गुरुवार, 3 नवंबर 2022

ग्राम चौपाल में शिकायतों का पुलिस अधिकारी कर रहे मौके पर निराकरण, अवैध कार्यों की सूचना देने किया अपील, नशा से दूर रहने की दी हिदायत

सूरजपुर।  पुलिस अधीक्षक श्री रामकृष्ण साहू ने आमजनता की समस्याओं को गंभीरतापूर्वक सुनते हुए उसका मौके पर निराकरण करने, नशे से होने वाली हानी, महिला सुरक्षा के लिए अभिव्यक्ति ऐप एवं हमर बेटी-हमर मान के तहत ग्रामीणों को जानकारी देते हुए उन्हें जागरूक करने जन चौपाल लगाने के निर्देश थाना-चौकी प्रभारियों को दिए है। इसी परिपेक्ष्य में गुरूवार, 03 नवम्बर को चौकी तारा, बसदेई, उमेश्वरपुर पुलिस के द्वारा ग्राम चौपाल का आयोजन किया गया। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मधुलिका सिंह व एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी के मार्गदर्शन में चौकी प्रभारी तारा उमेश सिंह के द्वारा साप्ताहिक बाजार तारा, चौकी प्रभारी बसदेई बृजेश यादव के द्वारा ग्राम बसदेई एवं चौकी प्रभारी उमेश्वरपुर देवनाथ चौधरी के द्वारा ग्राम उमेश्वरपुर में जन चौपाल का आयोजन किया। इस दौरान पुलिस अधिकारियों के द्वारा के द्वारा ग्रामीणों को कानून, साइबर क्राईम, वर्तमान में हो रहे धोखाधड़ी से जागरूक रहने की जानकारी देते हुए उनकी शिकायत-समस्याएं को सुना और निराकरण किया। ग्रामीणों से चर्चा कर गांव की स्थिति के बारे में जानकारी ली। उन्होंने ग्रामीणों को कानून की जानकारी देते हुए अपराध से बचने की समझाईश दी और वर्तमान दौर में किए जा रहे फ्राड के सावधान रहने की समझाईश दी। चौपाल में हमर बेटी-हमर मान के तहत महिलाओं को गुड टच-बैड टच और महिला संबंधी अपराध के संबंध में उनके कानूनी अधिकारों के लिए जागरूक किया गया तो वहीं महिला सुरक्षा के लिए अभिव्यक्ति ऐप के उपयोग की जानकारी देत हुए ऐप डाउनलोड कराया गया।

अवैध कार्यों की सूचना देने किया अपील, नशा से दूर रहने की दी हिदायत

इन आयोजनों के द्वारा चौकी प्रभारियों ने अवैध कार्यो की सूचना देने की अपील करते हुए ग्रामीणों को नशा से होने वाले हानियों के बारे में बताया और नशा न करने की समझाईश दी, दौरान मौजूद ग्रामीणों ने नशे की इस लड़ाई में पुलिस का भरपूर सहयोग देने की बात कही।

'सायबर की पाठशाला' : सायबर जागरूकता अभियान कड़ी-3

'सायबर की पाठशाला' : सायबर जागरूकता अभियान कड़ी-3
सायबर की पाठशाला में आज तीसरे पाठ में हम समझने की कोशिश कर रहे हैं कि एक सुरक्षित लिंक कैसा दिखता या होता है। धोखेबाज/अपराधी आम लोगों को ठगने के लिए बैंको के नाम से मिलते जुलते नाम या अक्षरों का प्रयोग करके एक यूआरएल/URL बनाता है और उसे मोबाइल पर सीधे मैसेज के रूप में भेजता है इन लिंकनुमा URL पर क्लिक करते ही आप ठगी के शिकार हो जाते हैं। यदि लिंक में anydesk, mingle, teamviewer जैसे शब्द हैं तो आपके फोन को हैक करने का प्रयास हो रहा है, तुरंत मैसेज डिलिट करें। लिंक पर क्लिक बिलकुल न करें। अनजान से व्यक्तियों से फोन पर ज्यादा बात न करें और न ही उन्हें किसी भी तरह की जानकारी दें चाहे कुछ भी हो जाए। तभी आप ठगी से बच पाएंगे। इस तरह के फर्जीवाड़ों पर और विस्तार से जानकारी के लिए इस श्रृंखला पर नजर बनाए रखें। पिछले पाठों को फिर से जानने के लिए/ पुनरावलोकन के लिए तस्वीर पर क्लिक करें या ऊपर के संबंधित टैब (सायबर की पाठशाला) पर क्लिक करें।