मंगलवार, 17 जनवरी 2023

सूरजपुर पुलिस के थर्ड आई कार्यक्रम का संसंदीय सचिव श्री पारसनाथ राजवाड़े ने किया शुभारंभ। आईजी सरगुजा रेंज का थर्ड आई कार्यक्रम पहुंचा सूरजपुर।


सूरजपुर। 33वां राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा सप्ताह के समापन अवसर पर मंगलवार को सूरजपुर पुलिस के थर्ड आई कार्यक्रम का शुभारंभ संसदीय सचिव छ.ग. शासन व विधायक भटगांव श्री पारसनाथ राजवाड़े के द्वारा किया गया। आईजी सरगुजा रेंज श्री रामगोपाल गर्ग (भा.पु.से.) ने जिले में यातायात व्यवस्था को सुगम बनाने एवं यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों के विरूद्ध कार्यवाही को लेकर थर्ड आई कार्यक्रम प्रारंभ करने के निर्देश दिए थे। आज से जिलेवासियों को थर्ड आई हेल्पलाईन नंबर 94791-30224 की सौगात मिली है जिसमें नागरिकगण यातायात से जुड़ी समस्याओं एवं खतरनाक तरीके से वाहन चलाने वालों के बारे में सूचना दे सकेंगे जिसके बाद पुलिस सख्ती से कार्यवाही करेंगी। कार्यक्रम की शुरूवात छत्तीसगढ़ महतारी की पूजा अर्चना व छत्तीसगढ़ राज्यगीत अरपा पैरी की धार से किया गया। कार्यक्रम में महाविद्यालय के छात्राओं को हेलमेट वितरित किया गया तथा छात्र-छात्राओं को लरनिंग लायसेंस का वितरण किया गया।
                इस अवसर पर संसदीय सचिव छ.ग. शासन व विधायक भटगांव श्री पारसनाथ राजवाडे़ ने कहा कि पुलिस की कड़ाई से यातायात नियम का पालन होगा पर वह पर्याप्त नहीं होगा जब तक हम सभी खुद जागरूक होकर यातायात नियम का पालन को कड़ाई से अपने जीवन में नहीं अपनाते। सुरक्षित सफर के लिए सड़क पर चलने के दौरान सावधानी व यातायात नियमों का पालन बेहद जरूरी है। वाहन का बीमा एवं व्यक्ति का डाईविंग लायसेंस क्यों जरूरी है इसके फायदे एवं नुकसान के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि सड़क पर लापरवाही पूर्वक वाहन चलाने तथा यातायात संबंधी किसी प्रकार की समस्या के समाधान एवं कार्यवाही के लिए जिले के पुलिस की थर्ड आई कार्यक्रम का शुभारंभ कराकर हेल्पलाईन नंबर 94791-30224 जारी किया है, ताकि लापरवाही करने वालों पर कार्यवाही हो सके। उन्होंने जिलेवासियों से सड़क सुरक्षा के नियमों का पालन करने एवं सड़क हादसों में घायलों की तत्काल सहायता करने की अपील की।
कलेक्टर सूरजपुर सुश्री इफ्फत आरा (भा.प्र.से.) ने कहा कि सड़क सुरक्षा सप्ताह का आयोजन क्यों किया जा रहा है हमें इसे समझने की जरूरत है, सड़क हादसों का कम करने के लिए पुलिस विभाग से समन्वय स्थापित कर जिले के चयनित ब्लैक स्पोर्ट पर सुधार की दिशा में काम किया जा रहा है। सड़क हादसों को रोकने के लिए लोगों में यातायात नियमों के प्रति जागरूकता के साथ ही उसका पालन करना जरूरी है। कलेक्टर ने जिलेवासियों से यातायात नियमों का पालन करने एवं खतरनाक तरीके से वाहन चलाने वालों की सूचना पुलिस के थर्ड आई हेल्पलाईन नंबर में देने की अपील किया है।
पुलिस अधीक्षक सूरजपुर श्री रामकृष्ण साहू (भा.पु.से.) ने कहा कि सड़क सुरक्षा सप्ताह का आज समापन है पर यातायात नियमों के प्रति जागरूकता का अभियान नियमित जारी रहेगा। पिछले सात दिनों में यातायात सहित पूरे जिले की पुलिस यातायात नियमों के प्रति जागरूकता के कार्यक्रम कर सड़क दुर्घटना को रोकने की दिशा में वृहद स्तर पर अभियान चलाकर स्कूल-कालेज, हाट बाजार सहित जिले के अंतिम छोर तक जागरूकता के कार्यक्रम आयोजित किए है। हेलमेट पहनकर बाईक रैली, दुर्घटना के जोखिम को कम करने के लिए वाहन चालकों का नेत्र परीक्षण शिविर का आयोजन किए गए। पुलिस का दायित्व है कि लोगों को सड़क हादसों से बचाव के लिए उन्हें जागरूक करें। उन्होंने बताया कि जिले में 9 ब्लैक स्पार्ट है जहां सड़क हादसे ज्यादा होते है वहां सुरक्षात्मक उपाए कराए जा रहे है ताकि दुर्घटना को कम किया जा सके। पुलिस अधीक्षक ने सड़क दुर्घटनाओं की रोकथाम के लिए कहा कि बिना हेलमेट बाइक न चलाए, मोबाईल फोन से बात करते हुए वाहन न चलाएं, चार पहिया वाहन चलाते समय सीट बेल्ट अवश्य धारण करें, नशे की हालत में वाहन ना चलाएं, हमेशा सही दिशा में वाहन चलाएं एवं नाबालिग बच्चों को वाहन ना दें। जिले की यातायात व्यवस्था को सुगम सुरक्षित बनाए रखने में सहयोग करें। वर्ष 2021 की तुलना में वर्ष 2022 में सड़क हादसे एवं मृत्यु के मामलों में कमी आई है। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि आईजी सरगुजा रेंज श्री रामगोपाल गर्ग (भा.पु.से.) के निर्देशन में जिले की पुलिस के द्वारा थर्ड आई कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार किया गया था जिसका आज शुभारंभ हुआ है। सूरजपुर जिले की यातायात व्यवस्था को सुगम व सुरक्षित बनाने में पुलिस के त्रिनेत्र बनकर सहयोग देने की बात कही।
                    सेनानी, 10वीं वाहिनी छसबल सूरजपुर श्री सुजीत कुमार (भा.पु.से.) ने सड़क सुरक्षा से जुड़े जरूरी नियमों एवं जिन स्थानों पर सड़क दुर्घटना ज्यादा होती है वहां किस प्रकार सुरक्षात्मक उपाए कर लोगों की जान बचाई जा सकती है उन जरूरी बातों पर प्रकाश डाला। अध्यक्ष जनपद पंचायत सूरजपुर श्री जगलाल सिंह ने कहा कि नियंत्रित गति से वाहन चलाए इससे दुर्घटना नहीं होगी, अभिभावक 18 वर्ष के कम उम्र के बच्चों को वाहन चलाने ना दें, सड़क सुरक्षा से जुड़े नियमों का पालन कर खुद और दूसरों को सुरक्षित रखे, जिलवासियों से यातायात नियमों का पालन करने की अपील की। कार्यक्रम को कांग्रेस जिलाध्यक्ष श्रीमती भगवती राजवाड़े, छत्तीसगढ़ उर्दु ऐकेडमी बोर्ड सदस्य श्री इस्माईल खान ने भी संबोधित किया। आभार अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मधुलिका सिंह व मंच संचालन अशोक उपाध्याय के द्वारा किया गया।
                थर्ड आई कार्यक्रम का हुआ शुभारंभ। कार्यक्रम में संसदीय सचिव छ.ग. शासन व विधायक भटगांव श्री पारसनाथ राजवाडे़ के द्वारा पुलिस के थर्ड आई कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। इस अभियान के तहत समाज का हर व्यक्ति पुलिस के जैसा काम कर सकेंगे, गांव शहर में यातायात संबंधी समस्या अथवा यातायात नियमों की अनदेखी करने वालों का फोटो अथवा वीडियों बनाकर हेल्पलाईन में भेजकर हर व्यक्ति पुलिसिंग के कार्य में अपना योगदान दे सकेगा। इसके लिए सूरजपुर पुलिस ने थर्ड आई हेल्पलाईन नंबर 94791-30224 जारी किया है। अब शहर या गांव कहीं से भी यातायात संबंधी समस्या के लिए लोग विडियों बनाकर इस नंबर पर सूरजपुर पुलिस को वाट्सएप किया जा सकता है, भेजने वाले की पहचान गोपनीय रखी जायेगी। 
                कार्यक्रम में शानदार प्रस्तुती। कार्यक्रम में कस्तुरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय के छात्राओं ने सड़क सुरक्षा संबंधी जागरूकता का संदेश देने के लिए शानदार डांस की प्रस्तुती दी। साधुराम विद्यामंदिर स्कूल के छात्राओं ने छत्तीसगढ़ राज्यगीत अरपा पैरी की धार गाया तथा स्कूल के छात्रों ने अतिथियों का स्वागत बैंड की धुन से किया। इस दौरान अध्यक्ष नगर पंचायत विश्रामपुर आशीष यादव, एल्डरमेन राहुल अग्रवाल, अमृतलाल अग्रवाल, पार्षद संजय डोसी, जनप्रतिनिधिगण, पुलिस के अधिकारी-कर्मचारी, स्कूली छात्र-छात्राएं व गणमान्य नागरिकगण मौजूद रहे।

