शुक्रवार, 10 जून 2022

पुलिस जन चौपाल में अवैध कार्यो की सूचना देने की अपील। यातायात नियमों के प्रति जागरूकता सहित साईबर फ्राड से बचाव की दी गई जानकारियां

सूरजपुर। आमजन की समस्याओं का मौके पर निराकरण करने, मोबाईल एवं इंटरनेट के माध्यम से हो रही ठगी के शिकार आमजन न हो, यातायात नियमों की जानकारी देकर लोगों में जागरूकता लाने, अवैध कार्यो में लिप्त लोगों की सूचना पुलिस तक पहुंचाने में आमजन का भरपूर सहयोग मिल सके इस हेतु पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री रामकृष्ण साहू ने थाना-चौकी प्रभारियों को सामुदायिक पुलिसिंग के तहत जन चौपाल का आयोजन करने हेतु निर्देशित किया था। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर के मार्गदर्शन में शुक्रवार को चौकी प्रभारी उमेश्वरपुर के द्वारा ग्राम वृद्धावन में जन चौपाल लगाया गया। इस दौरान एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी ने ग्रामीणजनों से अवैध कार्यो में लिप्त व्यक्तियों की सूचना मिलने पर बिना देर किए उसकी जानकारी पुलिस तक पहुंचाए ताकि उनके विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जा सके। मोबाईल एवं इंटरनेट के माध्यम से हो रहे ठगी की जानकारी देते हुये ग्रामीणों से यातायात नियमों का पालन करने, यातायात नियमों की जानकारी से और लोगों को भी अवगत कराने कहा। इसी प्रकार चौकी प्रभारी तारा ने ग्राम तारा में जन चौपाल आयोजित कर नागरिकों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक कर सड़क पर सावधानी बरतने, दो पहिया वाहन चलाते समय हेलमेट का उपयोग करें, फोर व्हीलर के इस्तेमाल पर सीट बेल्ट अवश्य लगाए, ओव्हर स्पीड वाहन न चलाने, वाहन चलाते समय मोबाईल का उपयोग कतई न करने, ओव्हर स्पीड वाहन न चलाने, दुर्घटना में घायल व्यक्ति की मदद् करने की समझाईश दिया। साईबर फ्राड सहित वर्तमान समय में होने वाले धोखाधड़ी से बचाव की जानकारी दिया। इस दौरान चौकी प्रभारी तारा लवकुमार पाण्डेय, चौकी प्रभारी उमेश्वरपुर देवनाथ चौधरी, जनप्रतिनिधिगण सहित काफी संख्या में ग्रामीणजन मौजूद रहे। 

'सायबर की पाठशाला' : सायबर जागरूकता अभियान कड़ी-3

'सायबर की पाठशाला' : सायबर जागरूकता अभियान कड़ी-3
सायबर की पाठशाला में आज तीसरे पाठ में हम समझने की कोशिश कर रहे हैं कि एक सुरक्षित लिंक कैसा दिखता या होता है। धोखेबाज/अपराधी आम लोगों को ठगने के लिए बैंको के नाम से मिलते जुलते नाम या अक्षरों का प्रयोग करके एक यूआरएल/URL बनाता है और उसे मोबाइल पर सीधे मैसेज के रूप में भेजता है इन लिंकनुमा URL पर क्लिक करते ही आप ठगी के शिकार हो जाते हैं। यदि लिंक में anydesk, mingle, teamviewer जैसे शब्द हैं तो आपके फोन को हैक करने का प्रयास हो रहा है, तुरंत मैसेज डिलिट करें। लिंक पर क्लिक बिलकुल न करें। अनजान से व्यक्तियों से फोन पर ज्यादा बात न करें और न ही उन्हें किसी भी तरह की जानकारी दें चाहे कुछ भी हो जाए। तभी आप ठगी से बच पाएंगे। इस तरह के फर्जीवाड़ों पर और विस्तार से जानकारी के लिए इस श्रृंखला पर नजर बनाए रखें। पिछले पाठों को फिर से जानने के लिए/ पुनरावलोकन के लिए तस्वीर पर क्लिक करें या ऊपर के संबंधित टैब (सायबर की पाठशाला) पर क्लिक करें।