गुरुवार, 30 जून 2022

प्रशिक्षु आईपीएस संदीप कुमार पटेल को पुलिस परिवार सूरजपुर ने दी विदाई

सूरजपुर। पिछले 6 माह से जिले के विभिन्न शाखाओं तथा बतौर थाना प्रभारी का प्रशिक्षण ले रहे प्रशिक्षु आईपीएस संदीप कुमार पटेल का प्रशिक्षण जिले में पूर्ण होने के बाद बुधवार को सूरजपुर पुलिस परिवार ने विदाई सम्मान समारोह का आयोजन कर उन्हें विदाई दिया। समारोह में मौजूद सरगुजा जिले के प्रशिक्षु आईपीएस रॉबिन्सन गुरिया को भी इस आयोजन के दौरान विदाई दी गई। जिले में प्रशिक्षण हासिल करने के बाद वे एक सप्ताह माननीय उच्च न्यायालय बिलासपुर में प्रशिक्षण प्राप्त करेंगे इसके उपरान्त पुनः हैदराबाद स्थित राष्ट्रीय पुलिस अकादमी जायेंगे और आगे का प्रशिक्षण हासिल करेंगे। इस मौके पर पुलिस परिवार व प्रशासन की ओर से प्रशिक्षु आईपीएस संदीप कुमार पटेल व जिला सरगुजा के ट्रेनी आईपीएस रॉबिन्सन गुरिया को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया।
            इस दौरान पुलिस अधीक्षक श्री रामकृष्ण साहू ने प्रशिक्षु आईपीएस के प्रशिक्षण की सराहना करते हुए कहा कि प्रशिक्षु आईपीएस काफी सुलझे भाव से अपने प्रशिक्षण को पूरा किये। जिम्मेदारी मिलने के बाद कार्यो को गंभीरता पूर्वक करते हुए कई सफलता भी हासिल किया। थानों के प्रभार में रहते हुए पुलिस अधिकारियों व जवानों से बेहतर तालमेल रखकर ड्यूटी किए जो एक उच्च अधिकारी की पहचान होती है। उन्होंने कहा कि पुलिस की ड्यूटी काफी चुनौतियों से भरी रहती है हर चुनौतियों को बेहतर तरीके से निभाया।
                विदाई समारोह को संबोधित करते हुए प्रशिक्षु आईपीएस संदीप कुमार पटेल ने कहा कि जिले में उन्हें बेहतर प्रशिक्षण मिला, थानों में पुलिस किस परिस्थिति में अपनी ड्यूटी निष्ठापूर्वक करती है उसका अनुभव मिला, थाना प्रभारी का कार्यकाल उनके लिए भूलना संभव नहीं है। अपराधों की रोकथाम एवं अवैध कारोबार पर अंकुश लगाने हेतु पुलिस अधीक्षक श्री रामकृष्ण साहू के मार्गदर्शन में बेहतर कार्य करने का अवसर मिला। उन्होंने कहा कि सभी सीनियर्स ने भी खूब सहयोग किया जिस वजह से यह कार्यकाल मेरे जीवन में हमेशा यादगार रहेगा। सरगुजा के प्रशिक्षु आईपीएस रॉबिन्सन गुरिया ने भी अपने प्रशिक्षण से जुडे अनुभवों को साझा किया। कार्यक्रम में आभार अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हरीश राठौर के द्वारा किया गया तथा मंच संचालन एसडीओपी प्रेमनगर प्रकाश सोनी ने किया। इस दौरान एसडीएम रवि सिंह, सीएसपी जे.पी.भारतेन्दु, एसडीओपी प्रतापपुर अमोलक सिंह, एसडीओपी ओड़गी राजेश जोशी, डीएसपी नंदिनी ठाकुर, प्रशिक्षु डीएसपी दीपमाला कुर्रे, जिले के थाना-चौकी प्रभारी सहित पुलिस के अधिकारी-कर्मचारी मौजूद रहे।

'सायबर की पाठशाला' : सायबर जागरूकता अभियान कड़ी-3

'सायबर की पाठशाला' : सायबर जागरूकता अभियान कड़ी-3
सायबर की पाठशाला में आज तीसरे पाठ में हम समझने की कोशिश कर रहे हैं कि एक सुरक्षित लिंक कैसा दिखता या होता है। धोखेबाज/अपराधी आम लोगों को ठगने के लिए बैंको के नाम से मिलते जुलते नाम या अक्षरों का प्रयोग करके एक यूआरएल/URL बनाता है और उसे मोबाइल पर सीधे मैसेज के रूप में भेजता है इन लिंकनुमा URL पर क्लिक करते ही आप ठगी के शिकार हो जाते हैं। यदि लिंक में anydesk, mingle, teamviewer जैसे शब्द हैं तो आपके फोन को हैक करने का प्रयास हो रहा है, तुरंत मैसेज डिलिट करें। लिंक पर क्लिक बिलकुल न करें। अनजान से व्यक्तियों से फोन पर ज्यादा बात न करें और न ही उन्हें किसी भी तरह की जानकारी दें चाहे कुछ भी हो जाए। तभी आप ठगी से बच पाएंगे। इस तरह के फर्जीवाड़ों पर और विस्तार से जानकारी के लिए इस श्रृंखला पर नजर बनाए रखें। पिछले पाठों को फिर से जानने के लिए/ पुनरावलोकन के लिए तस्वीर पर क्लिक करें या ऊपर के संबंधित टैब (सायबर की पाठशाला) पर क्लिक करें।