प्रतापपुर अमोलक सिंह के मार्गदर्शन में थाना भटगांव की पुलिस टीम ने मुखबीर की सूचना पर घर में घुसकर चोरी करने वाले 3 अपचारी बालक को हिरासत में लेकर पूछताछ किया जो तीनों ने चोरी करना स्वीकार किया। अपचारी बालकों की निशानदेही पर चोरी किए गए लैपटॉप, नगदी व 4 नग बाजारू अंगुठी कुल कीमत 46000/- रूपये को जप्त कर तीनों अपचारियों को बाल न्यायालय में पेश किया गया। इस कार्यवाही में थाना प्रभारी भटगांव विमलेश सिंह, एएसआई उमेश सिंह, प्रधान आरक्षक राजेश यादव व अन्य कर्मचारी सक्रिय रहे।

पुलिस ने दी स्कूली बच्चों को यातायात नियमों की जानकारी


बाल सुरक्षा सप्ताह में बच्चों को दी जा रही है कई महत्वपूर्ण जानकारियां

सूरजपुर।         पुलिस अधीक्षक श्रीमती भावना गुप्ता के निर्देश पर स्कूली बच्चों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक करने के लिए बाल सुरक्षा सप्ताह के तहत यातायात पुलिस ने शा.उ.मा.वि. कृष्णपुर के विद्यार्थियों को यातायात नियमों की जानकारी दी। इस दौरान पुलिस अधिकारी ने कहा कि सड़क दुर्घटना रोकने में स्कूली बच्चों की भूमिका अहम है। उन्होंने बच्चों से जिम्मेदार बनने और समाज में सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूकता लाने का भी आह्वान कर कहा कि यातायात के नियमों का सभी को पालन करना चाहिए। उन्होंने दोपहिया वाहन चलाते समय हेलमेट का प्रयोग करने, ट्रिपल राइडिंग न करने, निर्धारित गति में वाहन चलाने के लिए प्रेरित किया। स्कूल के प्राचार्य को कहा कि बच्चों को बताया कि बिना लाइसेंस के गाड़ी न चलाए और न ही चलाने दें। बाइक चलाते समय हमेशा हेलमेट व कार चलाते समय सीट बेल्ट का प्रयोग करें। नशे में किसी को वाहन न चलाने दें। घर में जाकर अपने अभिभावक और पड़ोसियों को भी अपने माध्यम से सुरक्षा के प्रति जागरूक करें।
गुरूवार को थाना सूरजपुर, ओड़गी, चांदनी, भटगांव, चौकी चेन्द्रा, करंजी, तारा, कुदरगढ़ के पुलिस अधिकारियों ने बाल सुरक्षा सप्ताह के तहत अपने-अपने क्षेत्र के स्कूलों/महाविद्यालय में जाकर स्कूली बच्चों को गुड टच-बैड टच, यातायात नियम, साइबर सुरक्षा, पाक्सो एक्ट, जेजे एक्ट, मानव तस्कारी, नशा के दुष्प्रभाव के बारे में जानकारी दिया। सूरजपुर पुलिस द्वारा चलाए जा रहे अभियान हिम्मत, समर्पण, अग्रसर के बारे में विस्तृत जानकारी से स्कूली बच्चों को अवगत कराया गया।

गुरुवार, 18 नवंबर 2021

दो किलो गांजा सहित 1 गिरफ्तार, चौकी लटोरी पुलिस की कार्यवाही


सूरजपुर। अवैध कारोबार के विरूद्व पुलिस की लगातार कार्यवाही जारी है। इसी परिपेक्ष्य में गुरूवार को मुखबीर की सूचना पर लटोरी चौकी की पुलिस ने कल्याणपुर में घेराबंदी लगाकर मोटर सायकल सहित पंकज कुशवाहा पिता शोभा कुशवाहा निवसी रायकेरा, थाना सीतापुर, जिला सरगुजा को पकड़ा जिसके कब्जे से 2 किलो मादक पदार्थ गांजा कीमत 20 हजार रूपये एवं परिवहन में प्रयुक्त मोटर सायकल को जप्त कर धारा 20(बी) एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्यवाही कर उसे गिरफ्तार किया है। इस कार्यवाही में चौकी प्रभारी लटोरी सुनील सिंह सहित अन्य अधिकारी-कर्मचारी सक्रिय रहे।

