रविवार, 27 सितंबर 2020

सूरजपुर पुलिस ने प्रतापपुर में हुए अंधे कत्ल का खुलासा कर 03 आरोपियों को किया गिरफ्तार............


आरोपियों ने रायपुर से वाहन बुकिंग कर प्रतापपुर में ड्राईवर की थी हत्या।

1 नग कट्टा, 8 नग कारतूस, 2 चोरी के बाईक व 4 नग मोबाईल बरामद।

सूरजपुर: दिनांक 31.08.2020 को सूचक कदमपारा प्रतापपुर निवासी शैलेन्द्र कुमार सिंह ने थाना प्रतापपुर में सूचना दिया कि वह अमरकंटक से वापस प्रतापपुर आ रहा था कि रात्रि करीब 12.40 बजे ग्राम खोरमा मेन रोड पर एक अज्ञात व्यक्ति मरा पड़ा हुआ है सिर पर चोट लग कर खून निकल रहा है कि सूचना पर मर्ग क्रमांक 87/2020 धारा 174 जा0फौ0 कायम करते हुये तत्काल मौके पर थाना प्रभारी पुलिस टीम के साथ पहुंचे। शव पंचनामा व घटना स्थल निरीक्षण के बाद शव को पीएम हेतु भेजा। शार्ट पीएम रिपोर्ट में डाॅक्टर के द्वारा मृतक की मृत्यु न्यूरोजेनिक साॅक व हत्यात्मक प्रकृति का होना लेख करने पर अज्ञात व्यक्ति के विरूद्व अपराध 142/2020 धारा 302 भादसं. के तहत् अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

          मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री राजेश कुकरेजा ने इस मामले से जुडे़ सभी बिन्दुओं पर गंभीरतापूर्वक जांच कर अज्ञात आरोपी की पतासाजी करने एवं अज्ञात मृतक की शिनाख्तगी आसपास क्षेत्र में करने तथा सोशल मीडिया की सहायता लेने के निर्देश थाना प्रभारी विकेश तिवारी को दिए।

         एसडीओपी प्रतापपुर राकेश पाटनवार के नेतृव में थाना प्रतापपुर की पुलिस टीम के द्वारा अज्ञात मृतक व्यक्ति की पतासाजी आसपास क्षेत्र में करते हुए मृतक का फोटो सोशल मिडिया प्रसारित किया गया इसी बीच 02.09.2020 को उक्त मृतक की पहचान चितरेन साहू पिता राम सुहागी साहू उम्र 40 वर्ष ग्राम मनियारी थाना साजा जिला बेमेतरा छत्तीसगढ़ का हुआ। जिसका शव उत्खनन कराकर शव को परिजन दुष्यन्त साहू को सुपुर्दनामा पर दिया गया।

          पुलिस अधीक्षक ने मामले की जानकारी से प्रतिदिन पुलिस महानिरीक्षक सरगुजा रेंज श्री रतनलाल डांगी से अवगत कराते रहे। आईजी सरगुजा ने भी लगातार पुलिस टीम को मार्गदशन देते रहें। 

          मृतक के परिजन दुष्यन्त साहू, हेमलाल साहू निवासी रायपुर से पूछताछ पर ज्ञात हुआ कि मृतक चितरेंग साहू अपने वाहन क्रमांक सीजी 04 एचए 0216 को बुकिंग में लेकर दो अज्ञात व्यक्तियों को रायपुर बस स्टैण्ड पण्डरी से लेकर प्रतापपुर आया था।

          पुलिस टीम ने आरोपियों के पतासाजी एवं साक्ष्य संकलन हेतु थाना प्रभारी विकेश तिवारी पुलिस टीम के साथ रायपुर गये। रायपुर पण्डरी बस स्टैण्ड के एजेण्टों एवं आसपास के लोगों से बारीकी से पूछताछ करते हुए रायपुर शहर में लगे सीसीटीव्ही कैमरा को देखा गया तथा होटलों को भी चेक किया किया जा रहा था, जो दिनांक 11.09.2020 को थाना आजाद चैक के पास सिटी प्लस होटल का रजिस्ट्रर चेक करने पर तीन व्यक्ति फैजान, अलीशान एवं फुरखान के नाम से रूके थे जो हौटल के मैनेजर से पूछने पर बताया कि उन लोगों पास लगेज नहीं था, फोटो एवं सीसीटीव्ही कैमरा से प्राप्त फोटो को दिखाने पर उन तीनों व्यक्तियों से हुलिया मिलना बताया जिस पर होटल से उनका आधार कार्ड एवं ड्राईवरी लायसेंस को प्राप्त किया गया। दस्तावेजों के आधार पर अज्ञात आरोपियों की पता तलाश किया जा रहा था।

          इसी दौरान दिनांक 26.09.2020 को मुखबीर से जानकारी मिली कि रामानुजगंज में तीन व्यक्ति एक रूम में रूके है उक्त सूचना से पुलिस अधीक्षक श्री कुकरेजा को अवगत कराया गया जिस पर उन्होंने थाना प्रतापुपर की पुलिस टीम को रेड कार्यवाही कर धरपकड़ के निर्देश दिए। रामानुजगंह पहुंचकर पुलिस टीम ने एक कमरे में रूके तीन व्यक्तियों को पकड़ा जहहां उनके कमरे से लूट किये गये स्कार्पियों वाहन का नंबर प्लेट सीजी 04 एचए 0216 मिला तब उक्त तीनों व्यक्तियों से बारीकी से पूछने पर अपना नाम 1. शाहिद खान पिता मोहम्मद असलम उम्र 22 वर्ष ग्राम सरकोनी, थना मझयांव, जिला गढ़वा झारखण्ड, 2. फैजान पिता अफसार खान जाति मुसलमान उम्र 19 वर्ष सा0 शक्क्र कोनी थाना मझयांव जिला गढ़वा झारखंड व 3. सरवर पिता अनवर जाति मुसलमान उम्र 23 वर्ष सा0 ग्राम सुकबाना थाना गढ़वा जिला गढ़वा झारखंड का होना बताये साथ ही लूट कर हत्या करना स्वीकार किये।

