गुरुवार, 17 जनवरी 2019

सूरजपुर पुलिस प्रीमियर लीग में खेले जा रहे रोमांचक मैच


सूरजपुर । पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री जी.एस.जायसवाल के मार्गदर्शन में चले रहे सूरजपुर पुलिस प्रीमियर लीग के तीसरे दिन गुरूवार 17 जनवरी को 5 मैचे खेले गये। सहयोग के बैनर तले आयोजित प्रतियोगिता में खेले गये मैचों में घाट पेण्डारी न्यायालय एवं कालीघाट 10वीं वाहिनी छसबल के बीच हुए मैच में घाट पेण्डारी न्यायालय की टीम ने लक्ष्य का पीछा कर जीत दर्ज किया, मैच में मैन ऑफ द मैच आशीष विश्वकर्मा रहे। इसी प्रकार नेहरूपार्क हाईस्कूल व शिवरिया स्वास्थ्य विभाग के बीच हुए मैच में नेहरूपार्क हाईस्कूल की टीम ने 8 विकेट से जीत दर्ज किया, इस मैच के मैन आफ दे मैच राजेश रहे। कुमेली थाना रामानुजनगर व ब्लैक डायमण्ड एसईसीएल विश्रामपुर के बीच चली मैच में ब्लैक डायमण्ड एसईसीएल की टीम पहले बल्लेबाजी करते हुये 94 रन का लक्ष्य रखा जिसके जवाब में कुमेली थाना रामानुजनगर की टीम ने 93 रन ही बना सकी। ब्लैक डायमण्ड एसईसीएल विश्रामपुर की टीम 1 रनों से जीत दर्ज किया इस मैच के मैन ऑफ द मैच सिमोन रहे जिन्होंने 18 रन बनाये एवं 2 विकेट लिये। शिवपार्क महाविद्यालय एवं बांक थाना ओड़गी के बीच हुये मैच शिवपार्क महाविद्यालय की टीम ने जीत दर्ज किया इस मैच के मैन ऑफ द मैच विनय रहे। सीतालेखनी व्यापारी संघ व तमोर पिंगला थाना रमकोला के बीच चले मैच में व्यापारी संघ ने निर्धारित 10 ओव्हरों में 8 विकेट के नुकसान पर 52 रन बनाये जिसके जवाब में तमोर पिंगला थाना रमकोला की टीम ने महज 2.3 ओव्हरों में 56 रन बनाकर जीत दर्ज किया, मैच के मैन आफ द मैच नरेन्द्र सिंह रहे जिन्होंने 44 रन बनाये व 1 विकेट भी लिये।
इन मैचों का आनंद लेने वे टीमों को उत्साह बढ़ाने एसईसीएल विश्रामपुर जी.एम. सतीश श्रीवास्तव, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती मेघा टेंभुरकर, सीएसपी डी.के.सिंह, एसडीओपी मनोज ध्रुव, चंचल तिवारी, राकेश पाटनवार, डाॅ. ध्रुवेश जायसवाल, डीएसपी अजाक बालसाय केरकेट्टा, डीएसपी रामश्रृंगार यादव, के.के.सिंह, दुर्गाशंकर दीक्षित, राजू सिंह, सुनील अग्रवाल, अजय गुप्ता सहित भारी संख्या में गणमान्य नागरिकगण उपस्थित रहे।

'सायबर की पाठशाला' : सायबर जागरूकता अभियान कड़ी-3

'सायबर की पाठशाला' : सायबर जागरूकता अभियान कड़ी-3
सायबर की पाठशाला में आज तीसरे पाठ में हम समझने की कोशिश कर रहे हैं कि एक सुरक्षित लिंक कैसा दिखता या होता है। धोखेबाज/अपराधी आम लोगों को ठगने के लिए बैंको के नाम से मिलते जुलते नाम या अक्षरों का प्रयोग करके एक यूआरएल/URL बनाता है और उसे मोबाइल पर सीधे मैसेज के रूप में भेजता है इन लिंकनुमा URL पर क्लिक करते ही आप ठगी के शिकार हो जाते हैं। यदि लिंक में anydesk, mingle, teamviewer जैसे शब्द हैं तो आपके फोन को हैक करने का प्रयास हो रहा है, तुरंत मैसेज डिलिट करें। लिंक पर क्लिक बिलकुल न करें। अनजान से व्यक्तियों से फोन पर ज्यादा बात न करें और न ही उन्हें किसी भी तरह की जानकारी दें चाहे कुछ भी हो जाए। तभी आप ठगी से बच पाएंगे। इस तरह के फर्जीवाड़ों पर और विस्तार से जानकारी के लिए इस श्रृंखला पर नजर बनाए रखें। पिछले पाठों को फिर से जानने के लिए/ पुनरावलोकन के लिए तस्वीर पर क्लिक करें या ऊपर के संबंधित टैब (सायबर की पाठशाला) पर क्लिक करें।