बुधवार, 17 नवंबर 2021

बाल सुरक्षा सप्ताह में पुलिस ने स्कूलों में बच्चों को बताए उनके अधिकार और कई महत्वपूर्ण जानकारियों से कराया अवगत


सूरजपुर। पुलिस अधीक्षक श्रीमती भावना गुप्ता के निर्देश पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर के मार्गदर्शन में जिले के थाना-चौकी की पुलिस बाल सुरक्षा सप्ताह के तहत अलग-अलग स्कूलों में जाकर बच्चों को गुड टच-बैड टच, यातायात नियम, साइबर सुरक्षा, पाक्सो एक्ट, जेजे एक्ट, मानव तस्कारी, नशा के दुष्प्रभाव के बारे में जानकारी दे रहा है। स्कूली बच्चों को अपनी सुरक्षा के प्रति सजग रहकर बेहतर शिक्षा हासिल करने हेतु प्रोत्साहित किया जा रहा है। इस दौरान पुलिस अधिकारियों ने स्वयं का मोबाईल नंबर भी छात्रों को उपलब्ध कराते हुए कहा कि किसी प्रकार की समस्या, घटना-दुर्घटना की जानकारी मोबाईल पर दे ताकि आपकी सहायता की जा सके।
पुलिस के अधिकारियों के द्वारा बाल सुरक्षा को लेकर सार्वजनिक जगहों में जाकर बच्चों व युवाओं को जागरूक किया जा रहा है। इस क्रम में साप्ताहिक बाजार व विभिन्न स्कूलों में पहुंचकर स्कूली बच्चों व अन्य लोगों को जागरूक किया।

माननीय सत्र न्यायाधीश ने मानव तस्करी मामले में आरोपियों को दी 10-10 वर्ष की कठोर कारावास की सजा


