शनिवार, 5 सितंबर 2020

सूरजपुर पुलिस ने किया अन्तर्राज्जीय नट गिरोह का पर्दाफाश, 2 आरोपी गिरफ्तार.........

सूरजपुर: जिले की पुलिस ने क्षेत्र में लगातार उठाईगिरी करने वाले 2 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने विश्रामपुर में घेराबंदी कर वारदात में शामील दोनों आरोपी को दबोचा। उठाईगिरी करने वाले इन आरोपियों से पुलिस ने 21 हजार 5 सौ रूपये एवं बिना नंबर के अपाचे मोटर सायकल को बरामद किया है।


          थाना विश्रामपुर में माह अगस्त में 02 के अलावा सूरजपुर, भैयाथान, भटगांव थानों में उठाईगीरी का मामला प्रकाश में आने पर पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा को थाना प्रभारियों द्वारा हालात से अवगत कराने पर पुलिस अधीक्षक ने थाना प्रभारियों को उठाईगिरी के आरोपी की पतासाजी कर गिरफ्तार करने एवं क्षेत्र में लगातार गश्त-पेट्रोलिंग कर प्रभावी उपस्थित सुनिश्चित कराने एवं ऐसे अपराधों पर रोक लगाने के निर्देश अपराध सभा में दिए थे साथ ही पुलिस महानिरीक्षक सरगुजा रेंज श्री रतनलाल डांगी ने भी इस संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश दी थी।

         निर्देश के परिपालन में जिले की पुलिस ने बैंकों में सादे ड्रेस में पुलिस जवानों की ड्यूटी लगाई गई एवं संदेहियों पर सतत् निगाह रखी जा रही थी इसी दौरान दिनांक 04.09.2020 को थाना विश्रामपुर क्षेत्र के स्टेट बैंक मेें कुछ संदिग्ध व्यक्तियों के आने की जानकारी मुखबीर के द्वारा पुलिस अधीक्षक श्री कुकरेजा को दी गई जिस पर उन्होंने तत्काल थाना विश्रामपुर, सूरजपुर, लटोरी के प्रभारियों को बल के साथ विश्रामपुर में नाकाबंदी करने के निर्देश दिए साथ ही इन थानों के पेट्रोलिंग पार्टी को स्टेट बैंक के आसपास एवं चैराहों में आने जाने वाले पर सतत् निगरानी रखने कहा जिसके परिणाम स्वरूप स्टेट बैंक विश्रामपुर में होने वाली उठाईगिरी को रोकने में सफलता मिली तथा 01 संदेहियों को धर दबोचा गया, 01 संदेही पुलिस पेट्रोलिंग पार्टी को देख कर भागने लगा जिसे पुलिस टीमों के द्वारा घेराबंदी कर पकडा गया।

          संदेहियों से पूछताछ करने पर नट जाति के झक्कडपुर पत्थलगांव के निवासी होना बताने पर अपराध करने के लिये ही आना प्रतीत होने पर इसकी सूचना पुलिस अधीक्षक श्री कुकरेजा को दी गई जो उन्होंने संदेहियों से बारिकी से पूछताछ करने के साथ ही पूर्व में घटित उठाईगिरी के अपराधों के सिलसिले में पूछताछ करने एवं सरगुजा रेंज के सभी थाना-चैकी में नट गिरोह पकड़े जाने की सूचना भेजने के निर्देश दिए।