          तीनों से घटना के संबंध में बारीकी से पूछताछ करने पर बताये कि दिनांक 27.08.2020 को झारखंण्ड से चोरी के मोटर सायकल में रामानुजगंज किराये के मकान में आये थे। रामानुजगंज में योजना बनाये कि रायपुर जाकर स्कार्पियों वाहन को बुकिंग करके लायेंगे और उसे लूट कर भागने का प्लान बनाए और दिनांक 28.08.2020 को मोटर सायकल से तीनों रायपुर के लिये निकले थे जो रात होने से चोटिया में रूके। दिनांक 29.08.2020 के सुबह वहां से निकल कर रायपुर पंडरी बस स्टैण्ड गये वहां जाकर स्कार्पियों बुकिंग के लिए खोजे जो नहीं मिला तो सिटी प्लस होटल में रूके, दिनांक 30.08.2020 को बस स्टैण्ड जाकर स्कार्पियों वाहन बुकिंग किये, बस स्टैण्ड से स्कार्पियों में फैजान एवं सरवर बैठकर आये और मोटर सायकल से शाहिद पीछे-पीछे आया भनपुरी चैक के आगे रोड किनारे मोटर सायकल छोड़ कर स्कार्पियों वाहन में बैठ गया। अम्बिकापुर से खड़गवां सोनगरा होते हुए पोड़ी मोड़ से प्रतापपुर के लिये मुड़े, सरहरी जंगल के पास स्कार्पियों रोक कर पुनः तीनों हत्या-लूट करने का योजना बनाते समय सरवर ने फैजान को गाड़ी चलाने के लिये तथा शाहिद खान को देशी कट्टा से ड्राईवर को मारने के लिये बोला एवं सरवर खुद अपने हाथ में हथौड़ी रख कर गाड़ी में बैठे। गाड़ी जैसे ही खोरमा के पास पहुंचा तो आरोपियों ने वाहन रोकने को बोला और डाईवर वाहन से नीचे उतरा उसी दौरान शाहीद कट्टा फायर नहीं किया तो सरवर खान ने हाथ में रखे हथौड़ी से ड्राईवर चितरेन साहू के सिर में तेज प्रहार कर हत्या कर दिया इसके बाद ड्राईवर की सीट पर फैजान बैठकर गाड़ी चलाते हुए रामानुजगंज चले गये। वहां पर बिहार का नंबर प्लेट गाड़ी में लगाये और रामानुजगंज में ही एक दिन रूके दूसरे दिन गढ़वा में सरवर खान के घर के पास गाड़ी खड़ा कर अपने अपने घर चले गये। मामले के आरोपियों ने झारखण्ड में 15-20 मोटर सायकल चोरी कर उपयोग करने पश्चात छोड़ दिया गया है एवं पुनः इकट्ठा होकर लूट करने की योजना बनाये थे।

          आरोपी फैजान, शाहीद खान एवं सरवर खान के पास से मृतक चितरेंग साहू का एक स्कार्पियो वाहन, 01 नग मोबाईल, डाईविंग लायसेंस, एटीएम, आरोपियों से 01 नग देशी कट्टा, 08 नग का कारतूस, 04 नग मोबाईल, घटना समय को पहने कपड़े, होटल में रूकने हेतु इस्तेमाल किए गए 01 नग डाईविंग लायसेंस, गढ़वा-डालटेनगंज से चोरी किए गए 02 नग मोटर सायकल जप्त कर मामले में पृथक से धारा 394, 34 भादसं. व 25, 27 आर्म्स एक्ट के तहत् विधिवत् गिरफ्तार किया गया।

          आईजी सरगुजा श्री रतनलाल डांगी ने कड़ी मेहनत से मामले का खुलासा करने पर पूरी पुलिस टीम को ईनाम देने की घोषणा की है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि वाहन को बुकिंग में देने से पहले वाहन बुकिंग पर ले जाने वाले व्यक्ति का नाम, पता, मोबाईल नंबर और उनका आईडी की जानकारी लें। उन्होंने बताया कि आरोपीगण इतने शातीर थे कि कहीं भी अपने आईडी का इस्तेमाल नहीं किया। इन्हें पकड़ने में सीसीटीव्ही फुटेज व मुखबीर की सूचना ने अहम भूमिका निभाई और पुलिस टीम की कड़ी मेहनत से आरोपियों को पकड़ने में सफलता मिली। 

         इस कार्यवाही में एसडीओपी प्रतापपुर राकेश पाटनवार, एसडीओपी ओडगी मंजूलता बाज, थाना प्रभारी प्रतापपुर विकेश तिवारी, एसआई नवल किशोर दुबे, चैकी प्रभारी खड़गवां विमलेश सिंह, प्रधान आरक्षक संतोष सिंह, विशाल मिश्रा, विवेकानन्द सिंह, आरक्षक अविनाश कुजूर, विकास सोनी, शेखर मानिकपुरी, मिथलेश गुप्ता, इन्द्रजीत सिंह, युवराज यादव, रौशन सिंह, श्याम सिंह, विकास सिंह, प्रवीण सिंह, कृष्ण कांत पाण्डेय, रायपुर जिला से आरक्षक प्रमोद बट्टी व विनय पाण्डेय सक्रिय रहे।