सूरजपुर।
दिनांक 20.05.19 को सूरजपुर थाना क्षेत्र निवासी एक महिला ने थाना सूरजपुर में रिपोर्ट दर्ज कराया कि करीब 2-3 माह पूर्व पलढ़ा निवासी रामसेवक टोप्पो जो प्रार्थियां का रिश्ते में मामा लगता था इसके घर में आकर दिल्ली में नौकरी दिलाने की बात बोलकर इसे एवं इसकी 2 बहनों व 1 लड़के को अपने साथ दिल्ली निवासी अशोक कुमार के यहां लेकर गया जहां 1-2 दिन बाद प्रार्थिया का स्वास्थ्य खराब होने से 1 लड़के के साथ दिल्ली से अपने घर वापस आ गई। वापस आते समय इसने अपने बहनों को भी वापस भेजने हेतु आग्रह करने लगी पर नान्हू, अशोक तथा रामसेवक टोप्पो के द्वारा उन्हें वापस भेजने से मना कर दिया। जिसके बाद आरोपीगण पीड़िता के बहनों को जबरन बंधक बनाकर रखने तथा जबरन काम करा रहे थे।
            प्रार्थिया की रिपोर्ट पर थाना सूरजपुर में अपराध क्रमांक 190/19 धारा 365, 373, 374, 34 भा.दं.सं. के तहत मामला पंजीबद्ध किया गया। थाना सूरजपुर की पुलिस ने प्रार्थियां के बताये अनुसार टीम बनाकर दिल्ली रवाना हुए। जहां आरोपी रामसेवक टोप्पो का पतासाजी कर हिरासत में लेकर पूछताछ करने पर आरोपी रामसेवक द्वारा पीड़ित बालिकाओं को नान्हू एवं अशोक की मदद से काम कराने के लिए राजस्थान ले जाने की बात बताने पर मेमोरण्डम कथन लेखकर रामसेवक की निशानदेही पर राजस्थान रवाना होकर पीड़ित बालिकाओं एवं आरोपी नान्हू कुमार के कब्जे से दिनांक 25.05.19 को बरामद किया गया। पूछताछ के बाद पीड़ित बालिकाओं को बाल कल्याण समिति सूरजपुर में पेश कर काउन्सलिंग कराये जाने पश्चात् माननीय न्यायालय में धारा 164 जा.फौ. के तहत कथन कराया गया। मामले के तीसरे आरोपी अशोक कुमार जो जिला जेल मण्डला मध्यप्रदेश में अन्य प्रकरण में निरूद्ध होने से प्रोडक्शन वारंट प्राप्त किया। सम्पूर्ण विवेचना पर थाना सूरजपुर में पदस्थ तत्कालीन एसआई रश्मि सिंह के द्वारा करते हुए आरोपीगणों के विरूद्ध अपराध धारा का घटित करना पाए जाने से तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर प्रकरण अजमानतीय होने से माननीय न्यायालय में पेश कर न्यायिक अभिरक्षा में भेजा गया। मामले के विवेचक ने प्रकरण में साक्ष्य संकलित कर आरोप पत्र माननीय न्यायालय सूरजपुर में पेश किया था।
            मामले की सम्पूर्ण सुनवाई विद्वान न्यायाधीश श्री हेमंत सराफ माननीय सत्र न्यायाधीश सूरजपुर के यहां हुई। माननीय न्यायालय में मामले की सुनवाई पूर्ण करते हुये सम्पूर्ण गवाही शासन की ओर से लोक अभियोजक योगेन्द्र सिंहदेव द्वारा कराया गया। जिसमें पीड़ित बालिकाओं का कथन एवं गवाहों के कथन से आरोपीगणों के विरूद्व अपराध सिद्ध पाए जाने से आरोपी (1) रामसेवक टोप्पो पिता रघुनाथ टोप्पो ग्राम पलढ़ा, थाना प्रतापपुर (2) नान्हू कुमार पिता स्व. चौधरी कंवर निवासी सोहरपाठ, थाना नेतरहाट, जिला लातेहार झारखण्ड (3) अशोक कुमार पिता चलित्तर मुखिया निवासी इन्द्रा इनक्लेव-02 फ्लोर-10, थाना नेबसराय, जिला मेहरौली नई दिल्ली को धारा 365, 34 भा.दं.सं. में 3-3 वर्ष (दो बार) के कठोर कारावास व 500-500 रूपये के अर्थदण्ड एवं धारा 370, 34 भा.दं.स. (दो बार) के अपराध में 10-10 वर्ष कठोर कारावास व 500-500 रूपये के अर्थदण्ड तथा धारा 374, 34 भा.दं.स. (दो बार) के अपराध में 6-6 माह कठोर कारावास व 500-500 रूपये के अर्थदण्ड से दंडित किया है।

एक किलो गांजा सहित 1 गिरफ्तार, चौकी लटोरी पुलिस की कार्यवाही


सूरजपुर। अवैध कार्यो के विरूद्व प्रभावी कार्यवाही को लेकर पुलिस अधीक्षक श्रीमती भावना गुप्ता के निर्देश पर लगातार कार्यवाही जारी है। इसी बीच बुधवार को मुखबीर की सूचना पर लटोरी चौकी की पुलिस ने कल्याणपुर चौक के पास घेराबंदी लगाकर मोटर सायकल सहित भुनेश्वर राजवाड़े पिता जगसाय राजवाड़े निवासी कल्याणपुर को पकड़ा जिसके कब्जे से 1 किलो मादक पदार्थ गांजा कीमत 10 हजार रूपये एवं परिवहन में प्रयुक्त मोटर सायकल को जप्त कर धारा 20(बी) एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्यवाही कर उसे गिरफ्तार किया है। इस कार्यवाही में चौकी प्रभारी लटोरी सुनील सिंह सहित अन्य अधिकारी-कर्मचारी सक्रिय रहे।

वार्षिक निरीक्षण में पुलिस अधीक्षक ने कहा जनता से बेहतर संबंध बनाएं पुलिस कर्मी

  • निरीक्षण में लंबित मामले के निकाल के लिए दिए सख्त निर्देश 
  • अधिकारी-कर्मचारियों की सुनी समस्याएं, किया निराकरण