          आरोपियों से पूछताछ पर खुलासा हुआ कि नट गिरोह के सरगना बासुदेव नट उर्फ गुड्डू पिता मोहनलाल जाति नट उम्र 40 वर्ष निवासी झक्कड़पुर, थाना पत्थलगांव, जिला जशपुर एवं रवि कुमार करवल पिता राधेश्याम जाति नट उम्र 48 वर्ष निवासी बड़गाव, थाना बड़गाव, जिला वाराणसी उत्तरप्रदेश, हालमुकाम झक्कड़पुर, थाना पत्थलगांव दोनों झक्कड़पुर, थाना पत्थलगांव में रिश्तेदारी है और वहां रहने लगे थे।* पिछले माह विश्रामपुर में 2 बार अपराध करना बताए जिसमें पहला 45 हजार रूपये एक आदमी स्टेट बैंक से पैसा निकालकर बाहर गिन रहा था जिसमें कुछ पैसा अपने पाकिट में रखा और ज्यादा पैसा को झोला में डालकर मेन रोड में आकर छड़ सीमेन्ट दुकान में घुसा तब उसकी मोटर सायकल से रखे पैसा के झोला को चोरी करना, इससे पहले विश्रामपुर में मेन रोड से मोटर सायकल के डिक्की में रखे 20 हजार रूपये को चोरी किया जाना बताया। वारदात के बाद झोला में पैसा के साथ में पासबुक एवं अन्य कागज मिले जिन्हें जाते वक्त पैसा रखकर अन्य सामग्री फेंक दिया जाना स्वीकार किया।

          पुलिस ने बताया कि पत्थलगांव-रायगढ में लाॅकडाउन होने के दोनों आरोपी सूरजपुर सहित आसपास के जिले में चोरी करने के लिये आना स्वीकार किया। पिछले माह में ही भैयाथान में 19 हजार 5 सौ रूपये, सूरजपुर में 02 बार चोरी (उठाईगिरी) किये थे जिसमें पहली बार 19 हजार रूपये एवं दूसरी बार 22 हजार रूपये की चारी किये थ,े उसी माह भटगांव से 50 हजार रूपये की चोरी किये थे, इसके पूर्व वाड्रफनगर जिला बलरामपुर से 40 हजार रूपये एवं खड़गवा, जिला कोरिया से 50 हजार रूपये के साथ और कई जगह से नगदी रकम रखे व्यक्तियों के वाहन का बैंक से पीछा करके रास्ते अथवा बाजार में मौका देखकर मोटर सायकल के डिक्की मेें रखे नगदी रकम चोरी करना कबूल किया है। पुलिस ने बताया कि आरोपियों ने चोरी एवं उठाईगिरी की रकम से अपाचे मोटर सायकल खरीदना एवं मकान बनवाने में खर्च कर देना एवं कुछ पैसा बचा होना बताया है। साथ ही आरोपियों ने यह भी बताया कि कुछ माह से गंगापुर-अम्बिकापुर में किराये का मकान लेकर रहते थे। पकड़े गए आरोपियों के विरूद्व वाड्रफनगर, बलरामपुर, खड़गवां जिला कोरिया में अपराध करने की जानकारी प्रकाश में आने पर संबंधित थाना प्रभारियों को इसकी सूचना दे दी गई है। पकड़े गए आरोपियों से 21 हजार 5 सौ रूपये एवं बिना नंबर अपाचे मोटर सायकल को जप्त कर विधिवत् गिरफ्तार किया गया एवं माननीय न्यायालय में पेश किया गया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।
          अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर, सीएसपी जे.पी.भारतेन्दु व एसडीओपी ओड़गी मंजूलता बाज के नेतृत्व में थाना प्रभारी विश्रामपुर सुभाष कुजूर, एसआई सी.पी.तिवारी, एएसआई सुनील सिंह, के.डी.बनर्जी, उमेश सिंह, प्रधान आरक्षक वरूण तिवारी, अदीप प्रताप सिंह, आनंद सिंह, रामनिवास तिवारी, मुकेश्वर वर्मा, मनोज पोर्ते, आरक्षक अखिलेश पाण्डेय, युवराज यादव, रौशन सिंह, अजय प्रताप सिंह, सोमनाथ कुशवाहा, विकास मिश्रा, देवदत्त दुबे, अकरम, नागेश नाहक, राजकुमार, सोनू सिंह, रविशंकर पाण्डेय, विजय साहू, नंदकिशोर राजवाड़े सक्रिय रहे।