सोमवार, 17 फ़रवरी 2020

रामानुजनगर पुलिस ने किया पुलिस जनता सम्मेलन का आयोजन...........

जनता के सहयोग से अपराधों व अपराधियों पर कसी जा सकती है लगाम.......

सूरजपुर। *पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा* के निर्देशन में रामानुजनगर पुलिस ने शनिवार 15 फरवरी को ग्राम तिवरागुड़ी में पुलिस व जनता के बीच के संबंधों को और अधिक मधुर बनाने पुलिस जनता सम्मेलन का आयोजन किया जिसमें ग्राम रक्षा समिति के सदस्य, जनप्रतिनिधिगण सहित भारी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित रहे।
                *अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर* के मार्गदर्शन में एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी व थाना प्रभारी रामानुजनगर गोपाल धुर्वे के द्वारा पुलिस जनता सम्मेलन का आयोजन किया। इस अवसर पर *एसडीओपी प्रेमनगर* ने कहा कि जनता पुलिस के आंख व कान हैं। जनता के सहयोग से अपराधों व अपराधियों पर लगाम कसी जा सकती है। वे गांव तिवरागुड़ी में आयोजित पुलिस जनता सम्मेलन में ग्रामीणों को संबोधित कर कहा कि *पुलिस अधीक्षक सूरजपुर* के दिशा निर्देशानुसार में रामानुजनगर थाना में तैनात प्रत्येक पुलिस कर्मी ने किसी न किसी गांव में पहुंच जनता के बीच आपसी संबंधों को और मजबूत करने का कार्य किया है, वहीं क्षेत्र में इस प्रकार का माहौल बनाने में सहयोग देने की अपील भी जनता व क्षेत्र के गणमान्य व्यक्तियों से की है। सम्मेलन में पुलिस के द्वारा गुम इंसान की सूची से ग्राम रक्षा समिति के सदस्यों को अवगत कराया एवं किसी प्रकार की जानकारी मिलने पर अवगत कराने का कहा।
                 एसडीओपी प्रेमनगर ने कहा कि जनता व पुलिस के बीच इस प्रकार के मधुर संबंध होने चाहिए ताकि क्षेत्र में किसी भी प्रकार का ऐसा कार्य न होने पाए जिससे क्षेत्र की शाति भंग होती हो। अगर कोई असामाजिक तत्व क्षेत्र की शाति भंग करना चाहता है या फिर किसी भी प्रकार का अवैध कार्य कर रहा है तो उसकी सूचना पुलिस को दी जाए ताकि उसके विरूद्व वैधानिक कार्यवाही की जा सके। पुलिस प्रशासन हर समय जनता की सेवा के लिए तत्पर है ताकि क्षेत्र में शांति व्यवस्था बनी रहे। थाना प्रभारी रामानुजनगर ने ग्राम रक्षा समिति के सदस्यों को कहा कि अपने-अपने गांव के प्रत्येक गतिविधियों की जानकारी से जरूर अवगत कराए, वर्तमान समय में हो रहे आनलाईन, एटीएम, लाटरी लगने का झांसा देकर होने वाले धोखाधड़ी की जानकारी दी और उसके बचाव के तरीके बताए। उन्होंने कहा कि अपने घर के आसपास रहने वालों लोगों व अपने परिजनों को भी इसकी जानकारी दें।
इस दौरान जिला पंचायत उपाध्यक्ष नरेश राजवाड़े, जिला पंचायत सदस्य उषा सिंह, ग्राम रक्षा समिति रामानुजनगर के अध्यक्ष खिलानंद गोस्वामी, ग्राम तिवरागुड़ी, नकना, बकना, मांजा, तेलईमुड़ा, उमापुर के सरपंच, पंच, ग्राम रक्षा समिति के सदस्य व थाना रामानुजनगर के पुलिस अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे।

'सायबर की पाठशाला' : सायबर जागरूकता अभियान कड़ी-3

'सायबर की पाठशाला' : सायबर जागरूकता अभियान कड़ी-3
सायबर की पाठशाला में आज तीसरे पाठ में हम समझने की कोशिश कर रहे हैं कि एक सुरक्षित लिंक कैसा दिखता या होता है। धोखेबाज/अपराधी आम लोगों को ठगने के लिए बैंको के नाम से मिलते जुलते नाम या अक्षरों का प्रयोग करके एक यूआरएल/URL बनाता है और उसे मोबाइल पर सीधे मैसेज के रूप में भेजता है इन लिंकनुमा URL पर क्लिक करते ही आप ठगी के शिकार हो जाते हैं। यदि लिंक में anydesk, mingle, teamviewer जैसे शब्द हैं तो आपके फोन को हैक करने का प्रयास हो रहा है, तुरंत मैसेज डिलिट करें। लिंक पर क्लिक बिलकुल न करें। अनजान से व्यक्तियों से फोन पर ज्यादा बात न करें और न ही उन्हें किसी भी तरह की जानकारी दें चाहे कुछ भी हो जाए। तभी आप ठगी से बच पाएंगे। इस तरह के फर्जीवाड़ों पर और विस्तार से जानकारी के लिए इस श्रृंखला पर नजर बनाए रखें। पिछले पाठों को फिर से जानने के लिए/ पुनरावलोकन के लिए तस्वीर पर क्लिक करें या ऊपर के संबंधित टैब (सायबर की पाठशाला) पर क्लिक करें।