सूरजपुर।     मंगलवार को पुलिस अधीक्षक श्रीमती भावना गुप्ता ने प्रतापपुर थाने का वार्षिक निरीक्षण किया। उन्होंने सबसे पहले परेड का जायजा लिया और उत्कृष्ट वेशभूषा व परेड पर जवानों को पुरस्कृत किया। परेड और थाने का निरीक्षण करने के पश्चात एसपी ने थाना परिसर में दरबार लगाकर अधिकारियों-कर्मचारियों के चर्चा कर उनके समस्याओं को जाना और उन समस्याओं के त्वरित निराकरण हेतु दिशा निर्देश भी दिया। उन्होंने थाने पर उपलब्ध फोर्स, थाने में सीसीटीवी व सीसीटीएनएस कक्ष को देखा और प्रभारी को रिकार्ड शत-प्रतिशत अपलोड कराने के निर्देश दिए। थाना परिसर व थाना के कक्षों का अवलोकन किया। अखिलेखों के निरीक्षण के दौरान थाने का समस्त रिकार्ड का संधारण व्यवस्थित तरीके से करने की भी हिदायत दी, उन्होंने अपराध के ग्राफ को भी देखा। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि हमारी कार्रवाई निष्पक्ष होनी चाहिए इससे नागरिकों में पुलिस के प्रति विश्वास बढ़ेगा। अवैध कारोबार से जुड़े लोगों पर सख्ती से कार्यवाही की जाए, आपराधिक मामले में फरार आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर कहा कि फरार आरोपी पुलिस की नजर से नहीं बचने चाहिए, इनकी गिरफ्तारी जल्द से जल्द सुनिश्चित की जाए। 
            एसपी ने पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों को आम नागरिकों से मधुर संबंध बनाकर उनकी समस्याओं को सुन त्वरित निराकृत करने प्रेरित किया। प्रत्येक शनिवार को पुलिस जनदर्शन लगाकर आमजनता के शिकायत-समस्याओं का त्वरित निराकरण करने, जनदर्शन के बारे में क्षेत्र में प्रचार-प्रसार, महिलाओं के विरुद्ध घटित घटनाओं पर त्वरित कार्रवाई करने के कड़े निर्देश दिए। उन्होंने थाने में पहुंचने वाले फरियादियों से बेहतर व्यवहार करने की कड़ी नसीहत दी। बिना नंबर व बिना लाइसेंस सहित परिवहन व यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों के खिलाफ नियमित कार्रवाई करने निर्देशित किया। अपराधों की रोकथाम, गुम बालक-बालिकाओं की पतासाजी हेतु टीम गठित कर त्वरित कार्रवाई करने प्रेरित किया। थाना परिसर की व्यवस्था पर उन्होंने संतोष जताया। उन्होंने थाना प्रभारी को निर्देश देते हुए कहा कि आपराधिक घटनाओं पर रोकथाम के लिए सघन छापेमारी अभियान चलाया जाए। लंबित अपराध व शिकायतों की विस्तार से समीक्षा की। लंबित अपराधों, शिकायतों की जांच कर शीघ्र निराकरण करने के लिए मार्गदर्शन दिया। इस दौरान एसडीओपी प्रतापपुर अमोलक सिंह, थाना प्रभारी प्रतापपुर किशोर केंवट, स्थापना प्रभारी अखिलेश सिंह, सहित थाना के अन्य पुलिस अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे।