'सायबर की पाठशाला' : सायबर जागरूकता अभियान कड़ी-3

'सायबर की पाठशाला' : सायबर जागरूकता अभियान कड़ी-3
सायबर की पाठशाला में आज तीसरे पाठ में हम समझने की कोशिश कर रहे हैं कि एक सुरक्षित लिंक कैसा दिखता या होता है। धोखेबाज/अपराधी आम लोगों को ठगने के लिए बैंको के नाम से मिलते जुलते नाम या अक्षरों का प्रयोग करके एक यूआरएल/URL बनाता है और उसे मोबाइल पर सीधे मैसेज के रूप में भेजता है इन लिंकनुमा URL पर क्लिक करते ही आप ठगी के शिकार हो जाते हैं। यदि लिंक में anydesk, mingle, teamviewer जैसे शब्द हैं तो आपके फोन को हैक करने का प्रयास हो रहा है, तुरंत मैसेज डिलिट करें। लिंक पर क्लिक बिलकुल न करें। अनजान से व्यक्तियों से फोन पर ज्यादा बात न करें और न ही उन्हें किसी भी तरह की जानकारी दें चाहे कुछ भी हो जाए। तभी आप ठगी से बच पाएंगे। इस तरह के फर्जीवाड़ों पर और विस्तार से जानकारी के लिए इस श्रृंखला पर नजर बनाए रखें। पिछले पाठों को फिर से जानने के लिए/ पुनरावलोकन के लिए तस्वीर पर क्लिक करें या ऊपर के संबंधित टैब (सायबर की पाठशाला) पर क्लिक करें।