मंगलवार, 16 नवंबर 2021

रामानुजनगर पुलिस ने 5 गुमशुदा को ढूंढ निकाला, परिवार में लौटी खुशियां


सूरजपुर।
जिला में गुम इंसानों के दर्ज प्रकरणों में पुलिस ने कामयाबी हासिल की है। लंबे समय से लापता लोगों की तलाश के लिए चलाए जा रहे विशेष अभियान में पुलिस ने पिछले दो दिनों में 05 लोगों को ढूंढ निकाला है। जिले में गुम इंसान प्रकरणों के निराकरण कर गुम इंसानों को दस्तयाब करने के लिए पुलिस अधीक्षक श्रीमती भावना गुप्ता के निर्देश पर विशेष टीमों का गठन किया गया था। जिसके तहत रामानुजनगर थाने की पुलिस ने गुम हुए 4 महिला व 1 पुरूष को सकुशल बरामद कर पांच परिवारों के चेहरों पर खुशी की चमक लाने में अहम भूमिका निभाई है।
            रामानुजनगर थाना में दर्ज कराए गए गुम इंसान जिनमें ग्राम कालीपुर, सेन्दरी, सरईपारा, नारायणपुर व परशुरामपुर की 5 महिला-पुरूष घर से बिना बताए कहीं चले गए थे जिनके परिजनों ने थाना में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर चलाए जा रहे विशेष अभियान में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर व एसडीओपी प्रकाश सोनी के मार्गदर्शन में रामानुजनगर पुलिस ने पिछले 2 दिनों में मुखबीर की सूचना व प्राप्त जानकारी के आधार पर उनके मिलने के संभावित स्थानों का पता लगाकर दिगर थाना व जिले से 05 लोगों को ढूंढ निकालने में सफलता पाई है। इस कार्यवाही में थाना प्रभारी रामानुजनगर विकेश तिवारी, एएसआई बृजेश यादव, प्रधान आरक्षक महेन्द्र सिंह, फिरोज खान, आरक्षक दीपक यादव सक्रिय रहे।

पुलिस अधीक्षक श्रीमती भावना गुप्ता ने पुलिस जनदर्शन में आमजनता की सुनी समस्या

समस्याओं के तत्काल निराकरण हेतु थाना-चौकी प्रभारियों को दिए निर्देश



सूरजपुर। छत्तीसगढ़ शासन व पुलिस महानिदेशक द्वारा आमजनता की समस्याओं को सुनने एवं उसके निराकरण के लिए पुलिस जनदर्शन कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश दिए है जिसके परिपेक्ष्य में सोमवार, 15 नवम्बर 2021 को जिला स्तर पर पुलिस अधीक्षक श्रीमती भावना गुप्ता ने जिला पुलिस कार्यालय में जनदर्शन कार्यक्रम का आयोजन किया।
        इस जनदर्शन में ग्राम बंजा निवासी एक महिला ने स्वयं की भूमि पर देवर के द्वारा जबरन कब्जा कर कृषि कार्य करने संबंधी शिकायत दिया जिस पर पुलिस अधीक्षक ने चौकी प्रभारी बसदेई को तत्काल मौके पर भेजा और विधिसम्मत त्वरित कार्यवाही करने के निर्देश दिए। वहीं दूसरी शिकायत सूरजपुर निवासी एक महिला ने दिया जिसमें उसके परिवार के एक सदस्य पर उसने आरोप लगाया है। पुलिस अधीक्षक ने थाना प्रभारी सूरजपुर को पारिवारिक मामला होने से काउन्सलिंग हेतु निर्देशित किया है मंगलवार को दोनों पक्षों की मौजूदगी में काउन्सलिंग की जाएगी। जनदर्शन में 15 लोगों के चरित्र सत्यापन की जांच कराकर प्रमाण पत्र जारी किए गए। इस दौरान एएसपी मुख्यालय पी.एस.महिलाने, एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी, टीआई धर्मानंद शुक्ला, स्थापना प्रभारी अखिलेष सिंह सहित अन्य अधिकारीगण मौजूद रहे। विदित हो कि इसके अलावा जिला पुलिस कार्यालय में अतिरिक्त बुधवार, गुरूवार को, सीएसपी/एसडीओपी प्रत्येक शुक्रवार एवं सभी थाना-चौकी प्रभारी प्रत्येक शनिवार को अपने-अपने अनुभाग मुख्यालय व थाना-चौकी में 11.30 बजे से दोपहर 1.30 बजे तक उपस्थित रहेंगे और जनदर्शन का आयोजन कर आमजनता की समस्या का यथासंभव तत्काल निराकरण करेंगे।

रविवार, 14 नवंबर 2021

अग्रसर कार्यक्रम का हुआ शुभारंभ, सूरजपुर पुलिस का पुलिस कल्याण की दिशा में बड़ा कदम

  • पुलिस परिवार के परिजन के अध्ययनरत बच्चों को बाल दिवस के अवसर पर मिला अग्रसर के तहत ऑनलाईन कक्षाओं की सौगात
  • अग्रसर कार्यक्रम को लेकर पुलिस परिवार के बच्चों में खासा उत्साह
  • अग्रसर लोगो का अतिथियों ने किया अनावरण


सूरजपुर।     राज्य शासन, पुलिस महानिदेशक एवं पुलिस महानिरीक्षक सरगुजा रेंज के द्वारा पुलिस कल्याण की दिशा में कार्य करने के निर्देश प्राप्त हुए थे इसी परिपेक्ष्य में सूरजपुर जिले के पुलिस परिवार के अध्ययनरत् बच्चों को प्रेरणादायक व कैरियर उन्मुखी ऑनलाईन कक्षाओं के लिए आईजी सरगुजा रेंज श्री अजय यादव के मार्गदर्शन में अग्रसर कार्यक्रम का शुभारंभ रविवार, 14 अगस्त 2021 बाल दिवस के अवसर पुलिस अधीक्षक श्रीमती भावना गुप्ता, सीईओ जिला पंचायत श्री राहुल देव, प्रशिक्षु आईपीएस श्री उमेश गुप्ता, जिला कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमती भगवती राजवाड़े, नगर पालिका अध्यक्ष श्री के.के.अग्रवाल के द्वारा किया गया जिसका पुलिस परिवार के बच्चों में खासा उत्साह देखा गया। सुपर-30 संस्थापक श्री आनंद कुमार ने बच्चों को शिक्षा, लक्ष्य हासिल करने को लेकर बच्चों को ज्ञानवर्धक जानकारियां देते हुए शिक्षा के प्रति मोटिवेट किया। मोटिवेशन स्पीकर विनोद कश्यप के द्वारा बच्चों को कई शिक्षा से जुड़ी जानकारियां दी गई। कार्यक्रम में अग्रसर से जुड़े शासकीय व गैर शासकीय शिक्षकों को सम्मानित किया गया। सर्वप्रथम स्वागत गीत उसु लाईन हायर सेकेण्डरी स्कूल बनखेता के बच्चों के द्वारा दी गई।
            पुलिस अधीक्षक श्रीमती भावना गुप्ता ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि देश के प्रथम प्रधानमंत्री श्री जवाहर लाल नेहरू जी का जन्मदिवस जिसे हम बाल दिवस के रूप में मनाते है, इस शुभ दिवस व बाल सुरक्षा सप्ताह के उपलक्ष्य में अग्रसर कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ है। उन्होंने कहा कि बच्चे देश की असल शक्ति है, देश की आधार शिला है, एक सशक्त राष्ट्र का निर्माण तभी संभव है जब उस राष्ट्र के बच्चों के हौसलों की उड़ान बड़ी हो और उन हौसलों को हकीकत बनाने के लिए बच्चों को उन साधनों को हम दे पाए। इसी परिप्रेक्ष्य में पुलिस परिवार के 450 अध्ययनरत् बच्चों को प्रेरणादायक व कैरियर उन्मुखी ऑनलाईन कक्षाओं की सुविधा अग्रसर के माध्यम से प्रदाय किया जा रहा है साथ ही बच्चों को किसी विषय पर आ रही दिक्कतों को समझने व उसका हल विशेषज्ञ शिक्षकों के द्वारा मुहैया कराया जा रहा है। अग्रसर कार्यक्रम से जुड़े शासकीय व गैर शासकीय शिक्षकों के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि पुलिस के एक आग्रह पर करीब 100 शिक्षकों ने पुलिस परिवार के बच्चों को निःशुल्क शिक्षा देने की हामी भरी और पूरी निष्ठा और लगन से पुलिस परिवार के अध्ययनरत् बच्चों को ऑनलाईन शिक्षा दे रहे है।
           सीईओ श्री राहुल देव ने बच्चों को शिक्षा के प्रति मोटिवेट करते हुए कहा कि जितना बड़ा लक्ष्य, उतनी ज्यादा मेहनत हमें उसे हासिल करने के लिए करनी होगी। शिक्षा के क्षेत्र में पुलिस के द्वारा बच्चों की शिक्षा के लिए संवेदनशीलता दिखाते हुए रचनात्मक कार्य करते हुए अग्रसर के तहत ऑनलाईन कक्षाओं की सुविधा उपलब्ध कराया है जो शिक्षा के क्षेत्र में सराहनीय कदम है। पुलिस की ड्यूटी निरंतर चलते रहा है इसी वजह से पुलिसकर्मी अपने बच्चों की शिक्षा पर खासा ध्यान नहीं दे पाते जिस कारण बच्चों की शिक्षा के लिए वे चिंतित रहते है इस कार्यक्रम के शुरूवात होने से बच्चे नियमित तौर पर ऑनलाईन माध्यम से शिक्षकों से जुड़ेंगे और शिक्षा के साथ-साथ अपने प्रश्नों का समाधान हासिल कर सकेंगे। प्रशिक्षु आईपीएस उमेश गुप्ता ने खुद के आईपीएस बनने के सफर के बारे में बच्चों बताया और लक्ष्य साधने और उसे कैसे कड़े परिश्रम से उसे हासिल की जा सकती है उसके बारे में बताया। जिला कांग्रेस अध्यक्ष श्रीमती भगवती राजवाड़े, नपा अध्यक्ष श्री के.के.अग्रवाल, उपाध्यक्ष श्री रितेश गुप्ता ने भी मंच को संबोधित कर जिले की पुलिस परिवार के बच्चों की शिक्षा की दिशा में प्रारंभ किए गए अग्रसर कार्यक्रम की सराहना किया। इस दौरान एएसपी मुख्यालय पी.एस.महिलाने, संयुक्त कलेक्टर शिव बनर्जी, एसडीएम रवि सिंह, जिला पंचायत सदस्य उषा सिंह, कांग्रेस कमेटी के इस्माल खान, प्राचार्य डीएव्ही जरही मलिका मुखर्जी, नवोदय विद्यालय के प्राचार्य, गणमान्य नागरिकगण, अग्रसर कार्यक्रम से जुड़े शिक्षकगण, पुलिस के अधिकारी-कर्मचारी, काफी संख्या में पुलिस परिवार के बच्चे एवं विभिन्न थाना-चौकी के पुलिस अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे।

सूरजपुर पुलिस के अग्रसर लोगो का हुआ अनावरण


            कार्यक्रम के दौरान पुलिस परिवार के बच्चों को ऑनलाईन शिक्षा देने से जुड़ी सूरजपुर पुलिस के अग्रसर लोगो का अनावरण किया। अतिथियों के मानस पटल पर कार्यक्रम अक्षुण्ण रखने स्मृति चिन्ह भेंट किया गया। कार्यक्रम में पुलिस परिवार के अध्ययनरत बच्चों को अग्रसर कार्यक्रम का पहचान पत्र वितरण किया गया साथ ही उनके शिक्षा के लिए उपयोगी व ज्ञानवर्धक डिक्शनरी व पेन प्रदाय की गई। 

सुपर-30 संस्थापक श्री आनंद कुमार ने विडियों क्लीप से बच्चों को शिक्षा के प्रति किया प्रोत्साहित


            सुपर-30 के संस्थापक श्री आनंद कुुमार ने पुलिस परिवार के बच्चों को शिक्षाप्रद जानकारियों से समाहित जानकारियां, शिक्षा के प्रति मोटिवेशन और लक्ष्य साधते हुए लक्ष्य हासिल करने प्रोत्साहित करने संबंधी एक शानदार विडिया क्लीप का प्रदर्शन किया गया इस विडियों को देखकर बच्चे शिक्षा के प्रति गंभीर दिखे।